बिहार : नीतीश ने कहा आरसीपी के मंत्री बनने में मेरी सहमति - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 12 जुलाई 2021

बिहार : नीतीश ने कहा आरसीपी के मंत्री बनने में मेरी सहमति

पटना : केंद्रीय मंत्रिमंडल विस्तार के जदयू को मात्र एक सीट मिला जिसपर जदयू के तरफ से राष्टीय अध्य्क्ष आरसीपी सिंह को केंद्र मंत्री बनाया गया। वहीं आरसीपी सिंह को केंद्र में इस्पात मंत्रालय दिया गया है। इस बीच आरसीपी सिंह के केंद्र में मंत्री बनने के बाद इस बात की चर्चा तेज हो गयी थी की उनसे पार्टी के दिग्गज नेता और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नाराज हैं। जिसके बाद अब इस मामले में नीतीश कुमार ने अपनी सफाई पेश की है। दरअसल, पांच साल बाद आयोजित हुई जनता दरबार कार्यक्रम के बाद नीतीश कुमार मीडिया से बातचीत कर रहे थे। इसी दौरान जब उनसे यह सवाल किया गया कि केंद्र में आरसीपी सिंह के मंत्री बनने के बाद भी आपने उनको बधाई नहीं दी है क्या आपके और उनके बीच कहीं कुछ चल रहा है क्या? जिसके बाद सबसे पहले नीतीश कुमार ने कहा कि इन सब बातों को रहने दीजिए. लेकिन इसके बाद नीतीश ने आगे साफ कर दिया कि उनके और आरसीपी के बीच जो बातें चर्चा में है, वह बेमानी है।


नीतीश कुमार ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। वह हमारी पार्टी के अध्यक्ष हैं,और आप कैसे कह रहे हैं कि हमने बधाई नहीं दी। नीतीश कुमार ने कहा कि कुछ लोगों को कुछ मालूम नहीं रहता और तरह-तरह की चर्चा हो जाती है। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी में यह सब कोई इशू नहीं है। नीतीश कुमार ने कहा कि जिन्हें लगता है कि हमने आरसीपी सिंह को बधाई नहीं दी ,वह जाकर उनसे पूछ लें। नीतीश कुमार ने कहा कि ऐसी ऐसी बातों की चर्चा होती है, जिसका कोई दुख नहीं है। वहीं नीतीश कुमार के इस बयान के बाद अब इस बात की चर्चा तेज हो गयी है की केंद्रीय मंत्रिमंडल में आरसीपी सिंह उनकी मर्जी से ही शामिल हुए हैं। जदयू के बाकी नेताओं की परवाह ना तो नीतीश कुमार ने की और ना ही आरसीपी सिंह ने चाहे वो सांसद ललन सिंह हो या जेडीयू के दूसरे नेता, नीतीश इनकी बजाय आरसीपी सिंह को ही केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल करना चाहते थे।

कोई टिप्पणी नहीं: