सरकारी संपत्तियों में निजी क्षेत्र की भागीदारी योजना पर भड़की प्रियंका - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 24 अगस्त 2021

सरकारी संपत्तियों में निजी क्षेत्र की भागीदारी योजना पर भड़की प्रियंका

priyanga-angry-to-sell-government-sector
नयी दिल्ली, 24 अगस्त, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रेलवे, राष्ट्रीय राजमार्गों जैसी कई सरकारी संपत्ति में निजी क्षेत्र को हिस्सेदार बनाने की केंद्र सरकार की योजना की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि यह सरकार देश की जनता की मेहनत से बनी करोड़ों की संपत्ति को अपने मित्रों को सौंप रही है। श्रीमती वाड्रा ने ट्वीट किया, “आत्मनिर्भर का जुमला देते-देते पूरी सरकार को ही ‘अरबपति मित्रों’ पर निर्भर कर दिया। सारा काम उन्हीं अरबपति मित्रों के लिए, सारी सरकारी संपत्ति उन्हीं के लिए।” उन्होंने कहा कि आज़ादी के बाद देश ने जो संपति बनाई है उसे मोदी सरकार मित्रो में लुटा रही है। श्रीमती वाड्रा ने कहा, “सत्तर सालों में देश की जनता की मेहनत से बनी लाखों करोड़ रुपए की संपत्ति अपने अरबपति मित्रों को दे रही है ये सरकार।” गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन योजना को लॉन्च करते हुए कहा था कि इसके तहत ढांचागत विकास से जुड़ी कुछ संपतियों में अगले चार साल में निजी हाथों को हिस्सेदार बना कर छह लाख करोड़ रुपये जुटाए जाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: