दुमका : कांवड़ियों के आगमन पर सरकार रख सकती है रोक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 17 जुलाई 2021

दुमका : कांवड़ियों के आगमन पर सरकार रख सकती है रोक

kanwar-in-jharkhand-may-ban
पटना : सावन माह में बाबा बैद्यनाथ की नगरी देवघर में लगने वाला श्रावणी मेला पर एक बार फिर से धर्मसंकट की स्थिति बनी हुई है। चर्चाओं का बाजार इसको लेकर तेज हो गया है कि इस बार भी यहां कोरोना के कारण मेला का आयोजन नहीं किया जाएगा। मालूम हो कि देवघर में बाबा धाम में लगने वाले सावन के मेले पर अभी तक धर्मसंकट की स्थिति बनी हुई है। कोरोना कि वजह से इस साल भी सावन के महीने में लगने वाला मेला नहीं लगेगा, जिसको लेकर भारी संख्या में पुलिकर्मियों की तैनाती करने की योजना भी की गई है। गौरतलब है कि सावन का महीना शुरू होने में अब लगभग एक सप्ताह का समय बाकी रह गया है। वहीं जानकारी के अनुसार बिहार से आने वाले कांवड़ियों को झारखंड के प्रवेश द्वार पर ही रोक दिया जाएगा। हालांकि सरकार की तरफ से अभी तक कोई भी आधिकारिक बयान नहीं आने के कारण संशय की स्थिति बनी हुई है।जानकारी हो कि सुप्रीम कोर्ट ने भी सरकार से कांवड़ यात्रा को लेकर स्थिति साफ करने के निर्देश जारी किए थे। बता दें कि पिछले साल भी बिहार के सुल्तानगंज से आने वाले कांवड़ियों के जत्थे को झारखंड प्रवेश नहीं करने दिया गया था। प्रवेश द्वार पर ही रोकने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई थी और इस साल भी बिहार से आने वाले वाहनों पर नजर रखी जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: