कांग्रेस ने नड्डा, पात्रा, स्मृति के खिलाफ पुलिस में शिकायत की - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 19 मई 2021

कांग्रेस ने नड्डा, पात्रा, स्मृति के खिलाफ पुलिस में शिकायत की

congress-complain-against-nadda-patra-smriti
नयी दिल्ली, 18 मई, कांग्रेस ने टूलकिट मामले में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर सोशल मीडिया पर फर्जी दस्तावेजो के ज़रिए अशांति फैलाने का आरोप लगते हुए दिल्ली पुलिस आयुक्त को पत्र लिखकर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी समेत कई अन्य कई नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की है। कांग्रेस प्रवक्ता एवं शोध विभाग के प्रमुख राजीव गौड़ा तथा सोशल मीडिया विभाग के प्रमुख रोहन गुप्ता ने दिल्ली पुलिस आयुक्त और तुगलक रोड पुलिस के थानेदार को मंगलवार को पत्र लिखकर कहा कि भाजपा के इन नेताओं ने कांग्रेस के फर्जी लेटर हेड का सहारा लेकर फर्जी टूलकिट के माध्यम से सोशल मीडिया पर भड़काऊ दस्तावेज शेयर कर सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास किया है। इन नेताओं ने इन फर्जी दस्तावेजो को ट्वीट कर भड़काने वाली सूचना प्रसारित की है। गौरतलब है कि भाजपा ने टूलकिट का हवाला देते हुए कांग्रेस पर महामारी के दौरान भ्रम फैलाने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि धूमिल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि जब पूरा देश महामारी से लड़ रहा है तो कांग्रेस राजनीतिक स्वार्थ के लिए देश को बदनाम’ करने की कोशिश कर रही है। इस आरोप के बाद श्री गौड़ा ने भाजपा नेताओ के खिलाफ शिकायत दर्ज करने के लिए पुलिस को पत्र लिखा। इससे पहले टूलकिट को लेकर उन्होंने कहा कि भाजपा फर्जी टूलकिट प्रचारित कर रही है और कोविड कु्प्रबंधन पर फर्जी टूलकिट का दुष्प्रचार कर इसे कांग्रेस के शोध विभाग से जोड़ रही है। पुलिस को लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि जिन नेताओ के नाम शिकायत में है उन्होंने देश में अशांति फैलाने के मकसद से सोशल मीडिया के जरिए झूठ प्रचारित किया है इसलिए उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाय।

कोई टिप्पणी नहीं: