बिहार : चिराग गोलवलकर व अंबेडकर में से एक को चुनें : तेजस्वी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 24 जून 2021

बिहार : चिराग गोलवलकर व अंबेडकर में से एक को चुनें : तेजस्वी

tejaswi-offer-chirag
पटना : 2 महीने के अंतराल के बाद दिल्ली से बिहार लौटे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए चिराग पासवान को बड़ा ऑफर दिया है। तेजस्वी ने इशारों-इशारों में चिराग पासवान को महागठबंधन में शामिल होने का न्यौता दिया है। एयरपोर्ट से बाहर निकलते हुए तेजस्वी ने मीडियाकर्मियों से चिराग के राजद के साथ गठबंधन को लेकर कहा कि यह चिराग भाई को तय करना है कि वे आगे क्या करेंगे, उन्हे बंच ऑफ थॉटस के पुरजे की साथ रहना है या बाबा साहेब अंबेडकर के बनाए संविधान के साथ चलना है। तेजस्वी ने कहा कि बंच ऑफ थॉटस के रचयिता एम एस गोलवलकर के विचारों के साथ रहना है या अम्बेडकर के साथ। इसके साथ ही तेजस्वी ने यह भी कहा कि नीतीश कुमार ने लोजपा को 2005 और 10 में भी तोड़ने का प्रयास किया। वहीं, चिराग द्वारा बार-बार यह कहा जा रहा है कि भगवा दल ने उनका साथ नहीं दिया। चिराग के इस राजनीतिक बयान को अपने पक्ष में लेते हुए तेजस्वी ने कहा कि जब 2010 में लोजपा का एक भी एमएलए-एमपी नहीं था, तब लालू जी ने रामविलास पासवान को राज्‍यसभा सांसद बनाया था। इसके साथ ही नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए तेजस्वी ने कहा कि जोड़-तोड़ की राजनीति करने वाले नीतीश कुमार बिहार के विकास पर इतना ध्यान देते तो आज स्थितियां बेहतर होती, बिहार कोरोना और बाढ़ से बेहाल व त्रस्त नहीं होता। वहीं, लालू को लेकर तेजस्वी ने कहा कि वे जल्द बिहार आ सकते हैं। तेजस्वी ने कहा कि वे नेता के साथ बेटा भी हैं। मुश्किल समय मे पिता जी के साथ रहना उनका कर्तव्य है। वैसे भी महामारी के वक्त में उनका पिता के साथ रहना जरूरी था।

कोई टिप्पणी नहीं: