इंद्राणी मुखर्जी की बेटी ने किताब लिखी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 17 अगस्त 2021

इंद्राणी मुखर्जी की बेटी ने किताब लिखी

indrani-daughter-write-book
नयी दिल्ली, 17 अगस्त, पूर्व दंपति इंद्राणी और पीटर मुखर्जी की बेटी विधि मुखर्जी ने एक किताब लिखी है जिसमें उन्होंने अपनी यादों को कलमबद्ध किया है। इस पुस्तक का विमोचन मंगलवार को किया गया। ‘डेविल्स डॉटर’ (पिशाच की बेटी) नाम की किताब को वेस्टलैंड ने प्रकाशित किया है। यह पाठकों को उनके (विधि के) जीवन को जानने का मौका देती है कि उन्होंने अपने माता-पिता की गिरफ्तारी को कैसे झेला और वह अवसाद और चिंता से कैसे बाहर आईं। इंद्राणी मुखर्जी को अगस्त 2015 में अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बोरा (24) को अप्रैल 2012 में महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में इंद्राणी ने एक कार में अपने चालक श्यामवीर राय और संजीव खन्ना के साथ कथित रूप से गला घोंटकर मार दिया था। 23 वर्षीय विधि ने किताब में कहा, “ यह किताब हमदर्दी, ध्यान या कुछ हासिल करने के लिए नहीं लिखी गई है। जिस वजह से मैंने इस किताब को लिखने का फैसला किया है, वह मैं लफ्ज़ों में बयां नहीं कर सकती हूं, जो मैं आपको बता सकती हूं वे बता दिया है।” उन्होंने कहा, “ इंसान की जिंदगी में कई ऐसी चीज़ें होती हैं जिसका आप पहले से अंदाज़ा नहीं लगा सकते हैं या उसके लिए तैयार नहीं होते हैं। इस पूरे घटनाक्रम का केंद्र मेरे माता-पिता हैं और इस सबमें मैं खो गई।” यह सब 2015 में विधि के 18वें जन्मदिन से पहले शुरू हुआ जब उनकी मां इंद्राणी मुखर्जी को बोरा की कथित हत्या के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया। विधि ने किताब में कहा कि इसके चार महीने बाद उनके पिता पीटर मुखर्जी को भी जुर्म करने के लिए उकसाने एवं मदद करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। पीटर पूर्व मीडिया कारोबारी हैं और उन्हें इस साल के शुरू में उच्च न्यायालय से जमानत मिल गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं: