मधुबनी : अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को चालू कराने को लेकर MSU का दौरा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 18 जून 2021

मधुबनी : अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को चालू कराने को लेकर MSU का दौरा

msu-visit-rahka-phc
मधुबनी : आज रहिका प्रखंड के गंधवारी गाँव में बंद पड़े अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को चालू कराने को लेकर मिथिला स्टूडेंट यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अविनाश भारद्वाज जी के नेतृत्व में स्थानीय ग्रामीणों के प्रतिनिधिमंडल ने गंधवारी के बंद पड़े स्वास्थ केंद्र का दौरा किया । अविनाश भारद्वाज जी ने बताया कि लाखों की लागत से बना अस्पताल आज भी अपने उद्धारक का वाट जोह रही है। सालों पहले APSC का भवन बना और आज खंडर हो गया लेकिन लोगों को इस अस्पताल में चिकित्सा सुविधा मय्यसर नहीं हो पाया है। APSC का भवन जर्जर हो गया है खिड़की सब टूट चुका है, डॉक्टर, दवाई ,नर्स,एएनएम  तक की प्रतिनियुक्ति नहीं है । यूनियन से बिहार प्रभारी शिवेंद्र वत्स ने कहा कि ग्रामीण स्वाथ्य व्यवस्था के बद्तर हालात का जीता जागता उदाहरण है गंधवारी का यह अस्पताल । गॉव में सरकारी स्वास्थ्य सेवा नहीं मिलने के कारण लोग निजी नर्सिंग होम, प्राइवेट डॉक्टर के पास इलाज कराने को मजबूर है जहाँ निजी नर्सिंग होम और डॉक्टरों के द्वारा गरीब एवं आमलोगों का आर्थिक शोषण किया जाता है। आज भी ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के कमाई का 60% हिस्सा स्वास्थ्य संबंधी समस्या पर खर्च हो जाता है। सही मायने में यहाँ के राजनेता और प्रशासन चाहती ही नहीं है कि ग्रामीण स्तर पर स्वाथ्य सेवा बेहतर हो अगर बेहतर हो जाएगा तो लोग निजी अस्पतालों एवं डॉक्टरों के पास जाना बंद कर देंगे और नेता और पदाधिकारी को कमीशन नहीं मिलेगा बहुत बड़ी साजिश है जिसके चलते ग्रामीण स्वास्थ्य व्यवस्था का यह दयनीय हालात बनाकर रखी गयी है। यूनियन के सेनानी सुदर्शन झा ने कहा कि अस्पताल चालू कराने को लेकर यूनियन गांव में हस्ताक्षर अभियान चलाएगी और फिर भी अस्पताल नहीं खुलता है तो गांव के लोग मिथिला स्टूडेंट यूनियन के नेतृत्व में व्यापक जनांदोलन करेंगे । 

कोई टिप्पणी नहीं: