सम्मान में सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 1 अगस्त 2021

सम्मान में सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया

christian-cultural-programe
जयपुर. सेंट जेवियर्स कॉलेज और स्कूल जयपुर में भी जेसुइट के संस्थापक संत इग्नासियुस को याद किया गया.इस अवसर पवित्र मिस्सा अर्पित किया गया.जयपुर के जेसुइट फादरों का अभिनंदन किया गया. अरोक्यासामी, रेक्स एंजेलो, शेरी, जेबा संगीत और रेमंड का अभिनंदन किया गया.इनके सम्मान में सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया गया.    संत इग्नासियुस लोयोला के मार्ग पर चलकर नया समाज बनाने में जुटे हैं.इस क्रम में जान निश्रावर करने में जेसुइट पीछे नहीं रहते हैं.सर्वज्ञात है कि मानवाधिकार कार्यकर्ता फादर स्टेन स्वामी शहीद हो गये.एनआईए की हठधर्मिता के कारण शहीद को अपने लोगों के पास जाने नहीं दिया. फलस्वरूप न्यायिक हिरासत  में ही स्टेन की जान चली गयी.आगामी पांच अगस्त को शहीद स्टेन का शहीद होने का तीसवां दिन है. संत इग्नासियुस के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी गयी.                                                


शनिवार को 465 वां पुण्यतिथि संत इग्नासियुस लोयोला का मनाया गया

*संत इग्नासियुस लोयोला का जन्म 23 अक्टूबर 1491 (530 साल)

* 20 मई 1521 में फ्रांसीसियों केह साथ पांपलोना के युद्ध में घायल (500 साल)

* 27 सितंबर 1546 में संत पिता द्वितीय द्वारा येसु समाज की स्वीकृति मिली ( 475 साल)

* संत इग्नासियुस की मृत्यु 31 जुलाई 1556 (465 साल)

* 12 मार्च 1622 को संत पिता ग्रेगरी पंद्रहवें द्वारा संत घोषित किए गए ( 399 साल)

*25 मार्च, 1522 को बार्सिलोना में मोंटसेराट के मठ में वर्जिन की छवि के सामने, उसने अपनी सैन्य तलवार लटका दिया (499 साल)

 *संत इग्नासियुस लोयोला ने अपने साथियों के साथ 15 अगस्त, 1534 को येसु समाज की स्थापना की (487 साल)

*22 अप्रैल, 2006 को, पोप बेनेडिक्ट सोलहवें ने सोसाइटी ऑफ जीसस के लिए एक यूख्रिस्ट उत्सव की अध्यक्षता की (15 साल)

* संत पिता फ्रांसिस भी जेसुइट हैं

कोई टिप्पणी नहीं: