बिहार : पिता ने युवती को बेटी मानने से किया इंकार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 3 जुलाई 2021

बिहार : पिता ने युवती को बेटी मानने से किया इंकार

  • घर से नहीं जाने पर की जमकर पिटाई

father-refuse-to-identify-daughter-in-bihar
नवादा : जिले के रूपौ थाना क्षेत्र के पाण्डेय गंगौट निवासी अरविन्द सिंह की बेटी अन्नू श्री प्रसाद ने अपने मुंह बोले पिता चंद्रभूषण सिंह पर मारपीट का आरोप लगाया है। इस संबंध में नवादा एसपी से न्याय की गुहार लगाई है। युवती रूपौ के एक प्राइवेट स्कूल में शिक्षिका के पद पर कार्य करती है। युवती ने बताया की पिता चंद्रभूषण सिंह ने मुझे घर से बाहर जाने को कह दिया। जब घर से बाहर नहीं हुई तो उन्होंने जबरन मुझे कमरे में पिटाई किया है। जब भागने लगी तो मेरे भाई युवराज प्रसाद ने लोहे के रड से सर पर प्रहार कर दिया जिससे मेरा सर फट गया। इसके बाद चाची मनोरमा देवी और भाभी प्रियंका देवी भी मारपीट करने लगी। तब किसी तरह वहां से भागकर अपने पड़ोस के चाची के यहां छुप गई। इसके बाद रोह पुलिस ईलाज कराने मुझे अस्पताल ले गई। इस संबंध में महिला थाना प्रभारी ने बताया कि युवती की ओर से आवेदन मिला है। आवेदन में बताया गया है की अपने ही पिता बेटी को रखना नहीं चाहते हैं। वह कहते हैं कि तुम मेरी बेटी नहीं हो और मारपीट किया करते हैं। मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है। युवती ने बताया कि 2015 में बड़ी बहन की शादी हो गई है। जब 2016 में दादा जी का निधन हो गया तो ये लोग हामारे परिवार के साथ हमेशा मारपीट करने लगे। हमारे साथ भी हमेशा मारपीट करते रहते हैं। ताकि ये लोग घर छोड़ कर चला जाय और सारी संपत्ति हमारी हो जाए। इतना ही नहीं हमारे परिवार को जायजाद बांट कर दिये हैं। वह पूरी संपति के आधे से भी कम है। लड़की ने एसपी को आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है।

कोई टिप्पणी नहीं: