झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 12 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 12 जून 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 12 जून

ट्रेक्टर में आने से 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत, पोस्टमार्टम नही होने से सारी रात थाने पर पड़ी रही लाश


jhabua news
थांदला। पुलिस थाना थांदला अंतर्गत ग्राम कोटनई में ट्रेक्टर से खेत से पशुओं के लिए चारा लाते हुए 75 वर्षीय बुजुर्ग पांगला की मौत हो गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया गया कि उक्त बुजुर्ग उसी ट्रेक्टर पर बैठ कर अपने घर आ रहा था तभी उसका बैलेंस बिगड़ गया और वह नीचे गिर गया और ट्रेक्टर का एक हिस्सा उसके ऊपर चढ़ गया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। ड्राइवर घबराकर मौके से फरार हो गया है। पुलिस ने गैर इरादतन हत्या के तहत आईपीसी की धारा 304 ए के तहत मामला दर्ज करते विवेचना शुरू कर दी है। 

थाने में पड़ी रही पूरी रात लाश - मरक्यूरी रूम की उठी मांग

थांदला में वर्ष भर में सैकड़ों ऐसे प्रकरण आ जाते है जब संशयात्मक घटना शाम या देर रात घटित होती है जिनका शाम 6 बजे बाद पोस्टमार्टम नही हो पाता ऐसे में वे लाश इसी तरह पुलिस थाना परिसर में पड़ी रहती है। वर्तमान समय में पुलिस थाना परिसर के निकट ही उनके रहने के घर बन चुके है तब खुले में लाश का पड़ा रहना दुखद व भयावह स्थिति निर्मित कर देता है। गन्दगी की मार झेलता नगर का एक मात्र पोस्टमार्टम कक्ष जीर्ण शीर्ण अवस्था में नगर के दक्षिण छोर पर स्थित है जहाँ पर यदि लाश रखने का इंतजाम किया भी जाता है तो वह असुरक्षित ही है ऐसे में नगर में एक शव रखने का स्थान (मरक्यूरी रूम) होना अति आवश्यक है। नगर में नया सिविल अस्पताल बनकर तैयार है लेकिन वहाँ भी ऐसी कोई व्यवस्था देखने को नही मिली है। आशा है जल्द ही स्थानीय प्रशासन इस दिशा में कोई उचित निर्णय लेकर इस तरह की वारदात के शव रखने का कोई इंतजाम करेगा।


जन सेवक ने पौधारोपण कर दिया पर्यावरण सुरक्षा का संदेश, पौधा लगाना ही नही उसे बचाना भी हो मकसद - पवन नाहर


jhabua news
थांदला। पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए दो काम आवश्यक होते है पहला तो नए पौधों का रोपण करना तो दूसरा रोपें गए पौधों को सुरक्षित रखना। उक्त बात निजी फार्म हाउस पर जनसेवक के रूप में पौधा रोपतें हुए नगर परिषद अध्यक्ष मनीष बघेल ने कही। उन्होंने कहा कि पौधारोपण के लिए ऐसे स्थान का चयन होना चाहिए जो सुरक्षित नमीयुक्त हो व उसकी देखभाल करने वाला भी कोई हो। हमें केवल पौधारोपण करके ही अपना काम पूरा हुआ नही समझना चाहिए बल्कि उसे सुरक्षित रखते हुए उसे बड़ा होने तक उसकी देखभाल करना भी बहुत जरूरी है यही कारण है कि मनीष बघेल ने जमीन से जुड़े हुए अपने अपने कामगार मजदूरों के साथ पौधारोपण किया। उनके साथ समाजसेवी पवन नाहर ने भी बादाम का पौधा रोपतें हुए कहा कि आजकल अनेक संगठन पौधारोपण करते है इसके लिए वे जो नर्सरी या अन्य स्थानों से जो पौधें लाते है वे 1 वर्ष से लेकर 5 वर्ष के समय मे बड़ी मेहनत से तैयार किये जाते है ऐसे में यदि हम पौधारोपण कर उन्हें असुरक्षित छोड़ देते है तो यह पौधों की हत्या होती है इससे बेहतर है कि कम पौधरोपण हो लेकिन वह सुरक्षीत स्थान पर किसी के संरक्षण में ही होना चाहिए। उन्होंने जनता से आह्वान किया है कि वर्तमान समय में कोरोना महामारी में सभी ने ऑक्सीजन की किल्लत को महसूस किया है, इसलिए इसके प्राकृतिक प्लांट पर्यावरण को सुरक्षीत रखने के संकल्प के साथ सभी को कम से कम 1 पौधा गोद लेकर उसे बड़ा करना चाहिए।

                           

जिले में कालबेलिया समाज , बंजारा समाज एवं धम कुटिया समाज के लिए निशुल्क  राशन, कलेक्टर द्वारा हरी झंडी देकर वाहन को रवाना किया


jhabua news
झाबुआ । कोरोना वायरस के संक्रमण काल  में जहां कठोर मेहनत के उपरांत भी अपनी सामग्री का विक्रय नहीं कर पा रहे एवं रोजगार के कोई अन्य साधन नहीं होने के कारण  उन्हें भोजन की समस्या से सामना करना करना पड़ रहा है प् जिला प्रशासन द्वारा समाजसेवी संस्थाओं के माध्यम से भी इस संक्रमण काल में अपना सहयोग अपना कर्तव्य समझकर  कार्य कर रहा है स आज कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा और डिप्टी कलेक्टर श्री अनिल भाना   द्वारा इस खाद्यान्न ( सूखा राशन ) से भरी  वाहन  को हरी झंडी देकर रवाना किया। जो पीड़ित मानव सेवा के लिए अपना कार्य करेगी । झाबुआ जिले में सारा सेवा संस्थान के माध्यम से एक्शन ऐड भोपाल द्वारा 300 परिवारों के 1 माह का  ( सूखा ) राशन प्रदान किया जा रहा है प् यह राशन जिले के कालबेलिया समाज , बंजारा समाज , धम कुटिया समाज के लिए दिया जा रहा है । प्रति परिवार 23 किलो राशन दिया जा रहा है ।    इसके अतिरिक्त 20 जून से रिलायंस फाउंडेशन के द्वारा 800 से 1000 परिवारों को राशन देना प्रारंभ किया जाएगा स  सारा संस्था द्वारा 1 मई से 30 मई तक भी भीली भाषा में स्थानीय भीली भाषा में वैक्सीनेशन जागरूकता हेतु प्रचार प्रसार रथ रवाना किया गया था प् जिसने जिले के 90 गांव में पहुंचकर समुदाय को  जागरूक करने के लिए अपना कार्य किया स संस्था के निर्देशक श्री जिमी निर्मल द्वारा बताया गया कि जिला प्रशासन के सहयोग और मार्गदर्शन में यह कार्य निरंतर जारी रहेगा प्इस दौरान प्रभारी पीआरओ श्री सुधीर कुशवाह उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: