जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक राजधानी दिल्ली में कल - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 30 जुलाई 2021

जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक राजधानी दिल्ली में कल

पटना : जनता दल यूनाइटेड की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शनिवार को राजधानी दिल्ली में संध्या 4 बजे आयोजित की जाएगी। इस बैठक में पार्टी के नेता और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत केंद्रीय मंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह समेत कार्यकारिणी के 75 सदस्य शामिल होंगे। वहीं इस बीच इस बैठक को लेकर जदयू नेता उपेंद्र कुशवाहा ने बड़ा बयान दिया है। जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को लेकर उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि इस बैठक का मुख्य उद्देश्य संगठन द्वारा आगामी राज्यों में चुनाव को लेकर रणनीति और सदस्यता अभियान को है। लेकिन यदि नेता जुड़ेंगे तो किसी भी मसले पर चर्चा हो सकती है। 


मालूम हो कि जदयू के वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह के केंद्र में मंत्री बनने के बाद इस बात की चर्चा तेज हो गई है कि जदयू बहुत जल्द अपने संगठन में बदलाव करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद आरसीपी सिंह से वापस ले सकता है। वहीं, नए राष्ट्रीय अध्यक्ष को लेकर उपेंद्र कुशवाहा और मुंगेर सांसद ललन सिंह के नामों की चर्चा तेज है। वहीं, राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक से पहले जदयू संसदीय दल नेता उपेंद्र कुशवाहा ने जब पूछा गया कि क्या जदयू अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष में बदलाव कर सकती है, तो उन्होंने कहा कि फिलहाल अधिकारिक तौर पर यह जानकारी नहीं है। लेकिन अगर नेता चाहे तो कुछ भी हो सकता है। बहरहाल, देखना यह है कि जदयू द्वारा शनिवार के संध्या में बुलाई गई बैठक में क्या निर्णय होता है क्योंकि ऐसा माना जा रहा है कि जदयू के अंदरखाने में आरसीपी सिंह के मंत्री बनने के बाद भी राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर बने रहने से नीतीश कुमार के बेहद करीबी नेता उनसे नाराज हैं, जिसके कारण नीतीश कुमार खुद भी बेहद परेशान हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: