एक से लेकर ग्यारहवें नंबर तक का रिकॉड - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 16 अगस्त 2021

एक से लेकर ग्यारहवें नंबर तक का रिकॉड

one-day-cricket-record
पटना। एक दिवसीय मैच में नंबर 6 पर इस लिस्ट में कपिल देव का नाम शामिल है। कपिल देव ने जिम्बॉब्वे के खिलाफ नाबाद 175 रनों की पारी खेली थी। कुछ इस तरह से नजर आती है यह लिस्ट- 1) मार्टिन गुप्टिल (237), 2 -रोहित शर्मा (264), 3- चार्ल्स कोवेंट्री (194*), 4- विव रिचर्डस (189*), 5 - एबी डीविलियर्स (162*), 6 - कपिल देव (175*), 7 - लुक रॉन्ची (170*), 8 - सिमी सिंह (100*), 9 - आन्द्रे रसेल (92*), 10 - रवी रामपॉल (86*), 11 - मोहम्मद आमिर (58)। यह सब रिकॉड है।


11वें नंबर के खिलाड़ी मोहम्मद आमिर ने बनाया 58

जिसके जवाब में पाकिस्तान की पूरी टीम सिर्फ 275 रनों पर ही सिमट गई। मजेदार बात यह हैं कि टीम के लिए सलामी बल्लेबाज शर्जील खान (58) के साथ ही 11वें नंबर के खिलाड़ी मोहम्मद आमिर ने भी 58 रन बनाए थे। यह स्कोर 11वें नंबर के खिलाड़ी का अभी तक का उच्चतम स्कोर है।


10वें नंबर के खिलाड़ी रवि रामपाल ने नाबाद 86 बनाया

बात 2011 की है जब वेस्टइंडीज की टीम भारत के दौरे पर थी। सीरीज का दूसरा Cricket मैच जो विशाखापतनम में खेला गया था। मैच में वेस्टइंडीज की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 269 रन बनाए थे। वैसे भारतीय खिलाड़ियों ने 48 ओवर में ही मैच जीत लिया था। लेकिन, मजेदार बात यह है कि इस मैच में वेस्टइंडीज के 10वें नंबर के खिलाड़ी रवि रामपाल ने नाबाद 86 रन बना दिए थे। जो दसवें नंबर के बल्लेबाज का उच्चतम स्कोर है।


9वें नाबाद 92 रन आंद्रे रसेल बनाए

2011 में ही वेस्टइंडीज जब भारत के दौरे पर थी तब सीरीज के तीसरे Cricket मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम 50 ओवर में आठ विकेट खोकर सिर्फ 225 रन ही बना सकी थी। वैसे तो भारतीय टीम ने रोहित शर्मा के बेहतरीन अर्धशतक की मदद से 46 ओवर में ही जीत दर्ज कर ली थी। लेकिन, आपकों बता दें कि वेस्टइंडियन खिलाड़ी आंद्रे रसेल ने नवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। उन्होंने 64 गेंदों में नाबाद 92 रन बनाए। जो आज भी रिकॉर्ड है।


8वें स्थान पर सिमी सिंह का जुझारू नाबाद शतक

यह रिकॉर्ड अभी कुछ दिनों पहले ही बना है। जब दक्षिण अफ्रीका और आयरलैंड की टीमें डबलिन के मैदान पर एक दूसरे के सामने थीं। मैच में अफ्रीकी टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और दो जबर्दस्त शतकों की बदौलत 346 रनों का पहाड़ खड़ा कर दिया। वैसे तो आयरलैंड की टीम जीत नहीं सकती थी, लेकिन फिर भी आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे सिमी सिंह का जुझारू नाबाद शतक इतिहास में दर्ज हो गया। आठवें स्थान पर बल्लेबाजी करने उतरे किसी भी बल्लेबाज का यह सर्वोच्च स्कोर है।


7वें स्थान पर 170 रन बनाया ल्यूक रोंची 

न्यूजीलैंड और श्रीलंका के बीच डुनेडिन के मैदान पर 23 जनवरी, 2015 को खेला गया सीरीज का पांचवां मैच तो अलग ही रोमांच लेकर आया। इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड का स्कोर एक समय 20 ओवर में 93 रन पर 5 विकेट हो गया था, कि तभी मैदान पर आया ल्यूक रोंची नाम का तूफान, जिसने 99 गेंदों में ही 170 रन बनाकर टीम को 360 रन तक पहुंचा दिया। उनके यह स्कोर Cricket इतिहास में दर्ज हो चुके हैं। जो शायद टूटना मुश्किल है।


6 वें स्थान पर कपिल देव 175 रन बनाया

1983 Cricket विश्व कप का 20 वां मैच कोई कैसे भूल सकता है। जब भारत की नई नवेली टीम एक बड़े मंच पर उस समय की मजबूत टीमों में से एक जिम्बाम्बे के सामने नेविल ग्राउंड पर मौजूद थी। वैसे तो भारतीय की कहीं से उम्मीद नहीं थी कि वो जीत दर्ज कर लेगी और पहली पारी में उनके सिर्फ 17 रन पर 5 विकेट इस बात की गवाही भी दे रहे थे। लेकिन, भारतीय कप्तान कपिल देव कुछ अलग ही मूड में थे। इसीलिए तो उन्होंने उस जमाने में भी टी20 अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए 175 रन बना दिए। उनकी इस ऐतिहासिक पारी के दम पर ही भारत ने जिम्बाम्बे को 31 रनों से मात दी थी।


पांचवें नंबर के बल्लेबाज एबी ने 162 रन बनाया

2015 ICC क्रिकेट विश्वकप का 19 मैच वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला गया था। जिसमें वेस्टइंडीज की टीम सिर्फ 151 रन ही बना सकी थी और उसे 257 रन से हार झेलनी पड़ी थी। यह मैच एबी डिविलियर्स की 66 गेंदों में खेली गई नाबाद 162 रन की पारी की वजह से इतिहास में दर्ज हो गया। उनके रनों की बदौलत अफ्रीका ने 408 रन बनाए थे। आपको बता दें कि डिविलियर्स की यह पारी पांचवें नंबर के बल्लेबाज द्वारा खेली गई सर्वोच्च पारी है।


चौथे नंबर पर विव रिचर्डस 189*

1983 Cricket World Cup के बाद 1984 में वेस्ट इंडीज की टीम इंग्लैंड के दौरे पर गई थी। तब सीरीज के पहले ही एकदिवसीय मैच में वेस्टइंडीज ने 55 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 272 रन बनाए थे। तब धाकड़ बल्लेबाज विवियन रिचर्ड्स ने 170 गेंदों में 189 रन बनाए थे।  यह रिकॉर्ड आज तक कायम है।


तीसरे नंबर के खिलाड़ी चार्ल्स कोवेंट्री ने नाबाद 194 रन बनाया

2009 में बांग्लादेश की टीम जिम्बाम्बे के टूर पर गई थी। तब सीरीज के चौथे मैच में जो बुलावायो में खेला गया था में जिम्बाम्बे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 8 विकेट के नुकसान पर 312 रन बनाए थे। इस मैच में जिम्बाम्बे के भरोसेमंद मध्यक्रम के बल्लेबाज चार्ल्स कोवेंट्री ने नाबाद 194 रन की पारी खेली। जिसके बाद उन्होंने सईद अनवर के तत्कालीन सबसे बड़े स्कोर की बराबरी की थी और अब यह तीसरे नंबर के खिलाड़ी का सर्वोच्च स्कोर बन चुका है।


दूसरे नंबर पर रोहित शर्मा 264 रन बना दिए

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को विश्व Cricket में हिटमैन के नाम से जाना जाता है। जिन्होंने वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा तीन बार दोहरे शतक लगाने का रिकॉर्ड बनाया है। सिर्फ इतना ही नहीं 13 नवम्बर 2014 के दिन उन्होंने एक ऐसा कारनामा कर दिया जो ना सिर्फ उनका बल्कि विश्वक्रिकेट का भी सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर बन गया। जी हां उन्होंने श्रीलंका के गेंदबाजों की धज्जियां उड़ाते हुए 173 गेंदों में 264 रन बना दिए थे। उस दिन उन्होंने दूसरे नंबर पर स्ट्राइक ली थी।


पहला नंबर मार्टिन ने धमाकेदार 237 रन बना दिए

2015 Cricket विश्वकप के चौथे क्वाटर फाइनल मैच में न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज की टीमें आमने-सामने थीं। तब कीवी टीम के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल ने टीम के लिए 163 गेंदों में 11 छक्कों और 24 चौकों की मदद से धमाकेदार 237 रन बना दिए। जिसकी मदद से टीम ने वेस्टइंडीज को 143 रन से मात दे दी थी। पारी की शुरुआत करने वाले किसी भी बल्लेबाज का यह सबसे बड़ा स्कोर है।

कोई टिप्पणी नहीं: