सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 23 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 24 जून 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 23 जून

नहीं किया जा रहा है वाल्मीकि सामुदायिक भवन का निर्मांण, अखिल भारतीय बाल्मीकी महासभा ने विधायक को दिया ज्ञापन, तत्काल टेंडर लगाए जाकर भवन निर्माण कराये जाने की गई मांग


sehore news
सीहोर। रेल्वे स्टेशन रोड स्थित वाल्मीकि कॉलोनी में प्रस्तावति सामूदायिक भवन का निर्माण नगर पालिका के द्वारा नहीं किया जा रहा है। अखिल भारतीय बाल्मीकी महासभा जिलाध्यक्ष रितेश चंदेल के नेतृत्व में समाािजक कार्यकर्ताओं ने विधायक सुदेश राय को ज्ञापन दिया है। तत्काल टेंडर लगाए जाकर भवन निर्माण कराये जाने की गई मांग कार्यकर्ताओं के द्वारा की गई है। अभा वाल्मीकि महासभा जिलाध्यक्ष श्री चंदेल ने बताया की समाज के सामूदायिक भवन निर्माण के लिए संभागीय कार्यालय भोपाल उपसंचालक नगरीय प्रशासन एवं आवास से टीएस प्राप्त हो चुकी है। लेकिन कई बार आवेदन देने के पश्चात भी नगर पालिका द्वारा सामूदायिक भवन निर्माण कार्य के लिए  टेंडर जारी नहीं किए जा रहे है। वाल्मीकि समाज के पास शहर में सामाजिक आयोजनों के लिए भवन नही है। गरीब अनुसूचित जाति वाल्मीकि समाज को महंगे गार्डन व अन्य निजी भवन किराये से लेने पड़ते हैं। जिस से काफी दिक्कतों का सामना समाजिक बंधुओं को करना पड़ता है। मांग करने वालों में चंदशेखर डागर, संतोष कटारे, अमित खरे, अमन चौहान आदि कार्यकर्तागण शामिल है। 


टीकाकरण महाअभियान के दूसरे दिन भी दिखा लोगों में उत्साह, जिले में 30 हजार 664 लोगों ने लगवाया कोविड का टीका


टीकाकरण महाअभियान के दूसरे दिन भी लोगों में टीका लगवाने को लेकर उत्साह बना रहा। सुबह 8 बजे से ही ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों के केन्द्रों पर टीका लगवाने लोग आने लगे। टीका लगवाने के लिए लोगों को जागरूक करने जिला प्रशासन द्वारा लगातार अभियान चला रहा है। नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जन जागरूकता अभियान में जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों तथा प्रबुद्ध नागरिकों का सक्रिय सहयोग मिलने से टीकाकरण के लिए लोग घरों से निकलकर टीकाकरण केन्द्र पहुंच रहे हैं। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने बताया कि आज 30664 लोगों का टीकाकरण किया xxxगया है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के दूसरे दिन भी लोगों ने उत्साह पूर्वक टीका लगाया। श्री ठाकुर ने जिला प्रशासन की पूरी टीम के साथ ही इस महाअभियान में सक्रिय भागीदारी करने वाले सभी जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों और प्रबुद्ध नागरिकों को बधाई दी।


विकासखंडवार टीकाकरण की स्थिति 

बुधवार को जिले के 169 सत्रों में कुल 30664 व्यक्तियों को कोरोना का प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया। शहरी सीहोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित जिला चिकित्सालय क़े 13 सत्र में कुल 2941, आष्टा के 38 सत्र में 8831, बुधनी के 29 सत्र में 5109, इछावर के 27 सत्र में 4253, नसरुल्लागंज के 31 सत्र में 3257 एवं श्यामपुर के 31 सत्र में 6273 व्यक्तियों को कोविड का टीका लगाया गया।


जिले में अब तक 152.5 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 13.8 मिलीमीटर औसत वर्षा


जिले में 01 जून से 23 जून 2021 तक 152.5 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है जो कि गत वर्ष इसी अवधि में हुई औसत वर्षा से 81.2 मिलीमीटर कम है। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 23 जून 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 222.6 मिलीमीटर, श्यामपुर में 129, आष्टा में 72, जावर में 45, इछावर में 170, नसरुल्लागंज में 221, बुधनी में 235, रेहटी में 125 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में 13.8 मिलीमीटर औसत वर्षा

जिले में बीते में प्रातः 08 बजे तक 3.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। इस दौरान वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 65.2, श्यामपुर में 05, आष्टा में 01, जावर में 01, इछावर में 05, नसरुल्लागंज में 26, रेहटी में 07 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


कोरोना वालिंटियर्स ने टीकाकारण महाअभियान में वैक्सीन लगवाने वाले व्यक्तियों का वैक्सिनेशन सेंटर पर किया स्वागत


sehore news

म.प्र. जन अभियान परिषद के कोरोना वालिंटियर्स द्वारा वैक्सीन सेंटर पर टीकाकरण महाअभियान के दौरान वैक्सीन लगवाने के लिए आने वाले व्यक्तियों का स्वागत किया। म.प्र. जन अभियान परिषद की ब्लॉक समन्वयक प्रदीप सिंह सेंगर ने कहा कि इस अभियान का उद्देश्य शत प्रतिशत वैक्सिनेशन युक्त मध्यप्रदेश बनाना है। जिसमें लोग उत्साह के साथ वैक्सीन लगवाने आ रहे हैं।


आई-रेड एप का प्रशिक्षण तीन सत्रों में हुआ आयोजित-एडीजी श्री सागर

  • एक हजार प्रतिभागियों ने लिया हिस्सा

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (पीटीआरआई) श्री डी.सी. सागर ने बताया कि आईआरएडी एप के क्रियान्वयन को प्रभावी बनाने के लिये 3 सत्रों में प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इनमें एक हजार से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। प्रतिभागियों को ई-सर्टिफिकेट वितरित किये गये। उन्होंने बताया कि आई-रेड एप में सभी 52 जिलों द्वारा सड़क दुर्घटनाओं संबंधी प्रविष्टियाँ की जा रही हैं। अब तक लगभग 20 हजार से अधिक प्रविष्टियाँ की जा चुकी हैं। श्री सागर ने बताया कि प्रदेश के सभी 52 जिलों में आई-रेड एप के क्रियान्वयन संबंधी वर्चुअल समीक्षा 3 सत्रों क्रमश: 10 जून, 17 जून और 21 जून, 2021 को की गई। आई-रेड एप में रियल टाइम डाटाबेस संबंधी प्रविष्टि का कार्य एक अप्रैल, 2021 से सभी जिलों में प्रारंभ कर दिया गया है। श्री सागर ने प्रविष्टियों के कार्य में जिलों द्वारा दिखाई गई रुचि और मुस्तैदी की सराहना की है। उन्होंने कहा है कि डाटाबेस संबंधी कार्य में उत्तरोत्तर प्रगति होने से भविष्य में दुर्घटनाओं को रोकने में मदद मिलेगी। 


किसान भाई बुवाई पूर्व बीजोपचार करें एवं पर्याप्त वर्षा होने पर करें बुवाई


खरीफ वर्ष 2021 में जिले में खरीफ फसलों की बुवाई के लिए कृषि विभाग द्वारा किसानों को सलाह दी गई है कि विगत  2-3 दिन से थोडी-थोडी मात्रा में वर्षा जिले के अलग-अलग क्षेत्र में हो रही है। बुवाई के लिए वर्षा लगभग 3 से 4 इंच होने एवं जमीन में पर्याप्त नमी होने पर ही फसलों की बुवाई कर सकते है। बुवाई पूर्व बीज से उत्पन्न होने वाली बीमारियों एवं मृदा जनित रोगो से बचाव हेतु किसान भाई बीजो को फफूंदनाशक दवा जैसे थायरम + कार्बेन्डाजिम (2:1) 3 ग्राम प्रति किलो, इसके बाद पीला मोजेक रोग हेतु कीटनाशक थायोमिथाक्सम 30एफ.एस. 10 मिली. प्रति किलोग्राम बीज या एमिडाक्लोरोपिड 48 एफएस 1.2 मिली किलोग्राम बीज तथा अंत में कल्चर जैसे राईजोबियम एवं पीएसबी 5 से 7 ग्राम प्रति किलोग्राम बीज से उपचारित कर बुवाई कर, ताकि भविष्य में फसल पर फफूंद जनित रोग से रोकथाम की जा सकती है। कृषि विभाग द्वारा किसासों को सलाह दी गई है कि जिले में खरीफ सीजन में सोयाबीन फसल की प्रमुखता से बुवाई होती है तथा इसके बाद अधिकतर क्षैत्र में खरीफ प्याज एवं अन्य फसलों की बुवाई की जाती है। इन फसलों की लगातार दोनों सीजन में बुवाई से मिट्टी में उपलब्ध सल्फर एवं जिंक की मात्रा प्रायः कम देखी गई है। किसानों से अपील की गई है कि सोयाबीन की फसल बुवाई के पूर्व सल्फर युक्त उर्वरक जैसे सिंगल सुपर फास्फेट, जिप्सम, दानेदार सल्फर आदि का उपयोग कर सकते है तथा सोयाबीन की बुवाई हेतु रेजबेड प्लांटर अथवा गराड़ पद्धति से बुवाई करें, इस विधि की वुबाई में मोटी मेड़ एवं नाली का निर्माण होता है जिससे अधिक वर्षा होने की स्थिति में नाली से पानी का निकास हो जाता है एवं कम वर्षा होने की स्थिति में मोटी मेड़ से नमी संरक्षित रहने से फसल पर ताव नहीं लगता है। दोनों स्थिति में फसल पर विपरीत प्रभाव नहीं पडता है एवं सामान्य उत्पादन से 18 से 20 प्रतिशत की वृद्धि होती है तथा कीट एवं रोग का प्रकोप भी कम होता है। किसान भाई आगामी समय में सोयाबीन की बुवाई गराड पद्धति अथवा रेजबेड पद्धति एवं रिजफेरो पद्धति से बुवाई करें।


शौर्य स्मारक और डॉ शंकर दयाल शर्मा संग्रहालय दर्शकों के लिए खुले


प्रमुख सचिव संस्कृति और आयुक्त, स्वराज संस्थान संचालनालय श्री शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि स्वराज संस्थान संचालनालय द्वारा संचालित शौर्य स्मारक, भोपाल और डॉ. शंकर दयाल शर्मा संग्रहालय एवं वाचनालय को दर्शकों के लिए खोला गया है। रविवार को साप्ताहिक अवकाश रहेगा। श्री शुक्ला ने बताया कि प्रदेश में संक्रमण की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुये इन स्थानों पर केन्द्र शासन, राज्य शासन और जिला आपदा प्रबंधन समिति की अनुशंसाओं पर जिला प्रशासन द्वारा समय-समय पर जारी दिशा निर्देशों का कड़ाई से पालन कराया जायेगा।   


अंतर्राष्‍ट्रीय नशा निवारण दिवस 26 जून को


संचालक सामाजिक न्‍याय एवं नि:शक्‍तजन कल्‍याण संचालनालय के निर्देशानुसार नशीले पदार्थ के दुरूपयोग और अवैध व्‍यापार के विरूद्ध अंतर्राष्‍ट्रीय नशा दिवस का आयोजन 26 जून 2021 को किया जायेगा। इसका उद्देश्य मादक पदार्थों, द्रव्यों, नशीली दवाओं और नशा सेवन की समाज में बढ़ रही प्रवृत्ति पर रोकथाम करना है। नशा सेवन से होने वाले दुष्परिणामों से समाज के विभिन्न वर्गों को जागरूक करते हुए नशामुक्ति के लिये प्रेरित करना है। वैश्विक महामारी कोविड-19 के मद्देनज़र नशा निवारण दिवस पर किसी प्रकार के कार्यक्रम और समारोह करना उचित नहीं है। इसलिए नशीले पदार्थ के दुरूपयोग और अवैध व्यापार के विरूद्ध मनाये जाने वाले अन्तर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस पर दृश्य-श्रव्य माध्यमों द्वारा मादक पदार्थों, द्रव्यों और नशीली दवाओं के दुष्परिणामों से युवाओं और समाज में जागरूकता के लिये जिला स्तर पर कार्यवाही की जायेगी।


जुलाई में होगा अन्न उत्सव, हर गरीब को दी जाएगी मुफ्त राशन सामग्री


सहकारिता और लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया एवं खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह ने मंत्रालय में अधिकारियों को निर्देश दिये कि कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए जुलाई माह में पात्र परिवारों को अन्न उत्सव में आमंत्रित कर मुफ्त राशन देने की तैयारी सुनिश्चित की जाए। उल्लेखनीय है कि वर्तमान महामारी के चलते लाखों परिवारों को स्व-सत्यापित प्रमाण-पत्र के आधार पर मुफ्त राशन दिया जा रहा है। प्रत्येक पात्र परिवार को खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिये 25 श्रेणियों में मुफ्त राशन वितरित किया जाता है। कोरोना महामारी में 5 माह का नि:शुल्क राशन दिया जा रहा है। जुलाई माह में अन्न उत्सव आयोजित किया जाकर पात्र परिवारों को राशन किट वितरित की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के मार्गदर्शन में बड़ा अन्न महोत्सव आयोजित कर प्रदेश के लगभग 5 करोड़ हितग्राहियों को मुफ्त राशन किट वितरित किये जाएंगे। उत्सव के दौरान प्रदेश की लगभग 25 हजार राशन दुकानों से पात्र हितग्राहियों को राशन वितरण किया जाएगा। बैठक में प्रमुख सचिव खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग श्री फैज अहमद किदवई सहित खाद्य एवं सहकारिता विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।   

पात्र व्यक्तियों को जन-कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलवाना सर्वोच्च प्राथमिकता - मुख्यमंत्री


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से गत दिवस निवास पर मंत्रि-परिषद के सदस्यों ने वन-टू-वन चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में विकास गतिविधियों को समय-सीमा में पूर्ण करने और प्रत्येक पात्र व्यक्ति को जन-कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलवाने के उद्देश्य से आवश्यक कार्य-योजना और रणनीति बनायी जाएं।


अटल एक्सप्रेस-वे और नर्मदा प्रोग्रेस-वे के निर्माण को सर्वोच्च प्राथमिकता - मंत्री श्री गोपाल भार्गव

लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने क्षेत्र के विकास और विभागीय गतिविधियों के संबंध में मुख्यमंत्री श्री चौहान से चर्चा की। मंत्री श्री भार्गव ने कहा कि अटल एक्सप्रेस-वे और नर्मदा प्रोग्रेस-वे जैसी महत्वाकांक्षी और प्रदेश के विकास के लिए महत्वपूर्ण परियोजनाओं को विभाग सर्वोच्च प्राथमिकता पर पूर्ण करेगा।


अब थैले में मिलेगा राशन - मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह ने मुख्यमंत्री श्री चौहान से चर्चा की। उन्होंने बताया हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता यह है कि प्रदेश का कोई भी गरीब भूखा नहीं रहे। प्रदेश में 4 करोड़ 80 लाख हितग्राहियों को राज्य शासन द्वारा राशन वितरित किया जाता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि जुलाई माह तक सभी पात्र हितग्राहियों को राशन उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाए। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि तीन माह का राशन राज्य शासन की ओर से और दो माह का राशन केन्द्र सरकार की ओर से उपलब्ध करवाया जा रहा है। अब हितग्राहियों को राशन थैले में उपलब्ध कराया जाएगा।


पर्यावरण संरक्षण के लिए संचालित होंगी गतिविधियां - मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग

नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा, पर्यावरण मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को कोरोना संक्रमण नियंत्रण के लिए चलाई गई गतिविधियों पर धन्यवाद दिया। मंत्री श्री डंग ने आगर, शाजापुर, नीमच में 1500 मेगावॉट की परियोजना की तैयारी, ओंकारेश्वर में सोलर प्लांट और छतरपुर, मुरैना में स्थापित हो रहे प्लांट के संबंध में मुख्यमंत्री श्री चौहान को प्रगति से अवगत कराया। भविष्य में निर्मित होने वाले सोलर पार्क पर भी मुख्यमंत्री श्री चौहान से मार्गदर्शन लिया। मंत्री श्री डंग ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल ने ऑक्सीजन का महत्व लोगों को समझा दिया है। इस संदर्भ में पर्यावरण संरक्षण के लिए की जा सकने वाली गतिविधियों पर भी मुख्यमंत्री श्री चौहान से चर्चा हुई।


मुख्यमंत्री श्री चौहान से पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री श्री पटेल की वन-टू-वन चर्चा

पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण (स्वतंत्र प्रभार) मंत्री श्री रामखेलावन पटेल ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक तथा विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्ध-घुमक्कड़ वर्गों के कल्याण को लेकर वन-टू-वन चर्चा की। मंत्री श्री पटेल ने विशेष रूप से उक्त वर्गों के उत्थान से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ विस्तृत चर्चा की। श्री पटेल ने खासतौर पर विंध्य क्षेत्र के विकास से जुड़े विभिन्न बिन्दुओं को लेकर मुख्यमंत्री के साथ विस्तृत चर्चा की। श्री पटेल ने घुमक्कड़ एवं अर्द्ध-घुमक्कड़ जातियों के विकास के लिये ठोस कदम उठाये जाने की जरूरत बताई। श्री पटेल ने मुख्यमंत्री श्री चौहान के समक्ष पिछड़े वर्गों के उत्थान से जुड़े विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंत्री श्री पटेल से चर्चा के दौरान कहा कि विमुक्त, घुमक्कड़ और अर्द्ध-घुमक्कड़ समाज के कठिन परिस्थितियों में रह रहे परिवारों को जन-कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने के लिए विशेष प्रयास किये जाएं।



कोई टिप्पणी नहीं: