दूसरे टेस्ट में राहुल का शतक, रोहित चूके, भारत मजबूत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 13 अगस्त 2021

दूसरे टेस्ट में राहुल का शतक, रोहित चूके, भारत मजबूत

rahul-century
लंदन , 12 अगस्त, सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (नाबाद 127) के शानदार शतक और उनकी रोहित शर्मा (83) तथा कप्तान विराट कोहली (42 ) के साथ दो शतकीय साझेदारियों की बदौलत भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के पहले दिन गुरूवार को पहली पारी में 90 ओवर में तीन  विकेट पर 276 रन का मजबूत स्कोर बना लिया। राहुल ने तेज गेंदबाज मार्क वुड की गेंद पर बेहतरीन स्क्वेयर ड्राइव से चौका मारकर लॉर्ड्स में पहला और अपना कुल छठा शतक बनाया। राहुल लॉर्ड्स में शतक बनाने वाले तीसरे भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। दो अन्य बल्लेबाज वीनू मांकड और मौजूदा  भारतीय कोच रवि शास्त्री हैं। एशिया के बाहर किसी भारतीय ओपनर का यह चौथा शतक है और इस मामले में उन्होंने पूर्व ओपनर वीरेंदर सहवाग की बराबरी कर ली है। राहुल का इंग्लैंड में यह लगातार तीन टेस्टों में तीसरा फिफ्टी प्लस का स्कोर है।  उन्होंने शतक पूरा करने के बाद हेलमेट निकालकर बल्ला और हेलमेट उठाते हुए दर्शकों का अभिवादन किया और फिर कप्तान विराट के गले लगकर उनकी बधाई स्वीकार की। इंग्लैंड के कप्तान जो  रुट ने सुबह टॉस जीतकर आसमान में बादलों को देखकर पहले फील्डिंग करने का फैसला किया और शुरूआती घंटे में भारतीय बल्लेबाजों को इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों के सामने संघर्ष करना पड़ा। भारत ने सुबह के सत्र में 18.4 ओवर में मात्र 46 रन जोड़े।  राहुल ने अपने पहले 21 रनों के लिए 105 गेंदें खेलीं। रोहित ने राहुल के साथ 126 रन की ओपनिंग साझेदारी में अपना दबदबा बनाया लेकिन वह जिम्मी एंडरसन की गेंद पर बोल्ड होकर शतक बनाने से चूक गए।  रोहित ने शानदार बल्लेबाजी की और 145 गेंदों पर 83 रन में 11 चौके और एक छक्का लगाया। पहले विकेट के लिए 126 रन की साझेदारी में रोहित छाये रहे और उन्होंने राहुल के मुकाबले कहीं तेज गति से बल्लेबाजी की। उनकी पारी देखकर लग रहा था कि वह अपना शतक पूरा कर लेंगे लेकिन यह उनका दुर्भाग्य कहा जा सकता है कि एंडरसन की गेंद उनके डिफेंस को छकाती हुई स्टंप्स में घुस गयी। एंडरसन ने खराब दौर से गुजर रहे एक अन्य भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा को चायकाल से ठीक पहले तीसरी स्लिप में जानी बेयरस्टो के हाथों लपकवाकर भारत को दूसरा झटका दे दिया।  पुजारा 23 गेंदों में नौ रन बनाकर आउट हुए। भारत का दूसरा विकेट 150 के स्कोर पर गिरा। राहुल ने फिर कप्तान विराट के साथ तीसरे विकेट के लिए 117 रन की साझेदारी की।  इस साझेदारी में राहुल ने दबदबा बनाया और अपना शतक पूरा किया।  विराट ने अपनी पिछली विफलता को पीछे छोड़ते हुए 103 गेंदों में तीन चौकों के सहारे 42 रन की पारी खेली।  विराट दूसरी नयी गेंद के साथ तेज गेंदबाज ओली रॉबिन्सन की गेंद पर पहली स्लिप में इंग्लैंड के कप्तान जो रुट के हाथों लपके गए। विराट का विकेट 267 के स्कोर पर गिरा। हालांकि उस समय दिन का खेल समाप्त होने में 5.2 ओवर बचे थे लेकिन भारत ने कोई नाईट वॉचमैन नहीं भेजा और उपकप्तान अजिंक्या रहाणे बल्लेबाजी करने उतरे। रहाणे ने दूसरी नयी गेंद के सामने कुछ मुश्किल समय निकाला और 22 गेंदों में एक रन बनाकर राहुल के साथ नाबाद पवेलियन लौटे। इंग्लैंड की तरफ से एंडरसन ने 52 रन पर दो विकेट और रॉबिन्सन ने 47 रन देकर एक विकेट लिया। 

कोई टिप्पणी नहीं: