बेतिया : लाॅकडाउन को प्रभावी तरीके से क्रियान्वित कराने का निर्देश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 19 मई 2021

बेतिया : लाॅकडाउन को प्रभावी तरीके से क्रियान्वित कराने का निर्देश

order-to-impliment-proper-lock-down-betiya
बेतिया. पश्चिम चम्पारण जिले के जिलाधिकारी ने  25 मई तक लागू लाॅकडाउन को प्रभावी तरीके से क्रियान्वित कराने का निर्देश दिया है. जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा कोविड-19 संक्रमण को नियंत्रित करने एवं बचाव के लिए जिले में किये जा रहे कार्यों की गहन समीक्षा की गई. समीक्षा के क्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि पूर्व की अपेक्षा रिकवरी रेट में वृद्धि हुई है, लेकिन इस वृद्धि से संतोष करने की आवश्यकता नहीं है और अत्यधिक सजग होकर कार्य करने की आवश्यकता है.25 मई तक लागू लॅाकडाउन को प्रभावी तरीके से क्रियान्वित कराने की आवश्यकता है.प्रत्येक दिन निर्धारित समय पर सभी पदाधिकारी क्षेत्र में निकलेंगे तथा लॅाकडाउन को प्रभावी तरीके से क्रियान्वित कराएंगे. जिलाधिकारी ने कहा कि जिले के सभी कोविड-19 एक्टिव मामलों का अनुश्रवण लगातार किया जा रहा है ताकि किसी भी प्रकार की आपात स्थिति से निबटा जा सके. इसके लिए जिला स्तर पर "कमाड एण्ड कन्ट्रोल रूम तथा टेलीमेडिसीन सेन्टर" संचालित है. प्रत्येक दिन कम से कम दो बार होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमित मरीजों को फोन कर स्थिति की जानकारी लिया जा रहा है. साथ ही समय समय पर उन्हें विडियाकॅाल के माध्यम से भी चिकित्सीय सलाह दिया जा रहा है. इसी प्रकार से अनुमंडल स्तर पर एवं प्रखंड स्तर पर भी काॅल सेन्टर का निर्माण करने का निर्देश दिया गया.जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि कन्ट्रोल रूम के नम्बर का व्यापक प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चित किया जाय ताकि अधिक से अधिक व्यक्ति इसका उपयोग कर सकें. उन्होंने कहा कि मरीजों के स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान मेडिकल कीट वितरण, मास्क वितरण एवं उसकी गुणवता, वैक्सीनेशन के संदर्भ में भी जानकारी प्राप्त की जाय. साथ ही प्रत्येक दिन इससे संबंधित अद्यतन प्रतिवेदन जिला मुख्यालय को समर्पित करेंगे.अपर समाहर्ता, पश्चिम चम्पारण, बेतिया को इस कार्य का सतत अनुश्रवण करने का निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया है. जिलाधिकारी ने कहा कि कंटेनमेंट जोन  प्रोटोकाॅल का सख्ती के साथ अनुपालन किया जाना अतिआवश्यक है. कंटेनमेंट जोन पर प्रभावी नियंत्रण करके ही संक्रमण के फैलाव को रोका जा सकता है.इसलिए सभी पदाधिकारी संक्रमण की सूचना प्राप्त होते ही कन्टेनमेंट जोन का निर्माण कराना सुनिश्चित करेंगे.साथ ही कन्टेनमेंट जोन संबंधी सभी प्रोटोकॅाल को भी लागू कराएंगे। कन्टेनमेंट जोन में प्राथमिकता के आधार पर मास्क का वितरण सुनिश्चित कराएंगे. तथा विभाग द्वारा निरूपित दवाईयों का किट एवं उसके उपयोग के विधि से संबंधित पम्पलेट का भी वितरण सुनिश्चित कराएंगे. उन्होंने कहा कि वर्तमान में ऐसे भी दृष्टांत मिले हैं, जहां लोग प्रारंभिक लक्षणों पर ध्यान नहीं दे रहे हैं और ऐसे मामले ही आगे चलकर गम्भीर हो जा रहे हैं. जिलाधिकारी ने कहा कि घर-घर जाकर स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों से ऐसे लक्षणों के बारे में पूछताछ करे आवश्यकतानुसार टेस्टिंग एवं चिकित्सा करने में सहयोग करे. होम-टू होम विजिट कराने के लिए प्लान तैयार कर अग्रतर कार्रवाई की जाय.इस कार्य में आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं ए.एन.एम. को शामिल किया जाय. दो-दो कर्मियों की टीम का निर्माण सुनिश्चित किया जाय.प्रत्येक तीन टीम के कार्य के अनुश्रवण के लिए एक प्रखंड स्तरीय बी.सी.एम. को प्राधिकृत किया जाएगा.इन टीम के द्वारा प्रत्येक दिन घरों में जाकर टेस्टिंग की कार्रवाई की जाएगी. सिविल सर्जन द्वारा बताया गया कि हाउस-टू-हाउस विजिट के लिए डब्लूएचओ के सहयोग से माइक्रो प्लान तैयार कर लिया गया है एवं 1428 टीम बनायी गयी है जो घर-घर विजिट कर रही है. जिलाधिकारी ने कहा कि टेस्टिंग के दौरान ना केवल दल के द्वारा कोरोना टेस्टिंग की जाएगी बल्कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की खैरियत भी पूछी जाएगी.उनके द्वारा मास्क वितरण की स्थिति एवं गुणवत्ता, मेडिकल किट वितरण की स्थिति की जानकारी भी लिया जाएगा.दल के पास थर्मल स्कैनर भी रहेगा, जिससे वे सिम्प्टम की जानकारी प्राप्त करेंगे. जिलाधिकारी ने कहा कि सुपरवाईजर के पास पल्स ऑक्सीमीटर की भी व्यवस्था रहेगी, ताकि आवश्यकतानुसार उसका उपयोग किया जा सके. प्रत्येक दिन के कार्य से संबंधित प्रतिवेदन टीम अपने सुपरवाईजर को देंगी और सुपरवाईजर उसे संकलित कर, जिला मुख्यालय को उपलब्ध कराएगा. इस कार्य के दौरान जिलेवासियों को अपेक्षित सहयोग करने का अनुरोध जिला पदाधिकारी द्वारा किया गया. जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन को निर्देशित किया कि वे प्रचार वाले वाहन को भी इस कार्य में शामिल करें. प्रचार वाहन के माध्यम से घर-घर किए जाने वाले टेस्टिंग से संबंधित व्यापक जानकारी का प्रचार-प्रसार किया जाय. साथ ही शामिल किए जाने वाले दल को पर्याप्त प्रशिक्षण भी देना सुनिश्चित करेंगे. जिलाधिकारी ने कहा कि इस प्रकार से जिले के एक-एक घर को कभर कर लिया जाएगा, जो संक्रमण की रोकथाम में सहायक होगा. जिलाधिकारी ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी व अंचल अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि वे आज ही अपने एमओआईसी से एएनएम का लिस्ट ले लेंगे तथा उनके प्रतिनियुक्ति स्थल पर जाकर उपस्थिति की जांच करेंगे. जो भी स्वास्थ्य कर्मी कार्य दायित्व से अनुपस्थित पाएं जाएं उनके विरूद्ध कार्रवाई के लिए प्रतिवेदित करेंगे. जिलाधिकारी द्वारा सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया कि अनुमंडल स्तरीय डीसीएचसी की प्रत्येक दिन साफ-सफाई सुनिश्चित कराई जाए. मरीज के एटेडेंट को भोजन दिया जाए. उन्होंने कहा कि खाने की गुणवत्ता अच्छी हो. खाने की गुणवत्ता में कमी को गम्भीरता से लिया जाएगा तथा संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी. जिलाधिकारी ने कहा कि वर्तमान में नगर निकाय क्षेत्रों में 05 समुदायिक किचेन संचालित हैं. आवश्यकतानुसार इसे प्रखंड स्तर पर भी लागू कराने की कार्ययोजना तैयार की जा रही है. प्रखंड विकास पदाधिकारी इसकी पूर्व तैयारी कर लेंगे. बैठक में जिले के प्रत्येक घरों को मास्क वितरण की समीक्षा की गई. जिलाधिकारी ने कहा कि हर हाल में निर्धारित मानक, गुणवतापूर्ण मास्क का वितरण युद्धस्तर पर कराना सुनिश्चित करें.मास्क गुणवता से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा.विभाग द्वारा जिन संस्थानों से मास्क खरीदने का निर्देश दिया गया है, वहीं से मास्क खरीदा जाए. सभी पदाधिकारी समय-समय पर गुणवत्ता की भी जाचं करते रहेंगे. गौनाहा, मधुबनी, लौरिया इत्यादि प्रखंड में मास्क वितरण के आंकड़ों पर खेद प्रकट करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि मास्क से ही कोरोना संक्रमण को रोका जा सकता है. इसलिए वितरण कार्य में तेजी लाने की आवश्यकता है.भूमि सुधार उप समाहर्ता अपने-अपने अनुमंडल क्षेत्र में मेडिकल स्टोर की जांच के लिए प्राधिकृत किए गए हैं.वे मेडिकल स्टोर्स की जांच के दौरान मास्क वितरण का भी जांच करेंगे. टीकाकरण कार्य की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी कहा कि टीकाकरण केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग सहित स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन का शत-प्रतिशत अनुपालन किया जाय.वैक्सीनेशन केन्द्रों पर बैनर व फ्लैक्स लगाकर इसका अनुपालन कराया जाए.आवश्यकतानुसार होम गार्डस की भी प्रतिनियुक्ति की जाय. इस अवसर पर सहायक समाहर्ता, श्री एस. सेधु माधवन, अपर समाहर्ता, श्री नंदकिशोर साह, जिला आपदा प्रभारी पदाधिकारी, श्री अनिल राय, ओएसडी, श्री बैद्यनाथ प्रसाद उपस्थित रहे तथा सभी एसडीएम, बीडीओ, सीओ, एमओआईसी आदि अन्य अधिकारी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े रहे.

कोई टिप्पणी नहीं: