विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 13 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 13 जुलाई 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 13 जुलाई

गेंहू उपार्जन का भुगतान लंबित है तो सूचित करें

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक के दौरान जिले के सभी ऐसे कृषक जिनके द्वारा वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर गेंहू का विक्रय किया गया है और भुगतान की राशि अब तक प्राप्त नही हुई है तो ऐसे सभी कृषकबंधु अपनी जानकारी कलेक्ट्रेट में खाद्य शाखा में उपस्थित होकर साक्ष्य प्रस्तुत कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने समस्त विभागो के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए है कि विभागीय योजनाओं एवं कार्यक्रमो पर आधारित पावर प्रेजेन्टेशन रोचक और आकर्षक हो साथ ही जानकारियां संक्षिप्त में फिंगर टिप्स पर होना चाहिए। जनप्रतिनिधियों द्वारा जो जानकारी चाही जा रही है या पूछी जाती है तो वह ज्ञात है तो सार संक्षेप में अवगत कराएं। अनावश्यक रूप से वर्गलाने की कोशिश ना करें। उन्होंने पावर प्रेजेन्टेशन में ऐसे टूल्स का उपयोग करने की समझाईंश दी है जिससे विभागीय योजना की उपलब्धियों और लक्ष्यों के अंतर का स्पष्ट रूप से एटलांस में समझा जा सकें। कलेक्टर डॉ जैन ने पावर प्रेजेन्टेशन करने वाले विभागो के अधिकारियों से कहा कि वे अपने उच्चारण को स्पष्ट और कर्णप्रिय ध्वनि में उदबोधित करें ताकि बैठको में मौजूद सभी जनप्रतिनिधियों के अलावा अन्य सुगमता से सुन सकें।कलेक्टर डॉ जैन ने जिले मेंं संचालित होने वाली एनआरसी के कार्यो की समीक्षा बैठक आहूत करने के निर्देश जिला पंचायत सीईओ श्रीमती नीतू माथुर को दिए है उन्होंने कहा कि प्रत्येक विकासखण्ड में कुपोषित एवं अतिकुपोषित बच्चों की सूचीबद्ध है उन सबको एनआरसी की सुविधाओ का लाभ मिले इसके लिए लाइन लिस्टिंग सूची में प्रतीक्षारत बच्चें एनआरसी केन्द्रो में अनिवार्य रूप से भर्ती कराए जाए एक भी एनआरसी केन्द्र में क्षमता से कम बच्चे दाखिल पाए गए तो संबंधितो के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर डॉ जैन ने विभिन्न विभागो में लंबित आवेदनों के निराकरण पर विशेष बल दिया है उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाइन में लंबित आवेदनों का निराकरण समयावधि में कराया जाना सुनिश्चित हो ततसंबंध में पूर्व में ही विभागो को निर्देशित किया जा चुका है। इस कार्य में यदि किसी भी अधिकारी के द्वारा लापरवाही बरती जाएगी तो उसके खिलाफ निलंबन की कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। कलेक्टर डॉ जैन ने जिला शिक्षा अधिकारी व डीपीसी को निर्देश दिए है कि जिले में एक भी स्कूल शालाविहिन ना रहे। विद्यार्थी कही भी पेड के नीचे पढते हुए भवन अभाव के कारण नजर न आए। उन्होंने ग्रामो के अन्य शासकीय भवनो में संचालित हो रहे स्कूलों की सूची प्राप्त की गई है और किन स्थलों पर संचालित हो रहे है की जानकारी प्राप्ति के उपरांत क्रास मानिटरिंग करने के निर्देश दिए है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई लंबित आवेदनों की समीक्षा बैठक में जिपं सीईओ श्रीमती नीतू माथुर ने ग्रामीण विकास विभाग की लंबित आवेदनों के निराकरण हेतु की गई कार्यवाही से अवगत कराया है इसी प्रकार शिक्षा, स्वास्थ्य, खाद्य, कॉ-आपरेटिव बैंक, वित्त, ऊर्जा, पीडब्ल्यूडी, पीएचई, आदिम जाति कल्याण, महिला एवं बाल विकास विभाग, श्रम, खनिज, पशु चिकित्सा, मार्कफेड, सामाजिक न्याय, जिला योजना इत्यादि विभागो के अधिकारियों द्वारा भी लंबित आवेदनों पर की गई कार्यवाही से अवगत कराया है। उक्त बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, संयुक्त कलेक्टर श्री कुमार शानू देवड़िया, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग के अलावा विभिन्न विभागो के अधिकारी उपस्थित रहें।


उप पंजीयकों को बैठको से मुक्त रखा गया


कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज टीएल बैठक में जिला पंजीयक को निर्देश दिए है कि जिला स्तरीय बैठको में शामिल होने हेतु उप पंजीयको को कदापि ना भेजा जाए। सब रजिस्ट्रार कार्यालयों में जमीनो की रजिस्ट्री संबंधी कार्यो में किसी भी प्रकार से अवरोध उत्पन्न ना हो खासकर उप पंजीयक की अनुपस्थिति के कारण रजिस्ट्री कार्य प्रभावित ना हो के परिपेक्ष्य में उक्त निर्देश कलेक्टर द्वारा जिला पंजीयक को दिए गए है। 


मंडी प्रागंण में पौधरोपण 


मिर्जापुर में स्थित नवीन कृषि उपज मंडी प्रागंण में आज पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया था कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने उन्नत किस्म के बांस एवं अन्य प्रजाति के पौधे रोपित किए है। पौधरोपण कार्यक्रम में  एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा, मंडी सचिव श्री कमल कुमार वगबैया, अनाज तिलहन व्यापार उत्थान कल्याण संघ के अध्यक्ष श्री राधेश्याम माहेश्वरी के अलावा अन्य संघो के पदाधिकारियों ने भी पौधरोपण कार्यक्रम में सहभागिता निभाई है। 


निकाय अधिकारियों को खाद्यान्न वितरण के संबंध में मार्गदर्शन जारी  


vidisha news
विदिशा जिले की समस्त जनपदो के सीईओ तथा निकायो के नगरपालिका अधिकारियों को निम्नांकित बिन्दुओं पर आवश्यक कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया है जिसमें मुख्य रूप से अस्थायी पात्रता पर्ची के लिए सत्यापित आवेदनों में से पूर्व में माह जून में लगभग तीस प्रतिशत पात्रता पर्ची जारी हुई थी शेष पात्रता पर्ची अब पोर्टल पर उपलब्ध करा दी गई है। यह पर्चियां शीघ्र ही हितग्राहियों को उपलब्ध करा दी जाए ताकि 31 जुलाई तक इन सबके लिए खाद्यान्न का वितरण कार्य पूर्ण किया जा सकें। जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि अस्थायी पात्रता पर्ची वाले परिवार यदि नियमित पात्रता पर्ची की पात्रता रखते है तो इनके समस्त दस्तावेंज राशन मित्र पोर्टल पर 31 जुलाई तक अपडेट कर दिए जाए जिससे माह अगस्त का खाद्यान्न भी प्राप्त कर सकेंगे। अपात्र परिवारों को राशन मित्र पोर्टल पर से विलोपन करने की कार्यवाही संबंधितों से अपेक्षित की गई है।


विदिशा विकासखण्ड के 13 स्थलों पर आज टीकाकरण सत्र का आयोजन 


विदिशा विकासखण्ड के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के कुल 13 स्थलो पर टीकाकरण सत्रों का आयोजन बुधवार 14 जुलाई की प्रातः नौ बजे से किया जाएगा। अनुविभागीय अधिकारी श्री गोपाल सिंह वर्मा ने बताया कि जारी शेडयूल अनुसार कोविशील्ड का प्रथम एवं द्वितीय डोज लगाया जाएगा। जबकि को-वैक्सीन का मात्र द्वितीय डोज लगाया जाएगा। विदिशा नगरीय क्षेत्र में दस स्थलों पर टीकाकरण कार्य किया जाएगा उनमें महाराणा प्रताप महाविद्यालय दुर्गानगर, ट्रिनीटी कान्वेंट स्कूल सागर रोड, जय काम्पलेक्स बजरिया, लंका भवन रामलीला, बरईपुरा हाई स्कूल, सिटी हास्पिटल (पुराना जिला चिकित्सालय), वर्षाना स्कूल और सनराईजर स्कूल एवं पत्रकार भवन (वर्क पैलेस) विदिशा तथा शासकीय कन्या महाविद्यालय विदिशा में को-वैक्सीन केवल द्वितीय डोज का टीकाकरण कार्य किया जाएगा। जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में तीन स्थल क्रमशः ग्राम खामखेडा कस्बा, ग्राम हांसुआ तथा ग्राम पांझ में टीकाकरण कार्य किया जाएगा। 


कचरा बाहर फैंकने वालो से जुर्माना वसूला जाएगा  


विदिशा नगरपालिका क्षेत्र के सभी वार्डो में कचरा संग्रह करने के लिए निकाय के वाहन घर-घर पहुंच रहे है। विदिशा नगरपालिका क्षेत्र में कचरा फैंकने वालो से अब जुर्माने की राशि एक हजार रूपए वसूली जाएगी। मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह ने बताया कि अन्यत्र कचरा फैंकने वालो पर निगरानी के लिए सीसी कैमरे नगरपालिका का द्वारा वार्डो में स्थापित कराए गए है। इसके अलावा पुलिस के सीसी कैमरो से भी उक्त कार्य की मॉनिटरिंग की जाएगी। सीएमओ श्री सुधीर सिंह ने निकाय क्षेत्र के सभी रहवासियों से आग्रह किया है कि वे अपने घर का कचरा कदापि ना फैंके उनके वार्ड घरों पर आने वाले कचरा वाहन संग्रह में ही कचरा गीला और सूखा अलग-अलग टेंको में डालें ताकि विदिशा नगरपालिका को स्वच्छता के क्षेत्र में अग्रसर हो सकें। अब यदि किसी भी घर के व्यक्ति द्वारा कचरा घूरो, नालियों, अन्यत्र कही डाला जाता है तो उन पर सीसी कैमरे से निगरानी कर जुर्माने की राशि एक हजार वसूलने की कार्यवाही की जाएगी। ऐसे क्षेत्र जो कैमरे की रेंज में नही है उन क्षेत्रों के रहवासियों से ततसंबंध में अपील की गई है यदि किसी व्यक्ति के द्वारा वीडियो क्लिपिंग के माध्यम से भी सूचना दी जाती है तो बाहर कचरा फैंकने वाले व्यक्ति पर जुर्माना अधिरोपित किया जाएगा।


स्वास्थ्य विभाग के दो कर्मचारी निलंबित हुए 


प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कुल्हार में पदस्थ दो स्वास्थ्य कर्मचारियों के द्वारा अपने शासकीय दायित्वों का निर्वहन नही करने तथा मुख्यालय पर निवास नही करने के फलस्वरूप उपरोक्त दोनो कर्मचारियों को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ संजय खरे के द्वारा निलंबित किया गया है। जारी निलंबन आदेश में उल्लेख है कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा विगत दिनों प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कुल्हार का औचक निरीक्षण किया गया था निरीक्षण के दौरान लैब टेक्निशियन श्रीमती अनुपम कुमारी तथा एलएचव्ही श्रीमती कौशल्या चक्रवर्ती अनुपस्थित पाए गए और ये दोनो मुख्यालय पर निवास नही करना पाए जाने पर इन दोनो के खिलाफ प्रथम दृष्टया लापरवाही परलिक्षित होने पर निलंबन की कार्यवाही की गई है। निलंबित दोनो कर्मचारी लैब टेक्निशियन श्रीमती अनुपमा कुमारी तथा लेडी हेल्थ विजिटर (एचएचव्ही) श्रीमती चक्रवर्ती का मुख्यालय जन चिकित्सालय सिरोंज नियत किया गया है। निलंबन अवधि में नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा।


उप पंजीयक का प्रभार  


विदिशा जिला मुख्यालय पर पदस्थ उप पंजीयक श्री दीपक अग्रवाल मंगलवार 13 जुलाई को अनुपस्थित होने के कारण उप पंजीयक का प्रभार सिरोंज के सहायक ग्रेड तीन श्री मनोज कुंमार अहिरवार को सौंपा गया है। उप पंजीयक कार्यालय सिरोंज, ग्यारसपुर के साथ-साथ उप पंजीयक कार्यालय विदिशा में पंजीयन कार्य आगामी आदेश तक संपादित करेंगे के आश्य का आदेश जिला पंजीयक श्री प्रबल प्रताप तोमर के द्वारा जारी किया गया है। 


आज कोविड टीकाकरण सत्र आयोजित होंगे


राज्य स्तर से प्राप्त नवीन निर्देशो के अनुपालन अनुसार आज बुधवार 14 जुलाई को टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया जाएगा। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्माने बताया कि जिले के सभी विकासखण्डो में बुधवार को एक साथ टीकाकरण कार्य किए जाएंगे। बुधवार को कोविड 19 टीकाकरण अभियान के तहतत कोविशील्ड के दोनो डोज (प्रथम व द्वितीय) की तथा को-वैक्सीन का केवल सेकण्ड डोज लगेगा। कोविड 19 प्रोटोकाल अनुसार पात्र हितग्राही अपने आधार कार्ड एवं वोटर आईडी कार्ड सहित नजदीक के टीकाकरण केन्द्र पर टीका लगाने हेतु उपस्थित हो सकते है। जिले में कुल उपलब्ध 16 हजार 717 वैक्सीनेशन का टीकाकरण कार्य बुधवार 14 जुलाई को संपादित होगा। जिसमें विकासखण्डो में पूर्व से उपलब्ध को-वैक्सीन के 4740 डोज तथा कोविशील्ड के 30 डोज के अलावा आज मंगलवार 13 जुलाई को प्रदाय किए गए 12 हजार डोज इस प्रकार कोविशील्ड के कुल 12 हजार तीस डोज जिले में उपलब्ध कराए गए है। विकासखण्डवार आवंटित वैक्सीन तदानुसार विदिशा विकासखण्ड के कुल 4460 वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है जिसमें को-वैक्सीन 1460 तथा कोविशील्ड तीन हजार शामिल है। इसी प्रकार बासौदा के लिए तीन हजार 550 उसमें एक हजार 550 को-वैक्सीन तथा दो हजार कोविशील्ड शामिल है। नटेरन विकासखण्ड के लिए कुल दो हजार 260 वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है जिसमें को-वैक्सीन 260 एवं कोविशील्ड दो हजार शामिल है। सिरोंज विकासखण्ड के लिए कुल दो हजार चालीस डोज वैक्सीन के उपलब्ध कराए गए है जिसमें कोविशील्ड 2030 तथा को-वैक्सीन दो सौ शामिल है। कुरवाई विकासखण्ड के लिए कुल एक हजार दो सौ डोज उपलब्ध कराए गए है जिसमें कोविशील्ड एक हजार तथा को-वैक्सीन दो सौ शामिल है। लटेरी के लिए एक हजार 140 वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है जिसमें को-वैक्सीन 140 तथा कोविशील्ड एक हजार शामिल है। ग्यारसपुर विकासखण्ड के लिए कुल दो हजार 120 वैक्सीन के डोज उपलब्ध कराए गए है जिसमें को-वैक्सीन एक हजार 120 तथा कोविशील्ड एक हजार शामिल है। आवंटित वैक्सीन हेतु प्रातः नौ बजे से सत्र आयोजित करने के निर्देश प्रसारित किए गए है। कोविशील्ड के दोनो डोज लगाए जाएंगे प्रथम डोज वाले हितग्राही को टीकाकरण पर्ची का वितरण किया जाएगा। जबकि को-वैक्सीन का केवल द्वितीय डोज ही लगाया जाएगा।


श्रीहरि वृद्धाश्रम ने प्रशासन के सहयोग से बिहार की बादामीबाई को भेजा अपने घर 75 वर्र्षीय बादामीबाई 3 महीने भटककर पहुंच गई थीं विदिषा 


vidisha news
विदिषा-13 जुलाई 2021/स्थानीय विट्ठल नगर क्षेत्र में सड़कों पर अपनों को पुकारते, रोती-बिलखती 75 वर्षीय विधवा बादामीबाई को 6 जुलाई को सुरक्षित करने हेतु श्रीहरि वृद्धाश्रम में भर्ती किया गया था। इस वृद्धा को उस दिन रात करीब 12 बजे जिला प्रशासन की सूचना पर श्रीहरि वृद्धाश्रम की सेवाभावी टीम ई-रिक्शा लेकर वृद्धाश्रम आई थी, जंहा वृद्धाश्रम की अध्यक्ष श्रीमती इंदिरा-वेदप्रकाश शर्मा ने वृद्धा से बातचीत की उसका नाम-पता पूछा और उसको अपनेपन का विश्वास दिलाते हुए रात में ही श्रीहरि वृद्धाश्रम में प्रवेश दिया।   इसके पश्चात वृद्धाश्रम प्रबंधन और जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयासों से बादामी बाई के घर का पता ढूंढ निकाला गया और उनके पोते सुनील से बात हुई तो उसने बताया कि वह करीब तीन माह पहले घर से  निकली थी, जो विदिषा कैसे पहुंच गईं यह बताना कठिन है। वह प्रायः मन्दिर जाने घर से जाया करती थी, परन्तु उस दिन वह घर नही लौटी। परिणामस्वरूप उसके घर वापस नही आने पर व्हाट्सएप और फेसबुक सहित अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से उसकी खूब खोज की गई, परन्तु पता नहीं चलने पर निराश होकर वे बैठ गए थे। लेकिन जैसे ही सामाजिक न्याय विभाग के उपसंचालक डॉक्टर पीके मिश्रा और श्रीहरि वृद्धाश्रम से उंन्हे सूचना मिली तो उनका पोता जो बेंगलुरु में एक प्राइवेट कंपनी में काम करता है, वह तत्काल ट्रेन में बैठ कर 2 दिन में पुराना जिला चिकित्सालय स्थित श्रीहरि वृद्धाश्रम पहुंचा, जहां अपनी दादी को पाकर वह फूला नहीं समाया। उधर पोते सुनील  को देखकर दादी की अश्रु धारा बहने लगी। अतंतोगत्वा उंन्हे पोते के साथ सम्मान सहित सामाजिक न्याय एवं निशक्त कल्याण विभाग के उपसंचालक डॉक्टर पीके मिश्रा और एस डी एम गोपालसिंह  वर्मा की उपस्थिति में विहार के समस्तीपुर जिले में अपने घर के लिए रवाना किया गया। स्मरणीय है कि 20 वर्षों की सेवा के इतिहास में श्रीहरि वृद्धाश्रम का यह 15 वा प्रयास रहा है। इसके पूर्व अंतर्राज्यीय रूप से भटके हुए वृद्ध जो ट्रेन में बैठकर किसी कारण विदिशा आए थे, उन्हें वृद्धाश्रम प्रबंधन अपने स्तर से अपनो से मिलाने हेतु उनके परिजनों की जानकारी खोज कर वापस उनके वतन पहुंचाने में सफल हो चुका है। श्रीहरि वृद्धाश्रम की अध्यक्ष श्रीमती इंदिरा शर्मा ,वेद प्रकाश शर्मा ने बताया कि इससे पूर्व पश्चिम बंगाल, आसाम ,चेन्नई के कटलूर , बिहार, उत्तर प्रदेश, और महाराष्ट्र के भटककर विदिषा पहुंचे बुजुर्गों को उनके घरों में भेजने में सफलता मिल चुकी है। इन्होंने  श्रीमती बादामीबाई के परिजनों का पता लगाने में डॉ पीके मिश्रा को धन्यवाद देते हुए बताया कि उनकी सम्वेदनशीलता और कर्तव्य परायणता से एक वृद्धा को अपनो से मिलाने में सफलता मिली है। उन्होंने एक सच्चे अधिकारी का परिचय दिया है।  समाजसेवी श्रीमती इंदिरा शर्मा ने बताया कि वृद्धाश्रम में किसी भी बुजुर्गों को रखने में कोई परेशानी नहीं होती ,लेकिन जो बुजुर्ग घर से भटक कर यहां आते हैं ,जब वे यहां रहना नहीं चाहते और बार-बार अपने परिजनों को पुकारने हेतु चीखते-चिल्लाते हैं, परेशान होते है तो यह वेदना देखी नहीं जाती लिहाजा उनके खोजी प्रयास समाज और शासन और मीडिया के सहयोग से सफल हो जाते हैं। आश्रम में प्रवेश के दूसरे दिन से ही वृद्धा बादामीबाई घर जाने की जिद करते हुए  बार-बार  आश्रम से  भागने की कोशिश कर रही थी। वह गेट से कूदकर और अनेक प्रकार से चीख-पुकार कर आश्रम से बाहर निकालने की कोशिश करती रही । अगर उन्हें स्वतंत्र छोड़ दिया जाता तो वह फिर से भटक सकती थी। ऐसे में  उन्हें वृद्धाश्रम की सेवाभावी टीम ने पूरे समय बमुश्किल उनकी देखभाल की   और उनके परिजनों को सकुशल सौंपा। वृद्धाश्रम की अध्यक्ष श्रीमती इंदिरा शर्मा ने बताया कि वृद्धावस्था में याददाश्त की कमी और भूलने की बीमारी के कारण लोगो को अपने बुजुर्गाे का ध्यान रखना चाहिए। उंन्होने बताया कि विदिशा नगर मंे भी भूले भटके अनेक बुजुर्गाे को रात्रि गश्त के दौरान पुलिस  और नगर के लोगो द्वारा वृद्धाश्रम में छोड़ा जाता है, जिनका पता लगाकर उंन्हे वापस जिम्मेदारी से परिजनों को सौंपा जाता रहा है। यह पहला अवसर रहा जब प्रशासन ने अन्तर्राज्यीय वृद्धा को उसके वतन भेजने में सहायता की है। सामाजिक न्याय विभाग के उपसंचालक डॉक्टर पी के मिश्रा ने बताया कि विहार समस्तीपुर जाने हेतु बादामीबाई को सरकारी वाहन से हबीबगंज भोपाल भेजा गया। बुजुर्गाे की सहायता हेतु उनका विभाग हर सम्भव सेवा हेतु तत्पर है । समाज सेवी अतुल शाह भी उंन्हे बिस्किट लेकर विदा करने आश्रम पहुँचे।

कोई टिप्पणी नहीं: