विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 14 अप्रैल 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 अप्रैल

प्रदेश में कोविड संक्रमितो के इलाज हेतु बेहतर प्रबंध-स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी 

  • विदिशा की मेडीकल कॉलेज में किए गए प्रबंधो का जायजा 

sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कोविड संक्रमितो के इलाज हेतु बेहतर प्रबंध सुनिश्चित कराए हैं। अस्पतालों में मरीजो के लिए बिस्तरा, दवाईयां एवं जांचो के अलावा अन्य बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति अविलम्ब कराई गई है। उक्त आश्य के विचार प्रदेश के लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने विदिशा में व्यक्त किए।  कोविड संक्रमण की व्यवस्थाओं के अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण के लिए विदिशा जिले के प्रभारी व स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने मंगलवार की रात्रि में अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय विदिशा में कोविड 19 से संक्रमितों के इलाज हेतु किए गए प्रबंधो का जायजा लिया है।  स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने मेडीकल कॉलेज के द्वितीय, तृतीय एवं पंचम तल पर विभिन्न वार्डो में संक्रमित मरीजो के लिए अविलंब इलाज की सुविधा मिले के लिए किए गए प्रबंधो का निरीक्षण ही नही किया बल्कि ततसंबंध में जानकारियां प्राप्त कर उत्कृष्ट कार्यो को प्रदेश स्तर पर लागू करने की बात कही है।  स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने मेडीकल कॉलेज में किए गए व किए जा रहे प्रबंधो की विस्तृत जानकारी देकर अवगत कराया। मंत्री डॉ चौधरी ने  मेडीकल कॉलेज परिसर में किए गए छह सौ बिस्तरो के प्रबंधों में से आईसीयू, सीसीयू, डीसीयू वार्ड के अलावा मरीजो को आवश्यकता के अनुरूप आक्सीजन की सप्लाई के प्रबंधो के संबंध में भी पूछताछ की गई है। 


संवाद 

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने मेडीकल कॉलेज में भर्ती मरीजो से वीडियो कॉलिंग के माध्यम से संवाद किया है। उन्होंने मरीजो से चर्चा के दौरान किए गए प्रबंधो की क्रास मानिटरिंग की है।  मंत्री डॉ चौधरी ने होम आइसोलेशन में भर्ती मरीजो से भी संवाद किया है। उन्होंने बकायदा अपना परिचय देते हुए कहा कि मैं स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी बोल रहा हूॅ। आप होम आइसोलेशन में है आपसे चिकित्सको ने कब-कब सम्पर्क किया। दवाईयों की किट कब मिली, मिनी कंटेनमेंट बना है कि नही बना। सभी प्रकार के प्रश्नो का सकारात्मक जबाव होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजो के द्वारा दिए जाने पर स्वास्थ्य मंत्री ने शीघ्र स्वस्थ हो कि शुभकामनाएं दी है।


हौंसला अफजाई

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने मेडीकल कॉलेज में पहुंचकर फ्रंटलाइन वर्करो से संवाद किया। उन्होंने चिकित्सकों का हौंसला अफजाई करते हुए कहा कि मरीजो के स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखें। खासकर मधुर व्यवहार से संवाद करें ताकि मरीज और उनके परिजन किसी भी स्थिति में पेनिक ना हो सकें। 


रिपोर्ट 24 घंटे में

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने फीवर क्लीनिको के संबंध में जानकारी प्राप्त की। जिले में में कुल 14 फीवर क्लीनिक संचालित हो रहे है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने सेम्पलो के परीक्षण की रिपोर्ट 24 घंटे में अनिवार्यतः सेम्पल कराने वाले तक सूचना संप्रेषित हो के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं। 


जागरूकता पर बल

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए किए जाने वाले प्रबंधो हेतु जागरूकता पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि हम सब अपना परिवार, मित्रो सहित समाज के अन्य लोगो का ख्याल रखें। कोरोना के संबंध में जो गाइड लाइन जारी की गई है उसका पालन करें खासकर सावधानियां बरतने पर उन्होंने बल दिया है। जागरूकता संदेशो का प्रसारण हर स्तर पर हर समाज में पहुंचे इसके लिए राज्य सरकार द्वारा विभिन्न संसाधनो का उपयोग किया जा रहा है इसके अलावा आमजनों की भी सहभागिता अपेक्षित है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि कोरोना संकटकाल में आरोप प्रत्यारोप को छोड़कर हम सब मानव कल्याण के स्वास्थ्य की दौड में सहभागी बनें।  स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने विदिशा की मेडीकल कॉलेज में भर्ती मरीज खासकर आईसीयू में दाखिल मरीजो की जानकारी उनके परिजनो तक पहुंचाने के लिए किए गए प्रबंधो पर साधुवाद व्यक्त करते हुए संवाद की इस कडी को सतत बनाए रखने के निर्देश उन्होंंने दिए है। गौरतलब हो कि चिकित्सको द्वारा आईसीयू में भर्ती मरीजो के परिजनो को हेल्थ बुलेटिन के दौरान वीडियो कॉलिंग के माध्यम से विस्तृत जानकारी दी जा रही है। वही मरीजो के उपस्थित परिजन को सचित्र, संवाद की ध्वनि स्पष्ट रूप से सुनाई दे के लिए भी नवीन तकनीकियों का भी सहारा लिया है। 

फ्रंटलाइन में शामिल का सुझाव 

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने मंगलवार की रात्रि में विदिशा के अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में कोविड संक्रमण से ग्रस्त मरीजो के इलाज हेतु किए गए प्रबंधो का अवलोकन उपरांत मीडियाकर्मियों से संवाद के दौरान उनके द्वारा पूछे गए प्रश्नो का उत्तर देते हुए डा चौधरी ने कहा कि प्रदेश में मीडियाकर्मियों के द्वारा हर क्षेत्र में जनजागरूकता के कार्यो का बखूबी निर्वहन किया जा रहा है। कोविड संक्रमणकाल के दौरान ही मीडियाकर्मियों की भूमिका को नकारा नही जा सकता। उनके द्वारा समय-समय पर बहुउपयोगी संदेशो का त्वरित आमजनों तक प्रसारण करने दायित्व निभाया जा रहा है।  स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने आश्वस्त कराते हुए कहा कि कोविड वैक्सीन टीकाकरण की सूची में शामिल फ्रंट लाइन वर्करो में भी मीडियाकर्मियों को शामिल करने के सुझाव को मुख्यमंत्री जी अवगत कराते हुए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को प्रेषित किया जाएगा ताकि प्रदेश ही नही बल्कि पूरे देश में मीडियाकर्मियों को फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में शामिल कर जो सुविधाएं अन्य फ्रंटलाइन वर्करो को मिल रही है वैसी सुविधाएं मीडियाकर्मियों को भी मिले के प्रबंध सुनिश्चित हो ताकि मीडियाकर्मियों का भी वैक्सीनेशन कार्य अविलम्ब सम्पादित हो सकें। 


शोक संवेदनाएं

स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी की जानकारी में लाया गया कि ग्यारसपुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ रही श्रीमती वर्षा दांगी और अनीता जाटव की टीकाकरण कार्यो के लिए जाते समय सडक दुर्घटना हो जाने के कारण दोनो एएनएम की मृत्यु हो गई है।  स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने शोकसंवेदना व्यक्त करते हुए मृतको के परिजनों को नियमानुसार आर्थिक सहायता अविलम्ब उपलब्ध कराए जाने से आश्वस्त कराया है।   स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने मध्य रात्रि तक विदिशा के मेडीकल कॉलेज में कोरोना संक्रमण के इलाज हेतु किए गए प्रबंधो का जायजा लिया है। इस दौरान विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन के अलावा अन्य जनप्रतिनिधिगण, कलेक्टर डॉ पंकज जैन, मेडीकल कॉलेज के डीन डॉ सुनील नंदेश्वर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार, मेडिकल कॉलेज के सिविल सर्जन डॉ परमहंस, श्रीमंत माधवराव सिधिंया जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ संजय खरे व प्रभारी सिविल सर्जन डॉ अनूप वर्मा के अलावा जिला चिकित्सालय तथा मेडीकल कॉलेज के चिकित्सकगण मौजूद रहें।


32 मरीज पूर्ण स्वस्थ होकर घर पहुंचे 


कोरोना से संक्रमितो का इलाज अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में किया जा रहा है। मंगलवार की सायंकाल तक पूर्ण स्वस्थ हुए 32 मरीजो को डिस्चार्ज कर घर रवाना किया गया है। गौरतलब हो कि सीसीसी में 71, एचडीयू में 27 और आईसीयू में 26 मरीज भर्ती है जबकि भोपाल की अस्पताल में दो मरीज भर्ती है। 

’30 अप्रैल तक राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार के लिये कलाकृतियां जमा की जा सकती है’


राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार के लिये कलाकृतियां आमंत्रित की गई हैं। इस योजना में अभिरूचि रखने वाले शिल्पी आगामी 30 अप्रैल तक सादे कागज पर निगम कार्यालय सामान्य सुविधा केंद्र में अपने आवेदन जमा कर सकते हैं। संत रविदास म.प्र.हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम लिमिटेड ने बताया कि राज्य स्तरीय विश्वकर्मा पुरस्कार योजना के अंतर्गत प्रथम पुरस्कार एक लाख रूपये, व्दितीय पुरस्कार 50 हजार रूपये, तृतीय पुरस्कार 25 हजार रूपये और 3 शिल्पियों को 15 हजार रूपये प्रोत्साहन पुरस्कार के रूप में दिये जाते हैं। उन्होंने बताया कि पुरस्कार के लिये आवेदन पत्र प्रस्तुत करते समय सहमति पत्र में शिल्प और कलाकृति का नाम उल्लेख करना आवश्यक है। पुरस्कृत शिल्पियों को देशध्विदेश में निगम द्वारा आयोजित प्रदर्शनियों और शिल्पियों के कौशल उन्नयन के लिये विशिष्ट प्रशिक्षण में प्राथमिकता दी जायेगी। संत रविदास म.प्र.हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम लिमिटेड द्वारा प्रदेश में निवासरत, निगम में पंजीकृत और भारत सरकार के कपड़ा मंत्रालय के आयुक्त हस्तशिल्प कार्यालय में पंजीकृत शिल्पियों से वर्ष 2021-22 के लिए राज्य स्तरीय पुरस्कार के लिए आवेदन आमंत्रित किया गए है। 


’खरीफ 2020 सीजन के अल्पकालीन ऋण की देय तिथि 30 अप्रैल तक बढ़ी’


खरीफ 2020 सीजन में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की अदायगी तिथि 28 मार्च 2021 से बढ़ाकर 30 अप्रैल 2021 कर दी गई है। सहकारिता एवं पंजीयक को निर्देश दिए गए हैं कि किसानों के बीच व्यापक प्रचार-प्रसार कर लाभांवित किया जाए। योजना की शेष शर्तें यथावत रहेंगी। उल्लेखनीय है कि पूर्व में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों द्वारा खरीफ 2020 सीजन में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि 28 मार्च 2021 तय की गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं: