बिहार : माले कोविड महामारी में लगातार 30 वें दिन राहत कार्य के मोर्चे पर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 23 मई 2021

बिहार : माले कोविड महामारी में लगातार 30 वें दिन राहत कार्य के मोर्चे पर

  • आकस्मिक मेडिकल सुविधा के साथ लाॅकडाउन में बदहाल दिहाड़ी मजदूरों व गरीब बस्तियों को राशन पहुंचा रहे
  • कल के वितरण के लिए राशन पैकेट बनाने की तैयारी पूरी, पटना सिटी के विभिन्न गरीब बस्तियों में कल बंटेगा राशन
  • राहत अभियान चला रहे स्वयंसेवकों को अबतक नहीं जारी किया गया पास

cpi-ml-covid-health-center
पटना 22 मई, भाकपा-माले, आइसा, आरवाइए द्वारा चलाए जा रहे कोविड हेल्प सेंटर ने आज 30 वें दिन में प्रवेश किया. विगत तीस दिनों से लगातार सेंटर के स्वयंसेवक आकस्मिक सुविधाओं के साथ-साथ लाॅकडाउन की मार झेल रहे बदहाल दिहाड़ी मजदूरों, निर्माण मजदूरों, फुटपाथ दुकानदारों व अन्य जरूरतमंदों के बीच राहत अभियान चला रहे हैं.इ इसका नेतृत्व समता राय, गालिब कलीम, विनय कुमार, कुमार दिव्यम, अनंत शाश्वत, नीरज यादव, रवि कश्यप, मासूम जावेद, रामजी यादव, प्रतीक, समीर आदि छात्र-युवा कर रहे हैं. इस बीच, पटना महानगर के सचिव अभ्युदय ने कहा है कि कल पटना सिटी के गरीब मुहल्लों में राशन वितरण किया जाएगा. आज माले विधायक दल कार्यालय में सेंटर के स्वयंसेवकों ने पूरी मिहनत के साथ राशन पैकेट तैयार करने का कार्य किया है. देर शाम तक पैकेट बनाने का काम पूरा कर लिया गया है. उन्होंने इस बात पर एक बार फिर से नाराजगी जताई कि बार-बार आग्रह के बावजूद जिला प्रशासन ने अब तक हमारे सेंटर के स्वयंसेवकों के लिए पास जारी नहीं किया है. यह बहुत अनुचित है. सरकार व प्रशासन को ऐसे लोगों के प्रति सहयोग का रूख रखना चाहिए था, लेकिन वह लगातार असहयोगात्मक रूख अपना रही है. ऐसा लगता है कि सरकार राजनीतिक कारणों से हमारे लिए पास जारी नहीं कर रही है. यह बहुत निंदनीय है. कोविड के संकट में जिंदगी को खतरे में डालकर काम कर रहे स्वयंसेवकों के प्रति यह रवैया बिलकुल अमानवीय है. इससे हमारा राहत अभियान भी प्रभावित होता है. हम एक बार फिर से मांग करते हैं कि सभी स्वयंसेवकों के लिए पास जारी किए जाएं. उन्होंने राहत अभियान में बिहार के नागरिकों से हर प्रकार के सहयोग की भी अपील की.

कोई टिप्पणी नहीं: