विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 06 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 6 अप्रैल 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 06 अप्रैल

एमएमयू टीम का पुर्नगठन


कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में जिले में कोरोना के संक्रमण में कमी लाने के लिए मोबाइल मेडिकल यूनिट (एमएमयू) टीम गठन करने की कार्यवाही मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा की गई है।  एमएमयू टीम के द्वारा कोरोना पॉजिटिव मरीजो की कांट्रेक्ट ट्रेसिंग एवं कोरोना पॉजिटिव मरीज जो होमआईसोलेशन में है। उनकी काउंसलिंग कर आवश्यक औषधियां प्रदाय करने की कार्यवाही के साथ हर रोज की जानकारी डिस्ट्रिक्ट कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर पर देना सुनिश्चित करेंगे।  एमएमयू टीम के द्वारा कोरोना पॉजिटिव मरीज के घर के सदस्यों की सेम्पलिंग, प्रोटोकाल अनुसार पांच से 14 दिवस के अन्दर की जाएगी। पॉजिटिव व्यक्ति या उसके घर के सदस्यों को कंटेनमेंट जोन से बाहर निकलते है तो अनिवार्य रूप से एमएमयू टीम के द्वारा ग्रीन कार्ड जारी किया जाएगा।  माइक्रो कंटेनमेंट (पॉजिटिव व्यक्ति का घर) जोन में रहने वाले व्यक्ति की सेम्पलिंग के लिए एमएमयू टीम से सम्पर्क करेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा विदिशा शहरी क्षेत्र सहित खण्ड स्तरीय एमएमयू टीम का गठन आदेश जारी किया जा चुका है। जिसके अनुसार विदिशा शहर क्षेत्र की एमएमयू टीम में डॉक्टर विकास रघुवंशी 7999660651, डॉ सीएम धाकड़ 8770015330, डॉ विकास बघेल 9425623070, डॉ अंजली गुप्ता 9039223348, डॉ केके सोनी 8516851193, डॉ उमा शाक्या 9131573216, डॉ टीकाराम शर्मा 8819957147, डॉ जफर मंसूरी 9993041758 को शामिल किया गया है। पीपलखेडा क्षेत्र की एमएमयू टीम में डॉ संतोष किरार 9399410986 एवं डॉ नितिन सिंघई 9074099029 शामिल है।  इसी प्रकार बासौदा विकासखण्ड के लिए गठित एमएमयू टीम में डॉ महेन्द्र बाजोरिया 9407274719, डॉ शुभभ सिंघई 7773002690, डॉ भूपेन्द्र सिंह चौहान 8962552922, डॉ सौरभ रघुवंशी 7898482285 शामिल है। सिरोंज विकासखण्ड की एमएमयू टीम में डॉ विवेक अग्रवाल 9425431891, डॉ कलीमुददीन 9977996684, डॉ मनीष श्रीवास्तव 7566376985, नितिन सेन 7999131496 को शामिल किया गया है। लटेरी विकासखण्ड में डॉ सुरेन्द्र धाकड़ 9509835900 एवं डॉ इमरान 9893540186, कुरवाई हेतु डॉ बीएल नागेश 9589268470, डॉ असद खॉन 8889470944, नटेरन के लिए डॉ नेहा चौकसे 9302296682, डॉ नेहा शक्तावत 9552341806, शमशाबाद के लिए डॉ निर्मल सिंह जाटव 8770941263, डॉ गिरीश साहू 7000513399 को तथा ग्यारसपुर विकासखण्ड के लिए गठित एमएमयू टीम में डॉ मनेन्द्र कटियार 9713488385 तथा डॉ वीटा खाण्डरे 9755406469 शामिल है।


डिस्ट्रिक्ट कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर का दूरभाष जारी 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा डीसीसीसी मेंं सम्पर्क के लिए निर्धारित मोबाइल नम्बर प्रसारित करने के निर्देश दिए है तदानुसार डिस्ट्रिक्ट कमाण्ड एण्ड कंट्रोल रूम का मोबाइन नम्बर 8770479133 है। कलेक्टर डॉ जैन ने पूर्व उल्लेखित मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क ना होने की स्थिति में डीसीसीसी की प्रभारी अधिकारी सुश्री मौसम जैन के मोबाइल नम्बर 8308383406 पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।


विदिशा निकाय वार्डो हेतु एमएमयू टीम की सूची 


विदिशा नगरीय क्षेत्र में कोरोना के बढते संक्रमण की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रबंधो के तहत कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा विदिशा निकाय के 39 वार्डो के लिए एमएमयू टीम का गठन औसतन दस-दस वार्डो के मध्य क्रमशः चिकित्सक व अन्य को एमएमयू टीम में शामिल किया गया है।  विदिशा नगरपालिका के वार्ड क्रमांक एक से दस तक के वार्डो में गठित एमएमयू टीम में डॉ अंजली गुप्ता 7354365560 एवं श्री अरूण जैन एमपीएसओ 9589294276 को, वार्ड क्रमांक 11 से 20 के लिए डॉ उमा शाक्य 9131573216 एवं श्री सोनू चिड़ार 8878989649, वार्ड 21 से 30 तक के लिए डॉ भूपेन्द्र सिंह चौहान 8962552922 ओर श्री नंद किशोर सोनी 7354071954, वार्ड 31 से 39 तक के लिए एमएमयू टीम में डॉ टीकाराम शर्मा 8819957147 और डॉ जफर मंसूरी 9993041758 को शामिल किया गया है।


मैं भी कोरोना वांलिटियर्स अभियान 


माननीय मुख्यमंत्री जी के द्वारा यह आवाहन किया गया है कि कोरोना के  संक्रमण को रोकने  में समाज के लोग शासन के साथ - साथ  समाज  के लोगो  को मिलकर  भागीदारी  निभानी होगी। मिलकर कोविड-19 की महामारी को रोकने में वांलिटियर्स स्‍वयसेवको को जोड कर जनजागरूकता अभियान का संचालन करें। मध्‍यप्रदेश जन अभियान परिषद के माध्‍यम से कार्यो का क्रियान्‍वयन  किया  जा  रहा है।  कोरोना  कोविड  19 महामारी को रोकने के लिए स्वयंसेवी के रूप में जो भी अपनी सेवाएं देने के इच्छुक हैं वह अपना नाम माय gov.in पोर्टल पर जाकर अपने नाम एवं मोबाइल नंबर से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं तथा यह भी बता सकते हैं कि वह कितने दिन के लिए कौन से स्थान पर और किस प्रकार की सेवाएं देना चाहते हैं इस हेतु उनसे एक वालंटियर या शासन का प्रतिनिधि  संपर्क कर यह सूचित करेगा कि उनकी सेवाएं किस प्रकार ली जावेगी और उसके लिए क्या करना है  जन अभियान परिषद को इसमें बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है। जन अभियान  परिषद  के जिला  समन्वयक तत्काल जिला कलेक्टर से संपर्क कर माय gov.in पोर्टल पर समाज के  लोगों, विभिन्न सामाजिक तथा आध्यात्मिक संगठन के प्रतिनिधियों से अधिक से अधिक संख्या में रजिस्ट्रेशन हेतु प्रोत्साहित करें।  रजिस्ट्रेशन होने के बाद उन लोगों की सूची निकालकर और उनसे संपर्क कर तथा उनकी सहमति से उनकी सेवाएं किस प्रकार लिया जाना है यह सुनिश्चित करें। यह पूरा अभियान जिला कलेक्टर के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से किया जाएगा। जन अभियान परिषद के समन्वयक तथा प्रतिनिधि पूरी निष्ठा से इस कार्य में सहायता करें तथा जो स्वयंसेवी के रूप में पंजीकृत हुए हैं।  उनकी सेवा किस प्रकार लिया जाना है  इसके लिए परिषद को प्रभावी भूमिका निभाना है इस संबंध में औपचारिक जानकारी हमारे कार्यपालक निदेशक महोदय  आपको शीघ्र  देंगे।  जन अभियान  परिषद की जिला  समन्‍वयक श्रीमती  पूजा श्रीवास्‍तव ने जिले में उपरोक्‍त व्‍यवस्‍था के  क्रियान्‍वयन में किसी भी प्रकार  से  दिक्‍कत आती है तो अविलम्‍ब सूचित करें। इसके लिए कार्यालय  में पदस्‍थ श्री संग्राम के मोबाइल नम्‍बर  9340726840 पर  सम्‍पर्क  कर अविलम्‍ब  समाधान प्राप्‍त  कर  सकते  है।


कंटेनमेंट जोन का जायजा 


vidisaha-news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा विदिशा नगरपालिका क्षेत्र के पांच-पांच वार्डो के मध्य एक-एक दल प्रभारी नियुक्त किया है जो संबंधित वार्डो में भ्रमण कर माइक्रो कंटेनमेंट जोन के तहत क्रियान्वित व्यवस्थाओं का जायजा लेने के उपरांत सायं पांच बजे के उपरांत आयोजित होने वाली नोडल अधिकारियो की बैठक में जानकारियां प्रस्तुत कर रहे है। वार्ड क्रमांक छह से दस तक के लिए नियुक्त दल प्रभारी मप्रमक्षेविविकं लिमिटेड के कार्यप्रणाली यंत्री श्री अवधेश त्रिपाठी ने आज वार्ड छह डंडापुरा क्षेत्र के कंटेनमेंट जोन का जायजा लिया और आइसोलेशन एवं कोरोन्टाइन किए गए व्यक्तियों के लिए चिकित्सीय सुविधाओं के संबंध में जानकारी प्राप्त की है।


मुख्यमंत्री जी आज विदिशा आएंगे


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान सात अपै्रल को विदिशा आएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान का प्राप्त दौरा कार्यक्रम अनुसार बुधवार की दोपहर तीन बजे भोपाल से हेलीकाप्टर द्वारा प्रस्थान कर दोपहर 3.30 बजे विदिशा के एसएटीआई के हेलीपैड पर आगमन, इसके पश्चात् स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान दोपहर 3.50 बजे विदिशा से हेलीकाप्टर द्वारा रायसेन जिले के लिए रवाना होंगे। 


मुख्यमंत्री जी ने मीडिया को सम्बोधित किया, कोरोना संक्रमण को रोकने के प्रबंधो पर प्रकाश डाला, मीडिया हर क्षेत्र में जागरूकता का संदेश दे रही है 


vidisha news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज प्रदेश में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए किए जा रहे प्रबंधो की जानकारी वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से मीडियाकर्मियों को दी है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के संदेशो का मीडिया द्वारा हर क्षेत्र में प्रसारित कर जागरूकता को बढावा दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज मिंटो हाल परिसर के अस्थायी सभाकक्ष में वीडियो कांफ्रेसिग के माध्यम से सम्बोधित कर रहे थे। इससे पहले स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री मोहम्मद सुलेमान ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यो का प्रेजेन्टेशन प्रस्तुत किया।  विदिशा के एनआईसी कक्ष में इस अवसर पर प्रिन्ट, इलेक्ट्रॉनिक क्षेत्र में कार्यरत मीडियाबंधुओं के साथ-साथ फोटोग्राफर एवं केमरामैन मौजूद रहें। 


खरीफ 2020 सीजन के अल्पकालीन ऋण की देय तिथि 30 अप्रैल तक बढ़ी


खरीफ 2020 सीजन में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की अदायगी तिथि 28 मार्च 2021 से बढ़ाकर 30 अप्रैल 2021 कर दी गई है। सहकारिता एवं पंजीयक को निर्देश दिए गए हैं कि किसानों के बीच व्यापक प्रचार-प्रसार कर लाभांवित किया जाए। योजना की शेष शर्तें यथावत रहेंगी। उल्लेखनीय है कि पूर्व में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों द्वारा खरीफ 2020 सीजन में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि 28 मार्च 2021 तय की गई थी।


आरटी-पीसीआर टेस्ट की दरें निर्धारित


आरटी-पीसीआर टेस्ट से कोविड -19 टेस्ट का सेम्पल कलेक्शन प्रयोगशाला में किया जाता है तो जांच शुल्क 700 रूपए प्रति मरीज लिया जाएगा। यदि सेम्पल कलेक्शन मरीज के घर जाकर किया जाता है तो अतिरिक्त शुल्क 200 रूपए लिया जा सकता है।  यह आदेश वर्तमान में कोविड -19 जांच के किट्स, कंज्युमेबल की दरों में निरन्तर कमी देखते हुये समस्त निजी आरटी-पीसीआर, आई.सी.एम.आर. एवं एनएबीएल द्वारा निजी प्रयोगशालाओं एवं मान्यता प्राप्त अस्पतालों में कोविड -19 जांच के लिए आरटी-पीसीआर एवं रेपिड एन्टीजन टेस्ट के पुनरीक्षित शुल्क का निर्धारण मध्यप्रदेश उपचर्यागृह तथा रूजोपचार संबंधी स्थापनाएं, रजिस्ट्रीकरण तथा अनुज्ञापन, अधिनियम, एवं आपदा प्रबन्धन अधिनियम  के संबंध में नवीन नियम लागू किए गए हैं। आदेश अनुसार शुल्क में सेम्पल कलेक्शन ट्रांसपोर्ट शुल्क, कंज्युमेबल, पी.पी.ई. किट एवं अन्य समस्त कर सहित इत्यादि का शुल्क सम्मिलित है। रेपिड एन्टीजन टेस्ट से कोविड-19 जांच यदि अस्पताल, प्रयोगशाला में किया जाता है तो जांच शुल्क 300 रूपए प्रति मरीज लिया जाएगा। यदि सेम्पल कलेक्शन मरीज के घर जाकर किया जाता है तो अतिरिक्त शुल्क 200 रूपए लिया जा सकता है। उक्त शुल्क में सेम्पल कलेक्शन ट्रांसपोर्ट शुल्क,  कंज्युमेबल, पी.पी.ई. किट एवं अन्य समस्त कर सहित का शुल्क सम्मिलित है।  कोविड -19 की आर.टी.-पी.सी.आर जांच एवं रेपिड एन्टीजन टेस्ट के संबंध में भारत सरकार, राज्य सरकार एवं आई.सी.एम.आर. द्वारा समय-समय पर निर्धारित प्रोटोकाल एवं गाईडलाइन का पालन सुनिश्चित किया जाएगा। सेम्पल लेते समय ही संबंधित व्यक्ति का नाम, पूर्ण पता, वास्तविक मोबाईल नम्बर की सम्पूर्ण सूचना आर.टी.पी.सी.आर. ऐप पर अपलोड करते हुये संधारित होगी एवं उक्त सूचना गोपनीय रखी जाएगी। निजी जांच प्रयोगशालाओं, अस्पतालों द्वारा कोविड-19 की जांच का परिणाम राज्य सरकार एवं आई.सी.एम.आर. के साथ वास्तविक समय आधार पर आई.सी.एम.आर.पोर्टल पर साझा करते हुये आर.टी.पी.सी.आर. ऐप पर भी तत्काल अपलोड होगा। जांच के परिणाम की सूचना जांच का परिणाम आने के बाद संबंधित मरीज को तत्काल दिया जाएगा। जांच में मरीज के कोविड -19 से संक्रमित पाये जाने पर इसकी सूचना संबंधित मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं संबंधित आई.डी.एस.पी. सेल को तत्काल दी जाएगी। निजी जांच प्रयोगशालाओं, अस्पतालों द्वारा आर.टी.पी.सी.आर. मशीन से उत्पन्न समस्त डाट, ग्राफ एवं किट्स के बैच नम्बर के रिकार्ड सुरक्षित रखें जाएगे ताकि आवश्यक होने पर भविष्य में इसका सत्यापन, जांच की जा सकेगी। निजी जांच प्रयोगशालाओं, अस्पतालों के प्रबन्धन द्वारा जांच की उक्त निर्धारित दरें सहज दृश्य स्थान पर प्रमुखता से प्रदर्शित की जाये। निजी जांच प्रयोगशालाओं, अस्पतालों के प्रबन्धन द्वारा एक नोडल अधिकारी की नियुक्ति की जाए तथा इसकी सूचना संबंधित मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दी जाए। कोविड -19 की आर.टी.-पी.सी.आर. एवं रेपिड एन्टीजन जांच की उक्त निर्धारित दरें तत्काल प्रभाव से लागू होगी।  


कोविड़ मरीजों की भोजन व्यवस्था एवं अन्य के लिए अधिकारी कर्मचारी नियुक्त 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा विदिशा नगरी क्षेत्र में बढ़ते कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए शासकीय  अटल बिहारी वाजपई मेडिकल कॉलेज  में कोविड-हास्पिटल, आइसोलेशन के  मरीजों की भोजन व्यवस्था एवं अन्य व्यवस्था के लिए अधिकारी कर्मचारियों की तैनाती की गई है। स्कूल शिक्षा विभाग के जिन अधिकारी कर्मचारियों को उपरोक्त दायित्व सौंपा गया है उन सब को शैक्षणिक कार्यों के साथ-साथ उक्त कार्य में सहयोग करने हेतु निर्देशित किया गया है।   कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जारी आदेश का हवाला देते हुए अपर कलेक्टर श्री वृंदावन सिंह ने बताया कि मरीजों की भोजन व्यवस्था खासकर कोविड-हास्पिटल एवं आइसोलेशन में भर्ती मरीजों के लिए करने हेतु शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय विदिशा के श्रीविजय श्रीवास्तव 94255 17300 तथा शासकीय मानस प्राथमिक शाला पेढ़ी  विदिशा के सहायक शिक्षक श्री अरविंद अवस्थी 90 74 12 1085 एवं विद्यालय के ही सहायक शिक्षक संजीव शर्मा 8349 80 55 96 के अलावा सहायक शिक्षक एवं स्काउट सचिव श्री हरिहर चतुर्वेदी 99 936 35 752 को जवाबदेही सौंपी गई है । उक्त कर्मचारी समय पर जागरूकता रैली का आयोजन एवं प्रचार प्रसार आदि कार्यों में भी सहयोग करेंगे


सैंपल में मरीजों का पता अनिवार्यत: अंकित करें 


अपर कलेक्टर श्री वृंदावन सिंह ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ,सिविल सिविल सर्जन अधीक्षक तथा मेडिकल कॉलेज के सुप्रिटेडेंट को पत्र प्रेषित कर फीवर क्लीनिक में प्रतिदिन लिए जाने वाले सैंपल में संबंधित मरीज की पता जानकारी अनिवार्य रूप से अंकित की जाए के निर्देश प्रसारित किए हैं । अपर कलेक्टर श्री वृंदावन सिंह ने बताया कि फीवर क्लीनिक द्वारा सैंपल लेते समय मरीजों के पता  में गृह क्रमांक वार्ड क्रमांक मोहल्ला इत्यादि की जानकारी दर्ज नहीं की जा रही है ।जिस कारण से माइक्रो कमेंट जोन में दवाइयां पहुंचाने एवं मानिटरिंग हेतु  नियुक्त दलो को विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है । अपर कलेक्टर श्री वृंदावन सिंह ने जारी निर्धारित प्रपत्र में सैंपल लिए गए मरीजों के पते की पूर्ण जानकारी दर्ज करने हेतु निर्देशित किया गया है । उसमें मरीज का, नाम मोबाइल ,नंबर घर का क्रमांक ,मोहल्ला ग्राम का नाम, वार्ड क्रमांक पंचायत का नाम, निकटतम चिन्हित (लैंड मार्क ) अब प्रत्येक सैंपल कराने हेतु आने वाले मरीजों की जानकारियों में  अंकित की जाएगी 

कोई टिप्पणी नहीं: