बिहार : बाढ़ पीड़ितों के लिए राजद ने लगाया राहत शिविर - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 19 अगस्त 2021

बिहार : बाढ़ पीड़ितों के लिए राजद ने लगाया राहत शिविर

rjd-flood-relief-camp
पटना : बिहार में बाढ़ से हालात भयावह हो गया है।कई नदियों के बढ़े जलस्तर के कारण कई गांव डूब चुके हैं।इसी कड़ी में बिहार के नेता विपक्ष तेजस्वी यादव ने बड़ा ऐलान किया है। तेजस्वी ने बाढ़ राहत शिविर का उद्घाटन करते हुए कहा कि राजद द्वारा हर रोज बाढ़ पीड़ितों को मुफ्त में भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। दरअसल,अपने विधानसभा क्षेत्र राघोपुर का निरीक्षण करने के बाद दूसरे दिन नवादा जा रहे तेजस्वी यादव नेबख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक अनिरुद्ध यादव द्वारा बनाये गए अथमलगोला में बाढ़ राहत शिविर का उद्घाटन किया। इसी दौरान उन्होंने कहा कि राजद द्वारा हर एक बाढ़ पीड़ितों को मुफ्त में भोजन उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके साथ तेजस्वी यादव ने राजद नेताओं और कार्यकर्ताओं को कई जरूरी दिशा निर्देश भी दिए। तेजस्वी यादव ने कहा कि बाढ़ कि वजह से लोग अपने घर को छोड़कर दूसरी सुरक्षित जगहों पर जाने को मजबूर हो गए हैं। ऐसे समय में राष्ट्रीय जनता दल के सभी विधायक काफी एक्टिव होकर लोगों की मदद कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि राजद द्वारा नवादा में राहत शिविर लगाया गया है। जहां हर दिन पांच हजार लोगों को खाना खिलाया जा रहा है। इसके अलावा सभी क्षेत्रों से विधायक, नेता और कार्यकर्ता अपने-अपने स्तर से जनसेवा में लगे हुए हैं। इसके साथ ही तेजस्वी यादव ने कहा कि बाढ़ के पानी की वजह से होनी वाली बीमारियों से लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है। चूंकि अभी कोरोना महामारी का भी खतरा है, वैक्सीनेशन अभियान भी इसी क्रम में तेजी से चल रहा है तो सरकार को इस तरफ सजगता से ध्यान देने की ज़रुरत है। तेजस्वी ने कहा कि सरकार बाढ़ पीड़ितों को जो 6 हजार रुपये दे रही है, उसे बढ़ाकर 15 हजार रुपये कर देना चाहिए ताकि महंगाई की वजह से किसी परिवार को अपनी जरूरतों को पूरा करने में परेशानी न हो।

कोई टिप्पणी नहीं: