सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 26 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 26 अप्रैल 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 26 अप्रैल

जरूरतमंद लोगों को शमशान में अंतिम संस्कार की सामग्री, नि: शुल्क उपलब्ध कराऐगा अस्मि वेलफेयर एसोसिएशन, एसोसिएशन ने जारी किए है हेल्प लाईन नम्बर 9755515111, 898232540


sehore news
सीहोर। कोरोना महामारी के दौरान अंतिम संस्कार के लिए भी गरीब तबकों को धन जुटाना मुश्किल हो गया है एैसे सभी जरूरतमंदों को शहर के छावनी और मंडी विश्राम घाट पर अस्मि वेलफेयर एसोसिएशन के द्वारा नि: शुक्ल अंतिम संस्कार की संपूर्ण सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। जरूरतमंदों को तत्काल मदद उपलब्ध कराने के लिए दोनों शमशानों में अस्मि वेलफेयर एसोसिएशन ने हेल्प लाईन नम्बर भी चस्पा किए गए है। छावनी शमशान निरीक्षण के लिए पहुंचे अस्मि वेलफेयर एसोसिएशन के सदस्य एवं भाजपा नगर मंडल उपाध्यक्ष सन्नी सरकार और भाजपा महिला मोर्चा नेत्री सुनिता राठौर ने बताया की कई कोरोना संक्रमित मृतकों के परिजन शमशान अंतिम संस्कार के लिए नहीं पहुंच पा रहे है तो अनेक गरीब परिवारों के पास जरूरत के मुताबिक लकड़ी कन्डे सहित अन्य सामग्री तक के रूपये नहीं होते है जिस से उनके समक्ष विकट समस्या खड़ी हो जाती है। अस्मि वेलफेयर एसोसिएशन ने छावनी शमशान में दस क्वंटल लकडिय़ों की व्यवस्था की है। मंडी शमशान में भी जल्दी व्यवस्था की जा रहीं है। अंतिम संस्कार की अन्य जरूरी सामग्री भी जरूरत मदों को उपलब्ध कराई जाएगी। दोनों शमशानों के चौकीदारों को भी मोबाईल नम्बर दिए गए है।अंतिम संस्कार की सामग्री के लिए जरूरत मंद लोग नि:शुल्क सेवा के लिए 9755515111, 898232540 पर सीधे संपर्क कर सकते है।


जनता कफ्र्यू में गरीब रोटी रोटी से है परेशान, गरीबोंंं को गल्ला जल्दी फ्री दो सरकार- प्रदेश मंच  


सीहेार। सोमवार को राष्ट्रीय मानव अधिकार प्रदेश अध्यक्ष नौशाद खान ने कहा की यह समय राजनीति करने का नहीं है सब को एकजुट होकर एक दूसरे की मदद करना है। गरीबों का दुख दर्द रोज कमाने वाले रोज खाने वालों का मजदूरों का गरीबों का दुख देखा नहीं जा रहा है। कोरोना काल में जनता कफ्र्यू में गरीब रोटी रोटी से परेशान है तीन-तीन महीने का गल्ला फ्री दिया जाएगा लेकिन गरीबों को अबतक नहीं मिला है। कई लोगों को पिछले साल भी राशन नहीं मिला था। क्योकी गरीबी रेखा का राशन कार्ड  केवल 10 प्रतिशत गरीबों के पास है बाकी गरीब तो ऑफिस के चक्कर लगा रहे है। राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच प्रदेश सरकार से गरीबों का जो बजट है वह गरीबों को दिए जाने कीह मांग करता है। राष्ट्रीय मानव अधिकार प्रदेश मंच गाइड लाइन का पालन करने शासन प्रशासन का सहयोग करने की अपील भी नागरिकों कसे करता है।


जिला आपदा अधिकारी से कोरोना से मृतक के परिवारों को चार लाख रूपये  सहायता राशि उपलब्ध की मांग 

  • सेवादल अध्यक्ष घरों में करा रहे है नगर पालिका से सैनीट्राईज

sehore news
सीहोर। सेवादल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के द्वारा अनुसुचित जाति वार्ड क्रमांक ११ में कोरोना संक्रमित मृतक परिवारों के घरों पर मुख्य नगर पालिका अधिकारी संदीप श्रीवास्तव के सहयोग से सैनीट्राइज एवं वार्ड के दरोगा अशोक चौहान द्वारा निरंतर साफ सफाई का कार्य भी कराया जा रहा है। कोरोना संक्रमित बीमारी से जूझ रहे पीडि़त लोगों की हर संभव जिले में सेवादल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के द्वारा ऑक्सीजन सिलेंडर व्हील चेयर एवं दवागोली की मदद की जा रहीं है। इसी कड़ी में नसरूल्लागंज ब्लाक कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष समाजसेवी जसबंत सिंह के द्वारा सिविल अस्पताल में मरीजों की सुविधा के लिए अपनी ओर से  व्हील चेयर दान की गई। श्री खंगराले ने बताया की उनुसुचित जाति बहूल वार्ड क्रंाम ११ तथा सीहेार जिले में कोरोना संक्रमिण से मृत्यु को प्राप्त हुए आश्रित परिवारों को जिला आपदा अधिकारी से चार लाख रूपये की सहायता राशि प्रदान करने की मांग भी की जा रही है। जिला प्रशासन स्वयं मृतकों के घर पर जाकर जरूरी दास्तावेज लेकर आश्रितों को मुआवजा राशि उपलब्ध कराए। 


कंट्रोल रूम में डाटा एंट्री कार्य के लिए कम्प्यूटर ऑपरेटर की लगाई ड्यूटी


जिला स्तर पर कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर ई-दक्ष कार्यालय कलेक्ट्रेट में स्थापित किया गया है। कंट्रोल रूम में डाटा एंट्री कार्य के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा सहायक वर्ग एवं कंप्यूटर ऑपरेटर की ड्यूटी लगाई गई है। साथ ही निर्देश दिए गए हैं कि संबंधित कर्मचारी तत्काल अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करें। कलेक्टर की पूर्व अनुमति के बिना किसी भी दिशा में अवकाश स्वीकृत नहीं होगा। कलेक्टर श्री गुप्ता ने जिन कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है उनमें सामाजिक न्याय विभाग से कंप्यूटर ऑपरेटर श्री कृपाल चौधरी, जनपद पंचायत सीहोर से श्री प्रकाश मेवाड़ा, खनिज विभाग से श्री शमीम खान एवं जिला पंजीयक श्री अंकित महोविया को प्रातः 8:00 बजे से अपरान्ह 2:00 बजे तक, उपसंचालक कृषि विभाग से श्री राकेश राठौर, रोजगार कार्यालय से श्री राजीव राठौर, जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र से श्री रामचंद्र डोहर व पिछड़ा वर्ग तथा अल्प कल्याण विभाग से श्री महेश कुमार माझी को अपरान्ह 2:00 बजे से रात्रि 8:00 बजे तक तथा महाप्रबंधक प्रधानमंत्री सड़क ग्रामीण सीहोर श्री राजो कुमार नागर एवं एनआरएलएम जिला पंचायत से श्री दिनेश नरोलिया को रात्रि 8:00 बजे से प्रातः 8:00 बजे तक शामिल हैं। संबंधित कर्मचारी नोडल अधिकारी कार्यपालन यंत्री जल संसाधन विभाग श्री दीपक चौकसे-से समन्वय कर ड्यूटी संपादित करेंगे। नोडल अधिकारी द्वारा जरूरत अनुसार ड्यूटी समय में परिवर्तन किया जा सकता है। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू हो होकर आगामी आदेश तक प्रभाव सील रहेगा।


कैदियों को योग प्रशिक्षण  


sehore news

कोरोना महामारी के संक्रमण को देखते हुए नसरुल्लागंज की उप जेल के 70 कैदियों को योगासन और ध्यान का प्रशिक्षण दिया गया। इससे कैदियों में प्रतिरोधक क्षमता विकास में मदद मिलेगी। यह प्रशिक्षण राम कृष्ण मिशन के श्री विजेन्द्र पराशर ने दिया।


जिले में किल कोराना अभियान के तहत डोर टू डोर सर्वे


sehore news
कोविड-19 के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए प्रारंभिक स्तर पर ही पता लगाने तथा समुचित इलाज के लिए किल करोना अभियान के तहत डोर टू डोर सर्वे का कार्य आशा, एएनएम तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा निरंतर किया जा रहा है। आशा, एएनएम तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा घर घर जाकर मरीजों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली जा रही है। साथ ही थर्मल स्कैनर से फीवर तथा ऑक्सीमीटर से ऑक्सीजन सीजन लेवल चेक किया जा रहा है एवं कोविड-19 के संभावित लक्षण मिलने पर उन्हें स्वास्थ्य केंद्र भेजा जा रहा है। जिले की बुदनी अन्तर्गत ग्राम नेहलाई में आंगनवाडी कार्यकर्ताओं द्वारा लोगों को कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए भी जागरुक किया जा रहा है। साथ ही मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाने एवं हाथों को सेनेटाईज करने आदि की सलाह दी जा रही है।


डोर टू डोर सर्वे कार्य को लेकर इछावर एसडीएम ने ली बैठक


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देश पर इछावर एसडीएम श्री विष्णु यादव ने संबंधित अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में श्री यादव ने निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए डोर टू डोर सर्वे कार्य तीव्र गति से किया जाए पूरी गम्भीरता से किया जाये उन्होंने कहा कि डोर टू सर्वे कार्य के दौरान जिस व्यक्ति को सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार हो तो उसे तत्काल निकतम स्वास्थ्य केन्द्र में भेजा जाए। सर्वे कार्य के दौरान लोगों में मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड गाइड लाईन के लिए जागरुक करें।


ऑक्सीजन आपूर्ति राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता: मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • प्रदेश में 11 हजार से अधिक व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ली कोरोना नियंत्रण कोर ग्रूप की वर्चुअल बैठक

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोविड संक्रमण के प्रबंधन में ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करना राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। अभी तक 11 हजार से अधिक व्यक्ति कोरोना की जंग जीत कर स्वस्थ्य हुए हैं। प्रदेश में जनता कर्फ्यू का सकारात्मक असर दिखाई दे रहा है। पॉजिटिविटि रेट स्थिर हुआ है। जिला स्तर पर अब अधिक संक्रमण वाले क्षेत्रों को चिंहित करने की आवश्यकता है। शहरों ग्रामों में जिन क्षेत्रों में संक्रमण अधिक है उनका अध्ययन कर माइक्रो स्तर पर संक्रमण नियंत्रण के लिए रणनीति विकसित करना होगी। इन क्षेत्रों को माइक्रो कंटेनमेंट एरिया बनाकर संक्रमण को फैलने से रोकने और इसे समाप्त करने के प्रयास किये जायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान कोविड 19 की रोकथाम और व्यवस्थाओं के संबंध में निवास से कोरोना नियंत्रण कोर ग्रूप की वर्चुअल बैठक को संबोधित कर रहे थे।  बैठक में कोविड नियंत्रण के कार्यों के परिवेक्षण और क्रियान्वयन के लिए मंत्रियों को सौंपे गये दायित्वों पर भी चर्चा हुई। बैठक में सभी संबंधित मंत्री, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्म्द सुलेमान तथा अन्य अधिकारी वर्चुअली सम्मिलित हुए। भोपाल और ग्वालियर के लिए भी ऑक्सीजन एयर रूट मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं। केन्द्रीय रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल से चर्चा में यह तय हुआ है कि रेल मंत्रालय मध्यप्रदेश को भोपाल के लिए ऑक्सीजन ट्रेन प्रदान करेगा। यह ट्रेन बोकारो से रांची होते हुए भोपाल आयेगी। जिसमें ऑक्सीजन के भरे टैंकर मध्यप्रदेश लाये जायेंगे। इंदौर- जामनगर एयर रूट के बाद अब ग्वालियर रांची और भोपाल-रांची ऑक्सीलन एयर रूट से ऑक्सीजन की सप्लाई मध्यप्रदेश को की जायेगी। मध्यप्रदेश से खाली ऑक्सीजन सिलेंडर वायु सेना के विमान से भोपाल और ग्वालियर से रांची जायेंगे और वहाँ से सड़क मार्ग से भरे टेंकर वापस आयेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि नाईट्रोजन टेंकर को ऑक्सीजन के लिए कंवर्ट करने और ट्रेन पर टैंकर लाने के लिए आवश्यक व्यवस्था की संभावनाओं पर भी कार्य किया जाये। ऑक्सीजन की आपूर्ति और उसके प्रदेश में वितरण के लिए अधिकारियों के दो उच्च स्तरीय समूह गठित किये गये हैं। कोविड केयर सेंटरों की कार्य-प्रणाली का नियमित आकलन हो मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि  होम आइसोलेशन में रह रहे व्यक्तियों की स्थिति उन्हें दवा और सलाह मिलने के क्रम आदि पर प्रभारी मंत्री और ओआईसी विशेष ध्यान दें। होम आइसोलेशन में ही मरीजों को स्वस्थ्य करने का हर संभव प्रयास किया जाये। कोविड केयर सेंटरों की व्यवस्था की समीक्षा में बताया गया कि 155 कोविड केयर सेंटर में 9 हजार 41 आइसोलेशन बेड और 32 केंद्रों में 618 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था कर ली गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोविड केयर सेंटरों की सेवाओं का आकलन वहाँ उपलब्ध चिकित्सा अधोसंरचना, इलाज, साफ-सफाई, भोजन व्यवस्था और मरीजों के फीड बैक के आधार पर किया जायेगा। यह भी अध्ययन करें कि इन केंद्रों से कितने व्यक्तियों को अस्पताल रेफर किया गया और कितने व्यक्ति स्वस्थ्य हुए हैं। 492 निजी अस्पतालों में रेट लिस्ट प्रदर्शित प्रदेश के 497 निजी कोविड चिकित्सालयों में से 492 चिकित्सालयों में बिस्तरों की स्थिति और रेट लिस्ट प्रदर्शित की जा रही है। शासकीय और निजी स्वास्थ्य संस्थाओं में 49 हजार 660 बिस्तरों की क्षमता विकसित की गई है। मेडिकल किट वितरण का कार्य लगातार जारी है। एम्स में आईसीयू के सौ बिस्तर बढ़ेंगे चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग ने जानकारी दी कि भोपाल में एम्स में आईसीयू के सौ बिस्तर बढ़ाये जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त विभिन्न संगठनों के सहयोग से 2 हजार बिस्तरों की व्यवस्था की जा रही है।


1 मई से 18 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लोगों को, वैक्सिनेशन के लिए नए निर्देश जारी

  • निजी और औद्योगिक संस्थान सीधे निर्माता से वैक्सीन खरीद कर व्यवस्था बनाए

राज्य टीकाकरण अधिकारी मध्यप्रदेश डॉ. संतोष शुक्ला ने कहा है कि 1 मई 2021 से समस्त निजी एवं औद्योगिक संस्थानों में अब कोविड -19 टीकाकरण सत्र आयोजित किये जाने हेतु वैक्सीन की उपलब्धता वैक्सीन निर्माता से स्वयं क्रय कर सुनिश्चित करनी होगी। पूर्व निर्देशानुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के माध्यम से उपलब्ध करायी जा रही कोविड -19 वैक्सीन पर तत्काल प्रभाव से रोक लगायी जाती है। यह निर्देशित किया जाता है कि मुख्य चिकित्सा स्वास्थ अधिकारी समस्त निजी एवं औद्योगिक संस्थानों को अवगत कराये जाना सुनिश्चित करें । इसके साथ ही 1 मई 2021 से प्रदेश में प्रारंभ हो रहें कोविड -19 टीकाकरण के तृतीय चरण अंतर्गत 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी नागरिको का कोविड-19 टीकाकरण के सत्र आयोजित कराये जाने हेतु निजी एवं औद्योगिक संस्थानों को प्रोत्साहित करें । सत्र की स्थापना एंव संचालन किये जाने हेतु दिशा-निर्देश कोविड पोर्टल पुर्वानुसार होंगे।


पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी-कर्मचारी मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना के अन्तर्गत पात्र घोषित


कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने मध्यप्रदेश ग्रामीण विकास विभाग के आदेशानुसार जिले में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी/कर्मचारी, पंचायत के सचिव, ग्राम रोजगार सहायक, पंचायत समन्वयक अधिकारी, सहायक विकास विस्तार अधिकारी, संविदा एवं आउटसोर्स कर्मी तथा अनुबंधित दैनिक वेतनभोगी को मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना के अन्तर्गत पात्र कर्मी घोषित किया गया है।   


एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय चयन परीक्षा - 30 तक जमा होंगे आवेदन


एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय में शैक्षणिक पदों के लिये आवेदन-पत्र आमंत्रित किये गये है।उक्त संस्था द्वारा राज्यों से एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों (ईएमआरएस) के लिये शिक्षण स्टॉफ जैसे प्राचार्य (प्रिंसिपल), उप प्राचार्य (वाइस-प्रिंसिपल), पीजीटी और टीजीटी की भर्ती के लिये ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गये हैं। आवेदन 30 अप्रैल, 2021 तक जमा कराये जा सकते हैं। ईटीएसएसई 2021 के लिये ऑनलाइन आवेदन, शैक्षिक योग्यताएँ, शिक्षण अनुभव और अन्य पात्रता मानदण्ड आदि के संबंध में ब्योरे सूचना बुलेटिन <https://recruitment.nta.nic.in> पर उपलब्ध हैं।     


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की फिक्की से संक्रमण नियंत्रण में सहयोग की अपील


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने फिक्की की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के  द्वारा चर्चा की। उनसे ऑक्सीजन परिवहन के लिए टैंकरों, ऑक्सीजन सिलेंडर, वेंटीलेटर और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की उपलब्धता कराने में सहयोग की अपील की है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की उपलब्धता की चुनौती का सामना करते हुए उत्पादन और परिवहन के सभी स्तरों पर युद्ध स्तरीय प्रयास  किए जा रहे हैं। ऑक्सीजन आपूर्ति के परिवहन समय में कमी के लिए खाली सिलेंडरों को एयर लिफ्ट कर भेजा जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में कोविड संक्रमण की स्थिति के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि संक्रमितों की संख्या 90 हजार के पार हो गई है। स्थिति के नियंत्रण के लिए संक्रमण की चेन को तोड़ने के प्रयास किए गए हैं। जनता कर्फ्यू की नयी अवधारणा को जनसहयोग से लागू किया गया है। इसके फलस्वरूप उद्योग संचालित हो रहे हैं। निर्माण, विकास और परिवहन कार्य भी जारी है। प्रयास है कि आर्थिक गतिविधियाँ प्रभावित नहीं हो। इन प्रयासों के सार्थक परिणाम मिले हैं। उन्होंने बताया कि जिन क्षेत्रों में संक्रमण का प्रसार अधिक होना पाया जाता है, वहाँ माइक्रो कंटेनमेंट के द्वारा संक्रमण नियंत्रण के कार्य किए जा रहे हैं। संक्रमितों के उपचार के लिए निजी एवं सरकारी क्षेत्र में 1 अप्रैल से अभी तक बिस्तरों की संख्या को 25 हजार से बढ़ाकर 50 हजार किया गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि चिकित्सालयों के बैकअप के रूप में कोविड केयर सेंटर की स्थापना की गई है। वहाँ पर रहने वाले संक्रमितों के साथ निरंतर संवाद कायम कर उनके स्वास्थ्य की निगरानी की जा रही है। उन्होंने फिक्की के सदस्यों से अनुरोध किया कि प्रदेश के औद्योगिक प्रतिष्ठान ऑक्सीजन की औद्योगिक आवश्यकताओं को रोककर स्थानीय स्तर पर चिकित्सकीय उपयोग के लिए ऑक्सीजन उपलब्ध कराए। उन्होंने प्रचलित और नवीन औषधियों की आपूर्ति तेज गति से करवाने का भी अनुरोध किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रेमडेसिविर के विकल्प खोजने के संबंध में भी शोध कार्य करवाने का आग्रह किया। प्रदेश के प्रत्येक जिले में ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट लगाने के कार्य की गति को बढ़ाने और नये प्रयोगों के संबंध में सुझाव भी आमंत्रित किए। उन्होंने फिक्की के सदस्यों को सरकार के द्वारा पूरा सहयोग का आश्वासन देते हुए कहा कि कार्यादेश और भुगतान संबंधी सभी व्यवस्थाएँ तीव्र गति से की जा रही है। उद्योगों को संचालन कार्य में दिक्कत नहीं हो। समस्याओं, जरूरतों पर तत्काल कार्रवाई के लिए सरकार ने कॉल सेंटर भी बनाया है। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास संक्रमण की गतिशीलता को रोकते हुए अर्थ-व्यवस्था को गतिशील बनाए रखना है। वीडियो कॉन्फ्रेंस में उपस्थित फिक्की की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों ने मुख्यमंत्री श्री चौहान और राज्य सरकार की संवेदनशीलता, गतिशीलता और तत्परता की सराहना की। उन्होंने राज्य की आवश्यकताओं की पूर्ति में पूरा सहयोग करने का आश्वासन मुख्यमंत्री श्री चौहान को दिया। कॉन्फ्रेंस में चेयरमेन जायडस समूह श्री पंकज पटेल, चेयरमेन मेडिका ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स श्री आलोक राय, ऑयनॉक्स ग्रुप के प्रबंध संचालक श्री सिद्धार्थ जैन, अपोलो हॉस्पिटल इंदौर के श्री अभिलाष एस. पिल्लई, मुख्य प्रबंध संचालक दि ललित सूरी हॉस्पिटलटी ग्रुप डॉ. ज्योत्सना सूरी, प्रॉक्टर एण्ड गैम्बेल के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मधुसूदन गोपालन, प्रबंध संचालक कैलोग इंडिया श्री मोहित आनंद और चेयरमेन ट्रीडेंट ग्रुप श्री राजेन्द्र गुप्ता ने मुख्यमंत्री के साथ संवाद किया। कॉन्फ्रेंस का आरंभ फिक्की के प्रेसिडेंट श्री उदय शंकर ने किया।


"योग से निरोग" कार्यक्रम के तहत हुआ योग प्रशिक्षकों का ऑनलाइन प्रशिक्षण, आयुष और स्कूल शिक्षा विभाग का संयुक्त प्रयास


होम आइसोलेशन में कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों को स्वस्थ्य रखने और उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य स्तरीय ''योग से निरोग'' कार्यक्रम शुरू किया है। ''योग  से निरोग'' के अंतर्गत पंजीकृत प्रदेश के योग प्रशिक्षकों को कोविड 19 केंद्रित  प्रशिक्षण कार्यक्रम ऑनलाइन वेबेक्स और यूट्यूब के माध्यम से दिया गया। यह कार्यक्रम आयुष और स्कूल शिक्षा विभाग के संयुक्त प्रयासों से संचालित किया जा रहा है। ऑनलाइन प्रशिक्षण के दौरान कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों के लिए वीडियो ट्रेनिंग मॉड्यूल, डूज एंड डोंट्स एवं सॉफ्ट स्किल व्यवहार संबंधी प्रशिक्षण दिया गया। प्रमुख सचिव आयुष श्रीमती करलिन खोंगवार देशमुख ने कहा कि ''''योग से निरोग'''' कार्यक्रम के तहत इच्छुक स्वयंसेवक योग प्रशिक्षक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। प्रत्येक योग प्रशिक्षक को 10-10 मरीज आवंटित किए जाएंगे। इन मरीजों को 3 दिन का योग प्रशिक्षण ऑनलाइन गूगल मीट, माइक्रोसॉफ्ट टीम्स, वेबेक्स आदि माध्यमों से दिया जाएगा। प्रमुख सचिव, स्कूल शिक्षा श्रीमती रश्मि अरुण शमी ने बताया कि ''योग से निरोग'' कार्यक्रम होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड संक्रमित मरीजों के लिए है। कार्यक्रम का उद्देश्य मरीजों के डिप्रेशन को कम करने और उनके मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर रखने के साथ उनका मनोबल और उत्साह बनाए रखना है। आयुष मंत्रालय भारत सरकार की कोविड-19 गाइडलाइन प्रोटोकॉल पर आधारित वीडियो ट्रेनिंग मॉड्यूल का प्रशिक्षण योग प्रशिक्षकों को दिया गया है। साथ ही कोविड-19 व्यक्तियों से संयम और सौम्यता से व्यवहार संबंधी प्रशिक्षण भी दिया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन अपर संचालक श्री धीरेन्द्र चतुर्वेदी ने किया। खुशीलाल आयुर्वेद महाविद्यालय भोपाल के प्राचार्य डॉ उमेश शुक्ला की टीम ने सभी योग प्रशिक्षकों को कोविड-19 प्रोटोकॉल पर केंद्रित योग और प्राणायाम संबंधी प्रशिक्षण दिया। मैप आईटी के श्री अभिषेक चौहान ने स्वयंसेवक योग प्रशिक्षकों को माय गव पोर्टल पर योग प्रशिक्षक के रूप में रजिस्टर करने की प्रक्रिया बताई। सभी जिलों में योग प्रशिक्षको और होम आइसोलेटेड मरीजों की मैपिंग जिला शिक्षा अधिकारी और जिला आयुष अधिकारी द्वारा की जाएगी। इस अवसर पर आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत, निदेशक महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान श्री प्रभात राज तिवारी, आयुष विभाग के डॉ अरविंद कुमार पटेल, डॉ राजीव मिश्रा  सहित सभी जिलों के शिक्षा अधिकारी, आयुष अधिकारी, वॉलंटियर शिक्षक और संबधित अधिकारी उपस्थित थे।   


कोरोना संक्रमण की दर स्थिर हुई है : सहयोग और संयम बनाए रखें - मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की प्रदेशवासियों से अपील

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हम सब मिलकर कोरोना के खिलाफ युद्ध लड़ रहे हैं। राहत की बात यह है कि अब लगातार पॉजिटिविटी रेट कम होता चला जा रहा है। 22 अप्रैल को यह 24.29 प्रतिशत था जो 25 अप्रैल को 23.01 हो गया। एक और राहत की बात है कि संक्रमित होने वाले भाइयों-बहनों की संख्या अब लगभग स्थिर है। यह 13 हजार के आसपास बनी हुई है। वहीं स्वस्थ होकर घर जाने वाले भाइयों और बहनों की संख्या तेजी से बढ़ी है। 19 अप्रैल को यह संख्या 6,836 थी, जो 25 अप्रैल को बढ़कर 11 हजार 324 हो गई। हमारा रिकवरी रेट भी बढ़ता चला जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास से प्रदेशवासियों के नाम जारी संदेश में यह बात कही। अभी लंबी लड़ाई बाकी है- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अभी लंबी लड़ाई बाकी है। सभी के सहयोग से ही पॉजिटिविटी रेट में कमी और रिकवरी रेट में वृद्धि संभव है। कोरोना से लड़ाई घर पर रहकर ही जीती जा सकती है। हम घर पर रहे, इसीलिए अब संक्रमण की दर घट रही है। यह सहयोग निरंतर बनाए रखने का आप सब से निवेदन है। धैर्य और संयम से हमें इस लड़ाई को लड़ते रहना है। माइक्रो कंटेनमेंट एरिया की नीति लागू होगी- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गाँव या शहर के किसी मौहल्ले में कुछ घरों में संक्रमण है तो उस क्षेत्र को माइक्रो कंटेनमेंट एरिया बनाकर संक्रमण को उस क्षेत्र तक रोकना और वहीं समाप्त करना होगा। ऐसे माइक्रो कंटेनमेंट एरिया में रह रहे परिवारों की आवश्यकताओं को घरों में ही पूरा करने की व्यवस्था की जाए ताकि वे घरों से नहीं निकलें। यह सहयोग अत्यंत आवश्यक है। इसलिए अब माइक्रो कंटेनमेंट एरिया बनाने की नीति भी इस लड़ाई में सम्मिलित की जा रही है। परिजन नहीं जायें कोरोना वार्ड में- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्राय: यह देखने में आ रहा है कि पॉजिटिव हुए मरीजों के साथ परिजन अस्पताल आते हैं। इससे परिजनों के संक्रमित होने का खतरा बढ़ता है। यदि परिजन भी संक्रमित हो गए तो मरीज की देखभाल कौन करेगा। अत: निवेदन है कि कोरोना पेशेंट को अस्पताल में भर्ती कराने के बाद वार्ड में बिल्कुल न जायें। इससे आप स्वयं संक्रमित हो जायेंगे, जिससे संकट और गंभीर होगा। इस समय संकट घटाने में आपसे सहयोग की अपेक्षा है। ऑक्सीजन और दवा आपूर्ति की कोशिश में कोई कमी नहीं होगी- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति लगातार बनी रहे और उसमें वृद्धि हो इसके लिए हरसंभव प्रयास जारी है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और, भारत सरकार का पूरा सहयोग इसमें मिल रहा है। वायुसेना के विमानों से खाली टैंकरों को गंतव्य तक भेजा जा रहा है, ताकि समय बचे और टैंकर भरकर जल्द से जल्द सड़क मार्ग से पहुँचे। ऑक्सीजन रेल से भी आए, इसकी व्यवस्था भी की गई है। रेमडेसिविर इंजेक्शन उपलब्ध कराने का हरसंभव प्रयास जारी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हम कोशिशों में कोई कमी नहीं छोड़ेंगे। हम सब मिलकर लड़ेंगे और इस लड़ाई को जीतेंगे। जनता को राहत के हरसंभव प्रयास जारी- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इन कठिनाइयों वाले समय में जीवनयापन के लिये भी आवश्यक व्यवस्थाएँ की जा रही है। मध्यप्रदेश सरकार ने तीन महीने का राशन नि:शुल्क देने का फैसला किया है। भारत सरकार ने भी मई और जून दो माह का राशन नि:शुल्क देने निर्णय लिया है। इसके साथ शहरी और ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर्स के खाते में भी एक-एक हजार रूपए डालने का निर्णय लिया गया है। किसानों के खाते में मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना निधि की एक किस्त भी शीघ्र ही डाली जाएगी। जनता को राहत देने के हरसंभव उपाय लगातार जारी रहेंगे। डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ युद्ध के सेनापति हैं - इनका सम्मान करें- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ कोरोना के विरूद्ध इस लड़ाई के सेनापति हैं। अपनी जान हथेली पर रखकर ये लड़ाई लड़ रहे हैं। इनका मनोबल और हौसला बढ़ाने की आवश्यकता है। उन्हें उचित सम्मान दें, ताकि ये दुगने उत्साह से संक्रमितों को स्वस्थ कर सकें। उनके साथ अशोभनीय व्यवहार कदापि न करें। कोरोना हारेगा और हम जीतेंगे- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमें मिलकर इस लड़ाई को लड़ना है। जो रणनीति हमने बनाई है यदि हम उसका अनुसरण करते हैं तो यह विश्वास है कि कोरोना हारेगा और हम जीतेंगे।  


कोविड-19 संबंधित आरटी पीसीआर टेस्ट का परिणाम ऑनलाइन किया जा सकेगा प्राप्त


नागरिकों के कोविड संबंधित आरटीपीसीआर टेस्ट का परिणाम जानने हेतु मध्य प्रदेश शासन द्वारा ऑनलाइन सुविधा प्रारंभ की गई है। Pls visit http://sarthak.nhmmp.gov.in/covid/test-result-status/  लिंक पर क्लिक करके यह जानकारी प्राप्त की जा सकती है। नागरिक अपना मोबाइल नं (जो सैम्पल देते समय परीक्षण लैब/ सैम्पल संग्रहण केन्द्र को दिया गया है) एवं परीक्षण लैब, आईसीएएमआर पोर्टल से प्राप्त एसआरएफ आईडी की प्रविष्टि कर अपने सैम्पल का परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।


स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने जिले में कोरोना संक्रमण और उपचार की समीक्षा की, स्वास्थ्य मंत्री ने मरीजों से मोबाईल पर की बात

  • स्वास्थ्य मंत्री ने कोविड मरीजों के त्वरित और बेहतर इलाज के दिये निर्देश

sehore news
स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक आयोजित कर कोरोना संक्रमण की रोकथाम तथा बचाव के लिए किए जा रहे कार्यों तथा संक्रमित मरीजों के उपचार की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने पॉजीटिव मरीजों की संख्या, स्वस्थ होकर जाने वाले मरीजों की संख्या, टीकाकरण तथा डोर टू डोर सर्वे के बारे में जानकारी ली। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने समीक्षा के दौराना कहा कि किल कोरोना अभियान तेजी से पूरी गंभीरता के साथ चलाया जाए। इससे प्रारंभिक चरण में ही संक्रमित व्यक्तियों की पहचान होने से उनका समुचित उपचार किया जा सकेगा तथा कोरोना के प्रसार को रोका जा सकेगा। उन्होंने कहा कि पूरा स्वास्थ्य एवं प्रशानिक अमला सजगता से कार्य कर रहा है जिसके बेहतर परिणाम आने शुरु हुए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में सभी एकजुट होकर लड़ाई लड़ रहे हैं। उपचार के लिए सभी आवश्यक चीजों की उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने उपचार के लिए आने वाले मरीजों के त्वरित और बेहतर उपचार के निर्देश दिए। डॉ चौधरी ने बताया कि वर्तमान में कोविड के संक्रमित लोगों के आंकड़े में स्थिरता आई है तथा स्वस्थ होकर घर वापस जाने वालों का आंकड़ा भी बढ़ा है। बैठक के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी कक्ष से मुख्यमंत्री की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल हुए। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने जिले में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए चलाए जा रहे किल कोरोना अभियान के तहत डोर टू डोर सर्वे पंचायतों में बनाए जा रहे क्वांरेंटाइन सेंटर तथा सभी जनपदों में बनाए गए कोविड केयर सेंटर के बारे में विस्तार से जानकारी दी। श्री गुप्ता ने बताया कि अस्पताल में दवाओं एवं अन्य सामग्रियों की उपलब्धता के बारे में जानकारी दी।


मोबाईल पर मरीजों से की बात

डॉ प्रभुराम चौधरी ने कोविड कमाण्ड सेंटर का निरीक्षण किया तथा वहां होमआईसोलेट मरीजों से कोविड कमाण्ड सेंटर के स्टॉफ द्वारा की जाने वाली बातचीत को सुना। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने स्वयं मोबाईल से होमआईसोलेट मरीज इछावर की सपना कुमारी तथा सीहोर के अतुल राय से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। डॉ चौधरी ने इन मरीजों से दवाओं की किट प्रदान किए जाने तथा कोविड केयर सेंटर के स्टॉफ द्वारा समय-समय पर फोन लगाने के बारे में जानकारी ली गई। इन दोनों मरीजों ने यहां से दिए जाने वाले इलाज तथा सलाह को बेहतर बताया। बैठक में विधायक सीहोर श्री सुदेश राय, एसपी एसएस चौहान, सीएमएचओ डॉ सुधीर कुमार डेहरिया तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।


जिले में 210 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 1378, 3 कोरोना संक्रमितों की मृत्यु, मृतकों की कुल संख्या 80


पिछले 24 घंटे के दौरान 210 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। इनमें सीहोर शहरी क्षेत्र के 40 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जो बड़ियाखेड़ी, पॉवर हाउस चौराहा, मंडी, इंग्लिशपुरा, शीतल विहार, चाण्क्यपुरी, पल्टन एरिया, नेहरु कॉलोनी, कस्बा, न्यू बस कनकपुरी, अवधपुरी, सुदामानगर, गंज, इंदौर नाका, सब्जी मंडी, डीडी स्टेट, देवनगर, जनता कॉलोनी, बड़ियाखेड़ी, कस्बा, छीपापुरा, महादेव स्टेट, पुलिस लाईन, नेहरु नगर, ब्रहमपुरी, चाण्क्युपरी, गंज, सुभाष मार्ग, कोलीपुरा, हाउसिंग बोर्ड, इंदिरा नगर के निवासी हैं इसी प्रकार नसरुल्लागंज क्षेत्र से 18 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं जो नसरुल्लागंज के वार्ड नंबर 11, बालागांव, छिदगांव, राला, सतराना, लाड़कुई, नयापुरा, सुदामापुरी, खरसानिया, नसरुल्लागंज जेल कॉलोनी, चकल्दी, लाड़कुई के निवासी हैं। इछावर अन्तर्गत 16 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है जो इछावर के वार्ड नंबर 07, 05, 03, 12, जामली, अमलाहा, शिवाजी नगर, वीरपुर डेम, पांगरा, अतरालिया, पीलूखेड़ी, नीलबड़ के निवासी हैं। श्यामपुर अन्तर्गत 19 व्यक्ति संक्रमित मिले हैं जो दोराहा, खारी, बिलकिसगंज, कुलासकला, जमोनिया, गुडभेला, करोड़िया, श्यामपुर, कदमपुर, मुंगावली, साईंधाम, बड़ी मुंगावली, मोगराराम, निपानिया कला, बिजोरी के निवासी हैं। बुदनी क्षेत्र से 43 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो बुदनी के वार्ड नंबर 11, 07, ग्वाड़िया, महुकला, हालियाखेड़ी, रेहटी, बायां, पीलीकरार, तालपुरा, नांदनेर, बकतरा, ग्वालीघाट, सलकनपुर, ट्रेक्टर प्रशिक्षण केन्द्र बुदनी, शाहगंज, खेरीसिलेगना, जहाजपुरा, हीरापुर, वार्ड नबर 12 रेहटी के निवासी हैं।     आष्टा क्षेत्र से 74 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं जो आदर्श कॉलोनी, कॉलोनी चौहारा, मुगली, जैन मंदिर रोड़, भंवरा, पटारिया, खाचाराद, शास्त्रीनगर, चायरसी, बुधवारा, खारी, रायल कॉलोनी, अरनिया कॉलोनी, हाथीखाना, श्रीराम कॉलोनी, किला क्षेत्र, मुगली, चांदननगर, लसुड़ियापार, बड़ा बाजार, मेवाड़ा कॉलोनी, पड़लिया, संचोरा कॉलोनी, अरड़िया, नवरंगपुरा, पखली, भूपोड़, हरनावदा, कन्नोद रोड़, वार्ड नंबर 14 आष्टा, वार्ड नंबर 14 जावर, सुखेड़ा, कुरनावदा, कोठरी, पारदीखेड़ा, रसूलपुरा, शांतिनगर, सेमनरी रोड़, बजरंग कॉलोनी, परोलिया, मेन रोड़ आष्टा, बालाखेड़ा के निवासी हैं।     पिछले 24 घंटे के दौरान 3 कोरोना पॉजिटिव की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। जिला चिकित्सालय स्थित डेडिकेटेट कोविड हेल्थ सेंटर (डीसीएचसी) से 2 एवं भोपाल नाका स्थित आवसीय छात्रावास डीएचसी में एक कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु हो गई। मृतकों में तीनो पुरुष शामिल हैं। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्तमान में जिले में एक्टिव पॉजिटिव 1378 हैं। आज 188 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 4442 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 80 है । आज 747 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 85, श्यामपुर से 85, विकासखंड नसरुल्लागंज से 108, आष्टा से 165 एवं बुदनी विकासखंड से 177 तथा इछावर से 127 सेंपल लिये गए हैं। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 5900 है जिसमें से 80 की मृत्यु हो चुकी है 4442 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है। तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 1378 है। आज 747 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 99704 हैं जिनमें से 92635 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 756 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1098 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या  कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर मोबाइल नंबंर 9425400273, 7987652577, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।     


रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने आयुष विभाग द्वारा आयुर्वेद औषधि का वितरण    


कोरोना संक्रमण से बचाव तथा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देश पर आयुष विभाग द्वारा जिले में आयुष संस्थाओं द्वारा त्रिकटु चूर्ण, संशमनी वटी, होम्योपैथी एवं यूनानी औषधियों का वितरण किया जा रहा है। आयुष विभाग द्वारा जिले भर में कुल 3091 लोगों को त्रिकटु चूर्ण 1583, संशमनी वटी के 121, होम्योपैथी के 1071 एवं यूनानी औषधि के 316 पैकेट वितरित किए गए।  आयुष विभाग द्वारा सीहोर विकासखंड अन्तर्गत 1903 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 1284, संशमनी वटी के 60, होम्योपैथी औषधि के 497 पैकेट एवं यूनानी औषधि के 62 पैकेट वितरित किए गए। इसी प्रकार आष्टा अन्तर्गत 327 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 67, संशमनी वटी के 32, होम्योपैथी औषधि के 97 एवं यूनानी औषधि के 131 पैकेट वितरित किए गए। बुदनी अन्तर्गत 355 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 88, होम्योपैथी औषधि  के 267 पैकेट वितरित किए गए। इछावर अन्तर्गत 334 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 115, होम्योपैथी औषधि के 147 एवं यूनानी औषधि के 72 पैकेट वितरित किए गए। नसरुल्लागंज अन्तर्गत 172 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 29, संशमनीवटी के 29 होम्योपैथी के 63 एवं यूनानी औषधि के 51 पैकेट वितरित किए गए।   जिला आयुष अधिकारी डॉ नरेन्द्र सिंह लोधी ने जानकारी दी कि आयुष विभाग मध्यप्रदेश के आदेशानुसार विगत वर्ष विभाग द्वारा औषधियों का वितरण घर-घर जाकर किया गया था। वर्तमान में भी इन औषधियों का वितरण संस्था स्तर से कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए किया जा रहा है।


1492 व्यक्तियों को लगा कोरोना का प्रथम एवं द्वितीय टीका


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर प्रदेश के साथ ही सीहोर जिले में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। जिले में कुल 75 केन्द्रों पर 1492 व्यक्तियों को कोरोना का प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया। सोमवार को शहरी सीहोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित जिला चिकित्सालय क़े 5 सत्र में कुल 323, आष्टा के 21 सत्र में 310, बुदनी के 6 सत्र में 160, इछावर के 5 सऋ में 121, नसरुल्लागंज के 14 सत्र में 138 तथा श्यामपुर के 24 सत्र में 440 व्यक्तियों को कोविड का प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया।


डॉक्टर तथा स्टॉफ नर्स की उपिस्थति में लगेगा रेमडिसिविर इंजेक्शन


जिला अस्पताल एवं डीसीएचसी सीहोर में चिकित्सीय प्रोटोकॉल के अनुसार कोरोना संक्रमित व्याक्ति को रेमडेसिविर इंजेक्शन ड्यूटी डॉक्टर तथा स्टाफ नर्स की उपस्थिति में ही लगाने के आदेश कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने दिए हैं। साथ ही निर्धारित प्रारुप में प्रमाण-पत्र हस्ताक्षरित कर ड्यूटी के पश्चात सिविल सर्जन कार्यालय में जमा करना अनिवार्य होगा।

कोई टिप्पणी नहीं: