सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 27 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 27 जुलाई 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 27 जुलाई

प्रतिभा को किया समाजसेवी अखिलेश राय ने सम्मानित, जेम्स मिनटों मेंं बना देता है किसी की भी खूबसूरत तस्वीर


sehore news
सीहोर। जेम्स परोचे मिनटों में किसी की भी खूबसूरत पेंसिल तस्वीर बना देता है। प्रतिभाशाली बालक जेम्स को वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय ने सम्मानित किया है। होनहार बालक अपने हाथों से बिना सांचे के मिटटी से देवी देवताओं की प्रतिमाएं भी कुशलता से बनाता है। जेम्स के पिता तरूण परोचे नगर पालिका परिषद सीहोर में कार्यरत है। बाल्मिक कॉलोनी वार्ड नंबर 19 में रहने वाले तरुण के पुत्र जेम्स की प्रतिभा का अवलोकन भाजपा नेता प्रेमराय के द्वारा किया गया। बालक की बेहतरीन प्रतिभा और कलाकारी चित्रकारी से वारिष्ठ समाजसेवी अखिलेष राय को अवगत कराया। प्रतिभाशाली बालक को समाजसेवी श्री राय ने अपने कार्यालय बुलाया। बालक ने श्री राय की कुछ हीं देर में कागज पर पेंसिल तस्वीर बनाकर सभी को अचंभित कर दिया। कक्षा 8 में पढृने वाले जेम्स ने बताया की बड़े चित्रकारों फोटोग्राफरों और मूर्तिकारों से प्रेरणा लेकर कागज पर पेसिल से चित्र बनाना और मिटटी की प्रतिमा बनाना सीखा है परिजनों का भी सहयोग मिला है। वारिष्ठ समाजसेवी अखिलेष राय ने बालक की सराहना करते हुए कहा की जेम्स की प्रतिभा को निखारने और प्रदेशस्तर के बाद राष्ट्रस्तर पर भी मुकाम हासिल कराने के पूरे प्रयास किए जाएंगे। उन्होने कहा की सीहोर शहर में इस तरह की प्रतिभाओं का होना हमारे लिए गर्भ का विषय है। उन्होने कहा की पढ़ाई लिखाई एवं पेंटिंग में आगे बढऩे के लिए हमेशा जेम्स का सहयोग करते रहेंगे, सामाजसेवी श्री राय ने जेम्स को पुरूस्कृत कर उज्ज्वल भविष्य का आशिर्वाद प्रदान किया है। अनेक नागरिकों ने भी बालक के हुनर की प्रशंसा की है।


डाबी परिवार की पहल-बेटी के जन्म पर ढोल-नगाड़ों से किया स्वागत, बेटी का स्वागत करके, बेटियों से नफरत करने वालों को दी सीख


sehore news
सीहोर। कई लोग बेटियों के जन्म पर अफसोस करते हैं। कुछ लोग तो मातम सा मनाते हैं, लेकिन बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओ अभियान से प्रेरित होकर एक शख्स ने अपनी पोती के जन्म पर अनूठे अंदाज में खुशी जाहिर की। इस शख्स के द्वारा अस्पताल में हुई पोती के जन्म पर लड़के पैदा होने जैसी तैयारियां की और खुशियां मनाई। बेटी को जन्म के बाद घर में बैंड बाजे के साथ नाच गाते हुए खुशियां मनाई गई। जी हां हम बात कर रहे है, शहर के  मयूर विहार कालोनी में रहने वाले जिला उपभोक्त संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष नरेन्द्र डाबी की जिन्होंने अपने लड़के शुभम डाबी की पुत्री के पैदा होने पर स्वागत पूरी गर्मजोशी और पूरे उत्साह के साथ किया। गत दिनों शहर के जिला अस्पताल में उनके यहां पर पोती पैदा हुई थी, उस दौरान अस्पताल से घर तक ढोल-ढमाके से घर पर लेकर आए और मंगलवार को पूर्ण विधि-विधान से सूरज पूजा करने के पश्चात स्नेह भोज का आयोजन किया गया। इस मौके पर पोती के दादा श्री डाबी ने कहा कि बेटियां भगवान का वरदान होती है। सभी लोगों सेे उन्होंने कहा कि बेटा और बेटी दोनों ही एक ही मां के पेट से जन्म लेते हैं। उनमें मां-बाप का खून होता है। हमारे समाज में जब बेटे के जन्म पर खुशियां मनाई जाती हैं तो बेटी के जन्म पर क्यों नहीं? अगर सभी लोगों के बेटे ही हो जाएंगे तो बहू के लिए बेटियां कहां से लाओगे। डाबी परिवार के इस तर्क से सभी लोगों ने अपने सहमति दी। 


संयुक्त मोर्चा ने विधायक के सामने रखी अपनी मांगें, धरना स्थल से निकाली वाहन रैली

sehore news
सीहोर। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के नवगठित संयुक्त मोर्चा के तत्वाधान में मंगलवार को अपनी जायज मांगों के समर्थन में एक साथ 17 संगठनों के पदाधिकारियों ने मंगलवार को विधायक कार्यालय पहुंचकर विधायक सुदेश राय से भेंट कर अपनी मांगों के समर्थन में एक ज्ञापन सौंपा है। इस मौके पर विधायक श्री राय ने उनकी मांगों को पूरा करने में सहयोग प्रदान करने का आश्वासन भी दिया है। मंगलवार को बड़ी संख्या में संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों ने वाहन रैली निकालकर अपनी मांगों के समर्थन में नारेबाजी की। इस मौके पर संयुक्त मोर्चा के संयोजक प्रमोद राठौर, सह संयोजक राजू नामदेव, प्रवक्ता अखिलेश मेवाड़ा, महेश राठौर जिला अध्यक्ष, लखन लाल गौर ब्लॉक अध्यक्ष, विक्रम परमार, सीताराम, रामबाबू, महेश जयसवाल, मोहनलाल, गायत्री गौर लखन ठाकुर, भरत मेवाड़ा, जनक गोयल,भरतसिंह गोर, चंपालाल शिवराज, हरि सिंह सोलंकी, दिनेश विश्वकर्मा, मोतीलाल गोर हरीश दांगी, राजेंद्र लोधी, रोहित वर्मा आदि शामिल थे। जिन्होंने पूरे उत्साह के साथ बारिश की बौछारों के मध्य रैली निकालकर ज्ञापन सौंपा है।

17 संगठनों का 1500 से ज्यादा अमला का आंदोलन जारी
लंबे समय से 17 संगठनों के डेढ़ हजार से अधिक अधिकारी और कर्मचारी आंदोलन पर है। जिसके कारण पंचायतों के कामकाज ठप पड़े हुए है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अधिकारी-कर्मचारी संयुक्त मोर्चा राज्य इकाई के निर्देश पर गत 12 जुलाई को समस्त संगठनों द्वारा सात दिवस में कर्मचारियों की मांगों का निराकरण करने के लिए ज्ञापन सौंपे गए थे, जिसमें अपील की थी कि सरकार पहल करने शीघ्र मांगों का निराकरण करें अन्यथा हमें सामूहिक आंदोलन पर जाने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। इसके अंतर्गत सोमवार और मंगलवार को दो दिवसीय अवकाश लिया गया था और उसके बाद गत 22 जुलाई से कलम कार्यालय बंद हड़ताल की थी। वहीं इस चरण में धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। मंगलवार को विधायक श्री राय को सौंपे ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि पंचायत व ग्रामीण विकास विभाग प्रदेश सरकार की रीड़ है। अतिरिक्त कार्यभार और वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा अपने जिला को नंबर वन बनाने की होड़ में जनपद पंचायत सीईओ, उपयंत्री एवं अन्य कर्मचारी प्रताडि़त होकर अपनी मौत को गले लगाने मजबूर है। एक तो सरकार द्वारा डीए, इंक्रीमेंट आदि रोकना और ऊपर से हर अभियान में पंचायत व ग्रामीण विकास के अमले को मशीन की तरह उपयोग करने का खेल जारी है। विभाग के अधिकारी और कर्मचारी संयुक्त मोर्चा इस प्रताडऩा के विरोध में आंदोलन करने के लिए बाध्य हैं। ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि खरगोन जिले के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व गंधवानी जनपद में पदस्थ उपयंत्री द्वारा प्रताडऩा से त्रस्त होकर आत्मघाती कदम उठाया गया है। दोनों अधिकारियों की आत्महत्या के कारण अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई व मोर्चा के अंतर्गत सम्मिलित सभी संगठनों की अनिवार्य मांगों को पूरा करने की मांग की गई है। 

हर रोज किया जा रहा भगवान शिव का विशेष अभिषेक

sehore news
सीहोर। श्रावण के पहले दिन से ही शहर के गंगा आश्रम स्थित गोपालधाम शिव मंदिर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के द्वारा भगवान भोलेनाथ का विशेष अभिषेक और पूजा अर्चना की जा रहा ही। मंगलवार को भी भगवान शिव के मंत्रों पर यहां पर भगवान शिव का अभिषेक किया गया और उसके पश्चात महा आरती का आयोजन किया गया। गोपाल धाम मंदिर परिसर में सुबह और शाम को धार्मिक अनुष्ठान जारी है। कार्यक्रम का आयोजन सादगी के साथ किया जा रहा है। यहां पर हर रोज सीमित संख्या में श्रद्धालुओं के द्वारा भगवान शिव की आराधना की जा रही है। इस मौके पर आचार्य पंडित पवन व्यास ने बताया कि इसी महीने में शिव जी ने माता पार्वती की तपस्या से प्रसन्न होकर उन्हें विवाह के लिए हां कहा था। इस कारण ये महीना शिव और माता पार्वती दोनों को काफी प्रिय हैं।  इस माह में श्रद्धा और भक्ति के साथ भगवान का पूजन किया जाए तो कोई असंभव कार्य भी संभव हो सकता है। इस कारण महादेव के तमाम भक्त अपने अपने तरीके से उनकी पूजा अर्चना करके उनका आशीर्वाद लेने की कामना करते हैं। अगर आपकी भी कोई ऐसी मनोकामना है जिसकी पूर्ति के लिए आप प्रभु से विनती करना चाहते हैं तो यहां जानिए कुछ ऐसी चीजें जिनसे महादेव का अभिषेक करने पर वे अत्यंत प्रसन्न होते हैं। शिवपुराण में अलग अलग मनोकामना के हिसाब से अलग अलग चीजों से भोलेनाथ का अभिषेक करने की बात कही गई है। इस मौके पर शिव प्रदोष सेवा समिति के पंडित कुणाल व्यास, मनोज दीक्षित मामा, गोपाल बाबा, अभिषेक, तरुण, प्रियांशु, अर्पित, मनीष ठाकुर आदि शामिल थे। 

कालीरेत में मिटटी मिलाकर बनाई जा रहीं है करंजखेड़ा में सड़क किसानों के खेतों में भराया बारिश का पानी,डृबी सोयाबीन की फसल, किसानों ने की कलेक्ट्रेट में शिकायत कार्यवाहीं की मांग

sehore news
सीहोर। करंजखेड़ा ग्राम पंचायत के द्वारा निपानिया खुर्द में खेतों के बीच से बनाई जा रहीं काली मिटटी की सड़क किसानों के लिए मुसीबत बन गई है। किसानों के द्वारा सरपंच और सचिव पर घटिया सड़क निर्माण कराए जाने का भी आरोप लगाया गया है। बारिश के पानी की निकासी के लिए सड़क में पाईप भी नहीं डाले जा रहे है। परिणाम स्वरूप अनेक किसानों के खेतों में बारिश का पानी भरा गया है जिस कारण सोयाबीन की फसल पानी में डृब गई है। किसानों को हजारों रूपये का आर्थिक नुकसान होने की संभावना बनी हुई है। हैरान परेशान किसानों ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट में शिकायती पत्र देकर निर्माण कार्य की जांच कराने और संबंधितों पर सख्त कार्यवाही सहित खेतों में से बारिश का पानी निकालने के लिए सड़क के नीचे पाईप लगवाए जाने की मांग की है। मांग करने वालों में वीरेंद्र सिंह दांगी,नेपाल दांगी, राजेश दांगी, राहुल दांगी, अरुण दांगी, शिवराज दांगी, मोहित दांगी, प्रद्युम्य दांगी, अनूप दांगी आदि गई किसान शामिल है। 

इनर व्हील क्लब ने किया  कोरोना योद्धाओं का सम्मान


sehore news
इनर व्हील क्लब द्वारा जिला अस्पताल सीहोर में पदस्थ कोरोना टीकाकरण की सुपरवाइजर श्रीमती सुशीला सोनी जी एवं उनकी सारी टीम का सम्मान किया गया।सुशीला जी एवं उनकी टीम में मीना सोनी जी, तजशर खानम, रेणू भावसार, ममता भौद ,छाया शर्मा, बिलकिस फातमा, रेखा पठारे, जमना मालवीय, सूरा पाणिकर, रूपा सिंह शामिल है। इस टीम को पूरे सीहोर को vaccinate करने का गौरव प्राप्त हुआ है। पूरे 2 वर्ष से यह टीम कोरोना से लड़ाई लड़ रही है। अभी तक सीहोर में 90% टीकाकरण कर चुकी है। एवं इस टीम ने ऐसा निश्चय किया कि कोरोना नाम की इस बीमारी को हरा के ही रहेंगे। इनर व्हील क्लब अध्यक्ष नवनीता श्रीवास्तव ने सुशीला जी एवं उनकी समस्त टीम को समाज की इतनी सेवा करने हेतु बहुत बहुत धन्यवाद दिया।ऐसे कठिन समय मे इन योद्धाओं द्वारा दिन रात मानव जाति की सेवा कार्य किया जा रहा है। आज यदि हम सुरक्षित है तो इसमें इनका बहुत बड़ा योगदान रहा है। सुशीला जी एवम उनकी पूरी टीम को शॉल ,श्री फल एवम हार पहनाकर सभी का स्वागत किया गया। इस सम्मान समारोह में प्रेसीडेंट नवनीता श्रीवास्तव के अलावा सचिव नीति ठकराल, हेमलता राठौर,शशि विजयीर्गीय, कुसुम सरियाम, पम्मी बाधवा,ज्योत्स्ना शर्मा आदि उपस्थित रही।

लाडली लक्ष्मी योजना अंतर्गत सीहोर जिले की 2526 लाडली लक्ष्मी बालिकाओं के खाते में 6764000 रुपए की छात्रवृत्ति राशि अंतरित
  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीसी के माध्यम से सीहोर की बालिका से बात की, इस वर्ष जिले की 1463 नवीन बालिकाओं का लाड़ली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत पंजीयन
sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की बालिकाओं को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कार्यक्रम में लाड़ली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत छात्रवृत्ति राशि एवं लाड़ली प्रमाण पत्र का वर्चुअल वितरण किया। बालिकाओं से उनकी शिक्षा के संबंध में चर्चा की। श्री चौहान ने  बालिकाओं से आगे भी पढ़ाई जारी रखने कहा। जिले में लाडली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत कक्षा 6वीं, 9वीं तथा 12वीं की 2 हजार 526 बालिकाओं के खातों में 67 लाख 64 हजार रूपये की छात्रवृत्ति राशि का अंतरण किया। इस दौरान एक हजार 463 नवीन बालिकाओं को लाड़ली प्रमाण पत्र का वर्चुअल वितरण भी किया। जिले में लाडली लक्ष्मी योजनान्तर्गत लाभान्वित बालिकाओं से उनकी शिक्षा संबंधी चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उनकी शिक्षा में किसी तरह की बाधा नहीं आने दी जाएगी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा के दौरान कक्षा 12वीं की छात्रा मुस्कान रैकवार ने बताया कि वह डॉक्टर बनना चाहती है। इस पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वह कठिन परिश्रम करें। सफलता जरूर मिलेगी और वह भविष्य में डॉक्टर बनेंगी। कलेक्टर कार्यालय के एनआईसी कक्ष में आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में लाडली लक्ष्मी योजनान्तर्गत बालिकाओं को छात्रवृत्ति स्वीकृति पत्र का वितरण किया गया। छात्रवृति लाभान्वित बालिकाओं में सीहोर निवासी सुश्री मुस्कान रैकवार पिता स्व.पप्पू माता श्रीमती सरजू, सुश्री पलक राठौर पिता राकेश राठौर माता श्रीमती रचना राठौर, सुश्री निहारिका यादव पिता राजेश यादव माता श्रीमती माया यादव, सुश्री कानुश्री पिता शुभम यादव माता श्रीमती शिल्पा यादव, सुश्री खुशी लोधी पिता जयकिशन लोधी माता श्रीमती भारती लोधी को लाडली लक्ष्मी योजनान्तर्गत छात्रवृति हेतु स्वीकृति प्रमाण-पत्र का वितरित किया गया। कार्यक्रम में अतिरिक्त कलेक्टर श्री आदित्य जैन, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास श्री प्रफुल्ल खत्री, सहायक संचालक श्रीमती गोमती गोलाई तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और हितग्राही बालिकाएं उपस्थित थी।

शाहगंज को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद शुरू, भोपाल स्मार्ट सिटी के अधिकारियों ने शाहगंज नगर का निरीक्षण किया

sehore news
स्मार्ट सिटी भोपाल से आये अधिकारियों ने शाहगंज नगर के प्रमुख चौराहों व बाजार के साथ ही शहर के महत्वपूर्ण क्षेत्रों का निरीक्षण किया गया। इस दौरान कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने शाहगंज नगर से संबंधित सभी महत्वपूर्ण स्थानों की जानकारियां दी। उल्लेखनीय है कि प्रदेश के नगरों को स्मार्ट सिटी बनाने की योजना के तहत वर्तमान और भविष्य की आवश्यकताओं को दृष्टिगत रखते हुए नगर के विकास की कार्ययोजना तैयार की जा रही है। शाहगंज में नगर के आंतरिक मार्गों का निर्माण, महत्वपूर्ण चौराहों एवं स्थानों का सौंदर्यीकरण, नर्मदा घाटों का विकास, दशहरा मैदान, चौराहे पर स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा स्थापना एवं  सौंदर्यीकरण,   बकतरा रोड पर प्रवेश द्वार, बाजार में फुटपाथ का निर्माण कार्य, मंडी गेट के सामने सौन्द्रयीकरण एवं प्रतिमा स्थापना, उत्कृष्ट हाट बाजार, नवीन बस स्टैंड, मुख्य बाजार तथा मुख्य मार्ग पर पार्किंग बनाई जाने की कार्ययोजना तैयार जा रही है। इस दौरान कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर, सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।



लाडलियों के चेहरों की मुस्कान बनी लाडली लक्ष्मी योजना

 
मध्यप्रदेश सरकार की लाडली लक्ष्मी योजना से बालिकाओं के चेहरों पर मुस्कान आई है। कमजोर वर्ग के परिवारों की बेटियां भी पढ लिखकर अपने सपनों को साकार कर सकेंगीं। लाडली लक्ष्मी योजना के अन्तर्गत मिल रही छात्रवृत्ति से बालिकाओं को अपनी पढ़ाई में किसी प्रकार की बाधा नहीं आएगी। जिले की 2 हजार 526 लाडलियों को लाडली लक्ष्मी योजना के तहत छात्रवृत्ति का लाभ मिलने से शिक्षा की राह आसान हो गयी है। सीहोर निवासी सुश्री मुस्कान रैकवार, सुश्री पलक राठौर, सुश्री निहारिका यादव ने बताया कि पढ़ाई में कोई दिक्कत नहीं आएगी। और उन्होंने यह भी कहां कि इस पैसे का हम पढाई में उपयोग होने वाली पुस्तकें सहित अन्य सामग्री भी खरीद सकेंगे। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की बेटियां जो पढ़ना चाहती हैं तथा जीवन में कुछ बनना चाहती हैं, उनके लिये यह योजना वरदान है।

आबकारी विभाग ने छापामार कार्रवाई कर अवैध मदिरा जप्त की, 22 प्रकरणों में 2 लाख 95 हजार 350 की शराब और महुआ लाहन जब्त

sehore news

जिले में अवैध मदिरा के विरुद्ध कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर आबकारी विभाग द्वारा निरंतर कार्रवाई की जा रही है। आबकारी अमले ने सीहोर, दोराहा, आष्टा, बुदनी तथा नसरूल्लागंज में 1 जुलाई से 26 जुलाई 2021 तक 22 प्रकरणों में कार्रवाई करते हुए ड्रम, कुप्पों,व भट्टी से कुल 66 लीटर हाथ भट्टी कच्ची मदिरा और 5720 किलोग्राम महुआ लाहन जप्त किया है। आबकारी अधिकारी कीर्ति दुबे ने बताया कि इन 22 प्रकरणों में कार्रवाई करते हुए मप्र आबकारी अधिनियम 1915 की विभिन्न धाराओं में 1 जुलाई से 26 जुलाई 2021 तक 22 प्रकरण दर्ज कर 66 हाथ भट्टी कच्ची मदिरा तथा 5720 किग्रा महुआ लाहन जप्त किया है जिसकी अनुमानित कीमत 2 लाख 95 हजार 350 रुपये है। इस कार्यवाही में आबकारी टीम योगदान रहा।

जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पॉजिटिव की संख्या शून्य

पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10142 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020 हैं। आज 957 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 96, श्यामपुर से 181, विकासखंड नसरुल्लागंज से 164, आष्टा से 237,  बुधनी से 128 तथा इछावर से 151 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 202627 हैं जिनमें से 190939 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 765 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1475 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।

जन अभियान परिषद के सदस्यों ने किया पौधारोपण

मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के सदस्यों तथा नागरिकों ने अंकुर योजना के अंतर्गत चाणक्यपुरी में पौधारोपण किया। ब्लाक समन्वयक प्रदीप सिंह सेंगर ने बताया कि शासन ने धरती की हरियाली और सौंदर्य में वृद्धि के साथ-साथ ऑक्सीजन की उपलब्धता के लिए अंकुर कार्यक्रम चलाया है जिसमें जन अभियान परिषद के सदस्य और नागरिक पौधारोपण कर रहें है उन्होंने कहा कि विशिष्ट अवसरों पर एक पौधा अवश्य लगाये। पौधारोपण के अवसर पर मधु नामदेव, सपना अन्य सदस्य उपस्थित रहे।

जिले में अभी तक लगाए जा चुके 6 लाख 54 हजार 606 डोज, अब तक 5 हजार 30 टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया गया, जिले में 5 लाख 56 801 प्रथम तथा 97805 द्वितीय डोज लगाए गए

sehore news
जिले में अभी तक कोविड-19 टीकाकरण के अंतर्गत 6 लाख 54 हजार 606 डोज लगाए जा चुके है। प्रथम डोज 5 लाख 56 हजार 801 तथा द्वितीय 97 हजार 805 डोज शामिल है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में अब तक 5 हजार 30 टीकाकरण सत्र आयोजित किए है। आष्टा के 1130 टीकाकरण सत्रों में 1 लाख 53 हजार 103 डोज लगे है जिसमें 1 लाख 31 हजार प्रथम तथा 21 हजार 814 द्वित्तीय डोज शामिल है। बुदनी के 885 सत्रों में 97 हजार 656 डोज लगाए जा चुके है जिसमें 86 हजार 43 प्रथम एवं 11 हजार 613 द्वित्तीय डोज, इछावर के 614 सत्रों में 81 हजार 179 डोज जिसमें 1 लाख 14 हजार 98 प्रथम तथा 69 हजार 146 द्वित्तीय, नसरूल्लागंज के 934 सत्रों में 1 लाख 913 डोज जिसमें 88 हजार 164 प्रथम तथा 12 हजार 749 द्वितीय, श्यामपुर के 1101 सत्रों में 1 लाख 20 हजार 433 डोज लगाए गए है जिसमें 1 लाख 5 हजार 211 प्रथम एवं 15 हजार 222 द्वितीय डोज है। सीहोर शहरी क्षेत्र में अब तक कुल 1 लाख 1 हजार 322 द्वित्तीय में 82 हजार 657 प्रथम तथा 76 हजार 948 द्वितीय डोज हितग्राहियों को लगाए जा चुके है। सीएमएचओ डॉ. श्री डेहरिया ने जानकारी दी कि कोविड-19 टीकाकरण का महाअभियान 16 जनवरी 2021 से प्रारंभ हुआ था प्रथम चरण में हेल्थ केयर वर्कर्स का टीकाकरण प्रारंभ किया गया।  06 फरवरी 2021 को फ्रंट लाईन वर्कर्स का कोविड-19 टीकाकरण का द्वित्तीय चरण प्रारंभ किया गया । 01 मार्च 2021 से 60 प्लस आयु वर्ग वाले तथा 20 चिन्हित बीमारी वाले 45 प्लस आयु वर्ग वाले व्यक्ति टीकाकरण के लिए चिन्हित किए गए थें। 18 प्लस आयु वर्ग का टीकाकरण 05 मई 2021 से प्रारंभ किया गया तथा गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण 23 जुलाई से प्रारंभ किया गया है। 

जिले में अब तक 472.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 8.4 मिलीमीटर औसत वर्षा

जिले में 01 जून से 27 जुलाई, 2021 तक 472.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा से 414.8 मिलीमीटर कम है। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 27 जुलाई, 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 455.3 मिलीमीटर,  श्यामपुर में 537.0, आष्टा में 465.0 जावर में 439.0, इछावर में 472.0, नसरूल्लागंज में 488.0,  बुधनी में 568.0, रेहटी में 358.6 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।

बीते 24 घंटे में 29.4 मिलीमीटर औसत वर्षा
जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 08 बजे तक 8.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 14.2 मिलीमीटर, श्यामपुर में 24.0, आष्टा में 4.0 जावर में 3.0, इछावर में 4.0, नसरूल्लागंज में 0.0,  बुधनी में 13.0, रेहटी में 4.6 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।

लेखा प्रशिक्षण शाला के परीक्षार्थियों की विभागीय परीक्षा 31 जुलाई को

लेखा प्रशिक्षण परीक्षार्थियों के लिये कैरियर महाविद्यालय भोपाल में 31 जुलाई को विभागीय परीक्षा आयोजित की जाएगी। इस दिन यह परीक्षा प्रात: 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक होगी। प्राचार्य शासकीय लेखा प्रशिक्षण शाला से प्राप्त जानकारी के मुताबिक सभी परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र विभागीय पोर्टल www.mptreasury.org पर अपलोड किए जा रहे हैं। परीक्षार्थी इस पोर्टल से अपने नाम के समक्ष अंकित रोल नम्बर की लिंक पर क्लिक कर प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते हैं । पृथक से प्रवेश पत्र जारी नहीं किए जायेंगे।

सीपीसीटी परीक्षा 8 अगस्त को

मध्यप्रदेश विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा रोजगार प्राप्त करने इच्छुक युवाओं के लिये सीपीसीटी स्कोर कार्ड परीक्षा का कार्यक्रम निर्धारित कर दिया गया है। परीक्षा 8 अगस्त को प्रदेश के विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित होगी। राज्य शासन के विभिन्न विभागों एवं कार्यालय में विभिन्न पदों पर कम्प्यूटर दक्षता, कौशल प्रमाणिकरण के लिए संविदा, नियमित नियुक्तियों के लिये सामान्य प्रशासन विभाग के आदेशानुसार सूचना प्रौद्योगिकी, कम्प्यूटर क्षेत्र में कम्प्यूटर दक्षता प्रमाणिकरण परीक्षा का स्कोर कार्ड प्राप्त करना अनिवार्य है। सीपीसीटी परीक्षा 8 अगस्त को इंदौर सहित भोपाल, उज्जैन, ग्वालियर, जबलपुर, सागर और सतना में आयोजित होगी। सीपीसीटी परीक्षा के आवेदन तथा इसके संबंध में विस्तृत जानकारी www.cpct.mp.gov.in पर उपलब्ध है। अभ्यर्थियों को कम्प्यूटर एवं टाईपिंग दोनों अनुभाग में सम्मिलित होना जरूरी है।


निर्माण श्रमिकों के बच्चों के आवेदन प्राप्त करने की तारीख में वृद्धि

निर्माण श्रमिकों की पात्र सन्तानें शिक्षा के लाभ से वंचित न रह पाये, इसके लिये कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न परिस्थिति के दृष्टिगत वर्ष 2019-20 में मण्डल द्वारा संचालित सुपर 5 हजार कक्षा 10वी एवं सुपर 5 हजार कक्षा 12वीं योजना के अन्तर्गत मध्यप्रदेश राजपत्र 4 अगस्त 2017 के अनुसार जिस वर्ष परिणाम घोषित हो, उसके आगामी शैक्षणिक सत्र के 31 मार्च तक आवेदन-पत्र जमा करने की समय-सीमा निर्धारित की गई थी। कोरोना महामारी के दौरान निर्माण श्रमिकों के बच्चों के द्वारा समय-सीमा में आवेदन-पत्र प्रस्तुत न कर पाने के प्रकरण संज्ञान में आये थे । इसको दृष्टिगत रखते हुए अब आवेदन-पत्र प्राप्त करने की समय-सीमा 31 जुलाई तक बढ़ाई गई है । इस आशय की जानकारी सहायक श्रमायुक्त द्वारा दी गई।        
                                                
विशिष्ट विद्यालयों की प्रवेश परीक्षा 31 जुलाई को

कक्षा-6वीं एवं 9 वीं के अनुसूचित जाति एवं जनजाति के छात्र-छात्राओं के लिये विशिष्ट विद्यालय में प्रवेश के लिए परीक्षा 31 जुलाई शनिवार को आयोजित की जाएगी। यह परीक्षा दो पालियों में होगी। कक्षा-6वीं के लिये प्रात: 10.30 बजे से 12.30 बजे तक एवं कक्षा-9वीं के लिए दोपहर 2.30 बजे से 4.30 बजे तक परीक्षा आयोजित की जाएगी। जिन छात्र-छात्राओं द्वारा उक्त परीक्षा के लिए आवेदन किया गया है, वह ऑनलाइन प्रवेश पत्र प्राप्त कर अपने परीक्षा केन्द्र पर निर्धारित दिनांक एवं समय पर उपस्थित होकर परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं।                

योग और आयुर्वेद के लिए भारत पूरी दुनिया में जाना जाता है्:-मुख्यमंत्री श्री चौहान
  • लोगों के स्वास्थ्य एवं जनजातीय वर्ग को आजीविका के उद्देश्य से बनाई गई है ‘देवारण्य’ योजना
  • हमारे जंगलों में औषधियों का खजाना तथा जनजातीय लोगों के पास पारंपरिक ज्ञान
  • मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अजजा वर्ग के लिए आयुष आधारित आर्थिक उन्नयन योजना
  • ‘देवारण्य’ संबंधी कार्यशाला को किया संबोधित

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि योग और आयुर्वेद के लिए भारत दुनियाभर में जाना जाता है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रयासों से आज दुनिया के 180 देशों में योग को अपनाया गया है। आयुर्वेद देश एवं दुनिया के स्वास्थ्य के लिए अत्यंत उपयोगी है। कोविड काल में प्रदेश में बड़ी संख्या में योग एवं आयुर्वेद के माध्यम से लोगों ने स्वास्थ्य लाभ लिया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अधिक से अधिक लोगों को आयुर्वेद के माध्यम से स्वास्थ्य लाभ मिल सके तथा प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों में रहने वाले हमारे भाई-बहनों को रोजगार एवं आजीविका मिल सके, इसके उद्देश्य से ‘देवारण्य’ योजना बनाई गई है। इस योजना का तीव्र गति से क्रियान्वयन किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमारे जंगलों में जहाँ औषधियों का अमूल्य खजाना है, वही जनजातीय भाई-बहन इनका महत्व एवं उपयोग समझते हैं। हमें एक ओर हमारे औषधियों के इस खजाने को संरक्षित एवं संवर्धित करना है, वहीं जनजातीय वर्ग के इस पारंपरिक ज्ञान को आगे बढ़ाकर लोगों को स्वास्थ्य लाभ देना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में अनुसूचित जनजातीय क्षेत्रों के निवासियों के लिए रोजगार सृजन और आजीविका के साधनों की मजबूती के लिए आयुष आधारित आर्थिक उन्नयन योजना ‘देवारण्य’ संबंधी कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। राज्य नीति एवं योजना आयोग द्वारा आयोजित कार्यशाला में मंत्री, वरिष्ठ अधिकारी, विभिन्न आयुष दवा कंपनियों के प्रतिनिधि और अन्य विशेषज्ञ उपस्थित थे।

आयुष औषधियों के उत्पादन की पूरी वैल्यू चेन
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हम प्रदेश में देवारण्य योजना के माध्यम से आयुष औषधियों के उत्पादन की एक पूरी वैल्यू चेन का विकास करेंगे। इस कार्य में स्व-सहायता समूहों की भी महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इसमें कृषि उत्पादक संगठन, आयुष विभाग, वन, ग्रामीण विकास, उद्यानिकी, पर्यटन, कृषि, सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन एवं जनजातीय कार्य विभाग मिलकर मिशन मोड में कार्य करेंगे।

गाँव के वैद्य श्री रघुवीर प्रसाद का उल्लेख किया
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अपने गाँव के वैद्य श्री रघुवीर प्रसाद का उल्लेख करते हुए कहा कि वे नाड़ी देखकर रोग जान लेते थे और दवा देते थे। हमें अपने पारम्परिक ज्ञान को आगे बढ़ाना होगा।

वेलनेस टूरिज्म को बढ़ावा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में वेलनेस टूरिज्म को बढ़ावा दिया जाएगा। इसके लिए गाँवों की सुंदर वादियों में औषधीय पौधों की खेती की जाए। आयुष एवं पर्यटन को साथ-साथ लाया जाएगा।

भोपाल में बने ग्लोबल सेंटर फॉर ट्रेडीशनल मेडिसिन्स
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन भारत में ग्लोबल सेंटर फॉर ट्रेडीशनल मेडिसिन्स बनाने जा रहा है। ऐसे प्रयास किए जाएंगे कि यह मध्यप्रदेश में बने। भोपाल में खुशीलाल आयुर्वेद अस्पताल अद्भुत कार्य कर रहा है।

प्रदेश में 360 नये आयुष हेल्थ और वेलनेस सेंटर
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में 360 से अधिक नये आयुष हेल्थ और वेलनेस सेंटर्स की स्थापना की जा रही है। इंदौर और भोपाल में आयुष सुपर स्पेशिलिटी अस्पतालों का निर्माण हो रहा है। प्रदेश के आयुर्वेदिक और यूनानी औषधालयों का उन्नयन किया जा रहा है। आयुष दवाओं के अनुसंधान और विकास पर अधिक से अधिक जोर दिया जा रहा है।

डिमांड एवं सप्लाई चेन को मजबूत बनाएंगे
राज्य नीति एवं योजना आयोग के उपाध्यक्ष प्रो. सचिन चतुर्वेदी ने कहा कि प्रदेश में अनुसूचित जनजातीय क्षेत्रों के निवासियों के रोजगार सृजन एवं आजीविका के संसाधनों को मजबूती प्रदान करने के लिए आयुष आधारित योजना बनाई गई है। इसके अंतर्गत औषधीय एवं सुगंधित पौधों तथा उनसे बनाई जाने वाली दवाओं की डिमांड एवं सप्लाई चेन को मजबूत बनाया जाएगा।

भारत चीन के बाद सबसे बड़ा निर्माता
केन्द्रीय आयुष सचिव श्री राजेश कुटेचा ने कहा कि विश्व में आयुष दवाओं का बहुत बड़ा बाजार है। इस क्षेत्र में भारत चीन के बाद सबसे बड़ा निर्माता है। वर्तमान में इसके लिए कच्चे माल अर्थात औषधीय और सुगंधित पौधों की बहुत मांग है। उद्योगों ने इसका एडवांस ऑर्डर दिया हुआ है। जनजातियाँ यह जानती हैं कि इन पौधों का संरक्षण और उत्पादन कैसे बढ़ाया जाए।

आंवले की अत्यधिक मांग
डाबर इंडिया के सी.ई.ओ. श्री मोहित मल्होत्रा ने कहा कि आयुर्वेदिक औषधियों के लिए आंवले की अत्यधिक मांग है। मध्यप्रदेश से बड़ी मात्रा में इसकी आपूर्ति होती है। औषधीय फसलों को बढ़ावा दिए जाने के साथ यदि इन फसलों का जैविक प्रमाणीकरण करा लिया जाए तो यह अत्यंत लाभकारी होगा।

को-ऑपरेटिव फार्मिंग को बढ़ावा दें
इमामी हेल्थ केयर के श्री गुलराज भाटिया ने कहा कि आगामी 15-20 वर्ष में आयुष के क्षेत्र में अत्यधिक संभावनाएँ बढ़ेंगी। इसके लिए प्रदेश में औषधीय एवं सुगंधित पौधों की को-ऑपरेटिव फार्मिंग को बढ़ावा दिया जाना चाहिए।

आयुर्वेद से सभी बीमारियों का इलाज हो सकता है
आयुर्वेद ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स, बैंगलुरू के सी.ई.ओ. श्री राजीव वासुदेवन ने कहा कि आयुर्वेद से सभी बीमारियों का इलाज किया जा सकता है। इसके लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र से जिला स्तर पर आयुर्वेद उपचार की सुदृढ़ पद्धति विकसित की जानी चाहिए।

वनस्पतियों का ज्ञान जनजातियों के पास है
वनवासी कल्याण आश्रम के हितरक्षा प्रमुख श्री गिरीश कुबेर ने कहा कि प्राचीन वनस्पतियों का ज्ञान जनजातियों को है। ग्रामों में ग्राम सभाओं को मजबूत कर अधिक से अधिक जनजातीय लोगों को इससे जोड़ें। सामुदायिक वन विकास पर जोर दिया जाना चाहिए।

म.प्र. भारत का ‘ग्रीन लंग’
धूतपापेश्वर लिमिटेड, मुंबई के श्री रंजीत पुराणिक ने कहा कि मध्यप्रदेश न केवल भारत का दिल बल्कि ‘ग्रीन लंग’ है। यहाँ औषधीय पौधों, जड़ी-बूटियों का अपार भंडार है। नीमच अश्वगंधा की ग्लोबल मंडी है। पन्ना का आंवला देश में सर्वोत्तम है। मध्यप्रदेश में औषधीय वनस्पतियों की मंडियाँ बनाई जानी चाहिएं।

वैयक्तिक पट्टे प्रदान किए जाएं
सेण्टर फॉर रिसर्च एंड स्ट्रेटेजिक प्लानिंग फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट पुणे के अध्यक्ष श्री गजानन डांगे ने कहा कि सामुदायिक विकास के साथ ही वनवासियों को वैयक्तिक पट्टे प्रदान किए जाएं। जनजातीय क्षेत्रों के विकास के लिए मास्टर प्लान बने। जल प्रबंधन के साथ ही मिट्टी का कटाव रोकने के लिए भी कार्रवाई हो।

प्रोत्साहित एवं जागरूक करें
आरोग्य भारती के श्री अशोक वार्ष्णेय ने कहा कि औषधीय पौधों के संरक्षण एवं उत्पादन के लिए जनजातीय लोगों को प्रोत्साहित एवं जागरूक किया जाना चाहिए।कार्यशाला के अंत में आभार प्रदर्शन नीति एवं योजना आयोग के प्रमुख सलाहकार श्री अभिषेक सिंह ने किया।

कोई टिप्पणी नहीं: