सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 17 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 17 मई 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 17 मई

जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगा रेहटी में 20 बिस्तरों वाला कोविड केयर सेंटर


sehore news
जिले के रेहटी में 20 बिस्तरों की सुविधा वाला कोविड केयर सेंटर का कार्य तेजी से चल रहा है। कोविड केयर सेंटर में पूर्ण ऑक्सीजन युक्त है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने 20 बिस्तरों के इस कोविड केयर सेंटर के निर्माण में सभी आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। निर्माणाधीन इस कोविड केयर सेंटर में कोविड के मरीजों के लिए सभी आवश्यक सुविधाओं के साथ ही योग, प्राणायाम तथा मनोरंजन संबंधित सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जा रहीं हैं। बस कुछ ही दिनों में कोविड केयर सेंटर पूर्ण रूप से बनकर तैयार हो जाएगा। जिसमें कोविड संक्रमित मरीजों को भर्ती करना भी जल्द शुरु कर दिया जाएगा।   


तीव्र गति से जारी है कोरोना सेंपलिंग का कार्य  


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देश पर जिले में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा घर-घर जाकर लोगों का परीक्षण किया जा रहा है। कोरोना सेंपल लेने का कार्य तीव्र गति से संचालित किया जा रहा है। जिले में नगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर संदिग्ध मरीजों के कोरोना सेंपल लिए जा रहे हैं। सर्वे टीम द्वारा लोगों से अपील की जा रही है कि सर्दी, जुखाम, खांसी सहित अन्य छोटे-मोटे लक्षण होने पर लापरवाही न बरतें तुरंत जांच कराएं एवं उपचार लें। क्योंकि सावधानी ही कोरोना संक्रमण से बचाव का महत्वपूर्ण उपाय है।


जिले में डोर टू डोर सर्वे के दौरान किया जा रहा है मरीजों का परीक्षण


sehore news
कोविड-19 के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए प्रारंभिक स्तर पर ही पता लगाने तथा समुचित इलाज के लिए डोर टू डोर सर्वे का कार्य आशा, एएनएम तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा निरंतर किया जा रहा है। आशा, एएनएम तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा घर घर जाकर मरीजों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली जा रही है। साथ ही थर्मल स्कैनर से फीवर तथा ऑक्सीमीटर से ऑक्सीजन सीजन लेवल चेक किया जा रहा है एवं कोविड-19 के संभावित लक्षण मिलने पर उन्हें स्वास्थ्य केंद्र भेजा जा रहा है। आंगनवाडी कार्यकर्ताओं द्वारा लोगों को कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए भी जागरुक किया जा रहा है। साथ ही मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग बनाने एवं हाथों को सेनेटाईज करने आदि की सलाह दी जा रही है। 


कोविड-19 के लक्षण आते ही चिकित्सक से सलाह लें


कोविड-19 वैक्सीनेशन के साथ साथ मास्क लगाना, दो गज की दूरी बनाये रखना, हाथों को सेनेटाइज करना या साबुन और पानी से हाथ धोना, भीड भरी जगह पर ना जाना आदि की सलाह स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई है। जिला चिकित्सालय के कोविड-19 के वार्ड व टीकाकरण कराने आने वाले लोगों को सलाह दी गई। ऐसे व्यक्ति जो ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, किडनी, अस्थमा, कैंसर आदि से पीडित हैं उन्हें सर्दी, जुखाम, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, सिर दर्द, भूख न लगना, दस्त लगना आदि के लक्षण होने पर वे अपने घर पर ही पारंपरिक उपचार लेते हैं, ठीक होने की उम्मीद में 5 से 7 दिन गुजार देते हैं जिन्हें स्वास्थ्य लाभ होने के बजाय उनकी बीमारी और जटिल हो जाती है। उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ता है, ऐसी स्थिति में कोविड 19 जांच पॉजिटिव आती है तो उपचार और जटिल हो जाता है। ऐसे मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट या आईसीयू में भर्ती कर उपचार करना पड़ता है। ऐसे बीमारियों से प्रभावित व्यक्तियों को सलाह दी है कि वे सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, सिर दर्द, हाथ पैरों में दर्द, शरीर में ऐठन, भूख न लगना, खाने व सूंघने में स्वाद का पता न लगना आदि लक्षणों के आते ही चिकित्सक से परामर्श लेकर आवश्यक जांच करवाकर समय रहते पूर्ण उपचार लेकर स्वस्थ हो जिससे वे समय पर परिवार को सुरक्षित रख सकें।   


रासायनिक खाद डी.ए.पी. एवं एन.पी.के. की दरें अंकित है, एम.आर.पी. अनुसार ही राशि का भुगतान कर पक्का बिल प्राप्त करें


किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा किसानों को सलाह दी गई है कि खरीफ सीजन 2021 प्रारम्भ हो चुका है, जिसमे रासायनिक खाद डी.ए.पी. एवं एन.पी.के. की तीन-तीन दरें अंकित है जो इस प्रकार है-डी.ए.पी. 1200 रू., 1700 रू. एवं 1900 रू. प्रति बेग है, एन.पी.के. की दरे 1175 रू. 1625 रू. 1800 रू. प्रति बेंग है, इसी प्रकार पोटाश 943 रू. एवं 1000 रू. प्रति बेंग है। अलग-अलग दर अंकित होने से कृषकों में विसंगति परिलक्षित हो रही है। कृषक ध्यान दें कि प्रत्येक बेंग पर एम.आर.पी. अंकित है कृपया एम.आर.पी. अनुसार ही राशि का भुगतान कर पक्का बिल प्राप्त करें। यदि कोई विक्रेता/संस्था आपको निर्धारित कीमत से अधिक कीमत पर विक्रय करता हैं, तो तत्काल विकासखण्ड के संबंधित वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी को सूचित करे साथ ही कोई अनाधिकृत व्यक्ति अनावश्यक रूप से उर्वरक का भण्डारण कर कालाबाजारी करते पाया जाता है, तो तत्काल सूचित करे, ताकि संबंधित के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जा सके।     


कोरोना टीकाकरण के लिए आशा कार्यकर्ता को 200 रूपये प्रोत्‍साहन राशि


कोरोना टीकाकरण सत्र के दौरान प्रत्‍येक टीकाकरण केन्‍द्र पर दो आशा कार्यकर्ताओं को प्रति सत्र 200 रूपये प्रत्‍येक को प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी। यह राशि कोविड-19 के टीकाकरण सत्रों के दौरान सहयोग कर रहीं आशा कार्यकर्ता, शहरी आशा अथवा आशा सहयोगी को प्रदान की जायेगी। आशा कार्यकर्ताओं को सुरक्षा हेतु मास्‍क, सैनिटाईजर, हेण्‍ड ग्‍लब्‍ज भी उपलब्‍ध कराये जायेंगे।  यह आदेश राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन द्वारा जारी किये गये हैं। 


अंतर्राज्जीय बस परिवहन सेवा 23 मई तक स्थगित


राज्य शासन ने कोरोना वायरस के संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम के लिए लोकहित में मध्यप्रदेश में उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और छत्तीसगढ़ राज्य से आने तथा जाने वाले बस परिवहन संचालन को पूर्व में 15 मई तक स्थगित किया था। सचिव, राज्य परिवहन प्राधिकारी एवं अपर परिवहन आयुक्त ने बताया कि उक्त राज्यों से आने तथा जाने वाले बस परिवहन संचालन को स्थगित करने की अवधि बढ़ाकर 23 मई कर दी गई है। इस संबंध में आदेश जारी कर दिये गये हैं।  


मंत्रि-परिषद द्वारा अनुमोदित आबकारी व्यवस्था के संबंध में राज्य शासन द्वारा निर्देश जारी

  • चालू वित्तीय वर्ष की शेष अवधि के लिये व्यवस्था लागू की

वित्तीय वर्ष 2021-22 की शेष अवधि एक जून 2021 से 31 मार्च 2022 तक के लिये नवीन आबकारी व्यवस्था को मंत्रि-परिषद द्वारा अनुमोदित किया गया है। अनुमोदित आबकारी व्यवस्था को प्रदेश में लागू करने के लिये राज्य शासन ने निर्देश जारी कर दिये हैं। वाणिज्यिक कर विभाग ने आबकारी आयुक्त को निर्देश जारी कर नई व्यवस्था के तहत नवीनीकरण की कार्यवाही 18 मई 2021 की शाम 5 बजे तक अनिवार्य रूप से पूरी करने को कहा गया है। उप सचिव, वाणिज्जिक कर श्री आर.पी. श्रीवास्तव द्वारा जारी आदेश के तहत नवीन व्यवस्था में जो प्रावधान किये गये है। उसमें वर्तमान में प्रदेश के मदिरा दुकानों के अनुज्ञप्तिधारियों को वर्ष 2020-21 प्रभावशील समस्त प्रावधानों एवं शर्तों को यथावत रखते हुये एक जून 2021 से 31 मार्च 2022 तक की अवधि के लिये ठेकों के नवीनीकरण का विकल्प दिया जाएगा। नवीनीकरण के लिये वर्ष 2020-21 के 10 माह के मूल्य की गणना के लिए 31 मार्च 2021 को जीवित ठेके के स्वीकृत मूल्य को प्रोरेटा आधार पर 365 दिवस का बनाया जाकर उसमें से 1 अप्रैल 2020 से 31 मई 2020 की अवधि के वास्तविक मूल्य (प्रथम त्रैमास को 30+ वेटेज देते हुए) को घटाया जाएगा। इस 10 माह के प्राप्त मूल्य में 10+ की वृद्धि करने पर एक जून 2021 से 31 मार्च 2022 की अवधि के लिये नवीनीकरण का मूल्य निर्धारित होगा।


देशी मदिरा प्रदाय व्यवस्था-  जारी निर्देशों में कहा गया है कि 90 मिली लीटर की धारिता में भी देशी मदिरा का प्रदाय किया जाए। प्रारम्भ में उत्पादन का कम से कम 10 प्रतिशत 90 मिली बोतल में भरा जाए, जिसे बाद में मांग के अनुरूप कम ज्यादा किया जा सकेगा। इसका एमआरपी 180 मिली बोतल की कीमत का आधा रखा जाए। देशी मदिरा प्रदाय व्यवस्था को पूर्व में मंत्रि-परिषद द्वारा 31 मई 2021 तक के लिये अनुमोदित किया गया था। जिसे उक्त प्रावधान के साथ अन्य शर्ते यथावत रखते हुए 31 जुलाई, 2021 तक बढ़ाया जाए। स्थानीय निकाय द्वारा जिन स्थानों पर दुकानें निर्मित कर उन्हें मदिरा दुकान हेतु उपलब्ध कराया जाता है, ऐसी दुकानों को लायसेन्सी द्वारा कलेक्टर द्वारा निर्धारित दरों पर मदिरा दुकान संचालन के लिये अनिवार्यतः किराये पर लिया जायेगा।   


प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत किसान भाईयों से आवेदन आमंत्रित


प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना अन्तर्गत मिनि माइक्रो स्प्रिंकलर का लाभ लेने के इच्छुक किसानो से आवेदन आमंत्रित है। इस हेतु किसानों को उद्यानिकी विभाग के एमपीएफएसटीएस पोर्टल पर पंजीयन पश्चात आवेदन करना होगा।  जिसके पश्चात वे उक्त योजना का लाभ ले सकेंगे। इस योजना का लाभ लेने हेतु कृषक के नाम से कृषि भूमि होना व विगत 07 वर्षो में इस योजना से लाभान्वित नही होना जरूरी है। पात्र किसानो को इस योजना अंतर्गत न्यूनतम 0.400 से अधिकतम 5.000 हेक्टेयर तक लाभ दिया जायेगा। योजनांतर्गत कृषक को उचिजे चवतजंस पर ऑनलाईन पंजीयन एवं आवेदन कराना आवश्यक होगा। आवेदन के साथ स्वयं के द्वारा चयनित कंपनी के खाते में अपनी अंशराशि  स्वयं के बैंक खाते से जमा होने के प्रमाण स्वरूप बैंक पासबुक की प्रथम पृष्ठ एवं अंतरण की इन्ट्री वाले पृष्ठ को पोर्टल पर अपलोड करना आवश्यक होगा। तत्पश्चात आवेदन मान्य हो सकेगा। निर्धारित लागत का लघु सीमांत कृषकों को 55 प्रतिशत एवं बड़े कृषकों को 45 प्रतिशत अनुदान सहायता दी जायेगी।


कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना के अन्तर्गत जारी आदेश निरस्त  


मध्यप्रदेश ग्रामीण विकास विभाग के आदेशानुसार कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा पूर्व में मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना के अन्तर्गत पात्र कर्मी घोषित किया गया आदेश तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया गया है। उल्लेखनीय है कि 26 अप्रैल 2021 को जारी आदेश अनुसार जिले में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी/कर्मचारी, पंचायत के सचिव, ग्राम रोजगार सहायक, पंचायत समन्वयक अधिकारी, सहायक विकास विस्तार अधिकारी, संविदा एवं आउटसोर्स कर्मी तथा अनुबंधित दैनिक वेतनभोगी को मुख्यमंत्री कोविड-19 योद्धा कल्याण योजना के अन्तर्गत पात्र कर्मी घोषित किया गया था।


कहीं पर भी उपार्जित गेंहू भीगने नही पाए - कलेक्टर श्री गुप्ता

  • उपार्जित गेंहू को सुरक्षित रखने के कलेक्टर ने दिए निर्देश

वर्तमान में देश के विभिन्न राज्यों में आए तूफान से बे मौसम वर्षा होने की संभावना बनी हुई है। वर्षा से उपार्जित गेंहू नही भीगे इसके लिए गेंहू को सुरक्षित रखने तथा उसके परिवहन एवं भंडारण  के कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री गुप्ता ने जिला आपूर्ति अधिकारी, उपायुक्त सहकारिता, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक महाप्रबंधक, नागरिक आपूर्ति निगम जिला प्रबंधक एवं मप्र वेयर हाउस कार्पोरेशन प्रबंधक को निर्देश दिए हैं कि उपार्जित गेंहू को सुरक्षित रखने के लिए उपार्जन केन्द्रों एवं सोसायटियों में उचित रख-रखाव की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि सभी सम्बन्धित अधिकारी आपस में समन्वय कर उपार्जित उपज को सुरक्षित भंडारित करने की कार्यवाही करें। यह सुनिश्चित करें कि कहीं पर भी उपार्जित गेंहू वर्षा से भीगने  नहीं पाए। 


विश्व उच्च रक्तचाप दिवस का आयोजन किया गया 


sehore news
जिला अस्पताल में विश्व उच्च रक्तचाप दिवस मनाया गया। जिसके अंतर्गत जिला अस्पताल के एन.सी.डी. नोडल अधिकारी डॉ आरके वर्मा द्वारा उच्च रक्तचाप के मरीजों की जांच एव उन्हें परामर्श दिया गया। जिला नोडल अधिकारी एन.सी.डी. डॉ पुष्पा चंदेल द्वारा बताया गया कि जिले में विश्व स्वास्थ्य संगठन के तकनीकी सहयोग से आईएचसीआई कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसके अंतर्गत अभी तक लगभग 16335 उच्च रक्तचाप के मरोजों को पंजीकृत कर उपचार एवं परामर्श दिया जा रहा है।  इस अवसर पर प्रभारी सिविल सर्जन डॉ अशोक मांझी एवं जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ एमके चंदेल जिला एनसीडी अधिकारी डॉ पुष्पा चंदेल एवं आईएचसीआई कार्यक्रम जिला समन्वयक कपिल शर्मा उपस्थित थे। 


दो प्रायवेट अस्पतालों का पंजीयन निरस्त, इलाज के लिये मरीजों से लिये गये रुपये वापिस करने के दिए निर्देश


आष्टा के ग्राम गुराडिया मण्डी के देवश्री अस्पताल तथा सीहोर तहसील के ग्राम बरखेडी में संचालित रूद्र प्रायवेट अस्पताल का पंजीयन तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया गया है। इन अस्पतालों द्वारा निजी अस्पताल संचालन के दिशा निर्देशों की निरन्तर अवहेलना की जा रही थी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि उक्त दोनों ही अस्पतालों में निरंतर अनियमितताएं बरती जा रही थी तथा पंजीयन नियमों सहित इंडियन मेडिकल काउंसिल 1956 की धारा (ए) 24 एवं मध्यप्रदेश उपचार्य गृह तथा उपचार गृह संबंधी एक्ट का उल्लंघन किया जा रहा था। डॉ.डेहरिया ने बताया कि विभाग द्वारा दोनों ही अस्पतालों को बरती जा रही अनियमितताओं को लेकर नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया था परंतु निजी चिकित्सालयों द्वारा आज तक नोटिस का जवाब प्रस्तुत नहीं किया गया। जिससे यह प्रतीत होता है कि ये प्रायवेट चिकित्सालयों द्वारा पंजीकरण तथा अनुज्ञापन अधिनियम 1973 तथा संसोधन अधिनियम 2008 को उल्लंघन किया गया है। उक्त असप्ताल संचालकों को निर्देशित किया गया है कि उनके नर्सिंग होम में भर्ती मरीजों को वे अन्य पंजीकृत निजी चिकित्सालयों में अथवा जिला चिकित्सालय सीहोर में भर्ती कराना सुनिश्चित करें तथा उपचार के लिए जो भी शुल्क मरीजों से लिया गया है। वह राशि मरीजों  अथवा उनके परिजनों को वापिस किए जाने हेतु निर्देशित किया गया है। पंजीयन रद्द किए जाने के उपरांत भी नियत समयावधि में अस्पताल बंद नहीं किया जाता है तो जारी आदेश में इन निजी अस्पताल संचालकों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कर न्यायालयीन प्रकरण बनाने हेतु भी निर्देशित किया गया है।     

18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लिए टीकाकरण दिवसों के एक दिवस पूर्व होगी ऑनलाईन बुकिंग 


18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के व्यक्तियों के लिए अब टीकाकरण दिवस ( सोमवार, बुधवार, गुरूवार, शनिवार) के एक दिवस पूर्व (रविवार, मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार) को प्रातः 09 बजे से 11 बजे के बीच ऑनलाईन बुकिंग खुलेगी। जिला टीकाकरण अधिकारी एम.के.चंदेल ने जानकारी दी कि ऑनलाईन बुकिंग उपलब्ध वैक्सीन के आधार पर निर्धारित किए गए सत्र स्थलों के लिए ही खुलेगी। इसके लिए cowin.gov. in पोर्टल पर पंजीयन किया जा सकता  है। डॉ.चंदेल ने बताया कि मंगलवार 18 मई को टीकाकरण केन्द्र आष्टा, सीहोर शहरी क्षेत्र, जावर, कोठरी, सिद्धिकगंज, बुदनी, रेहटी, शाहगंज, बकतरा, इछावर, नसरूल्लागंज, दोराहा, श्यामपुर, बिल्किसगंज, के लिए ऑनलाईन बुकिंग खुलेगी। 18 से 44 वर्ष आयुवर्ग के व्यक्तियों का बुधवार 19 मई को उपरोक्त केन्द्रों पर भी टीकाकरण किया जाएगा।  


वेबजह घर से निकलने वालों पर की जा रही चालानी कार्यवाही, जिले में कराया जा रहा है कोरोना कर्फ्यू का पालन


sehore news
कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देशानुसार राजस्व एवं पुलिस अमले द्वारा जिले में कोरोना कर्फ्यू का पालन कराया जा रहा है। एसडीएम श्री रवि वर्मा द्वारा राजस्व एवं पुलिस अमले के साथ लोगों को समझाइश दी जा रही है एवं कोरोना कर्फ्यू का पालन कराया जा रहा है। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क लगाना एवं सोशल डिस्टेंसिंग रखना एवं हाथों को बार-बार साबुन से धोना चाहिए। बिना किसी अतिआवश्यक कार्य के घर से बाहर नहीं निकलें। बहुत आवश्यक कार्य हो तो ही बाहर निकलें। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा जिला मुख्यालय के इंदौर-भोपाल रोड़, भोपाल नाका, नदी चौराहा सहित नगर के अन्य मार्गों पर वेरीकेट्स लगाए गए हैं जिससे कि लोग फालतू बाहर न निकलें। कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर प्रशासनिक अमले द्वारा चालानी कार्यवाही की जा रही है।  नगरीय क्षेत्रों के साथ-साथ जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना कर्फ्यू का पालन कराया जा रहा है । इसके अलावा किल कोरोना अभियान के तहत सर्वे दल घर घर जाकर लोगों का सर्वे कर रहे है । संदिग्ध कोरोना लक्षणों वाले व्यक्तियों को उप स्वास्थ्य केंद्र जांच एवं इलाज के लिए भेजा जा रहा है।


1375 व्यक्तियों को लगा कोरोना का प्रथम एवं द्वितीय टीका


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर प्रदेश के साथ ही सीहोर जिले में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। जिले के 70 सत्रों में 1375 व्यक्तियों को कोविड प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया। शहरी सीहोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित जिला चिकित्सालय क़े 7  सत्र में कुल 711 व्यक्तियों को, आष्टा के 23 सत्र में कुल 367, बुधनी के 15 सत्र में 107 इछावर के 6 सत्र में कुल 32 नसरुल्लागंज के 4 सत्र में कुल 65 तथा श्यामपुर के 15 सत्रों में कुल 93 कोविड का प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया।   


विश्व उच्च रक्तचाप दिवस पर जाँच एवं परामर्श, उच्च रक्तचाप के 16335 की जांच एवं परामर्श


विश्व उच्च रक्तचाप दिवस के अवसर पर मरीजों की जाँच जी गयी था दवा एवं परामर्श दिया गया।  विश्व स्वास्थ्य संगठन के सहयोग से आईएचसीआई कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसके अंतर्गत अभी तक लगभग 16335 उच्च रक्तचाप के मरोजों को पंजीकृत कर उपचार एवं परामर्श दिया जा रहा है। इस अवसर पर एनसीडी के नोडल अधिकारी डॉ आर के शर्मा सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित थे।  


आज 179 व्यक्ति रिकवर हुए, कुल रिकवर की संख्या 8173, जिले में 123 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 894


पिछले 24 घंटे के दौरान 123 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। सीहोर शहरी क्षेत्र से 26 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं। जो देवनगर, इंदौरनाका, नेहरु कॉलोनी, पुलिस लाईन, फंदा रोड़, दशहरा वाला बाग, वृंदावन कॉलोनी, भोपाल नाका, इंद्रानगर, मुरदी रोड़, गंज, शुगर फैक्ट्री चौहारा, संजय नगर, बड़ी ग्वालटोली, वैशाली नगर, दांगी स्टेट, चाण्क्यपुरी, श्रीराम कॉलोनी, सैकड़ाखेड़ी राड़, ब्रहमपुरी, थूना पचामा, शीतल विहार क्षेत्र के निवासी हैं। नसरुल्लागंज क्षेत्र से 16 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो बड़नगर, रिछाड़िया, बासुदेव, इमलाड़ा, आईटीआई नसरुल्लागंज, स्वेप सिटी, मंडी, हाथीघाट, शुकरवास, बोरखेड़ा, बालागांव, नसरुल्लागंज, खरसानिया, सीलकंठ, निमोटा के निवासी हैं। इछावर क्षेत्र अन्तर्गत 28 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति वर्मा चौक, कुरावर, पांगराखाती, आमलानोआबाद, दोलतपुर, इछावर, जोगड़ाखेड़ी, भाउखेड़ी, आमलारामजीपुरा, गुराड़ी, मोहनपुर, नबाबाद, वीरपुर डेम, वार्ड नंबर 11 इछावर के निवासी है। श्यामपुर क्षेत्र से 18 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति श्यामपुर, निपानिया, जमोनिया, दोराहा, बिलकिगंज, लसरुड़िया परिहार के निवासी है। बुधनी क्षेत्र से 17 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो बुधनी वार्ड नंबर 06, 07, 08, जहाजपुरा, न्यू कॉलोनी, बड़ा सिलेगना, बकतरा, नांदनेर, देहरी, शाहगंज, तालपुरा, पीलीकरार के निवासी हैं। आष्टा क्षेत्र से 18 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो मालवीय नगर, भौंरा बाकल, अरनिया जोहरी, मोगली, अरनिया राम, सेमरी भावसिंह, सिद्धिकगंज, जावर, दामनखेड़ी, बनवारीकला, मैना, सेमनरी रोड़, हर्राजखेड़ी, राजूखेड़ी, अलीपुर, बजंरग कॉलोनी, किलेराम के निवासी हैं। जिला चिकित्सालय स्थित कोविड-19 डीसीएचसी में उपचार हेतु भर्ती एक संक्रमित व्यक्ति की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। मृत्कों की कुल संख्या 114 हो गई है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 9181 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 894 हैं। आज 179 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 8173 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 114 है । आज 773 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 196, श्यामपुर से 121, विकासखंड नसरुल्लागंज से 136, आष्टा से 138 एवं बुदनी विकासखंड से 103 तथा इछावर से 79 सेंपल लिये गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 115641 हैं जिनमें से 105616 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 717 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 773 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमाण्ड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबंर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।


ग्राम खजूरिया कासम सहित अन्य गांव में निरीक्षण दल द्वारा लोगों को कोरोना संक्रमण से बचने के लिए किया जा रहा जागरुक


sehore news
जिले के जनपद पंचायत आष्टा अन्तर्गत क्षेत्र में कोविड-19 के संक्रमण को ग्राम स्तर पर नियंत्रित करने के लिए जनपद स्तर से निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। निरीक्षण दल द्वारा ग्राम पंचायत खजूरिया कासम का भ्रमण कर लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जागरुक किया जा रहा है। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि गांव में आज तक कुल 12 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए थे। जिसमें से 04 व्यक्ति स्वस्थ भी हो चुके हैं। वर्तमान में एक ही मोहल्ले के 05 परिवारों में कुल 08 व्यक्ति कोरोना संक्रमित हैं। सर्वे टीम द्वारा इन परिवारों के अन्य सदस्यों को कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग से दिए गए निर्देशों के पालन करने की समझाइश दी गई। इसी प्रकार निरीक्षण दल द्वारा ग्राम पंचायत मैना और नवरंगपुर में संचालित कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण एवं स्थानीय ग्रामीणों को कोरोना कर्फ़्यू का कड़ाई से पालन एवं सोशल डिस्टेंसिंग एवं नियमित रूप से मास्क पहनने के लिए प्रेरित किया गया। 

कोई टिप्पणी नहीं: