सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 26 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 27 जून 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 26 जून

संयुक्त किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर, राष्ठ्रपति के नाम अधीक्षक की खाली कुर्सी को सौपा ज्ञापन


sehore news
सीहेार। संयुक्त किसान मोर्चा के देशव्यापी आहवान पर शनिवार को अखिल भारतीय किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने तीनों कृषि कानूनों और किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर जिलाध्यक्ष भानू प्रताप मेवाड़ा के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पहुंचकर नारेबाजी कर वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों की अनुपस्थिति में कलेक्ट्रेट अधीक्षक की खाली कुर्सी को ज्ञापन देकर विरोध दर्ज कराया। जिलाध्यक्ष मेवाड़ा ने कहा की संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले देश के 550 किसान संगठनों द्वारा 212 दिन से भारतीय कृषि एवं कृषकों को कम्पनी राज के हवाले करने वाले तीन नए कृषि कानून के खिलाफ देशव्यापी आन्दोलन चलाया जा रहा हैं । सरकारी आंकड़ों के अनुसार आज देश के हर 10 में से 7 किसान परिवार की आमदनी उसके खर्चों से कम है । देश की आधी से ज्यादा आबादी  कृषि पर निर्भर है । देश की कुल कमाई में इनका हिस्सा मात्र 16 प्रतिशत है । देश को खिलाने वाले किसान - मजदूर खुद भूखे हैं , कर्ज में डूबे हैं। बढती महंगाई से लगातार बढ़ रहे खर्च और  दूसरी ओर घटती आमदनी के बीच दबे देश के किसान मजदूर,आम नागरिक जब अपने हकों और अपने अधिकारों के लिए आवाज उठाते हैं तो उन्हें घोर दमन का सामना पड़ रहा है । इसलिए देशभर के किसान मजदूर खेती बचाओ , लोकतंत्र बचाओ के नारे के साथ ,आपातकाल लागू किए जाने की 46 वीं वर्षगाँठ मनाते हुए अपनी जायज एवं बुनियादी मांगो के साथ आंदोलनरत है।   संयुक्त किसान मोर्चा मध्य प्रदेश में तीनों कृषि विरोधी कानूनों के क्रियान्वयन पर रोक लगाने,न्यूनतम समर्थन मूल्य , फसल की कुल लागत का डेढ़ गुना दाम पर निर्धारित किया जाने, समर्थन मूल्य पर सभी फसलों की खरीद की कानूनी गारंटी दी जाने । किसान आयोग ( स्वामीनाथन आयोग ) की सिफारिश कको मानकर पूरा करने सहित सभी जिलों में हर 10-20 किलोमीटर में , तथा न्यूनतम हर ब्लॉक व तहसील में एक कृषि मंडी स्थापित की जाए , एवं मंडी व्यवस्था को दुरुस्त कर समय पर फसल खरीदी का भुगतान सीजन अंत होने से पहले अतिशीघ्र किया जाना सुनिश्चित किया जाए 7 4. सभी 24 फसलों की सरकारी खरीद सुनिश्चित की जाए एवं राशन व्यवस्था में गेहूं , चावल के अलावा अन्य खाद्यान्न भी वितरित किए जाए । कोरोना काल में सभी पात्रता रख रहे परिवारों में प्रत्येक व्यक्ति को प्रति माह 14 किलों अनाज सुनिश्चित किए जाए , जिसमे दलहन , तिलहन एवं मक्का , ज्वार जैसे अन्य पौष्टिक अनाज भी वितरित किए जाए । सोयाबीन बीज की कृत्रिम कमी एवं खुलेआम कालाबाजारी एवं मुनाफाखोरी पर तत्काल रोक लगाई जाए । सहित अन्य मांगे कर रहा है। ज्ञापने देने वालों में अखिल भारतीय किसान सभा के कार्यकर्ता किसान आत्माराम महेशबरी,नरेश मेवाड़ा ,जितेंद्र राजपूत, सचिन राजपूत, नरेश मेवाड़ा, रामेश्वर मेवाड़ा ,रवि मेवाड़ा,भारत मेवाड़ा, विजय गौर, रोहित मेवाड़ा,प्रदीप मेवाड़ा, रोहित माली आदि शामिल रहे।

आधे घंटे तक कृषि हितैशी गाना गाया तब तहसीलदार आए राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के कार्यकर्ताओं से ज्ञापन लेने

  • कभी आतंकवादी , कभी खलिस्तानी , परजीवी और कभी कोरोना स्प्रेडर कहा  , बिजली कानून के मसौदे की तलवार भी हामरे सिर पर लटका दी~किसान महासंघ 

sehore news
सीहेार। शनिवार को राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के कार्यकर्ताओं को तहसील कार्यालय में महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देने के लिए नारे लगाने के बाद आधे घंटे तक कृषि हितैशी गीत भी गाना पड़ा। दफ्तर के मौजूद बाबूओं ने छुटटी होने का हवाला दिया। जिस के बाद किसानों ने गाना शुरू कर दिया। किसानों के अनौखे प्रदर्शन की भनक लगते हीं मौके पर ग्रामीण क्षेत्र के तहसीलदार अमित सिंह पहुंचे और किसानों से ज्ञापन लिया। लेकिन राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को काफी देर तक अधिकारी के आने का इंतजार करना पड़ा। राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ ने राष्ट्रपति के नाम दिए ज्ञापन में रोष व्यच्त कर कहा की खेती बचाने और इमरजेंसी दिवस पर लोकतंत्र बचाने की दोहरी चुनौती को सामने रखते हुये पिछले 74 वर्ष में हमने अपनी इस जिम्मेदारी को निभाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है जब देश आजाद हुआ तब हम 33 करोड़ देशवासियों का पेट भरते थे आज उतनी ही जमीन के सहारे हम 140 करोड़ जनता को अन्न उपलब्ध करवा रहे है कोरोना महामारी के दौरान जब देश की बाकी अर्थव्यवस्था ठप्प हो गई तब भी हमने अपनी जान की परवाह किये बिना रिकार्ड उत्पादन किया । खाद्वान्न के भण्डार खाली नहीं होने दिये । लेकिन इसके बदले आपकी मोहर से चलने वाली भारत सरकार ने हमें ऐसे तीन काले कानून दिए जो हमारी नस्लों और फसलों को बर्बाद कर देंगें। बिजली कानून के मसौदे की तलवार भी हामरे सिर पर लटका दी है खेती के तीनों कानूनी असंवैधानिक है क्योंकि केन्द्र सरकार को कृषि मण्डी के बारे में कानून बनाने का अधिकार नहीं है यह कानून अलोकतांत्रिक भी है इन्हें बनाने से पहले किसानों से कोई राय मसवरा नही किया गया इन कानूनों की बिना किसी जरूरत के अध्यादेश के माध्यम से चोर दरवाजे से लागू किया गया है इन्हें संसदीय समितियों के पास भेजकर जरूरी चर्चा नही हुई और न ही इन्हें पास करते वक्त राज्य सभा में वोटिंग तक नही करवाई गई। हम सरकार से दान नही मांगते बस अपनी मेहनत का सही दाम मांगते है फसल के दाम मे किसान की लूट के कारण खेती घांटे का सौदा बन गई है किसान कर्जे मे डूब गये और पिछले 30 वर्ष में 40 लाख से अधिक किसानों को आत्महत्या करने के लिये मजबूर होना पड़ा है। राजधानी में अपनी आवाज सुनाने के लिये आ रहे अन्नदाता का स्वागत करने के लिये सरकार ने हमारे रास्ते में पत्थर लगायें है , सड़कें खोदी , किले बिछाई , ऑसुगैस छोड़ी , वाटर केनन चलाये , झूठे मुकदमे बनाने और हमारे साथियों को जेल में बन्द रखा किसान के मन की बात सुनने की बजाय उन्हें कुर्सी के मन की बात सुनाई बातचीत की रस्म अदायगी की फर्जी किसान संगठनों के जरिये आनदोलन को तोडऩे की कोशिश की , आन्दोलनकारी किसानों को कभी लालच , कभी आतंकवादी , कभी खलिस्तानी , की परजीवी और कभी कोरोना स्प्रेडर कहा मिडिया को डरा धमका और लालच देकर किसान आन्दोलन को बदनाम करने का अभियान चलाया गया किसानों की आवाज उठाने वाले सोशल मिडिया एक्टिविस्ट के खिलाफ बदले की कार्यवाही की गई हमारे 500 से ज्यादा किसान साथी इस आन्दोलन में शहिद हो गए है। प्रदर्शन के दौरान जिला उपाध्यक्ष ब्लाक अध्यक्ष ब्लाक कार्यसमिति जसमतसिंह मेवाड़ा , देवकरण मेवाड़ा, संभागीय सहमंत्री ब्लाक उपाध्यक्ष प्रहलाद भगत, अर्जुनसिंह मुकाती , हिम्मतसिंह मेवाड़ा, जिला मंत्री ब्लाक कार्यकारणी बलराम सिंह मुकाती, अर्जुनसिह मुकाती, विष्णु जमोदिया, राधेश्याम वर्मा, रामचरण मीणा, लाड़सिंह परमार, नर्वदा प्रसाद वर्मा,राजेन्द्र गौर, कमलेश गौर,पवन परमार, आत्माराम चन्द्रवंशी,बाबूलाल पटेल सुखराम विश्वकर्मा आदि किसान कार्यकर्तागण शामिल रहे। 


दिल्ली जाकर पिं्रयका गांधी को ज्ञापन देंगे, राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच के कार्यकर्ता

  • कमरतोड़ महंगाई,बिजली के बिलों और बेरोजगारी को लेकर

सीहेार। राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच के प्रदेश अध्यक्ष नौशाद खान एवं कांग्रेस प्रदेश सचिव कुतुबुद्दीन शेख के नेतृत्व में कार्यकर्ता  कमरतोड़ महंगाई,बिजली के बिलों और बेरोजगारी को लेकर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को रविवार को दिल्ली पहुंचकर ज्ञापन देंगे। प्रदेशाध्यक्ष श्री खान ने बताया की पूर्व गवर्नर अजीत कुरैशी, पूर्व मंत्री दिलीप राजपाल,कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव राहुल नीहोरे की सहमति से शनिवार को कार्यकर्ता दिल्ली के लिए रवाना हो गए है। रविवार को दिल्ली पहुंचकर महामहिम राष्ट्रपति के नाम कांग्रेस सुप्रीमो को ज्ञापन देकर सरकार से कमरतोड़ महंगाई को कम कराने बिजली के बिलों से गरीबों को राहत दिलाने और बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने की मांग की जाएगी।


हत्या के आरोपियों के खिलाफ  कड़ी कार्यंवाही करने की मांग, कलेक्टर के नाम अजा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिया ज्ञापन


sehore news
सीहोर। जिला कांग्रेस कमेटी अनुसुचित जाति विभाग कार्यकर्ताओं के द्वारा शनिवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाध्यक्ष सीताराम भारती के नेतृत्व में कलेक्टर डॉ चंद्रमोहन ठाकुर के नाम ज्ञापन दिया है। ज्ञापन में नसरुल्लागंज के ग्राम छिदगांव मोजी में हुई हत्या के आरोपियों को शीघ्र गिरफतार करने और मृतक परिवार को शासकीय नोकरी प्रदान कर आश्रित को 10 लाख रुपये आर्थिक सहायता प्रदान करने की मांग की गई है। भारती ने कहा की अनुसूचित जाति के हरिओम कटारे उर्फ कालू पिता रमेश कटारे 25 जून की शाम मोटर साइकिल से दूध लेने गया था इसी दौरान सड़क पर सामने से कोई जानवर आ गया जिस पर हरिओम ने हार्न बजाया तो आरोपी गोलू पंडित, डब्बू पंडित, जीवनदास, जुगलदास पंडित तथा उसकी पत्नी ने रास्ता रोकर हरिओम के साथ मारपीट कर उस की हत्या कर दी। मांग पूरी नहीं की जाती है तो आक्रोशित समाजजनों और कांग्रेस पार्टी के द्वारा जिले में धरना प्रदर्शन कर आन्दोलन किया जावेगा।  ज्ञापन देने वालों में नरेंद्र खंगराले,मांगीलाल टीमरई,नौशाद खान, कुतुबुद्दीन शेख, राहुल धावर,े नीरज खंडेलवाल, रेवाराम जाटव, घनश्याम जाटव, जसवंत सिंह, भागीरथ कटारे, नर्मदा प्रसाद बकोरिया, मना वर्मा, महेंद्र मंगरोलिया गुरूबक्स पेठारी, गुलाब सिंह पेठारी, तुलसीराम, बलराम बा करिया, शोभाराम हरियाले आदि शामिल है।


आज ही कोविड का टीका लगवाएं, अच्छे नागरिक होने की जिम्मेदारी निभाएं


sehore news
सीहोर निवासी 84 वर्षीय श्रीमती इमरत बाई ने कहा कोविड का टीका सुरक्षा चक्र है। मैंने कोविड का टीका लगवा लिया है। आप भी आज ही टीकाकरण केन्द्र पहुंच कर टीका लगवाएं और कोरोना महामारी से खुद और परिवार को सुरक्षित बनराएं। उन्होंने कहा कि इस महामारी को समाप्त करने के लिए सरकार अपने स्तर पर हर संभव प्रयास कर रही है। हम सभी को टीका लगवाकर कोविड की लड़ाई में सरकार को सहयोग करके जिम्मेदार नागरिक होने का परिचय देना चाहिए। श्रीमती इमरत बाई ने कहा कि कोविड के टीके को लेकर न कोई भ्रांति है और न कोई भ्रम है। प्रदेश के लाखों लोगों ने कोविड का टीका लगवाया है। किसी को कोई परेशानी नहीं हुई। उन्होंने लोगों से अपील की है कि सभी कोविड का टीका लगवाकर स्वयं के साथ ही देश-प्रदेश को कोरोना महामारी से बचाएं। उन्होंने कहा कि जीवन रहेगा तो दुनिया-जहांन के काम चलते रहेंगे। इसलिए कोरोना महामारी से अपने जीवन को सुरक्षित बनाने की चिंता करें। श्रीमती इमरत बाई ने सभी से अपील करते हुए कहा कि जब मैं 84 की उम्र में टीका लगवा सकती हूं तो, आपको आज ही लगवाना चाहिए। 


जिले में अब तक 220 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 0.6 मिलीमीटर औसत वर्षा


जिले में 01 जून से 26 जून 2021 तक 220 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में हुई औसत वर्षा से 20.8 मिलीमीटर कम है। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 26 जून 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 264.6  मिलीमीटर, श्यामपुर में 203,  आष्टा में 188,  जावर में 185,  इछावर में 225,  नसरुल्लागंज में 242,  बुधनी में 289,  रेहटी में 163.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में 0.6 मिलीमीटर औसत वर्षा

जिले में बीते 24 घंटे में प्रातः 08 बजे तक 0.6 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। इस दौरान वर्षामापी केन्द्र श्यामपुर में 01, इछावर में 04 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


ग्राम पंचायतों में कोरोना वॉलिंटियर्स घर-घर पीले चावल देकर टीका लगवाने के लिए कर रहे लोगों को आमंत्रित


sehore news
म.प्र. जन अभियान परिषद् विकासखंड सीहोर के कोरोना वॉलिंटियर्स ग्राम पंचायतों एवं वार्डों में ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर लोगों को पीले चावल देकर टीका लगवाने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं। टीकाकरण महाअभियान के लिए लोगों को जागरुक किया जा रहा है। महाअभियान का उद्देश्य शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन युक्त ग्राम पंचायत बनाना है। महाअभियान के दौरान लोगों में जो वैक्सीन को लेकर गलत अफवाहें है, उसे दूर कर टीकाकरण करवाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। लोगों को समझाया जा रहा है कि कोरोना संक्रमण से बचने का वैक्सीन ही एकमात्र बचाव है। जागरुकता अभियान में मप्र जन अभियान परिषद के ब्लाक समन्वयक श्री प्रदीप सिंह सेंगर सहित अनेक कोरोना वालिंटियर शामिल हैं


महिलाओं एवं बच्चों के विरूद्ध अपराध करने वालों को मिले कड़ी सजा, 6 माह में 5205 अपहृत बालिकाओं को वापस घर पहुँचाया गया


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में महिलाओं एवं बच्चों के विरूद्ध अपराध करने वालों को कड़ी सजा मिले, इसके लिए ऐसे प्रकरणों में न्यायालयों में शासन का पक्ष मजबूती से रखा जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में गत 6 महीनों में अपहृत 5205 बालिकाओं को उनके घर वापस पहुँचाया गया है, जो कि कुल अपहृत 8566 बालिकाओं का 60.8% है। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रत्येक बालिका को ढूंढ़कर सही सलामत उसके घर पहुँचाया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में प्रदेश में महिला एवं बच्चों के विरूद्ध अपराध तथा घरेलू हिंसा के प्रकरणों में की गई कार्रवाई की समीक्षा कर रहे थे।


18 प्रकरणों में मृत्यु दंड की सजा यथावत  - बताया गया कि प्रदेश में महिलाओं के विरुद्ध अपराधों के 18 प्रकरणों में न्यायालय द्वारा दी गई मृत्यु दंड की सजा को उच्च न्यायालय द्वारा यथावत रखा गया है। अब प्रकरण सर्वोच्च न्यायालय में हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि सर्वोच्च न्यायालय में प्रकरणों में शासन का पक्ष मजबूती से रखा जाए।


महिला पुलिस वॉलेंटियर योजना  - केन्द्र सरकार द्वारा महिला पुलिस वॉलेंटियर योजना के संचालन के लिए प्रदेश के 2 जिलें मुरैना एवं विदिशा का चयन किया गया है। योजना के अंतर्गत प्रत्येक गाँव, वार्ड में एक महिला पुलिस वॉलेंटियर बनाई जाएगी, जो महिलाओं के विरूद्ध अपराध के संबंध में कार्रवाई में सहायता करेगी। उन्हें एक हजार रूपए प्रतिमाह मानदेय दिया जाएगा।


महिला अपराध शाखा का नाम अब महिला सुरक्षा शाखा - पुलिस की महिला अपराध शाखा का नाम बदलकर महिला सुरक्षा शाखा किए जाने का निर्णय बैठक में लिया गया।


700 थानों में महिला डेस्क - प्रदेश के 700 थानों में महिलाओं की सहायता के लिए ऊर्जा महिला हेल्प डेस्क संचालित की जा रही हैं। इनके माध्यम से महिला अपराधों के प्रकरणों में महिलाओं को राहत एवं सहायता पहुँचाई जा रही है। घरेलू उत्पीड़न के प्रकरणों में आवश्यक काउंसलिंग भी की जा रही है।


रोजगार के लिए प्रतिमाह अभियान चलाएँ - मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अपराधों का एक कारण बेरोजगारी भी है। प्रदेश में प्रतिमाह हर जिले में रोजगार अभियान चलाया जाए, जिसके माध्यम से अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार दिलवाया जाए। पुलिस के रिक्त पदों पर शीघ्र भर्ती - मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि पुलिस विभाग में रिक्त पदों पर शीघ्र भर्ती की जाए। पुलिस महानिदेशक श्री जौहरी ने बताया कि प्रदेश में पुलिस जवानों के 18 हजार पद रिक्त हैं, जिनकी भर्ती की प्रक्रिया शीघ्र प्रारंभ की जाएगी।    


रजिस्ट्री की गाइडलाईन 30 जून तक यथावत रहेगी


देश में संपत्ति की खरीदी- बिक्री के लिए प्रति वर्ष एक अप्रैल से नई गाइडलाईन जारी की जाती है। परंतु कोरोना संक्रमण को देखते हुए वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए राज्य शासन द्वारा गाइडलाईन में 30 जून तक कोई परिवर्तन न करते हुए इसे पूर्ववत रखा गया है। आम नागरिकों की सुविधा को देखते हुए संपत्ति की पंजीयन दर में कोई वृद्धि नहीं की गई है। गाइडलाईन अनुसार महिलाओं के नाम से पंजीयन शुल्क में 2 प्रतिशत की छूट भी पूर्ववत जारी रहेगी। सामान्य पंजीयन की दर 3 प्रतिशत है जबकि महिला आवेदकों के लिए यह दर 1 प्रतिशत रखी गई है। उप पंजीयक कार्यालय चरणबद्ध तरीके से खोले जायें।   


रेज्ड वेड प्लांटर से दलहन-तिलहन फसलों की बोनी की सलाह


कृषि विभाग द्वारा किसानों को सलाह दी गई है कि किसानों को रेज्ड वेड प्लांटर से दलहन-तिलहन फसलों की बोनी की सलाह दी है। इससे अरहर, सोयाबीन, मूंग, उड़द तथा चना, मसूर जैसी फसलों की बोनी की जा सकती है। इसमें खाद एवं बीज के लिये अलग-अलग बॉक्स रखकर ट्रैक्टर की सहायता से खेत में क्यारी बनाई जाती है। रेज्डवेड प्लांटर मशीन द्वारा 20 से 22 इंच चौड़ी क्यारियां बनती हैं। इनकी ऊंचाई 6 इंच होती है। प्रत्येक क्यारी के दोनों ओर नालियां होती हैं। इससे एक बार में दो क्यारियां तथा तीन नालियां बनती हैं। इसके माध्यम से निश्चित गहराई पर रिजफेरो विधि से फसलों की बोनी होती है। रेज्ड वेड प्लांटर से फसल की बोनी क्यारियों में होती है। जिसके कारण मिट्टी भुरभुरी रहती है। इससे अंकुरण अच्छा होता है। फसल में कतारों तथा पौधों की दूरी निर्धारित रहती है जिससे खरपतवार निकालने में यांत्रिक विधि अपनाना आसान होता है। इस मशीन से बोनी करने पर बीज, खाद, कीटनाशक तथा सिंचाई में पर्याप्त कमी आती है जिससे किसान को बचत होती है। इस विधि से बोनी करने पर कम वर्षा तथा अधिक वर्षा का दुष्प्रभाव फसलों पर नहीं होता है।


शिक्षक पुरस्कार - अब आवेदन की अंतिम तिथि 30 जून तक


भारत सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय द्वारा 5 सितंबर को दिये जाने वाले राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार-2021 के आवदेनों की तिथि बढ़ाई गई है। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि शिक्षक पुरस्कार के लिए शिक्षकों को सीधे मानव संसाधन विभाग की वेबसाईट www.mhrd.gov.in पर आवेदन करना होगा। इसके अलावा आवेदन नामांकन स्वीकार ने की अंतिम तिथि 20 जून निर्धारित थी लेकिन अब इसको बढ़ाते हुए 30 जून कर दी गई है।


जन औषधि केन्द्र के लायसेंस के लिए आवेदन की प्रक्रिया


प्रधानमंत्री जन औषधि परियोजना के अंतर्गत आम लोगों को बाजार से 60 से 70 फीसदी कम कीमत पर दवाइयां मुहैया कराने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र खोले जाने हैं। यहां उपलब्ध जेनेरिक दवाइयां ब्रांडेड या फार्मा की दवाइयों के मुकाबले सस्ती होती हैं, जबकि प्रभावशाली उनके बराबर ही होती हैं। प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र के लिये रिटेल ड्रग सेल्स का लाइसेंस जन औषधि केन्द्र के नाम से लेना होता है। इसे खोलने के लिये आपके पास 120 वर्ग फुट की दुकान होनी चाहिये। यह जगह आपकी स्वयं की हो या आप इसे किराये पर भी ले सकते हैं। इस योजना के तहत विकलांग, दिव्यांग तथा अनुसूचित जाति-जनजाति के आवेदकों को जन औषधि केन्द्र खोलने के लिये सरकार 50,000 रुपये की दवाइयां अग्रिम रूप से प्रदान करेगी। प्रधानमंत्री जन औषधि केन्द्र शुरू करने के लिये कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है इसके लिये भारत का नागरिक होने के साथ-साथ किसी अस्पताल, एनजीओ, ट्रस्ट का संचालनकर्ता, डॉक्टर, फार्मासिस्ट होना अनिवार्य है। पेन कार्ड एवं अन्य जरूरी दस्तावेज आपके पास होने आवश्यक हैं। जन औषधि केन्द्र के लायसेंस के लिये आवेदन https://janaushadhi.gov.in वेबसाइट पर कर सकते हैं।  


उच्च माध्यमिक शिक्षक एवं माध्यमिक शिक्षक की सीधी भर्ती के अभ्यर्थियों को दस्तावेज सत्यापन का अंतिम मौका  


उच्च माध्यमिक शिक्षक एवं माध्यमिक शिक्षक की सीधी भर्ती के प्रावधिक चयन या प्रतीक्षा-सूची के जिन अभ्यर्थियों ने एक भी दस्तावेज अपलोड नहीं किये हैं, उन्हें 29, 30 जून और एक जुलाई तक वैध दस्तावेज अपलोड करने के लिए अंतिम अवसर दिया जा रहा है। आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत ने बताया कि जिन अभ्यर्थियों द्वारा इन तिथियों में एमपी ऑनलाईन पोर्टल पर दस्तावेज अपलोड किये जायेंगे, उनका दस्तावेज सत्यापन चयनित जिले के सत्यापन केन्द्र पर 5 जुलाई को किया जायेगा। संबंधित अभ्यर्थी मूल दस्तावेज के साथ उपस्थित होकर सत्यापन अधिकारी से दस्तावेज सत्यापन अनिवार्य रूप से करा लें अन्यथा अभ्यर्थिता स्वतः निरस्त मानी जायेगी। 


जिला न्यायालय में आयोजित रक्तदान शिविर आयोजित, सीहोर और नसरुल्लागंज में आयोजित शिविर में 39 लोगों ने किया रक्तदान


sehore news
जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष श्री राजवर्धन गुप्ता के के निर्देशानुसार जिला न्यायालय परिसर में कोविड मापदण्ड और प्रोटोकॉल का पालन करते हुए रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर का शुभारंभ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर अध्यक्ष न्यायमूर्ति श्री प्रकाश श्रीवास्तव ने ऑनलाईन किया। अपर जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मुकेश कुमार दांगी ने सर्वप्रथम रक्तदान कर रक्तदान शिविर की शुरूआत की। श्री दांगी ने कहा कि रक्त दान, महा दान है। हमारे रक्त दान से किसी की जान बचाई जा सकती है। उन्होंने  बताया कि कि रक्तदान शिविर के लिए आमजन में भी उत्साह देखा गया। लगभग 160 व्यक्ति रक्तदान करने के लिए शिविर में शामिल हुए। जिनमें से 28 व्यक्तियों द्वारा ही रक्तदान किया जा सका। शेष व्यक्तियों को वैक्सीन लगाये जाने की निर्धारित समयावधि पूर्ण नहीं होने के कारण चिकित्सकों द्वारा उनका स्वास्थ्य परीक्षण उपरांत उन्हें रक्तदान करने की अनुमति नहीं दी गई। उन्होंने बताया कि तहसील विधिक सेवा समिति नसरूल्लागंज में भी रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 11 व्यक्तियों द्वारा रक्तदान किया गया। इस प्रकार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर में 39 व्यक्तियों द्वारा रक्तदान किया गया। शिविर मे द्वितीय अपर जिला न्यायाधीश श्री अशोक भारद्वाज एवं प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट कु. के. शिवानी ने भी रक्तदान किया। रक्तदान शिविर में न्यायाधीशों, न्यायिक कर्मचारियों, श्री सत्यसांई विश्वविद्यालय की फेकल्टी व छात्र-छात्राओं, चंद्रशेखर आजाद महाविद्यालय के एनसीसी कैडेट की छात्र-छात्राएं, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अधिकारी, कर्मचारीगण, अधिवक्तागण, सामाजिक कार्यकर्ता एवं पैरालीगल वालेन्टियर्स ने भी रक्तदान किया। उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के कारण प्रदेश के ब्लड बैंकों में ब्लड की कमी है। ब्लड बैंकों में रक्त की कमी मौजूदा संकट से निपटने के लिए रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर का उद्देश्य कोरोना वायरस के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए ब्लड बैंकों में रक्त की कमी के होने से जरूरतमंद मरीजों को समय पर रक्त उपलब्ध कराना है।


जिले में आज एक भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव  नहीं मिला

  • दो व्यक्ति रिकवर हुए, कुल रिकवर व्यक्ति की संख्या 10012, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजिटिव की संख्या 02

पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में एक भी व्यक्ति कोविड पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10129 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 02 हैं। आज 02 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10012 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 115 है । आज 870 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 230, श्यामपुर से 221, विकासखंड नसरुल्लागंज से 73, आष्टा से 167, बुधनी से 100 तथा इछावर से 79 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 169116 हैं जिनमें से 157800 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 1089 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1116 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारंटाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारंटाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकोलॉजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।


किसान मूंग की फसल को साफ-सुथरा कर विक्रय केन्द्र पर लाएं  


केन्द्र शासन की मूल्य स्थरीयकरण कोष योजना अन्तर्गत रबी विपणन वर्ष 2021-22 में समर्थन मूल्य पर उपार्जित किया जा रहा है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास के उप संचालक श्री जाट ने ग्रीष्मकालीन मूंग के पंजीकृत किसानों को जानकारी दी कि समर्थन मूल्य पर एफएक्यू मूंग (अच्छी किस्म) का उपार्जन कार्य किया जा रहा है। किसान विक्रय से पहले अपनी मूंग की फसल में छन्ना लगाकर साफ-सुथरा कर ही विक्रय केन्द्र पर लायें, साथ ही वर्षा के मौसम को देखते हुये मूंग फसल को तिरपाल से ढककर लाएं, जिससे फसल गीली न हो और किसानों किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।   


अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस पर बताए नशे से होने वाले दुष्परिणाम


sehore news
चंद्रशेखर आजाद स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय में वेब कास्ट के माध्यम से महाविद्यालय के छात्र, छात्राओं ने सर्वप्रथम नशीले पदार्थो के दुरूपयोग पर एक वेबीनार का आयोजन किया। इसके पश्चात् एनसीसी केडेट्स ने पोस्टर, स्लोगन, निबंध के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस का आयोजन किया। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ आशा गुप्ता ने समस्त प्राध्यापक, कर्मचारीगण एवं विद्यार्थियों को संकल्प एवं शपथ के माध्यम से मादक पदार्थो, नशीली दवाओं एवं अन्य नशा सेवन की प्र्रवृत्ति की रोकथाम एवं नशा सेवन से होने वाले दुष्परिणामों से छात्र, छात्राओं को जागरूक कर जाकर नशा मुक्ति के लिये प्रेरित किया।  उन्होने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 1987 से हर वर्ष 26 जून को अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस मनाने का निर्णय लिया। यह दिवस एक तरफ लोगों में चेतना फैलाता है, वहीं दूसरी ओर नशे में लत लोगों के उपचार की दिशा में भी महत्वपूर्ण कार्य करता है।  इस अवसर पर महाविद्यालय की एनसीसी यूनिट के 16 कैडेट्स ने जिला न्यायालय परिसर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर के द्वारा आयोजित रक्त दान षिविर में रक्तदान किया।


स्वप्रेरणा से कोविड का टीका लगवा रहे लोग


sehore news
टीकाकरण महाअभियान के अन्तर्गत चौथे दिन भोपाल नाका स्थित टीकाकरण केंद्र पर टीका लगवाने के लिए आने वाले लोगों के पंजीयन कार्य में एनएसएस द्वारा सहयोग किया गया। महाअभियान में युवाओं ने जहां एक ओर बढ़- चढ़कर भागीदारी सुनिश्चत की, वहीं दूसरी ओर वृद्धजनों में भी उत्साह दिखाई दिया। मुरली निवासी 84 वर्षीय वृद्ध महिला इमरत बाई और 82 वर्षीय सावित्री बाई ने उत्साह से टीकाकरण कराया। टीकाकरण एवं पजीयन में एनएसएस के उमेश पंसारी तथा उनकी टीम ने सहयोग किया गया।  

कोई टिप्पणी नहीं: