मधुबनी : कोविड-19 की स्थिति पर समीक्षा बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 19 मई 2021

मधुबनी : कोविड-19 की स्थिति पर समीक्षा बैठक

dm-madhubani-covid-meeting
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा जिले के  माननीय सांसद, माननीय विधायकगण एवम्  माननीय विधान पार्षद सदस्य,  के साथ जिले में  कोविड-19 की स्थिति एवं अन्य महत्वपूर्ण विषयों के संबंध में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक की गई। इस समीक्षा के दौरान सभी जन जनप्रतिनिधियों ने जिला प्रशासन द्वारा जिले में कारोना संक्रमण के प्रभाव को कम करने के लिए किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की गई एवम् कई आवश्यक सुझाव दिए गए यथा पंचायत स्तर पर सनेटाइजेशन कराने,सीसीसी सेंटर पर ऑक्सीजन आपूर्ति हेतु जिला में ऑक्सीजन फीलिंग सेंटर स्थापित करना,छोटे सिलेंडर की आपूर्ति बढ़ाने,टीकाकरण की संख्या बढ़ाने, कम्युनिटी किचन की संख्या बढ़ाने,मास्क वितरण की गति बढ़ाने एवम् गुणवत्ता का ध्यान रखने ,हॉस्पिटल में कोराना मरीज के इलाज हेतु राज्य सरकार द्वारा निर्धारित दरो को सार्वजनिक पटल/सूचना पट्ट के माध्यम से प्रकाशित कराना , पुलिस की भूमिका में सुधार करना ,पीडीएस दुकान पर खाद्यान्न वितरण अनियमितता को दूर करने, रामपट्टी कोविड केयर केन्द्र को और बेहतर करना एम्बुलेंस व्यवस्था में सुधार लाना एवम् दर निर्धारित करना जैसे महत्वपूर्ण सुझाव पर विस्तृत चर्चा हुई। जिला पदाधिकारी द्वारा सभी माननीय को बताया कि जिला में  दो स्थानों पर ऑक्सीजन फीलिंग सेंटर स्थापित करने पर तेजी से कार्य चल रहा है।सभी सीसीसी सेंटर पर covid से संक्रमित लोगो के इलाज एवम् जांच के दर से संबंधित सूचना पट्ट का प्रकाशन शीघ्र करा दिया जाएगा। सनेटाजइजेशन हेतु जिला आपदा से प्रत्येक अंचल को 500-500 लीटर सोडियम हाइपॉक्लोरेट उपलब्ध करा दिया गया है।मास्क की गुणवत्ता एवम् वितरण में तेजी हेतु सभी बीडीओ एवम् डीपीएम तथा बीपीएम जीविका को आवश्यक निर्देश दे दिए गए है।जिला पदाधिकारी ने बताया कि शेष सुझाव पर पूर्व से कार्य चल रहा है उसमे गुणात्मक  सुधार हेतु उनकी निरंतर समीक्षा भी उनके द्वारा की जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं: