मधुबनी : डीएम ने जमीनदारी बांध की मरम्मति कार्य का निरीक्षण किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 11 मई 2021

मधुबनी : डीएम ने जमीनदारी बांध की मरम्मति कार्य का निरीक्षण किया

madhubani-dm-jamindar-bandh-inspaction
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता), जिला पदाधिकारी, मधुबनी श्री अमित कुमार द्वारा बिस्फी अंचल के सिंघिया ग्राम स्थित धौंस नदी पर बने जमीनदारी बांध की मरम्मति कार्य का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान कार्यपालक अभियंता, बाढ नियंत्रण प्रमण्डल संख्या-1, झंझारपुर, विभागीय सहायक अभियंता, कनिय अभियंता, संवेदक, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचल अधिकारी, बिस्फी इत्यादि उपस्थित थे। जिला पदाधिकारी, मधुबनी ने निरीक्षण के क्रम में पाया कि सिंघिया ग्राम के 2 स्थलों पर बांध मरम्मति का कार्य किया जा रहा है। एक स्थल पर नायलन क्रेट के उपर गैवियन डालकर स्लोप में सैंड बैग बिछाया गया है। उक्त स्थल के आगे लगभग 500 मीटर तक कार्य लगभग पूरा हो गया है, दूसरे क्षतिग्रस्त स्थल की मरम्मति का कार्य चल रहा है। निरीक्षण में पाया गया कि नदी के पेट में अभी तक मात्र गैवियन बिछाया गया है। बांध के सुदृढ़ी हेतु मिट्टी भराई  एवं स्लोपरों सैंड बैग बिछाने का कार्य बांकी है। स्थल पर नलस्टाॅक बैग पाया गया किन्तु कार्य की प्रगति अत्यंत धीमी पाई गई। कार्यपालक अभियंता द्वारा बताया गया कि फरवरी माह में संवेदक को कार्य सौंपा गया एवं 15 मई तक कार्य पूर्ण किया जाना है। कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया गया कि अतिशीघ्र मजदूर लगाकर दिन-रात कार्य करायें ताकि 15 मई तक हर-हाल में कार्य पूर्ण हो। यदि संवेदक द्वारा 15 मई तक कार्य पूर्ण नहीं किया गया तो उनसे स्पष्टीकरण प्राप्त कर एकरारनामा में उल्लंघन के लिए उनको देय राशि में से 10 प्रतिशत राशि की कटौती करने हेतु कार्यपालक अभियंता  को निदेशित किया गया साथ हीं समय-समय पर अपने स्तर से स्थल कि निरीक्षण कर कार्य की प्रगति से जिला पदाधिकारी को अवगत कराने का निर्देश भी दिया गया ।

कोई टिप्पणी नहीं: