बिहार : तेजस्वी का नीतीश से सवाल, क्यों बंद हुए स्वास्थ्य उप केन्द्र - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 23 मई 2021

बिहार : तेजस्वी का नीतीश से सवाल, क्यों बंद हुए स्वास्थ्य उप केन्द्र

tejaswi-ask-nitish-why-phc-closed
पटना : बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से नीतीश कुमार पर जोरदार हमला बोला है। तेजस्वी ने केंद्र सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों का हवाला देते हुए बिहार सरकार पर हमला बोला है। तेजस्वी यादव ने ट्वीटर के जरिए कहा है कि कथित जंगलराज और क्रीम-पाउडर वाले नीतीश-भाजपा राज का सच क्या है। तेजस्वी यादव ने बिहार में 2005 के अंदर स्वास्थ्य उप केंद्रों और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की संख्या और 2020 में इनकी संख्या को लेकर एक दिलचस्प आंकड़ा सामने रखा है। तेजस्वी यादव के आंकड़ों के मुताबिक बिहार में 2005 में 10337 स्वास्थ्य उप केन्द्र थे। जबकि वहीं 2020 में मात्र 9112 स्वास्थ्य उप केन्द्र हैं। वहीं तेजस्वी के आंकड़ों के मुताबिक राज्य में 2005 में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की संख्या 101थी। जो 2020 में घट कर 57 हो गई है। इसके आंकड़ों के स्त्रोत बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने केंद्रीय स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों को बताया है। इस आंकड़ों को जारी करते हुए तेजस्वी ने लोगों से कहा है कि खुद सोचिए या फिर सरकार से पूछिए कि 16 सालों में नीतीश जी ने 2005 तक काम करने वाले कितने स्वास्थ्य केंद्रों को कब क्यों और किस लिए बंद कर दिया? गौरतलब है कि तेजस्वी यादव लगातार बिहार सरकार की बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर पोल खोल रहे हैं। एक तरफ जहां तेजस्वी ट्विटर पर ट्वीट कर सरकार पर हमला बोल रहें हैं तो वहीं दूसरी तरफ यह बता रहे हैं कि उनकी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता भी लोगों के बीच जाकर बिहार सरकार के बदहाली का हाल लोगों के बीच बता रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: