चुनाव आते ही मोदी जी पाकिस्तान के नाम की शरण में चले जाते हैं : सुरजेवाला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 15 अगस्त 2021

चुनाव आते ही मोदी जी पाकिस्तान के नाम की शरण में चले जाते हैं : सुरजेवाला

modi-remember-pakistan-in-election-surjewala
नयी दिल्ली 14 अगस्त, कांग्रेस ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि चुनाव नहीं होते हैं तो श्री मोदी पाकिस्तान से प्यार जताते हैं और चुनाव आते ही पाकिस्तान के नाम की शरण में चले जाते हैं। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शनिवार को यहां जारी विज्ञप्ति में कहा कि भाजपा की विभाजनकारी छल-कपट की पोल खुल गई है और वह देश को नहीं बरगला सकती। उन्होंने कहा कि चुनाव नहीं होते तो श्री मोदी पाकिस्तान से प्यार जताते हैं और चुनाव आते ही “बंटवारे” की शरण में चले जाते हैं। श्री सुरजेवाला ने भाजपा पर हमला करते हुए कहा उपलब्धियों के नाम पर मोदी जी के पास बताने को कुछ नहीं हैं। अब श्री मोदी ने फ़िर बँटवारे की तैयारी शुरू कर दी है। लगता है, उत्तर प्रदेश चुनावों के चलते “श्मशान-कब्रिस्तान” दोहराने की तैयारी हो रही है। उन्होंने इस वर्ष 22 मार्च को श्री मोदी द्वारा ‘बंटवारा दिवस’ पर पाकिस्तान को लिखी बधाई की चिट्ठी को संलग्न करते हुए कहा, “पाकिस्तान को “बंटवारा दिवस” की 22 मार्च को मोदी जी दे रहे बधाई और ट्विटर पर हो रही “रुसवाई”। उन्होंने इसके साथ ही श्री मोदी के बिना बुलाये पाकिस्तान जाने सहित कई घटनाओं का जिक्र करते हुए भाजपा पर हमला किया। उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि भाजपा नेता इतिहास से तो प्रतिशोध ले रहे हैं, पर यह तो बताएं कि वर्तनाम को क्या दे रहे हैं? उन्होंने कहा कि आज देश पूछ रहा है कि पेट्रोल डीज़ल के दाम कब घटाएंगे, खाने का तेल जेब की पहुँच में कब आएगा, पेगासस जासूसी से पर्दा कब उठाएंगे, कृषि विरोधी काले कानून कब वापस लिए जाएंगे, बेरोज़गार युवा कब तक दर दर की ठोकरें खाएंगे और आप इतिहास से प्रतिशोध लेकर कब तक अपनी राजनीति की दुकान सजायेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: