बिहार : बाढ़ पीड़ितों के लिए राजद ने लगाया राहत शिविर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 19 अगस्त 2021

बिहार : बाढ़ पीड़ितों के लिए राजद ने लगाया राहत शिविर

rjd-flood-relief-camp
पटना : बिहार में बाढ़ से हालात भयावह हो गया है।कई नदियों के बढ़े जलस्तर के कारण कई गांव डूब चुके हैं।इसी कड़ी में बिहार के नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने बड़ा ऐलान किया है। तेजस्वी ने बाढ़ राहत शिविर का उद्घाटन करते हुए कहा कि राजद द्वारा हर रोज बाढ़ पीड़ितों को मुफ्त में भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। दरअसल,अपने विधानसभा क्षेत्र राघोपुर का निरीक्षण करने के बाद दूसरे दिन नवादा जा रहे तेजस्वी यादव नेबख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक अनिरुद्ध यादव द्वारा बनाये गए अथमलगोला में बाढ़ राहत शिविर का उद्घाटन किया। इसी दौरान उन्होंने कहा कि राजद द्वारा हर एक बाढ़ पीड़ितों को मुफ्त में भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके साथ तेजस्वी यादव ने राजद नेताओं और कार्यकर्ताओं को कई जरूरी दिशा निर्देश भी दिए। तेजस्वी यादव ने कहा कि बाढ़ कि वजह से लोग अपने घर को छोड़कर दूसरी सुरक्षित जगहों पर जाने को मजबूर हो गए हैं। ऐसे समय में राष्ट्रीय जनता दल के सभी विधायक काफी एक्टिव होकर लोगों की मदद कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि राजद द्वारा नवादा में राहत शिविर लगाया गया है। जहां हर दिन पांच हजार लोगों को खाना खिलाया जा रहा है। इसके अलावा सभी क्षेत्रों से विधायक, नेता और कार्यकर्ता अपने-अपने स्तर से जनसेवा में लगे हुए हैं। इसके साथ ही तेजस्वी यादव ने कहा कि बाढ़ के पानी की वजह से होनी वाली बीमारियों से लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है। चूंकि अभी कोरोना महामारी का भी खतरा है, वैक्सीनेशन अभियान भी इसी क्रम में तेजी से चल रहा है तो सरकार को इस तरफ सजगता से ध्यान देने की ज़रुरत है। तेजस्वी ने कहा कि सरकार बाढ़ पीड़ितों को जो 6 हजार रुपये दे रही है, उसे बढ़ाकर 15 हजार रुपये कर देना चाहिए ताकि महंगाई की वजह से किसी परिवार को अपनी जरूरतों को पूरा करने में परेशानी न हो।

कोई टिप्पणी नहीं: