सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 10 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 10 मई 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 10 मई

मोहल्ले में पहुंचकर नागरिकों को बांटे, कोरोना लक्षण और ईलाज के पर्चे, वैैक्सीन लगवाले के लिए कार्यकर्ताओं ने किया जागरूक


sehore news
सीहोर। कोरोना लक्षण और ईलाज से संबंधित पर्चो का वितरण कस्बा क्षेत्र के बालमीकी मोहल्ला, छीपा मोहल्ला, यादव मोहल्ला तिलक पार्क बजरिया बाजार आदि क्षेत्रों में पहुंचकर कार्यकर्ताओं के द्वारा किया गया। नागरिकों को घर घर जाकर वैैक्सीन लगवाले के लिए जागरूक भी किया गया। सोमवार को रामद्वारा के संत समता महाराज के सानिध्य एवं समाजसेवी राजू बोयत के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ताओं के द्वारा मेरी सुरक्षा मेरा मास्क अभियान के तहत कोविड 19 के प्रति जन जागरूकता के लिए अभियान चलाया गया। कोविड के क्या लक्षण होते है और उनका ईलाज कहा पर किया जा रहा है प्रदेश सरकार के द्वारा नागरिकों को क्या सुविधाएं दी जा रहीं है को लेकर जानकारियां दी गई। नागरिकों से संत समता महाराज ने कहा की कोरोना वायरस प्राकृतिक आपदा है मानवता की सेवा इस समय अतिआवश्यक है। कोरोना से बचने के लिए टीकाकरण कराना जरूरी है। वार्ड नम्बर 35 के समाजसेवी राजू बोयत ने कहा की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सासंद प्रज्ञा सिंह ठाकुर विधायक सुदेश राय एवं भाजपा जिलाध्यक्ष रवि मालवीय की प्रेरणा से उक्त सेवा कार्य किया जा रहा है। प्रशासन के द्वारा तिलक स्कूल में कोविड केयर सेंटर खोला गया है। नागरिकों से वैक्सीनेशन कराने की अपील की गई है। जन जागरूकता अभियान में रामानंद स्वामी,पवन बोयत,राजू राजकुमार, राजकुमार राय, नंदलाल बाबा राय आदि कार्यकर्ता शामिल रहे।


नहीं मनाएंगे ईद, देश हित में मांगेंगे दुआएं


सीहोर। राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच के मध्य प्रदेश अध्यक्ष नौशाद खान ने देश में कोरोना संक्रमण से हो रही मौतों के कारण बने मातमी माहैाल के चलते इस साल ईद नहीं मनाने का फैसला किया है। उन्होने कहा की ईद के दिन नमाज पढ़कर देश हित में दुआएं मांगेंगे। खान ने कहा की खुदा हमारे देश को पहले की तरह खुशहाल कर दे इस बीमारी से निजात दिलवाए ताकि हम सब हिंदू मुसलमान सिख ईसाई सारे भाई मिलकर फिर से सारे त्यौहार गले मिलकर मनाएं और पड़ोस के गरीबों की मदद करें यह हमारा मानवता का फर्ज बनता है इंसानियत का फर्ज बनता है  ईद का खर्च बचाकर गरीबों की मदद करनी है। श्री खान ने मुस्लिम समाज से ईद को सादे तरीके से मनाकर जरूरतमंदों की मदद करने की अपील की है।


मंत्री श्री सारंग ने ग्रामीण क्षेत्रों का भ्रमण कर लिया कोरोना कर्फ्यू का जायजा

  • कोरोना मरीजों से ज्यादा राशि वसूलने वाले निजी अस्पतालों पर की जाएगी कार्यवाही, मंत्री श्री सारंग ने आष्टा में क्राइसिस मेनेजमेंट ग्रुप की बैठक ली

sehore news
चिकित्सा शिक्षा मंत्री एवं सीहोर जिले के कोविड प्रभारी मंत्री श्री विश्वास सारंग ने आष्टा जनपद के ग्राम बैदाखेड़ी एवं खड़ीहाट का भ्रमण कर कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए की जा रही कार्यवाही का जायजा लिया। तत्पश्चात आष्टा में क्राईसिस मेनेजमेंट ग्रुप की बैठक ली। बैठक में उन्होंने आष्टा जनपद में कोविड संक्रमण को रोकने के लिए की जा रही गतिविधियों की विस्तार से समीक्षा की। बैठक में समीक्षा के दौरान उन्होंने जनप्रतिनिधियों से कोरोना कर्फ्यू को प्रभावी बनाने के लिए सक्रिय भूमिका निभाने के लिए कहा। बैठक में उन्होंने उपस्थित सदस्यों से जिला प्रशासन द्वारा कोविड मरीजों के इलाज और संक्रमण को रोकने की वस्तुस्थिति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कोविड मरीजों के इलाज में निजी अस्पतालों द्वारा निर्धारित पैकेज से अधिक राशि की वसूली की शिकायत मिलने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। मंत्री श्री सारंग ने कहा कि अस्पतालों के लिए जो भी उपकरणों की आवश्यकता होगी, उन्हें उपलब्ध कराया जाएगा। बैठक में श्री सारंग ने कहा कि इस महामारी से निपटने के लिए प्रशासन, जनप्रतिनिधि तथा नागरिकों को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की चैन ब्रेक करने के लिए नगरीय क्षेत्रों से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि लोगों को जागरुक किया जाए कि वे स्वयं आगे आकर अपने गांव, अपने मोहल्ले तथा अपने वार्डों को पूर्णत: बंद रखना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जनता की ओर से स्वयं कोरोना कर्फ्यू का पालन किया जाएगा तो इसके शीघ्र और सार्थक परिणाम मिलेंगे तथा कोरोना संक्रमण की चैन को तोड़ा जा सकेगा। उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों से ग्राम एवं वार्ड स्तर पर समिति गठित कर कोरोना संक्रमण को रोकने में सक्रिय भूमिका निभाने के लिए कहा। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह ने वर्तमान में जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए चलाई जा रही गतिविधियों के बारे में विस्तार से अवगत कराया। बैठक में देवास सांसद श्री महेन्द्र सिंह सोलंकी, आष्टा विधायक श्री रघुनाथ मालवीय, जनपद अध्यक्ष श्री धारा सिंह पटेल, एसपी श्री एसएस चौहान, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। 


मंत्री श्री सारंग ने गांव में पहुंचकर कोरोना कर्फ्यू का लिया जायजा

चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग ने आष्टा जनपद के ग्राम बेदाखेड़ी और खड़ीहाट में पहुंचकर कोरोना कर्फ्यू का पालन सुनिश्चित कराने के लिए की जा रही कार्यवाहियों को देखा। इसके साथ ही उन्होंने गांव में किल कोरोना अभियान के तहत चल रहे सर्वे के बारे में ग्रामवासियों से जानकारी ली। उन्होंने ग्रामवासियों से कहा कि मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें तो शीघ्र कोरोना संक्रमण की चैन को ब्रेक किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सर्दी, जुखाम, बुखार होने पर स्वयं पहल कर सर्वेदल अथवा स्वास्थ्य केन्द्र पर पहुंचकर शीघ्र इलाज लें। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में पदस्थ अमले से कहा कि लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जागरुक किया जाए। उपस्थित अधिकारियों से श्री सारंग ने किल कोरोना अभियान के तहत सर्वे की जानकारी ली। ग्रामीण क्षेत्रों के भ्रमण के दौरान देवास सांसद श्री महेन्द्र सिंह सोलंकी, आष्टा विधायक श्री रघुनाथ मालवीय, जनपद अध्यक्ष श्री धारा सिंह पटेल, एसपी श्री एसएस चौहान, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।  


ग्रामवासियों ने स्वेच्छा से लगाया जनता कर्फ्यू, बिना मास्क के गांव में आना किया प्रतिबंधित  


sehore news
कोविड-19 महामारी के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिले में जिला मुख्यालय सहित ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोगों द्वारा कोरोना कर्फ्यू का पालन कढाई से किया जा रहा है। गांवों में ग्रामवासियों द्वारा स्वेच्छा से जनता कर्फ्यू लगाकर लोगों को कोविड-19 गाईड लाइन का पालन कराया जा रहा है। ग्राम की महिलाएं बाहर से आने वाले किसी भी व्यक्ति को बिना मास्क एवं सेनेटाइजर के गांवों में प्रवेश नहीं करने देती हैं। महिलाओं द्वारा लोगों को जागरुक किया जा रहा है कि कोरोना संक्रमण से बचना है तो मास्क लगाना एवं सोशल डिस्टेंटिंग का पालन करना होगा। 


ब्लाक/ग्राम/वार्ड में संकट प्रबंधन समूह का गठन करने के निर्देश


कोविड-19 कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए  राज्य सरकार द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं। निर्देशों में कहा गया है कि जिस प्रकार जिला स्तर पर संकट प्रबंधन समूह का गठन किया गया है, उसी प्रकार ब्लाक, ग्राम एवं नगरीय क्षेत्रों में वार्ड स्तरीय संकट प्रबंधन समूह का गठन किया जाए। विकासखंड संकट प्रबंधन समूह के अध्यक्ष एसडीएम होंगे। इस समूह में एसडीओपी, सीईओ जनपद पंचायत, ब्लाक मेडिकल आफिसर, विकासखंड मुख्यालय के नगरीय क्षेत्र के आयुक्त के प्रतिनिधि अथवा सीएमआ नगरपालिका/नगर पंचायत, प्रोजेक्ट आफिसर (महिला एवं बाल विकास विभाग), सांसद, क्षेत्रीय विधायक के द्वारा नियुक्त प्रतिनिधि, कलेक्टर द्वारा नामांकित विकासखंड के जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक एवं स्वयंसेवी संगठन सदस्य होंगे। ग्राम संकट प्रबंधन समूह का गठन प्रत्येक गांव में किया जाए। ग्राम संकट समूह के अध्यक्ष ग्राम पंचायत की प्रशासनिक समिति के अध्यक्ष होंगे। ग्राम पंचायत के सचिव, जन अभियान परिषद, महिला स्वसहायता समूह, राजनैतिक व सामाजिक कार्यकर्ता, प्रशासनिक समिति के संबंधित ग्राम में निवासरत् सदस्य, ग्राम रोजगार सहायक, आशा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी सहायिका, ग्राम के कोटवार एवं पटेल इस समूह के सदस्य होंगे। इसी प्रकार नगरीय क्षेत्रों में वार्ड संकट प्रबंधन समूह के अध्यक्ष वार्ड प्रभारी होंगे। संकट प्रबंधन समूह में सांसद एवं विधायक द्वारा नियुक्त प्रतिनिधि, मुख्य नगरपालिका अधिकारी द्वारा नामांकित जनप्रतिनिध, सामाजिक संगठन के प्रतिनिधि, वार्ड के प्रतिष्ठित निजी चिकित्सक, स्वयंसेवी संगठन, जन अभियान परिषद, राजनैतिक एवं सामाजिक संगठन के कार्यकर्ता तथा महिला स्वसहायता समूह सदस्य के रूप में शामिल होंगे।  न गठित समूहों द्वारा ब्लाक, ग्राम एवं वार्ड स्तर पर कोरोना वायरस संक्रमण से उत्पन्न स्थिति के नियंत्रण के लिए राज्य शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के प्रभावी क्रियान्वयन तथा कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए सामाजिक सहभागिता सुनिश्चित करने की कार्यवाही की जाएगी। गठित समूह माह में कम से कम एक बैठक आयोजित कर कार्य की समीक्षा करें।   

स्पॉन्सरशिप योजना तहत आवेदन आमंत्रित  


संचालनालय महिला एवं बाल विकास विभाग, भोपाल से प्राप्त निर्देश के पालन में जिले के 18 वर्ष से कम उम्र के बालक, बालिका जरूरतमंद बच्चों को वाल प्रयोजन (स्पॉन्सरशिप) के अंतर्गत शासकीय एवं निजी प्रयोजन से सहायता प्रदान कि जानी है। ऐसे  बच्चे जिनके माता-पिता असहाय या किसी गंभीर, असाध्य बीमारी से पीडित है एवं जो गरीबी रेखा के नीचे निवासरत हैं। ऐसे बच्चे जिनके माता- पिता की मृत्यु हो चुकी है अथवा तथा रिश्तेदार की देखरेख में रह रहे है। ऐसा बच्चा जो सम्पूर्ण परिवार की देखरेख कर रहा है। ऐसे परित्यक्त बच्चे जो दादा-दादी या रिश्तेदार की देखरेख में रह रहे है। ऐसे बच्चे जिनके एकल अभिभावक ये एवं उन्हें (अभिभावक को) कारागृह का दण्ड प्राप्त होने पर संरक्षक परिवार को पात्रता होगी।  ऐसे बच्चे जिनका गैर कानूनी उद्देश्य के लिए उपयोग किया गया है या किए जा रहे हैं एवं जिनका परिवार गरीबी रेखा के नीचे निवासरत हैं। ऐसे बच्चे जो कोविड -19 अथवा किसी अन्य महामारी के कारण अपने माता-पिता के साथ पलायन करने बेरोजगार होने अथवा अन्य कारणों से विपरीत आर्थिक एवं मनोसामाजिक परिस्थितियों में रह रहे हैं। उक्त श्रेणी के जरूरतमंद बच्चों को निजी स्पॉन्सरसिप अर्तगत सहायता करने हेतु इच्छुक व्यक्ति संगठन महिला एवं  बाल विकास विभाग के जिला कार्यालय एवं स्थानीय कार्यालय  बाल कल्याण समिति प्रायवेट में संपर्क कर सकते हैं। आमजन से भी अपील है कि अपने आसपास उक्त श्रेणी के बच्चे हो तो ऐसे बच्चों की सूचना आंगनबाडी कार्यकर्ता, सुपरवाईजर या स्थानीय परियोजना कार्यालय में दे सकते हैं।


दिव्यांगता प्रमाण-पत्र 01 जून से केवल यूडीआईडी पोर्टल से ही मिलेंगे  


सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण मंत्री श्री प्रेमसिंह पटेल ने बताया है कि प्रदेश में दिव्यांगता प्रमाण-पत्र 01 जून 2021 से यूडीआईडी पोर्टल http://www.swavlambancard.gov.in पर राज्य शासन द्वारा अधिसूचित सक्षम चिकित्सा प्राधिकारियों द्वारा ही प्रदान किए जाएंगे। सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय दिव्यांगजन सशक्तिकरण, भारत सरकार द्वारा इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई है। केन्द्र शासन द्वारा सभी राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों से कहा गया है कि आगामी एक जून 2021 से नवीन एवं नवीनीकरण सहित सभी दिव्यांगता प्रमाण-पत्र केवल यूडीआईडी पोर्टल के माध्यम से नियमानुसार जारी किया जाना सुनिश्चित करें। निर्धारित तिथि के बाद मैन्युअल प्रक्रिया से जारी किया गया दिव्यांगता प्रमाण-पत्र अमान्य होगा। संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण श्रीमती राजश्री राय ने बताया कि प्रदेश सभी विभागीय वरिष्ठ अधिकारियों को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए गए हैं।


विद्युत सुरक्षा हेतु रखें जरूरी सावधानियाँ - ऊर्जा मंत्री श्री तोमर  


ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि विद्युत लाइनों, उपकरणों एवं खंभों से छेड़खानी करना विद्युत अधिनियम 2003 के अंतर्गत दण्डनीय अपराध है। जरा-सी असावधानी या छेड़खानी से बड़े-बड़े खतरे पैदा हो सकते हैं। इसलिये सावधानियाँ बरतनी जरूरी हैं। ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने कहा है कि ऐसी लाइनें, जिनमें विद्युत शक्ति प्रवाहित होती है यदि आँधी तूफान या अन्य किसी कारण से टूट गयी है, तो अकस्मात छूकर खतरा मोल न लें। लाइन टूटने की सूचना शीघ्र ही निकटस्थ बिजली कंपनी के अधिकारी को अथवा विद्युत कर्मचारी को दें। संभव हो तो किसी आदमी को उस जगह, अन्य यात्रियों को चेतावनी देने के लिये रखें। नये घर बनाते समय विद्युत पारेषण अथवा वितरण लाइन से समुचित दूरी रखें। यह कानून की दृष्टि से भी आवश्यक है। उचित फासले के विषय में स्थानीय बिजली कंपनी के अधिकारी से सलाह लें। आपके बच्चों एवं कुटुम्बीजनों की सुरक्षा के लिए यह अति आवश्यक है। खेतों खलिहानों में ऊँची-ऊँची घास की गंजी, कटी फसल की ढेरियॉं, झोपड़ी, मकान अथवा तंबू आदि विद्युत लाइनों के नीचे अथवा अत्यंत समीप न बनायें। विद्युत लाइनों के नीचे से अनाज, भूसे आदि की ऊँची भरी हुई गाड़ियॉं न निकालें, इससे आग लगने एवं प्राण जाने का खतरा है। बहुत से स्थानों पर बच्चे पतंग अथवा लंगर का खेल खेलते तरह-तरह के धागे और डोर विद्युत लाइनों में फंसा देते हैं। ऐसा करने से उन्हें रोकें। लाइनों में फंसी पतंग निकालने के लिए बच्चों को कभी भी खंभे पर चढ़ने न दें। लाइन पर तार या झाड़ियां न फेकें। यदि कोई ऐसा करता है तो इसकी सूचना पास के पुलिस थाने या विद्युत कंपनी के वितरण केन्द्र में दें। विद्युत लाइनों के पास लगे वृक्ष या उनकी शाखा न काटें। यदि कटी डाल लाइन पर गिरे, तो आपके लिए घातक सिद्ध हो सकती है। बिजली के तारों पर कपड़े आदि डालना दुर्घटना को निमंत्रण देना है। अपने खेत-खलिहान पर या संपत्ति की सुरक्षा के लिये अवरोधक तारों (फेन्सिंग वायर्स) में विद्युत प्रवाहित न करें। यह कानूनी अपराध भी है। इस प्रकार विद्युत का उपयोग करने वालों पर कानूनी कार्यवाही की जा सकती है। बिजली के खंभों पर कदापि न चढ़ें एवं स्टे-वायर आदि विद्युत उपकरणों से छेड़खानी न करें। ऐसा करने से आपका जीवन संकट में पड़ सकता है। बिजली के खंभों या स्टे-वायर से जानवर आदि न बाँधें और न ही इससे जानवरों को रगड़ने दें। इससे जन-धन की हानि हो सकती है। यदि कोई व्यक्ति सजीव (चालू लाइन के) तारों के संपर्क में आ जाता है तो स्विच से विद्युत प्रवाह तुरंत बंद कर दें। यदि स्विच बंद न कर सकें, तो दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सूखी रस्सी, सूखा कपड़ा या सूखी लकड़ी की सहायता से सजीव तारों से अलग करें। ऐसा न करने से सहायता करने वाले को भी झटका (शॉक) लग सकता है। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सजीव तारों से शीघ्र ही अलग करें, क्योंकि एक सेकेण्ड की देरी भी घातक हो सकती है। दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को सूखी जमीन या सूखे फर्श पर लिटायें एवं कृत्रिम सांस देकर उसका प्रथमोपचार करें। डॉक्टर को तत्काल बुलाकर कृत्रिम श्वांस देवें अथवा उसे शीघ्र अस्पताल पहुँचायें। घरों में बिजली के तार सुव्यवस्थित ढंग से लगावें। अव्यवस्थित एवं ढीले-ढाले या झूलते तार खतरे से खाली नहीं है। सभी विद्युत यंत्रों के उपयोग में सावधानी बरतें। घरेलू उपकरणों एवं विद्युत फिटिंग का अर्थिंग करना अति आवश्यक है। सही अर्थिंग न होने से विद्युत दुर्घटना हो सकती है। प्रकाश/थ्रेशर चलाने के लिये लम्बे एवं जोड़ वाले तारों का उपयोग न करें। थ्रेशर के तारों को बिजली कंपनी की लाइनों से अनधिकृत रूप से न जोड़ें। ऐसा करने से दुर्घटना हो सकती है एवं आपके विरूद्ध विद्युत चोरी का इल्जाम लगाया जा सकता है और कानूनी कार्यवाही की जा सकती है।


विकासखण्ड स्तर पर 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग टीकाकरण के लिए 11 मई को शुरू होगा ऑनलाईन पंजीयन  


विकासखण्ड मुख्यालयों आष्टा, इछावर, बुदनी, नसरूल्ल्लागंज एवं श्यामपुर अंतर्गत 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग वालों के कोविड-19 टीकाकरण के लिए मंगलवार 11 मई को ऑनलाईन बुक्रिंग शाम 4 बजे खुलेगी। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.एम.के.चंदेल ने जानकारी दी कि 18 से 44 आयु के जिन हितग्राहियों का ऑनलाईन पंजीयन होगा उनके द्वारा चिन्हित किए गए टीकाकरण केन्द्रों पर उन्हीं व्यक्तियों का टीकाकरण किया जाएगा जो ऑनलाईन पंजीयन की रिसिप्ट संबंधित कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र पर प्रस्तुत करेंगे। अब तक सीहोर जिला मुख्यालय पर ही 18 से 44 आयु वालों का टीकाकरण किया जा रहा था अब 11 मई  को पंजीयन के उपरांत निर्धारित तिथि पर विकासखण्ड स्तर पर भी टीके लगाएं जाएंगे।


जिले में 140 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 1325

  • दो कोरोना संक्रमित मरीजों की उपचार के दौरा मृत्यु, कुल मृत्यु संख्या 106

पिछले 24 घंटे के दौरान 140 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। सीहोर शहरी क्षेत्र से 36 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं। जो बड़ियाखेड़ी, चाण्क्यपुरी, अंबेडकर नगर, नेहरु कॉलोनी, हाउसिंग बोर्ड, डीडी स्टेट, फारेस्ट कॉलोनी, राजा का बाग, यश बैंक, गंगा आश्रम, स्वदेश नगर, इंग्लिशपुरा, भोपाल नाका, अवधपुरी, श्रीराम कॉलोनी, लुनिया चौराहा, इंदौरा नाका जी-1 कॉलोनी, राठौर मोहल्ला, कस्बा, बग्गीखाना, दशहरा वाला बाग, गुलाब विहार, लेबर कॉलोनी, चाण्क्यपुरी, भोपाली फाटक, नरेन्द्र नगर, जेल रोड़, ब्रहमपुरी, कोतवाली चौराहा रोड़ के निवासी हैं। नसरुल्लागंज क्षेत्र से 24 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो भिलाई, लाड़कुई, गोपालपुर, ससली, बाबरी, वार्ड नंबर 12, 14, सिवनी मालवा रोड़, इटारसी, महागांव, लोडिया, चकल्दी, ताजपुरा, रीठवाड़, नीमखेड़ी, पीपलेकोटा, धकनी, कलवाना, बागवाड़ा, लाचौर, बोरखेड़ा के निवासी हैं। इछावर क्षेत्र अंतर्गत 06 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति भाउखेड़ी, कांकरखेड़ा, ढाबलामाता के निवासी हैं।  श्यामपुर क्षेत्र से 25 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति सतपोन, श्यामपुर, सिराड़ी, खजूरिया, मोगराराम, आमझिर, मंडी, रायपुरा, मुंगावली, महोड़िया, जानपुर वावड़िया, खंडवा, दोराहा, अहमदपुर, पीलूखेड़ी, लीलाखेड़ी, पाचोर, बिजोरी, झरखेड़ा, चांदबढ़, नापलाखेड़ी, निपानिया, मगरखेड़ा, करंजखेड़ा, दुपाड़िया  के निवासी है। बुधनी क्षेत्र से तो 17 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो जमोनिया, रेहटी, मथनी, बुधनी के वार्ड नंबर 09, 14, 10, 06, 08, 12, टीटीसी बुधनी, तालपुरा, पटवा कॉलोनी, सिलेगना, शाहगंज, हथनोरा, मछवाई, नीमटोन, गोंडी गुराड़िया, डोंगरी, बासनिया, वर्धमान कॉलोनी, सेमरी कॉलोनी के निवासी हैं। आष्टा क्षेत्र से 32 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो भंवरा, जुम्मापुरा, गुवाड़िया, बागपत, सनवलखेड़ा, खजूरिया कासम, अरोलिया, भीलखेड़ी, अरनियागाजी, अंजलीनगर, ग्वाली, आष्टा मेन रोड़, बमूलिया रायमल, कुंडिया डागा, जावर, परोलिया, अरनियाखुर्द, बजरंग कॉलोनी, अरनिया जोहरी, बोरदा, हर्राजखेड़ा, दुपाड़िया भील, सीएचसी इछावर, बिजलोन, डोडी, मुगली, बड़ा बाजार, पार्वती थाना, दादावाड़ी, चनोटा, कोर्ट के सामने, इंदिरा कॉलोनी, समरदा, हरनावदा, पाड़लिया, रॉयल कॉलोनी, बुधवारा के निवासी हैं। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्तमान में जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 8339 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 1325 हैं। आज 133 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 6910 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 106 है । पिछले 24 घंटों के दौरान 2 कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई है। जिला चिकित्सालय के डेडीकेटेड कोविड केयर सेंटर तथा डीसीएचसी आवासीय परिसर में एक-एक व्यक्ति की उपचार के दौराना मृत्यु हुई है। मृत्कों में एक महिला तथा एक पुरुष शामिल हैं। आज 546 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 93, श्यामपुर से 87, विकासखंड नसरुल्लागंज से 168, आष्टा से 91 एवं बुदनी विकासखंड से 71 तथा इछावर से 36 सेंपल लिये गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 110676 हैं जिनमें से 101685 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 685 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 581 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमाण्ड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबंर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।


आज जिले में कुल 3580 व्यक्तियों को लगा कोरोना का प्रथम एवं द्वितीय टीका


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर प्रदेश के साथ ही सीहोर जिले में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। जिले में कुल 79 सत्रों में कुल 3580 व्यक्तियों को कोरोना का प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया। सोमवार को शहरी सीहोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित जिला चिकित्सालय क़े 7 सत्र में कुल 844, आष्टा में 28 सत्र में 1633, बुधनी में 9 सत्र में 200, इछावर में 4 सत्र में 137, नसरुल्लागंज में 11 सत्र में 293 एवं श्यामपुर के 20 सत्र में 473 व्यक्तियों को कोविड का प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: