ड्रेसेल ने पुरुष तैराकी में पांच स्वर्ण जीते, महिलाओं में मैककॉन के नाम रिकार्ड सात पदक - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 1 अगस्त 2021

ड्रेसेल ने पुरुष तैराकी में पांच स्वर्ण जीते, महिलाओं में मैककॉन के नाम रिकार्ड सात पदक

dresel-won-five-gold-in-swiming
तोक्यो, एक अगस्त, अमेरिकी तैराक कैलेब ड्रेसेल ने रविवार को तोक्यो ओलंपिक तैराकी स्पर्धाओं में अपना चौथा और पांचवां स्वर्ण पदक जीता। ऑस्ट्रेलिया की महिला तैराक एम्मा मैककॉन ने भी इस ओलंपिक का अपना चौथा स्वर्ण सहित सातवां पदक जीतकर नया कीर्तिमान स्थापित किया। ये दोनों तैराक इस ओलंपिक के सबसे सफल खिलाड़ियों की सूची में में शामिल है। मैककॉन एक ओलंपिक में सात पदक जीतने वाली पहली महिला तैराक और ओवरऑल (सभी खेलों को मिलाकर) दूसरी खिलाड़ी है। ड्रेसेल ने पुरुष 50 मीटर फ्रीस्टाइल में परचम लहराने के बाद तैराकी की आखिरी स्पर्धा चार गुणा 100 मेडले रिले में टीम को चैंपियन बनने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने इस शानदार प्रदर्शन पर कहा, ‘‘ मुझे खुद पर गर्व है। मुझे लगता है कि मैंने इन खेलों में अपनी क्षमता के मुताबिक प्रदर्शन किया।’’ एक ओलंपिक में पांच स्वर्ण पदक जीतने के साथ ही ड्रेसेल तैराकों की विशिष्ठ श्रेणी में शामिल हो गये है। इससे पहले माइकल फेलप्स ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में आठ स्वर्ण,  मार्क स्पिट्ज  ने 1972 ओलंपिक में सात स्वर्ण, ईस्ट जर्मनी के क्रिस्टिन ओटो ने 1988 में छह स्वर्ण और मैट बियोन्डी ने 1988 ओलंपिक में पांच स्वर्ण पदक जीते थे। महिलओं में मैककॉन के अलावा सिर्फ सोवियत संघ की जिमनास्ट मारिया गोरोखोवस्काया ही एक ओलंपिक में सात पदक जीत सकीं हैं। उन्होंने 1952 हेलसिंकी ओलंपिक में दो स्वर्ण और पांच रजत पदक अपने नाम किये थे।


ड्रेसेल ने जिन स्पर्धाओं में भाग लिया है उसमें वह सिर्फ चार गुणा 100 मिश्रित मेडले रिले में पदक जीतने में नाकाम रहे। इस खेलों में पहली बार आयोजित हुई इस स्पर्धा में हालांकि उनका प्रदर्शन शानदार था। चौबीस साल के ड्रेसेल को रविवार की पहली स्पर्धा 50 मीटर फ्रीस्टाइल में ज्यादा चुनौती नहीं मिली और उन्होंने 21.07 सेकंड के ओलंपिक रिकॉर्ड समय के साथ इसे पूरा किया। इस स्पर्धा का रजत फ्रांस के फ्लोरेंट मनौदौ (21.55 सेकंड) जबकि कांस्य ब्राजील के ब्रूनो फ्रैटस (21.57 सेकंड) के नाम रहा। ड्रेसेल इससे पहले 100 मीटर फ्रीस्टाइल और 100 मीटर बटरफ्लाई में अपना दबदबा बनाते हुए शीर्ष स्थान हासिल किया था। वह इसके साथ ही चार गुणा 100 फ्री रिले में स्वर्ण पदक जीतने वाली अमेरिकी टीम का हिस्सा थे। महिलाओं में मैककॉन ने 50 मीटर फ्रीस्टाइल तैराकी को 23.81 सेकंड में पूरा कर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। वह इससे पहले 100 मीटर फ्रीस्टाइल का स्वर्ण पदक हासिल कर चुकी है।   स्वीडन की सारा सोजोस्ट्रॉम ने  50 मीटर फ्रीस्टाइल का रजत पदक जीता जबकि इसका कांस्य जबकि डेनमार्क की गत ओलंपिक चैंपियन पर्निल ब्लूम के पास गया। ब्रिसबेन की 27 साल की यह तैराक चार गुणा 100 मेडले रिले की उस ऑस्ट्रेलियाई टीम में भी शामिल थी जिसने दो बार के गत चैम्पियन अमेरिका को पछाड़कर पोडियम पर शीर्ष स्थान हासिल किया। मैककॉन ने अब तक चार स्वर्ण सहित सात पदक अपने नाम किये है। वह एक ओलंपिक में सात पदक जीतने वाली पहली महिला तैराक है। बॉबी फिन्के ने 800 मीटर फ्रीस्टाइल में अपना दबदबा बनाए रखने के बाद 1500 मीटर फ्रीस्टाइल में भी स्वर्ण पदक जीता। वह इस स्पर्धा (1500 मीटर फ्रीस्टाइल) में 37 साल के बाद पदक जीतने वाले पहले अमेरिकी खिलाड़ी हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: