सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 22 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 22 जून 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 22 जून

जनहित में बढे हुए बिजली बिल वापस ले विद्युत वितरण कंपनी :- राजीव गुजराती    

  • युवा कांग्रेस एनएसयूआई ने किया प्रदर्शन, बिजली बिल कम करने सौपा ज्ञापन

sehore news
सीहोर/ लॉकडाउन ने गरीब और मध्यमवर्गीय नागरिकों की आर्थिक व्यवस्था खत्म कर कर रख दी है। ऐसे में आमजन और छोटे व्यापारियों पर  विद्युत वितरण कंपनी द्वारा आम लोगो पर दोहरी मार मारी है। एक ओर जहां नारगिको के घरों के बिजली बिल काफी बड़े हुए आये है वही दूसरी ओर लॉकडाउन अवधी में बंद दुकानों के बिजली बिल सेकड़ो रुपयों के आये है। ऐसे में जब आम नागरिक को इन बड़े हुए बिजली बिलों ने दोहरी परेशानी में डाल दिया है। एनएसयूआई जिलाध्यक्ष देवेंद्र ठाकुर ने बताया कि आज युवा कांग्रेस एनएसयूआई ने आज युवा कांग्रेस प्रदेश सचिव राजीव गुजराती के नेतृत्व में विद्युत वितरण कंपनी के महा प्रबंधक श्री एस एल नारेड़ा को सौपे ज्ञापन में माग की है कि तुरंत आम नागरिकों के बड़े हुए बिजली बिल रीवाइज कर बड़ी हुई राशि कम कर आमजन को अविलंभ राहत प्रदान करे। वही जनहित में विद्युत वितरण कंपनी द्वारा तुरंत कार्य कार्यवाही की मांग की है जिन्होंने बन्द दुकानों के सेकड़ो रुपयों के बिल छोटे छोटे व्यापारियों को बंद दुकानों के थमा दिए है उन्हें तुरंत माफ किया जाए ।  युवा कांग्रेस प्रदेश सचिव राजीव गुजराती ने कहा कि ऐसे कठिन समय मे जनहित में इन बड़े हुए बिजली बिलों को वापस लेने का निर्णय लेकर कोरोना काल मे आमजनों ओर व्यापारियों को विद्युत वितरण कंपनी ओर मप्र सरकार को बड़े हुए बिजली बिलों को वापस लेकर आमजन को ल राहत प्रदान की जाए । युवा कांग्रेस एनएसयूआई की मांग पर विद्युत वितरण कंपनी के महाप्रबंधक श्री एस एल नारेड़ा ने भी कैम्प  लगाकर आमजन की बिलो की समस्या को सुलझाने के लिए आश्वस्त किया हैं । युवा कांग्रेस एनएसयूआई ने कहा है कि यदि जल्द ही विद्युत बिल कम नही हुए तो आगे आंदोलन किया जाएगा। इस अवसर पर युवा कांग्रेस प्रदेश सचिव राजीव गुजराती, कांग्रेस नेता ब्रजेश पटेल, नायाब खान, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष देवेंद्र ठाकुर, एनएसयूआई प्रदेश सचिव सर्वेश व्यास, सुमित नर्रे, मुस्तुफा अंजुम, राहुल गोस्वामी, पीयूष मालवीय, यश यादव, सुर्यांश जादोन, हरिओम सिसोदिया, आसफ पठान, तनीष त्यागी, सुयश प्रताप सिंह, तनिशक् ठाकुर आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे।


कलेक्ट्रेट पहुंचे जामवत मंडल के आक्रोशित कार्यकर्ता, प्रतिमा तोडऩे वालों पर की गई सख्त कार्रवाही की मांग,कलेक्टर और एसपी को दिया अनेक श्रद्धालुओं ने ज्ञापन


sehore news
सीहोर। नंदी प्रतिमा तोडऩे का मामला मंगलवार को सुखियों में बना रहा। आका्रेशित श्रद्धालुओं और विभिन्न धार्मिक संगठनों के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर विरोध दर्ज कराया। कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौपकर प्रतिमा तोडऩे और धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने वाले असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाहीं करने मांग की गई। शहर के इंग्लिशपुरा स्थित सिद्धपुर हनुमान मंदिर में सोमवार कीे रात असामाजिक तत्वों के द्वारा नंदी महाराज और भगवान शंकर की प्रतिमा को तोड़ दिया गया था। घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। जामवत मंडल और हनुमान उत्सव समिति के कार्यकर्ताओं ने नरेंद्र परिहार के नेतृत्व में दिए ज्ञापन में बताया की कार्यकर्ताओं द्वारा धन संग्रह कर मंदिर में श्रीराम दरबार और दुर्गा प्रतिमा के समक्ष दीपक ज्योति लगाने के लिए निर्माण कार्य कराया जा रहा है। कार्यकता वर्षो से मंदिर व्यवस्थाओं से जुडे हुए है प्रति मंगलवार को क्षेत्र में झंडा भी निकाला जाता है। क्षेत्र में निवासरत आशा पति हेमराज मंदिर पर अवैधानिक रूप से हक जताती रहीं है। जबकी मंदिर सार्वजनकि है। कार्यकर्ताओं ने बताया की सोमवार की रात को संबंधित मंहिला और उनका पुत्र मंदिर में पहुंचे थे जिस का वीडियो भी सामने आया है। सुबह श्रद्धालु भगवान की पूजा अर्चना करने मंदिर पहुंचे तो नंदी महाराज और शंकर भगवान की प्रतिमा  क्षंतिग्रस्त पाई गई।


नहीं किया जा रहा है वाल्मीकि सामुदायिक भवन का निर्मांण, अखिल भारतीय बाल्मीकी महासभा ने विधायक को दिया ज्ञापन, तत्काल टेंडर लगाए जाकर भवन निर्माण कराये जाने की गई मांग


sehore news
सीहोर। रेल्वे स्टेशन रोड स्थित वाल्मीकि कॉलोनी में प्रस्तावति सामूदायिक भवन का निर्माण नगर पालिका के द्वारा नहीं किया जा रहा है। अखिल भारतीय बाल्मीकी महासभा जिलाध्यक्ष रितेश चंदेल के नेतृत्व में समाािजक कार्यकर्ताओं ने विधायक सुदेश राय को ज्ञापन दिया है। तत्काल टेंडर लगाए जाकर भवन निर्माण कराये जाने की गई मांग कार्यकर्ताओं के द्वारा की गई है। अभा वाल्मीकि महासभा जिलाध्यक्ष श्री चंदेल ने बताया की समाज के सामूदायिक भवन निर्माण के लिए संभागीय कार्यालय भोपाल उपसंचालक नगरीय प्रशासन एवं आवास से टीएस प्राप्त हो चुकी है। लेकिन कई बार आवेदन देने के पश्चात भी नगर पालिका द्वारा सामूदायिक भवन निर्माण कार्य के लिए  टेंडर जारी नहीं किए जा रहे है। वाल्मीकि समाज के पास शहर में सामाजिक आयोजनों के लिए भवन नही है। गरीब अनुसूचित जाति वाल्मीकि समाज को महंगे गार्डन व अन्य निजी भवन किराये से लेने पड़ते हैं। जिस से काफी दिक्कतों का सामना समाजिक बंधुओं को करना पड़ता है।


व्यक्तिगत दायित्व के साथ-साथ सामाजिक दायित्वों की भी पूर्ति करेगा पौधारोपण - संभागायुक्त श्री कियावत


सभी अपने शिक्षण संस्थानों के परिसर में अधिकाधिक पौधारोपण करके ग्रीन कवर को बढ़ाकर व्यक्तिगत दायित्व के साथ सामाजिक दायित्व की पूर्ति भी कर सकते हैं। यह बात संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत ने उच्च शिक्षण संस्थानों के प्राचार्य और अधिकारियों से कही। उन्होंने कहा कि बारिश पूर्व गुणवत्तायुक्त पौधारोपण करने के लिए सभी तैयारियाँ जैसे साइट चयन, पौधों का चयन, उपयुक्त आकार का गड्ढा, पौधारोपण के लिए उपयुक्त आकार और किस्म के पौधों की उपलब्धि तथा पौधों की शत-प्रतिशत उत्तरजीवित्ता के लिए ट्री गार्ड और नियमित सिंचाई और देखरेख की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। संभागायुक्त श्री कियावत ने कहा कि पौधारोपण में रस्मी औपचारिकता नहीं परिणाममूलक कारगर प्रयास किए जाएं। संभागायुक्त श्री कियावत ने कहा कि संस्थान के शिक्षक अपने विद्यार्थियों को कम से कम एक पौधा लगाने के लिये प्रेरित करें और जिनकी देखभाल का दायित्व भी विद्यार्थियों का ही होगा। पौधारोपण को पर्यावरण सुधार एवं स्वास्थ्य की गुणवत्ता में वृद्धि से जोड़कर हर घर में पौधरोपण के लिए विद्यार्थियों को प्रेरित किया जाए। सभी बच्चों को अपने घरों में पौधरोपण के लिए शिक्षक ऑनलाईन क्लास के समय प्रेरित करें। संभागायुक्त श्री कियावत ने सभी शिक्षण संस्थानों से जुडे़ सभी प्रायवेट शिक्षण संस्थानों में भी आवश्यक रूप से पौधारोपण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पर्याप्त स्थान होने पर दो या तीन स्तरों में छायादार एवं फलदार पौधों का पौधारोपण किया जाए। सहजन, आम, जामुन, आंवला, पीपल, बरगद जैसे पौधे लगाए जाएं जो चार पांच साल में परिसर के तापमान एवं पर्यावरण संतुलन के साथ साथ स्वच्छ प्राण वायु प्रदान कर शारीरिक प्रतिरक्षा को बढ़ाने में सहायक हो। बैठक में संयुक्त आयुक्त श्री अनिल कुमार द्विवेदी तथा उच्च शिक्षा संस्थानों के प्राचार्य एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


कृषक श्रीमती उर्मिला बाई ने ट्रेक्टर से कराई थी सोयाबीन की बुआई, हाथ से हल खींचकर साग-सब्जी की बुवाई गांव में परंपरागत


आष्टा जनपद के ग्राम पंचायत लसूडिया विजय सिंह के ग्राम नानकपुर निवासी श्रीमतीं उर्मिला बाई ने अपनी सादे 3 एकड़ खेती में सोयाबीन की बुआई तो ट्रेक्टर से कराई है चूंकि साग सब्जी पूरा गांव ही हाथ से हल चलाकर बोता है तो उर्मिला बाई भी वर्षों से ऐसे ही बुआई करती है। जनपद पंचायत आष्टा के सी ई ओ ने तथ्यों के विपरीत मीडिया में आई खबरों पर स्पष्टीकरण दिया है सीईओ द्वारा इस संबंध में जनपद पंचायत आष्टा के पीसीओ श्री विश्राम सिंह मालवीय द्वारा मौके पर जांच करवाई गई है। उन्होंने बताया कि श्रीमतीं उर्मिला बाई और अन्य के शामिल खाते में 7.10 एकड़ कृषि भूमि है। जिसमें से श्रीमतीं उर्मिला बाई के पास 3.5 एकड़ कृषि भूमि है। इस कृषि भूमि में वर्तमान में खरीफ के मौसम में सोयाबीन व साग-सब्जी लगाई गई है। श्रीमती अर्मिला बाई द्वारा सोयाबीन की बुवाई ट्रेक्टर द्वारा भाड़े से कराई गई है तथा साग-सब्जी हाथ से हल चलाकर बोई गई। श्री मालवीय ने बताया कि नानकपुर गांव के किसानों द्वारा साग-सब्जी की बुवाई इसी तरह हाथ से हल खींचकर परम्परागत रूप से ही करने का चलन है। पति श्री सागरमल कुशवाह की मृत्यु के पश्चात श्रीमती उर्मिला बाई को विधवा पेंशन प्राप्त हो रही है। श्रीमती उर्मिला बाई का वर्ष 2011 की सर्वे सूची में नाम नहीं होने से प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं मिल पाया। इनका नाम आवास प्लस सर्वे सूची में जोड़ा गया है। श्रीमती उर्मिला बाई का एक पुत्र तथा दो पुत्रियां हैं और इनका नाम खाद्यान्न पर्ची में भी दर्ज है। 


भोपाल संभाग में अब चिन्हित नगरीय निकायों और पंचायतों को शत-प्रतिशत वैक्सीनेट करने का अभियान, कमिश्नर ने कलेक्टर्स के साथ बनाई रणनीति


sehore news
भोपाल संभाग के जिलों में अब नगरीय निकायों और ग्राम पंचायतों को लक्ष्य बनाकर शत प्रतिशत वैक्सीनेशन अभियान चलाया जाएगा । संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत ने मंगलवार को संभाग के सभी कलेक्टर्स के साथ बैठक कर उपलब्ध वैक्सीन के आधार पर टीकाकरण का कवरेज उन क्षेत्रों में पहले करने का निर्णय लिया है जहां 70 प्रतिशत के आसपास टीकाकरण हो गया है । वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई इस बैठक में कमिश्नर श्री कियावत ने वैक्सीनेशन महाअभियान में भोपाल संभाग को अर्जित हुई उपलब्धि के लिए सभी जिला कलेक्टर और उनकी टीम की सराहना करते हुए बधाई दी। उन्होंने कलेक्टर्स को निर्देश दिए कि वे उपलब्ध वैक्सीन के आधार पर प्लानिंग करें और ग्राम पंचायतों, नगर पंचायत, जनपद पंचायत, और नगर पालिका को चिन्हित करें और वहां पर शत-प्रतिशत वैक्सीन सुनिश्चित करें। श्री कियावत ने बताया कि महाअभियान में हुए कुल वैक्सीन में भोपाल संभाग की हिस्सेदारी 20 प्रतिशत के आसपास है । बैठक में भोपाल कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया ने बताया कि लगभग एक दर्जन ग्राम पंचायत चिन्हित हुई हैं जहां 80 प्रतिशत टीकाकरण हुआ है। ऐसी पंचायतों में इस सप्ताह विशेष शिविर लगाकर पंचायतों को शत-प्रतिशत वैक्सीनेट किए जाने पर फोकस किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिले की एकमात्र नगर पंचायत बैरसिया को भी शत-प्रतिशत वैक्सीनेट करने की कार्य योजना बनाई गई है और यहां लगातार शिविर लगाकर शत-प्रतिशत वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है। सीहोर कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने कहा कि उनके जिले में छोटी नगर पंचायत के अलावा सीहोर-आष्टा और बुधनी पर विशेष ध्यान केन्द्रित करने की कार्य योजना बनाई गई है। उन्होंने बताया कि कम आबादी वाली पंचायतों में शत प्रतिशत वैक्सीन के लिए रणनीति बनाकर काम प्रारंभ किया गया है। विदिशा कलेक्टर ने भी बताया कि समाज के सभी वर्गों में आई चेतना के चलते जिले में आधा दर्जन नगर पंचायतों और जनपदों में प्रयास प्रारंभ किए गए हैं । रायसेन कलेक्टर ने बताया कि गैरतगंज जनपद पंचायत को शत प्रतिशत वैक्सीनेशन वाला क्षेत्र बनाने का अभियान प्रारंभ किया गया है । उन्होंने बताया कि मंडीदीप में इसी रणनीति के चलते सोमवार को 10 हजार से अधिक व्यक्तियों को टीका लगाया गया है । कलेक्टर ने बताया कि उदयपुरा, सिलवानी, सुल्तानपुर और सांची नगर पंचायत में उपलब्ध वैक्सीन का उपयोग कर शत प्रतिशत वैक्सीन वाली पंचायत का जल्दी ही दर्जा मिलेगा। बैठक में रणनीति पर विस्तार से चर्चा भी हुई। राजगढ़ कलेक्टर ने बताया कि राजगढ़ जिला मुख्यालय के अलावा दो को छोड़कर शेष सभी नगर पंचायतों में लगभग 4 से 5 हजार व्यक्ति ही वैक्सीनेट के लिए रह गए हैं और उनका प्रयास है कि अगले दो दिन में जिला मुख्यालय राजगढ़ और उक्त नगरीय निकाय शत प्रतिशत वैक्सीनेट हो जायेंगे । उन्होंने बताया कि नरसिंहगढ़ और सारंगपुर में अपेक्षाकृत वैक्सीनेशन कम हुआ है और अगले दौर में इन दोनों क्षेत्र पर ही फोकस किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उक्त के अलावा इसी सप्ताह 30 ग्राम पंचायतों को भी शत प्रतिशत वैक्सीनेट की परिधि में लाया जाएगा ।


सीहोर को बारिश से पहले अतिक्रमण मुक्त करने के सांसद साध्वी ने जिला प्रशासन को दिए निर्देश


बारिश में अतिक्रमण के कारण जलभराव की वजह से सीहोर के नागरिकों को हर साल परेशानी का सामना करना पड़ता है। मानसून आगमन और मौसम विभाग के अनुमान को देखते हुए भोपाल- सीहोर लोकसभा क्षेत्र की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने सीहोर जिला प्रशासन को बारिश के पहले व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि सीहोर जिले में बारिश के दौरान अमूमन हर साल अधिकांश बस्तियां जलमग्न हो जाती हैं इस स्थिति से निपटने के लिए सांसद साध्वी ने जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर नालों की सफाई और उन पर हुए अतिक्रमण को हटाने के निर्देश दिए हैं। सांसद ने एक अभियान चलाकर पोखरों और नालियों की सफाई के साथ भारी बारिश होने पर निचली बस्तियों और उनके रहवासियों की जान-माल की सुरक्षा प्राथमिकता पर सुनिश्चित करने के भी निर्देश जारी किए हैं।  


23 जून को सीहोर शहर के इन सत्र स्थलों पर ही पंजीयन होंगे


23 जून को सीहोर शहरी क्षेत्र में 18 से 44 आयु वर्ग वालों को कोविड का टीका लगाया जाएगा.  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार महिला पॉलिटेक्नि‍क कॉलेज, अग्रवाल पंचायती भवन,  राठौर धर्मशाला, खेलकूद आवासीय संस्थान, संजीवनी क्लीनिक मंडी, उत्कृष्ट विद्यालय कस्बा, आदर्श गगनदीप स्कूल नेहरु कॉलोनी, ब्लूबर्ड स्कूज सिंधी कॉलोनी में ही टीकाकरण के लिए पंजीयन किए जाएंगे। लक्षित हितग्राही अपना ऑनलाइन पंजीयन करवाकर बुधवार को टीकाकरण करवा सकते है.


जिले में आज एक भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव  नहीं मिला, दो व्यक्ति रिकवर हुए, कुल रिकवर व्यक्ति की संख्या 10004, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजिटिव की संख्या 11


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में एक भी व्यक्ति कोविड पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10128 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 09 हैं। आज 02 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10004 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 115 है । आज 1027 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 232, श्यामपुर से 230, विकासखंड नसरुल्लागंज से 106, आष्टा से 235 एवं बुधनी से 111 तथा इछावर से 113 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 165267 हैं जिनमें से 153095 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 912 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1973 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारंटाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारंटाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकोलॉजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।


निर्माण श्रमिकों के बच्चों के लिए सुपर योजना के आवेदन, 31 जुलाई तक आमंत्रित


निर्माण श्रमिकों के पुत्र-पुत्रियों के लिए संचालित 10 वीं कक्षा एवं 12 वीं कक्षा के लिए सुपर 5000 योजना के तहत आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ़ाकर 31 जुलाई 2021 कर दी गई है। मध्यप्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लागू होने के कारण पात्र छात्र-छात्राओं द्वारा समय-सीमा में आवेदन प्रस्तुत न कर पाने के कारण यह तिथि बढ़ाई गई है।


आओ सीखें कार्यक्रम’ 15 जुलाई से, प्रयास-अभ्यास पुस्तिका 15 जुलाई से पहले होगी वितरित


छोटे बच्चों में भावनात्मक विकास और शैक्षणिक समझ विकसित करने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा ’आओ सीखें कार्यक्रम’ में 15 जुलाई 2021 तक विभिन्न विषयों पर तैयार किए गए ऑडियो वीडियो व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से बच्चों तक पहुंचाए जाएंगे। इस पर आधारित विभिन्न छोटे ऑडियो और वीडियो भेजे जाएँगे। संचालक राज्य शिक्षा केंद्र ने बताया कि इसके साथ ही हमारा घर-हमारा विद्यालय के अंतर्गत बच्चों में विषय की प्रारंभिक समझ को विकसित करने की दृष्टि से प्रयास-अभ्यास पुस्तिका का वितरण भी 15 जुलाई से पहले किया जाएगा। इसके साथ ही 15 जुलाई के पहले अभ्यास पुस्तिका बच्चों को उपलब्ध कराने के संबंध में सभी जिला परियोजना समन्वयकों को निर्देश दिए गए हैं। साथ ही 16 जुलाई से 15 अगस्त तक विद्यार्थियों को मेल पर प्रेषित की जाएगी। अभ्यास पुस्तिका के 48 पेज की सामग्री को जिले स्तर पर कक्षा 1 व 2 और कक्षा 3 से 5 के लिए बहुरंगी तथा कक्षा 6 से 8 के लिए ब्लैक एंड व्हाइट प्रिंट में मुद्रित कराकर बच्चों को उनके घर पर कार्य करने के लिए 15 जुलाई के पूर्व उपलब्ध कराई जाएगी।


वैक्सीनेशन महाअभियान के पहले दिन देश में सर्वाधिक 15 लाख टीके मध्यप्रदेश में लगाए गए

  • प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित करना हमारा संकल्प, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शासकीय अमले सहित समाज के सभी वर्गों तथा जनता का आभार माना, 5 लाख अतिरिक्त डोज़ के लिए प्रधानमंत्री श्री मोदी को दिया धन्यवाद

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि वैक्सीनेशन के माध्यम से प्रदेश के प्रत्येक नागरिक को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित करना हमारा संकल्प है तथा इसे हम शीघ्र पूर्ण कर लेंगे। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पूरे देश में चलाए जा रहे वैक्सीनेशन महाअभियान के अंतर्गत पहले दिन देश में सर्वाधिक 15 लाख टीके लगाए जाने का कार्य मध्यप्रदेश ने कर दिखाया है। यह मध्यप्रदेश के जनभागीदारी मॉडल की जीत है, जिसके द्वारा मध्यप्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर को प्रभावी ढंग से नियंत्रित किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस अद्भुत एवं पुनीत कार्य के लिए प्रदेश के शासकीय अमले सहित जनप्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ता, धर्मगुरु, पत्रकार, कलाकार, साहित्यकार, एडवोकेट, खिलाड़ी तथा सभी वर्ग के व्यक्ति जिन्होंने टीकाकरण अभियान में प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष सहयोग किया है, बधाई के पात्र हैं। मैं सभी का हृदय से आभार व्यक्त करता हूँ तथा आशा करता हूँ कि आगे भी इसी उत्साह के साथ आप सब लोगों का जीवन बचाने के इस पवित्र कार्य में सक्रिय रूप से सहयोग देते रहेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में टीकाकरण महाअभियान के प्रथम दिन 10 लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। मध्यप्रदेश की क्षमताओं को देखते हुए प्रदेश को 5 लाख अतिरिक्त डोज़ केन्द्र सरकार द्वारा भिजवाए गए। इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद देता हूँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज शाम राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों तथा जिला टीकाकरण अधिकारियों के साथ अभियान की समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री श्री प्रभुराम चौधरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान, स्वास्थ्य आयुक्त श्री आकाश त्रिपाठी, जनसंपर्क आयुक्त श्री सुदाम खाड़े आदि उपस्थित थे।


निरंतर चलेगा यह अभियान

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि टीकाकरण अभियान जिन्दगी बचाने का अभियान है। इससे पवित्र कार्य दूसरा नहीं हो सकता। सभी व्यक्तियों का टीकाकरण हो जाने तक यह अभियान पूरी शक्ति और ऊर्जा के साथ चलाया जाएगा। इसके साथ ही बीच-बीच में विशेष अभियान भी चलाए जाएंगे। आगामी 1, 2 एवं 3 जुलाई को टीकाकरण का विशेष अभियान चलाया जाएगा। हम संपूर्ण टीकाकरण के लक्ष्य को शीघ्र हासिल करेंगे।


अब टीकाकरण को लेकर कोई भ्रम नहीं

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिस प्रकार पूरे उत्साह के साथ प्रदेश के हर हिस्से में लोगों ने टीकाकरण करवाया है उससे यह स्पष्ट होता है कि अब टीकाकरण को लेकर जनता के मन में कोई भ्रम नहीं है।


सभी विद्यार्थी स्वयंसेवक बन जाएं

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि संपूर्ण टीकाकरण के लक्ष्य को जल्दी से जल्दी हासिल करने के लिए सभी विद्यार्थी स्वयंसेवक बन जाएं तथा पूरे उत्साह के साथ लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें तथा इस कार्य में उनकी मदद भी करें।


कोरोना के असर को नगण्य कर देंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि टीकाकरण एवं कोविड अनुकूल व्यवहार दो ऐसे अस्त्र है, जिनके माध्यम से हम मध्यप्रदेश में तीसरी लहर के असर को नगण्य कर देंगे। हमारा यह प्रयास रहेगा कि पहले तो कोई संक्रमित हो ही नहींए यदि संक्रमित होता है तो उसे अस्पताल न जाना पड़े, वह घर पर ही स्वस्थ हो जाए और यदि अस्पताल जाना भी पड़े तो शीघ्र ठीक हो जाए। दूसरी तरफ अस्पतालों में पूरी व्यवस्थाएँ की जा रही हैंए जिससे कि तुरंत मरीज स्वस्थ हो सकें।


वेलनेस और स्पिरिचुअल टूरिज्म डेस्टिनेशन बनेगा मध्यप्रदेश. मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर ऑनलाइन वेबिनार आयोजित

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वेलनेस और स्पिरिचुअल टूरिज्म डेस्टिनेशन के लिए मध्यप्रदेश सबसे उपयुक्त प्रदेश है। मध्यप्रदेश की प्राकृतिक और समृद्ध विरासत अनायास ही पर्यटन प्रेमियों को आकर्षित करती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान पर्यटन विभाग द्वारा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर श्वेलनेस और स्पिरिचुअल टूरिज्म डेस्टिनेशनश् विषय पर आयोजित ऑनलाइन वेबिनार को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग का महत्व बताते हुए कहा कि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अगर कोई रामबाण है, तो वह योग है। योग और प्राणायाम अगर निरंतर किया जाता है तो शरीर निरोगी बनता है, बुद्धि प्रखर होती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि योग हमारी वैदिक संस्कृति की हजारों साल पुरानी विधा है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की पहल के कारण अब पूरी दुनिया योग का लाभ उठा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी से आग्रह किया कि संकल्प लें कि आप सभी प्रतिदिन योग और प्राणायाम करेंगे। प्रतिदिन योग और प्राणायाम करके शरीर को स्वस्थए निरोग और प्रसन्न बनाएँ। पर्यटन, संस्कृति और अध्यात्म मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने कहा कि यह उपयुक्त समय है जब प्रदेश स्पिरिचुअल टूरिज्म की दिशा में कार्य करे और भौतिकता से दग्ध मानवता को सुख, शांति और श्रेष्ठ स्वास्थ की ओर ले जाए। इस दिशा में पर्यटन विभाग द्वारा पचमढ़ी में एक वेलनेस सेंटर स्थापित किया गया है। इस वेलनेस सेंटर पर प्राकृतिक चिकित्साए योग और अन्य उपचार की विधाएं पर्यटकों को उपलब्ध कराई जाएंगी। प्रदेश के सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर योग के माध्यम से स्वस्थ रहने की प्रेरणा का कार्यक्रम किया जाएगा। वेलनेस और स्पिरिचुअल टूरिज्म के क्षेत्र में निरंतर नवाचार किए जायेंगे। प्रमुख सचिव पर्यटन और संस्कृति श्री शिव शेखर शुक्ला ने ऑनलाइन वेबीनार में प्रदेश में शुरू की गई वैलनेस पर्यटन नीति के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने मध्यप्रदेश में वेलनेस स्पिरिचुअल टूरिस्ट डेस्टिनेशन विकसित करने में मदद करने के लिए बड़ी वेलनेस ब्रांड कंपनियों के साथ.साथ स्थानीय निवेशकों को भी आमंत्रित किया। श्री शुक्ला ने कहा कि वर्तमान कोरोना महामारी के दौर में विश्व स्तर पर वैलनेस और स्पिरिचुअल टूरिज्म की मांग में भारी उछाल आया है। अब पर्यटक लग्जरी टूरिज्म की जगह प्रकृति के समीप टूरिज्म डेस्टिनेशन की तलाश कर रहे है। मध्यप्रदेश प्राकृतिक डेस्टिनेशन से समृद्ध प्रदेश है। इसका लाभ उठाते हुए मध्यप्रदेश एक सार्वभौमिक मान्यता प्राप्त वैलनेस डेस्टिनेशन बनने के लिए तैयार है। हम एक रिस्पॉन्सिबल टूरिज्म की नीति पर कार्य करेंगे जिसमें हम प्रदेश में पर्यटकों की संख्या बढ़ाने के साथ.साथ कार्बन फूट प्रिंट कम करके सस्टेनेबल नेचर की दिशा में आगे बढ़ेंगे। ऑनलाइन वेबिनार में लद्दाख से एसईसीएमओएल के एडवाइजर और एचआईएएल के फाउंडर श्री सोनम वांगचुक ने कहा कि लद्दाख में पर्यटकों की संख्या बढ़ने के साथ.साथ प्राकृतिक संसाधनों पर भार बढ़ा है। इसलिए हमें अपने टूरिज्म सेक्टर को विकसित करने के साथ.साथ उसे सहेजने की ओर ध्यान देना चाहिए। मध्यप्रदेशए भूटान और लद्दाख तीनों ही वेलनेस और स्पिरिचुअल टूरिज्म के लिए उपयुक्त स्थान हैं। भूटान टूरिज्म काउंसिल के डायरेक्टर जनरल श्री दोरजी द्रधुल ने भूटान की पर्यटन नीति के बारे में बताते हुए मध्यप्रदेश में आध्यात्मिक पर्यटन स्थलों को विकसित करने पर अपने विचार रखे। श्री दोरजी द्रधुल ने कहा कि मध्यप्रदेश प्राकृतिक रूप से समृद्ध प्रदेश है। यहां नैसर्गिक सौंदर्य के बीच स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए वेलनेस सेंटर स्थापित किया जाना उचित होगा। उन्होंने मध्यप्रदेश में वेलनेस और स्पिरिचुअल टूरिज्म डेस्टिनेशन विकसित करने के लिए भूटान से हरसंभव मदद का आश्वासन भी दिया। ऑनलाइन वेबिनार का संचालन टूरिज्म स्पेशलिस्ट और ऑथर सुश्री विनीता राशिनकर ने किया। वेबिनार में देश और प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से पर्यटन प्रेमी वर्चुअली उपस्थित थे।  


कोविड टीकाकरण महाअभियान में प्रदेश में सीहोर जिला चौथे स्थान पर आने के लिए कलेक्टर ने दी बधाई


sehore news
जिले में अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन करने के लिए 21 जून से प्रारंभ किए गए वैक्सीनेशन महाअभियान के पहले दिन 30 हजार लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, जिसके विरूद्ध 47 हजार 971 लोगों ने वैक्सीनेशन सेंटर पहुंचकर वैक्सीन लगवाई। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिले में वैक्सीनेशन महाअभियान में प्रथम दिवस निर्धारित लक्ष्य से 62 प्रतिशत अधिक उपलब्धि प्राप्त करने पर शासकीय अमले सहित जनप्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ता, धर्मगुरू, पत्रकार, विभिन्न संगठनों सहित सभी वर्ग के व्यक्ति जिन्होंने टीकाकरण अभियान में प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष रूप से भागीदारी की, उन्हें बधाई और धन्यवाद दिया है।  कलेक्टर श्री ठाकुर ने नागरिकों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि जागरूकता का परिचय देते हुए बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन सेंटर पहुंचकर नागरिकों ने वैक्सीन लगवाई, जिससे निर्धारित लक्ष्य से अधिक उपलब्धि हासिल हुई। उन्होंने कहा कि हमें यहां रूकना नहीं हैं। जिले के सभी पात्र नागरिकों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित कराने का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ना है। उन्हें आशा है कि आगे भी सभी उत्साह के साथ वैक्सीनेशन महाअभियान को सफल बनाने में सहभागिता करेंगे। कलेक्टर श्री ठाकुर ने जिले के ऐसे नागरिक जिन्होंने अब तक वैक्सीन नहीं लगवाई है, उनसे वैक्सीनेशन सेंटर जाकर कोविड वैक्सीन लगवाने की अपील करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के विरूद्ध वैक्सीन सबसे कारगार हथियार है। उन्होंने कहा कि जिन्होंने कोविड टीका लगवा लिया है, वह दूसरे नागरिकों को भी वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करें।


कोरोना वालंटियर्स टीकाकारण अभियान के लिए घर-घर जाकर पीले चावल देकर कर रहे आमंत्रित


sehore news
म.प्र. जन अभियान परिषद के कोरोना वालंटियर्स द्वारा जिले में घर-घर जाकर पीले चावल देकर लोगों को वैक्सिनेशन सेंटर पर आने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। टीकाकरण महाअभियान के लिए व्यक्तियों को किया जा रहा है। अभियान के दौरान लोगों को जागरुक किया जा रहा है कि इस अभियान का उद्देश्य शत प्रतिशत वैक्सिनेशन युक्त बनाना है। लोगों में जो गलत अफवाहे है, उसे दूर कर अधिक से अधिक वैक्सीनेशन करवाने का लक्ष्य है। क्योंकि कोरोना संक्रमण से बचाव का वैक्सीन ही एकमात्र उपाय है।


महिला ठेकेदारों को नहीं देना होगा अब पंजीयन शुल्क लोक निर्माण विभाग द्वारा निर्देश जारी


राज्य सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने और महिलाओं के लिए रोजगार अवसर को  आसान बनाने के उद्देश्य लोक निर्माण विभाग द्वारा पहली बार ठेकेदारी के लिए पंजीकृत होने वाली मध्यप्रदेश की मूल निवासी महिला ठेकेदारों को पंजीयन शुल्क की छूट प्रदान करने का निर्णय लिया गया है। लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा कि राज्य शासन के इस निर्णय से सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री और डिप्लोमा करने वाली युवा महिलाओं तथा अन्य महिलाओं  को शासकीय कांट्रेक्टर के रूप में कार्य करने में आसानी होगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा आत्म.निर्भर मध्य प्रदेश के क्रम में रोजगार संसाधनों के सृजन  का जो लक्ष्य  रखा गया है  उसी कड़ी में एक कदम है। प्रमुख सचिव लोक निर्माण श्री नीरज मंडलोई ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा लोक निर्माण विभाग ठेकेदारों के पंजीयन की वर्तमान प्रचलित केंद्रीकृत व्यवस्था 2016 में संशोधन करए  सोल-प्रोपराइटर  महिला ठेकेदारों को पंजीयन शुल्क से मुक्त किया गया है। लेकिन सोल-प्रोपराइटर  महिला ठेकेदार फर्म को अन्य व्यक्तियों को सम्मिलित करते हुएए  पार्टनरशिप फर्म अथवा कंपनी के रूप में पंजीकृत होने पर पूर्व के अनुसार पंजीयन शुल्क  देना होगा।  


माध्यमिक शिक्षक पद पर भर्ती से संबंधित अभ्यर्थियों को दस्तावेज सत्यापन का अंतिम अवसर


आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत ने बताया कि माध्यमिक शिक्षक पद पर भर्ती के लिए प्रावधिक चयन या प्रतीक्षा सूची के शेष 594 अभ्यर्थियों ने अपने दस्तावेज सत्यापन अभी तक नहीं कराया है। इन अभ्यर्थियों को दस्तावेज सत्यापन कराने के लिए 23 जून 2021 को अंतिम अवसर दिया जा रहा है। एमपी ऑनलाईन ने अभ्यर्थियों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल पर एसण्एमण्एसण् से सूचना और एमपी ऑनलाईन पोर्टल पर अभ्यर्थियों की सूची प्रदर्शित की गई हैं। यदि माध्यमिक शिक्षक पद के अभ्यर्थी 23 जून 2021 को अपने दस्तावेज सत्यापन नहीं कराते है तो उनकी अभ्यर्थिता निरस्त करने की कार्यवाही की जायेगी। उल्लेखनीय है कि इस सूचीं के अभ्यर्थियों का दस्तावेज सत्यापन निर्धारित सत्यापन केन्द्रों पर 15 जून 2021 को पूर्ण हो चुका है। शेष बचे अभ्यर्थियों को यह अंतिम अवसर दिया जा रहा है।


आवश्यक रखरखाव- रातीबड़, खुरचनी आदि एक दर्जन गावों में 23 जून को विद्युत प्रदाय बंद रहेगा


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के भोपाल क्षेत्र के समीप स्थित 220 केव्ही मुगालिया छाप सबस्टेशन एवं 132 केव्ही बिलकिसगंज सबस्टेशन में नवीन बसबार निर्माण कार्य के कारण 23 जून को 33 केव्ही रातीबड़ फीडर से मुगालिया छाप एवं बिलकिसगंज, 33 केव्ही,  टीलाखेड़ी फीडर, 33 केव्ही प्रेमपुरा फीडर एवं 33 केव्ही, खजूरी फीडर में प्रातः 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक विद्युत प्रवाह बंद रहेगा। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने ग्राम रातीबड़, खुरचनी, बड़झिरी, आमला, मूंडला, नरेला, कल्याणपुरा एवं आसपास के उपभोक्ताओं से अत्यावश्यक विद्युतीय निर्माण कार्य हेतु विद्युत प्रदाय बंद किये जाने के कारण होने वाली असुविधा के लिए खेद व्यक्त करते हुए सहयोग की अपील की है।

कोई टिप्पणी नहीं: