कृषि कानूनों को रद्द कर किसानों से माफी मांगे मोदी सरकार: गहलोत - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 31 अगस्त 2021

कृषि कानूनों को रद्द कर किसानों से माफी मांगे मोदी सरकार: गहलोत

withdraw-farmer-law-gahlot
जयपुर, 31 अगस्त, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हरियाणा के करनाल में किसानों के साथ हिंसा की निंदा करते हुए मंगलवार को कहा कि मोदी सरकार कृषि कानूनों को निरस्त कर किसानों से माफी मांगे। गहलोत ने ट्वीट किया,' हरियाणा के करनाल में जिस तरह किसानों के साथ हिंसा की गई वह निंदनीय है। ऐसी क्रूर कार्रवाइयों से देशभर में किसानों को भड़काने का माहौल बनाया जा रहा है।' उन्होंने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री अलग-अलग तरह से बयान दे रहे हैं जिसका कोई अर्थ ही नहीं निकल रहा है। उन्होंने लिखा कि हरियाणा सरकार के अधिकारी किसानों पर हिंसात्मक कार्रवाई के निर्देश दे रहे हैं जिस पर पूरे देश में प्रतिक्रिया हो रही है लेकिन ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है। गहलोत के अनुसार,' मोदी सरकार किसानों के सब्र का इम्तिहान ना लेकर तुरंत कृषि कानूनों को निरस्त कर किसानों से माफी मांगे।' उल्लेखनीय है कि अनेक जगह पर किसान केंद्रीय कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: