मधुबनी : एनएच-57 किनारे बने ट्रॉमा सेंटर में बनेगा कोविड सेंटर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 16 मई 2021

मधुबनी : एनएच-57 किनारे बने ट्रॉमा सेंटर में बनेगा कोविड सेंटर

new-covid-center-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) जिले के झंझारपुर एवं फुलपरास अनुमंडल क्षेत्र के कोविड मरीजों को इलाज के लिए अब रामपट्टी के डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर (डीसीएचसी) में जाने की आवश्यकता नहीं। इसके लिए अरडि़या संग्राम स्थित एनएच-57 किनारे बने ट्रॉमा सेंटर में ही व्यवस्था की जाएगी। यह बातें अनुमंडल अस्पताल स्थित कोविड केयर सेंटर एवं ट्रॉमा सेंटर का निरीक्षण करने के बाद डीएम अमित कुमार ने कही। उन्होंने बताया कि जिला क्षेत्र में मात्र रामपट्टी में डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर की व्यवस्था होने के कारण संपूर्ण जिला के कोविड मरीजों का भार उसी सेंटर पर था। अब झंझारपुर में भी एक-दो दिनों में डीसीएचसी कार्य करने लगेगा। एनएच किनारे होने के कारण इस सेंटर पर आसानी से मरीजों को पहुंचाया जा सकता है। डीएम ने कहा कि अनुमंडल अस्पताल में झंझारपुर मेडिकल कॉलेज भवन का निर्माण कार्य चल रहा है। वहां के कोविड सेंटर तक सुलभ पहुंच पथ नहीं है। कोविड केंद्र के बाहर पानी जमा है। भवन निर्माण कार्य के कारण धूल-मिट्टी एवं प्रदूषण से मरीजों को बचाना मुश्किल हो गया है। इसलिए ट्रॉमा सेंटर में ही डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर एवं कोविड केयर सेंटर की अविलंब व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है। ट्रॉमा सेंटर के प्रथम फ्लोर पर सीसीसी एवं ग्राउंड फ्लोर पर डीसीएचसी की व्यवस्था की जाएगी। यहां तत्काल 25 बेड का डीसीएचसी प्रारंभ किया जाएगा। इसके लिए झंझारपुर पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. मुकेश कुमार को एक-दो दिनों में सभी तैयारी पूरी करने का निर्देश दिया गया है। बताया कि ट्रॉमा सेंटर में कोविड मरीजों की व्यवस्था हो जाने के बाद अनुमंडल अस्पताल के कोविड केयर सेंटर में लगाए गए बेड एवं वहां भर्ती सभी मरीजों को इस ट्रॉमा सेंटर में शिफ्ट कर दिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि यहां आवश्यक उपकरण एवं मानव बल को जल्द ही भेजा जाएगा। पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. मुकेश कुमार ने बताया कि यहां सीसीसी एवं डीसीएचसी के लिए 40-40 बेड की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है। इसी व्यवस्था में लगे हुए हैं। निरीक्षण के समय डीएम के साथ एसडीएम शैलेश कुमार चौधरी, अनुमंडल अस्पताल के डीएस डॉ. प्रसन्न कुमार मिश्र, पीएससी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. मुकेश कुमार, अनुमंडल अस्पताल के प्रबंधक श्याम चौधरी आदि मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: