बिहार : JDU में गुटबंदी हरगिज बर्दाश्त नहीं : लल्लन सिंह - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 19 अगस्त 2021

बिहार : JDU में गुटबंदी हरगिज बर्दाश्त नहीं : लल्लन सिंह

lalan-singh-warn-worker
पटना : बिहार में नीतिश कुमार पावर में हैं।लेकिन उनकी ही पार्टी में चल रहा पावर गेम में पार्टी धीरे धीरे दो गुटों में बंटती हुई नजर आ रही है। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कमान ललन सिंह के हाथ में जाने के बाद पार्टी के अंदर आपसी मतभेद पैदा कर अलग गुट बनाने की कोशिश की जा रही है। इसी कड़ी में अब ललन सिंह ने बड़ा ऐलान किया है। ललन सिंह ने सीधे तौर पर कहा है कि जदयू में गुटबंदी हरगिज बर्दाश्त नहीं की जाएगी। दरअसल, बाढ़ पीड़ितों से मिलने के बाद एक दिवसीय दौरे पर मुंगेर पहुंचे स्थानीय सांसद और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा कि ऐसे नेताओं और कार्यकर्ताओं को सावधान होने की जरूरत है जो पार्टी के अंदर गुटबंदी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी के अंदर इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा पार्टी को जलाने के लिए अनुशासन और संगठित होना जरूरी है। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी सब कुछ है और पार्टी तभी मजबूत होगी जब सभी कार्यकर्ता पूरी तन मन और एकाग्रता से काम करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी के अंदर अनुशासन बनाए रखना है उनकी पहली प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि पार्टी के नेताओं कार्यकर्ताओं पदाधिकारियों को हमेशा पार्टी हित में काम करना होता है इससे बढ़कर कुछ नहीं होता है। जानकारी हो कि ललन सिंह के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद इस बात की चर्चा तेज हो गई है कि जदयू के अंदर गुटबंदी शुरू हो गई है।आरसीपी सिंह के स्वागत समारोह में पार्टी के बड़े नेताओं को आमंत्रण नहीं देना इस बात का प्रमाण भी है। इसके साथ ही पार्टी के संसदीय दल के नेता का खुलकर प्रयोग प्लेटफार्म पर इस बात को रखना भी इशारा करता है कि जदयू के अंदर सबकुछ ठीक नहीं है।

कोई टिप्पणी नहीं: