सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 09 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 9 सितंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 09 सितम्बर

सम्मान समारोह पौधारोपण में मंडी पहुंचे सीएम के सलाकार, चौबे का मुस्लिम महिला कार्यकर्ताओं ने किया जोरदार स्वागत

  • एसडीएम सीएमओ टीआई का स्मृति चिंह भेंटकर शॉल श्रीफल भेंटकर किया सम्मान  

 

sehore news
सीहेार। भाजपा की मुस्लिम महिला कार्यकर्ताओं ने युवा चेतना मंच के संरक्षक वरिष्ठ भाजपा नेता मान सिंह पवार के संयोजन में मंडी स्थित राधे गार्डन में गुरूवार को आयोजित सम्मान समारोह और पौधारोपण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रमुख सलाकार शिव चौबे का पुष्प मालाएं और गुलदस्ते भेंटकर आत्मीयता के साथ जोरदार स्वागत किया। कार्यकम में विशेष अतिथि के रूप में वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय,संत समता महाराज, भाजपा नेता मोहन चौरसिया, अशोक राठौर, डॉ पूरन सिंह राठौर, पूर्व विधायक अजीत सिंह, प्रदीप बिजोरिया, मांगीलाल सोलंकी सम्मिलित हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता भाजपा सीहेार मंडल अध्यक्ष पिं्रस राठौर के द्वारा की गई। मुख्य अतिथि श्री चौबे के साथ अतिथियों ने पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम संयोजक वरिष्ठ भाजपा नेता मान सिंह पवार सहित भाजपा मंडल उपाध्यक्ष सन्नी सरदार महिला मोर्चा की भाजपा नेत्री सुनिता राठौर शमा खान, रानो बी, केसर बी,सलमा बी,,पूजा शाक्य ,सन्नो बी, ,सोगम, सुमेरा, परवीन बी,खतीजा बी,अक्षा ,इलमा बी, हुसैना बी आदि ने अतिथियों का पुष्प मालाओं साफा बांध और गुलदस्ता भेंटकर स्वागत किया। कार्यक्रम के दौरान सीहेार एसडीएम रवि वर्मा, नगर पालिका सीएमओ संदीप श्रीवास्तव एवं मंडी थाना टीआई अर्जुन जायसवाल का स्मृति चिंह भेंटकर शॉल श्रीफल भेंटकर सम्मान किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि शिव चौवे ने कहा की गांव का सरपंच से लेकर प्रधानमंत्री में भाजपा का है यह सब का सबका साथ सबका विकास भावना से हीं हुआ है उन्होने कहा की सीहोर से चालीस साल पुराना नाता है हम संगठन का कार्य करते हुए समर्पणधारी कार्यकर्ताओं  के घर भोजन करने जाते थे एकता समरसता केवल भाजपा में हीं है। मंच आप ने शुसौभित किया है राजनीतिक परिपेक्ष में देखे तो विचार धारा के साथ भाजपा लगातार कार्य कर रहीं है। उन्होने अन्य मुददों पर भी विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से नरेंद्र राजपूत, चंदन शाक्य ,सुमन प्रियंका, उमा कुशवाहा, सानिया, मनीषा कुशवाहा, सीमा शाक्य, यशोदा, डाली कुशवाह, ममता, सुलभा शाक्य, अमरा भाई, कलाबाई, राजल बाई, सरोज ठाकुर, वरूण राठौर, अशीष पचौरी, नुतन राठौर, ज्योति मालवीय, मनोरमा शर्मा, सत्यम राठौर, समा पठान, राजू बोयत, राजेश परिहार हरीश राठौर सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक भाजपा कार्यकर्ता सम्मिलित रहे।


आंदोलन में मृतक किसानों को दिया जाए शहीद का दर्जा, राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ ने राष्ट्रपति से की है मांग, किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री ने नाम दिया ज्ञापन


sehore news
सीहेार। राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ ने राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री के नाम गुरूवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर डिप्टी कलेक्टर को ज्ञापन दिया है। राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ ने राष्ट्रपति से हरियाणा के करनाल में किसानों के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों पर हत्या एवं हत्या के प्रयास तथा देशद्रोह का मुकदमा कायम करने एवं साजिश के तहत लोकतंत्र पर बड़ा दाग लगाने वाली हरियाणा सरकार को बर्खास्त करने सहित आंदोलन के दौरान मृत किसानों को शहीद का दर्जा देने घायल किसानों को 25 लाख रूपये का मुआवजा देने की मांग की है। इसी प्रकार राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से किसानों की विभिन्न समस्याओं का निराकरण कराने और किसानो को बीमा राशि का भुगतान 12 प्रतिशत ब्याज की दर से 1 वर्ष का व्याज जोड़कर बीमा राशि का भुगतान किया जाने की मांग की गई है। किसान नेताओं ने कहा की देश की पहचान अन्नदाता किसान है उसी देश में किसानों पर बर्बरता पूर्वक कार्यवाही हो रही है एवं किसान दु:खी एवं लाचार है।  वर्तमान परिस्थितियों पर शीघ्र सज्ञान लेते हुये हरियाणा सरकार एवं संबंधित अधिकारी को बर्खास्त करते हुये दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे आन्दोलन को किसानों की मांगों को मानने के लिये केन्द्र सरकार को आदेशित किया जाये। जिससे किसानों के जीवन को बचाया जा सकें एवं किसान अपनी फसल उगाने के लिये अपने खेतों पर रवाना हो सके। मुख्यमंत्री के नाम दिए ज्ञापन में राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ ने कहा की खरीब फसल सोयाबीन, मक्का, उड़द, मूग आदि फसल कीट प्रकोप एवं अल्प वषाज़् के कारण पूरी तरह से 100 प्रतिशत नष्ट हो चुकी किसान अगली फसल के लिये खेत खाली करना चाहते है अत: खरीब फसल 2021 का तत्काल सर्वे कराकर राहत राशि 


प्रसोयाबीन की नई किस्म आरबीएस 76 से दुगना होगा उत्पादन


sehore news
सीहोर। एक ओर पिछले कई सालों से जिले भर के किसान सोयाबीन के कम उत्पादन से परेशान है, लंबे समय से इंदौर नाके के समीपस्थ इंदिरा नगर निवासी कृषक बहादुर सिंह दांगी अपनी करीब छह एकड़ जमीन में सोयाबीन की नई किस्म आरबीएस 76 की बोवनी की है और आगामी दिनों में दुगना उत्पादन की उम्मीद है। आस-पास के किसान उनके खेत में लहराने वाली सोयाबीन की फसल को आश्चर्य से देख रहे है। वहीं कृषक श्री दांगी का कहना है कि सोयाबीन के पौधे की ऊंचाई पांच फीट के करीब है और इस नई किस्म में एकड़ में आठ से 10 क्विंटल उत्पादन होने की उम्मीद है। पहले आमतोर पर सोयाबीन की फसल इस दौर में चार क्विंटल उत्पादन दे रही है। कृषण के पास में साढ़े नौ एकड़ जमीन है और हर साल अनेक फसलों के माध्यम से अच्छा उत्पादन ले रहे है। इस संबंध में जानकारी देते हुए कृषक श्री दांगी ने बताया कि सोयाबीन की नई किस्म आरबीएस 76 का बीज उन्होंने आरएके कालेज द्वारा प्राप्त किया था, उन्होंने बताया कि कालेज में सोयाबीन के विशेषज्ञ डॉ.एसआर रामगीरी के सुझाव पर उन्होंने अपने खेत में नई किस्म की बोवनी की थी और अब पौधे की ऊंचाई और फल की संख्या में वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा कि सोयाबीन की फसल अब ज्यादा पानी में न खराब होगी, न कम पानी में सूखेगी। पीला मोजेक वायरस का फसल पर अटैक भी नहीं होगा। किसानों को इसी खरीफ सीजन में वायरस प्रतिरोधी बीज मिलेंगे। इसके अलावा उन्होंने किसानों से कहा कि खरपतवार नियंत्रण के लिए डोरा या कोल्पा चलाया जाना, नींदानाशक रसायन के उपयोग से बेहतर है। क्योंकि इससे खेत में पलवार हो जाती है, जिससे सतह से नमी की हानि रुक जाती है। इसके अलावा मिट्टी में वायु संचरण भी अच्छा हो जाता है, जो जड़ों के विकास, वृद्धि व पोषक तत्वों के शोषण के लिए महत्वपूर्ण है।


हर एकड़ 10 क्विंटल से अधिक उत्पादन होने की उम्मीद

हर तरह किसानों का कहना है कि सोयाबीन की फसल बांझ हो रही है, वहीं कृषक का कहना है कि उन्होंने अपने छह एकड़ के खेत में सोयाबीन की नई किस्म की बोवनी की है और उनको उम्मीद और विश्वास है कि हर एकड़ में दस क्विंटल से अधिक उत्पादन होगा। उन्होंने बताया कि सोयाबीन फसल की इस किस्म में 105 दिन के पीरियड में फसल पक जाती है। दान की जाये। तत्काल सर्वे कराकर किसानों को और बी.सी. एक्ट की धारा 64 के अन्र्तगत तत्काल राहत राशि प्रदान की जाये क्योकि किसानो की सफल लगातार 4 वर्षो से नष्ट हो रही है। तत्काल किसानो को बीमा राशि का भुगतान 12 प्रतिशत ब्याज की दर से 1 वर्ष का व्याज जोड़कर बीमा राशि का भुगतान किया जायें क्योंकि फसल बीमा योजना में यह नियम है। किसानों को फसलों के वास्तविक उत्पादन के आधार पर गणना करते हुये बीमा राशि दी जायें एवं फसल बीमा में 5 साल तथा 3 साल की अनावरि रिर्पोट की बाद्धता को समाप्त किया जाये प्रत्येक वर्ष के नूकसान के आधार पर बीमा राशि का भुगतान किया जाये। मोटर व्हीकल एक्ट के अनुसार प्रत्येक खेत को इकाई मानते हुए फसल का बीमा किया जायें। प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना को राज्य सरकार के द्वारा बीमा कम्पनी बनाई जायें जिससे किसानों को तत्काल बीमा का लाभ प्राप्त हो सके सहित अन्य मांगें की गई। ज्ञापन देते समय बाबूलाल पाटीदार,डॉ. सुरेश दुबे,यशवन्तसिंह मेवाडा, मांगीलाल ठाकुर,मांगीलाल पटेल,नारायणसिंह ठाकुर,विक्रमसिंह पटेल,बलराम मुकाती,सोभालसिंह ठाकुर,देवकरण मेवाडा,प्रहलाद सिंह भगतजी,धरमसिंह भैंसानिया, अर्जुनसिंह मुकाती,श्रवण पटेल,आत्माराम, भगत सिंह, शेर सिंह, राजेंद्र गौर, रामचंद्र कैलाश, लाल सिंह, नंदलाल पटेल , कैलाश, संतोष चंदन सिंह परमार, विष्णु प्रसाद, राजमल परमार आदि मौजूद रहे। 


बकतन पहुंचे जमीयत उलेमा ए हिन्दू के नये सदर, अंजुमन कमेटी ने किया गांव पहुंचने पर स्वागत


sehore news
सीहेार। अमनो शांति का पैगाम लेकर जमीयत उलेमा ए हिन्द के सदर अहमद खान ने साहब बकतल गांव पहुंचे। गांव पहुंचने पर जमीयत उलेमा ए हिन्द के सदर का अंजुमन कमेटी ने के सदस्यों के द्वारा फूल मालाओं से स्वागत किया गया। कमेटी के एहसान खान ने बताया की अमीरे शरीअत मुफ्ती-ए-आज़म, सदर जमीअत उलामा-ए हिन्द के सदर जनाब अहमद खॉन ने ग्रामवासियों से मुलाकात कर मिलजुलकर रहने सुख दुख में साथ निभाने नमाज की पाबंदी करने मुल्क की तरक्की के लिए दुआ करने का उन्होने पैगाम दिया। कार्यक्रम के दौरान अहमद खॉन,एहसान खान,जफर लाला, इस्माइल चाचा, अफजल खान, रेहान खान, अजमत पठान, श्याम राठौर, हीरालाल, देवी सिंह ठेकेदार, जीवन दादा, प्रहलाद दादा, गुड्डू बाबा, हाजी बशारत, रईस हाफिज साहब आदि मौजूद रहे।


पीपल और बरगद के वृक्ष से मिलती है सर्वाधिक ऑक्सीजन, इसलिए रोपे जाएं पौधे


sehore news
सीहोर। यदि पेड़-पौधे नहीं होंगे तो जीवन पर संकट गहराएगा। आज जिस तरह से शहर का तापमान बढ़ता जा रहा है। उससे आने वाले समय में और भी अधिक समस्या होगी। इसके साथ ही शुद्ध हवा भी मिलेगी। उक्त विचार मंडी स्थित शासकीय मनुबेन में लायंस क्लब सीहोर शौर्य के तत्वाधान में आयोजित पौधारोपण कार्यक्रम के दौरान अध्यक्ष खुशी उपाध्याय ने कहे। इस मौके पर विद्यालय परिसर में पीपल और बरगद का पौधा लगाकर उसकी जिम्मेदारी का संकल्प भी लिया गया। कार्यक्रम में उपस्थित बीओ आरसी वर्मा, सचिव संतोष अग्रवाल और उषा साहू आदि ने अपने विचार व्यक्त किए। अध्यक्ष श्रीमती उपाध्याय ने कहा कि पिछले दिनों कोविड संकट काल के समय दूसरी लहर ने ऑक्सीजन की कमी का हर किसी को अहसास करा दिया गया। इसी के साथ अब पौधरोपण को लेकर भी लगातार जागरूकता बढ़ रही है। जिसके तहत लगातार पौधारोपण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि संगठन की महिलाओं द्वारा भी कम से कम एक बरगद के पौधे का रोपण किया जाएगा। महिलाओं का मानना है कि जानकार बताते हैं कि बरगद का पेड़ सबसे अधिक ऑक्सीजन प्रदान करता है। इसलिए बरगद का पौधा लगाया जाएगा। महिलाओं द्वारा भी आव्हान किया जा रहा है कि हर नागरिक कम से कम एक-एक बरगद के पौधे का रोपण किया जाए।


अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन के प्रदेशाध्यक्ष कमल अजमेरा का स्वागत


सीहोर। अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन जिनकी शाखाएं पूरे देश के अलावा दुनिया के कई देशों में भी है और अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन का एक ही उद्देश्य है कि वैश्य समाज एकजुट होकर देश और समाज की सेवा में रत रहे। उक्त विचार फेडरेशन के प्रदेशाध्यक्ष कमल अजमेरा ने व्यक्त किए। इस संबंध में जानकारी देते हुए अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन की जिलाध्यक्ष श्रीमती ज्योति अग्रवाल ने बताया कि प्रदेशाध्यक्ष के नगर आगमन पर स्वागत किया गया था। इस मौके पर ब्लॉक अध्यक्ष शरद मोदी, ममता मोदी, संतोष मित्तल, उषा, कमलेश चांडक, अशोक सोडानी ने किया इसके अलावा आष्टा में श्रीमती मीना सिंगी, ब्लॉक अध्यक्ष महिला विंग बेला मुन्दरा, बंटू सोनी सुनील सेठी, कमलेश जैन पसंतोष मित्तल उषा ध्यावाले भी उपस्थित थी। इस मौके पर कमलेश चांडक और अशोक सोडानी आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए। 


जगदीश मंदिर में महा आरती के पश्चात बैठक का आयोजन


सीहोर। शहर के छावनी स्थित प्राचीन जगदीश मंदिर में शुक्ल पक्ष दूज को भगवान जगदीश की विशाल महा आरती का चतुर्थ आयोजन पर महा आरती का आयोजन किया गया। इस मौके पर शहर सहित आस-पास के श्रद्धालुओं ने भाग लिया। बुधवार को आयोजित आरती के पश्चात एक विशेष बैठक का आयोजन किया गया। इस संबंध में जानकारी देते परमार युवा समाज के अध्यक्ष तुलसीराम पटेल ने बताया कि मंदिर परिसर में अतिक्रमण होने के कारण मंदिर का सौदर्यीकरण नहीं हो पा रहा है। उन्होंने बताया कि शहर के छावनी स्थित प्राचीन जगदीश मंदिर हजारों श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र है। परमार समाज के राज गुरु 232 मंदिरों के जीर्णोद्धार व अखिल भारतीय धर्म संघ के अध्यक्ष ब्रह्मलीन श्री 1008 पंडित काशीप्रसाद कटारे की प्रेरणा से इस मंदिर का जीर्णोद्धार सन 1961 में परमार समाज ने किया था। मंदिर में सौंदर्यीकरण के लिए गत दिनों पौधारोपण सहित अन्य कार्य भी किए जा रहे है। आने वालों दिनों में मंदिर की सुरक्षा के लिए बाउंड्रीवाल का निर्माण कार्य पूर्ण किया जाएगा। इसके पश्चात अन्य धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा, लेकिन पिछले कई सालों से मंदिर की भूमि पर अवैध रूप से आरा मशीन संचालित की जा रही है। जिसके कारण प्रदूषण होता है और आरा मशीन के पास लकडिय़ा का ढेर, बुराद आदि अन्य कचरों का ढेर पड़ा रहता है। यहां पर आरा मशीन वाले ने मंदिर पर बड़े स्तर पर अतिक्रमण कर मंदिर की पवित्रता बुरी तरह नष्ट कर दी है। इसके लेकर गत दिनों बैठक का आयोजन भी किया गया था। इस मौके पर चंदर सिंह मंडलोई, सूरज सिंह परमार, नंद किशोर परमार, विष्णु परमार, शेर सिंह परमार मुरली, विजय, बने सिंह, विक्रम लखन परमार, विजेन्द्र परमार, गब्बर परमार, अनार सिंह, रामनारायण परमार, देव नारायण परमार, सुरेश परमार, कमल सिंह, लाड़ सिंह, भगवान सिंह सरपंच, महेन्द्र सिंह, शिव प्रसाद, देव नारायण, मुकेश, महेन्द्र पटेल बिजौरी, विमल और भगवान सिंह बवाडिय़ा, वीर सिंह, प्रहलाद सिंह आदि शामिल थे। मंदिर परिसर में साफ-सफाई बनाए और यहां पर अतिक्रमण को हटाए जाने के लिए बैठक का आयोजन किया गया था।


लाखों की राशि से बीएसआई खेल मैदान का किया जाएगा विस्तार, विधायक सुदेश राय ने मैदान पर जारी निर्माण कार्यों का किया भूमि पूजन


सीहोर। खेल प्रतिभाओं को अब साधन-संसाधनों का अभाव नहीं झेलना पड़ेगा। क्योंकि, जिला क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष और विधायक सुदेश राय ने अपनी विधायक निधि से मैदान के पास टीन शेड, खिलाडिय़ों पवेलियन में बैठने की सुविधा का निर्माण होगा। इसके अलावा जिला खेल मैदान पद खिलाडिय़ों के लिए अभ्यास करने के लिए दो पिच का निर्माण किया जाएगा। बुधवार को पांच लाख से होने वाले निर्माण कार्य का विधि-विधान से विधायक श्री राय ने किया। इस संबंध में जानकारी देते हुए डीसीए के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि विधायक श्री राय द्वारा बीएसआई मैदान को विकसित करने के लिए अनेक कार्य किए जा रहे है। बुधवार को भी सैकड़ों खिलाडिय़ों की मौजूदगी में विधायक श्री राय द्वारा मैदान के विस्तार को लेकर पांच लाख रुपए से कराए जाने वाले कार्यों का भूमि पूजन किया गया। इसके अलावा अपने तय कार्यक्रम के दौरान बीएसआई मैदान पर पहुंचकर  यहां पर मौजूद खिलाडिय़ों का उत्साहवर्धन किया। इन दिनों खिलाडिय़ों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। यहां पर मौजूद जिला क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव अतुल तिवारी ने बताया कि विधायक श्री राय द्वारा आगामी दिनों में अनेक निर्माण किए जाऐंगे जिससे मध्यप्रदेश के अन्य खेल मैदान से बीएसआई खेल मैदान की तुलना की जाएगी। कार्यक्रम के दौरान विधायक श्री राय ने कहा कि हमारा प्रयास है कि खिलाडिय़ों को सभी सुविधाएं और प्रशिक्षण मैदान पर ही मिले इसके लिए आगे भी कार्य किए जाऐंगे। भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सीताराम यादव, भाजपा मंडल अध्यक्ष प्रिंस राठौर, एसोसिएशन की ओर से सुरेन्द्र रल्हन, विरेन्द्र वर्मा, इरफान हुसैन, प्रदीप आहुजा, मदन कुशवाहा, महेश दुबे, अतुल कुशवाहा के अलावा यहां पर अनेक खिलाड़ी मौजूद थे।


एमएसपी बढ़ाने का फैसला कृषि कानूनों पर भ्रम फैलाने वालों को मोदी सरकार का करार जवाब: रवि मालवीय


sehore news
सीहोर। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की सरकार किसानों की आय को दोगुना करने और उन्हें उनकी उपज का लाभदायक मूल्य प्रदान कराने के लिए दृढ़ संकल्पित है। इसके लिए केंद्र सरकार लगातार कदम उठा रही है,जिनके अच्छे परिणाम भी दिखाई देने लगे हैं। हाल ही में केंद्रीय कैबिनेट ने रबी सीजन 2022-23 के लिए फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में जो वृद्धि की है,उसके पीछे भी मोदी सरकार का उद्देश्य किसानों को उनकी फसलों का लाभदायक मूल्य दिलाना ही है। इसके साथ ही केंद्र सरकार का यह निर्णय उन लोगों को करारा जवाब है,जो सिर्फ अपनी राजनीति के लिए कृषि कानूनों के संबंध में भ्रम फैला रहे हैं। भाजपा सीहोर जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय ने यह बात रबी फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कही। श्री मालवीय ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा गेहूं के समर्थन मूल्य में 40 रुपये, जौ के समर्थन मूल्य में 35 रुपये, चने में 130 रुपये, मसूर और सरसों में 400 रुपये तथा कुसुम के फूल के समर्थन मूल्य में 114 रुपये प्रति क्विंटल की जो वृद्धि की है,वह किसानों के हित मे एक स्वागतयोग्य कदम है। जिला भाजपा अध्यक्ष रवि मालवीय ने देश के अन्नदाता किसानों के हित मे लिये इस निर्णय के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं केंद्रीय कृषि मंत्री श्री नरेंद्रसिंह तोमर के प्रति आभार जताते हुए कहा कि सरकार के इस कदम से किसानों को उनकी उपज का लागत की तुलना में अधिक लाभदायक मूल्य मिल सकेगा। श्री मालवीय ने कहा कि इस निर्णय से केंद्र सरकार ने यह बता दिया है कि वह हर कदम पर किसानों के साथ है और सरकार का यह निर्णय उन लोगों के लिए करारा जवाब है,जो जानबूझकर एमएसपी और कृषि कानूनों के संबंध में किसानों को गुमराह कर रहे हैं। श्री मालवीय ने कहा कि रबी की जिन फसलों के समर्थन मूल्य में वृद्धि की गई है,उनमें से अधिकांश का उत्पादन मध्यप्रदेश के किसान भी करते हैं और मोदी सरकार के इस निर्णय का लाभ उन्हें भी रबी सीजन में मिलेगा। श्री मालवीय ने देश और प्रदेश के किसानों को समर्थन मूल्य बढ़ने पर बधाई देते हुए उनसे आह्वान किया कि वे उन लोगों को बेनकाब करें, जो किसान हितैषी होने का ढोंग करके किसानों को भड़का रहे हैं,उनका नुकसान कर रहे हैं।


चर्मरोग निदान शिविर में चर्मरोगी चिन्हित कर किया उपचार


sehore news
राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन अभियान के अंतर्गत मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकरी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया तथा जिला कुष्ठ उन्मूलन अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे के निर्देशन में जिले के समस्त विकासखण्ड स्तर पर चर्म रोग निदान शिविर आयोजित किए गए। शिविर में कुष्ठ एमबी के 7 तथा पीबी के 6 केस चिन्हित किए। शिविर में फिजियोथेरेपिस्ट श्री आरएसओड ने चर्मरोग से संबंधित रोगियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि श्यामपुर के पीलीकरार में पीबी के 2 केस, नसरूल्लागंज के बोरघाटी में पीबी और एमबी का 1-1 केस, बुदनी के बकतरा में एमबी का 1 केस, नसरूल्लागंज के बावडीखेडा में पीबी का 1 और एमबी के 3, आष्टा श्यामपुरा में पीबी के 2, इछावर के दिवडिया में एमबी के 2 केस चिन्हित किए गए। नागरिकों को परीक्षण कर आवश्यक उपचार दिया गया।


अल्पसंख्यक पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के ऑनलाइन आवेदन 30 नवम्बर तक


अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र-छात्राओं को शैक्षणिक सत्र 2021-22 में दी जाने वाली पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित किये गये है। भारत सरकार ने नवीन तथा नवीनीकरण के लिए 30 नवम्बर निर्धारित की है।  इसके पहले पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत ऑनलाईन आवेदन कर सकते है। छात्रवृत्ति के आवेदन के लिए विद्वार्थी को भारत सरकार की बेवसाइड National Scholarship portal www.scholarships.gov.in  जिसकी लिंक भारत सरकार की बेवसाइड www.minorityaffairs.gov.in  पर भी उपलब्ध है।  


अल्पसंख्यक मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति के लिए 30 नवम्बर तक ऑनलाइन आवेदन


अल्पसंख्यक मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति सत्र 2021-22 हेतु ऑनलाईन आवेदन करने बाबत् विज्ञापन का प्रकाशन समाचार पत्रों में कराने बाबत् भारत सरकार अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र-छात्राओं को शैक्षणिक सत्र 2021-22 में दी जाने वाली अल्पसंख्यक मेरिट कम मीन्स छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित किये जाना है। प्रकाशित ताकि भारत सरकार द्वारा निर्धारित दिनांक 30.11.2021 तक नवीन नवीनीकरण विद्यार्थी आवेदन कर सके। छात्रवृत्ति के आवेदन के लिए विद्वार्थी को भारत सरकार की बेवसाइड National Scholarship portal www.scholarships.gov.in  जिसकी लिंक भारत सरकार की बेवसाइड www.minorityaffairs.gov.in  पर भी उपलब्ध है।  


अल्पसंख्यक प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन आवेदन आंमत्रित, आवेदन की अंतिम तिथि 15 नवम्बर निर्धारित


भारत सरकार अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र-छात्राओं को शैक्षणिक सत्र 2021-22 में दी जाने वाली अल्पसंख्यक प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति सत्र 2021-22 के लिए ऑनलाईन आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 नवम्बर तय की गई है। प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित किये जाना है। छात्र-छात्राएं छात्रवृत्ति के लिए आवेदन कर सकते है। छात्रवृत्ति के आवेदन के लिए विद्वार्थी को भारत सरकार की बेवसाइड National Scholarship portal www.scholarships.gov.in जिसकी लिंक भारत सरकार की बेवसाइड www.minorityaffairs.gov.in  पर भी उपलब्ध है।


अल्पसंख्यक प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए ऑनलाइन आवेदन आंमत्रित, आवेदन की अंतिम तिथि 15 नवम्बर निर्धारित


राज्य शासन के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा विभाग की वेव साईट http//www.food.gov.in पर दुकान आवंटन के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया समझाई गई है। दुकान विहीन ग्राम पंचायतों में दुकानों के लिए मध्यप्रदेश सहकारी सोसायटी अधिनियम, 1960 की धारा 10 की उपधारा (1) के अंतर्गत वर्गीकृत उपभोक्ता सोसायटी, विपणन सोसायटी, उत्पादक सोसायटी, संसाधन सोसायटी, बहुप्रयोजन सोसायटी महिला स्व सहायता समूह, संयुक्त वन प्रबंधन समिति से अनुविभाग सीहोर की दुकानविहीन ग्राम पंचायतों में उचित आवंटन के लिए 05 अक्टूबर 2021 तक पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।    दुकानविहीन ग्राम पंचायतों लोधीपुरा, सुआखेडी, अरनिया सुल्तानपुरा, पीलूखेडी, बमूलिया दोराहा, बरखेडादेवा, दौलतपुरा, जमोनियाखुर्द, छापरीदोराह, सरखेड़ा, कादमपुर, निवारिया, गुलखेड़ी, मगरखेड़ा, करजखेड़ा, देवली, पचपीपलिया, नोनीखेडीगोसाई, अल्हादाखेड़ी, टिटोरा, हीरापुर, खेडली, कुलासखुर्द, खारी, मुंगावली दोराहा, अजमतनगर, छत्तरपुरा, बर्री, बनखेड़ा, सोनकच्छ, पानविहार, कचनारिया, कपूरी, बड़नगर, सेमलीकला, लसूडिया धाकड, आमला, मुलानी, सेवनिया, बिजौरा, शेखपुरा, चितोडिया लाखा, गुडभेला, कराडिया भील, छापरीकला, रायपुर नयाखेडा, लसुडिया परिहार, पडली संग्रामपुर, बरखेड़ाखरेट के लिए आवेदन कर सकते है।


ग्रामीण युवाओं को मिलेगा कौशल विकास प्रशिक्षण, करीब 50 हजार लोगों को स्थानीय स्तर पर मिलेंगे रोजगार के अवसर


जल जीवन मिशन के अंतर्गत प्रदेश के प्रत्येक गाँव में पाइपलाइन द्वारा जलापूर्ति के लिये नलजल प्रदाय योजनाएँ बनाने का कार्य किया जा रहा है। नलजल योजनाओं का संचालन-संधारण ग्राम स्तर पर समुदाय की भागीदारी के साथ ग्राम, ग्राम पंचायत के अंतर्गत गठित की गयी ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति द्वारा किया जायेगा। संधारण कार्यों के लिए स्थानीय ग्रामीण युवाओं को कौशल विकास का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश की अवधारणा में तकनीकी दक्षता में प्रशिक्षण उपरांत तैयार कुशल मानव संसाधन को रोजगार के पर्याप्त एवं बेहतर अवसर उपलब्ध हो सकेंगे। इस प्रकार की गतिविधियों से जल आपूर्ति प्रणालियों का दीर्घकालिक स्थायित्व सुनिश्यित करते हुए समुदायों के बीच जिम्मेदारी और उत्तरदायी नेतृत्व विकसित करने में मदद मिलेगी। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा तकनीकी कौशल प्रशिक्षण के लिये प्रत्येक ग्राम से चयनित किये गये उपयुक्त व्यक्तियों को मोटरपंप-रिपेयरिंग, प्लम्बर, पम्प-ऑपरेटर, मेसन (राज मिस्त्री), फिटर एवं इलेक्ट्रिशियन ट्रेड में लगभग 50 हजार व्यक्तियों को मध्यप्रदेश राज्य कौशल एवं रोजगार निर्माण बोर्ड (MPSSDEGB) के माध्यम से ऑफलाइन प्रशिक्षण दिलाये जाने का प्रस्ताव निष्पादित किया गया है। प्रशिक्षण व्यय जल जीवन मिशन के अंतर्गत “सपोर्ट एक्टिविटी मद” में भारित किया जायेगा, इस योजना की लागत 17.12 करोड़ रूपये है। प्रत्येक प्रशिक्षण-सत्र की अवधि तीन दिवस होगी। प्रशिक्षण-सत्र के उपरांत चौथे दिवस में प्रशिक्षणार्थियों का मूल्यांकन किया जायेगा तथा उन्हें प्रमाण-पत्र वितरित किये जायेंगे। जल जीवन मिशन के अंतर्गत प्रदेश के प्रत्येक गाँव में हर घर को नल से जल की सुविधा देने का कार्य किया जा रहा है, जो 2023 तक पूरा किया जाना है। प्रत्येक गाँव में पेयजल आधारित अधोसंरचना का निर्माण करने तथा नल योजना पूर्ण होने के बाद उसके रखरखाव एवं मरम्मत कार्य की सुविधा होना आवश्यक है। प्रशिक्षित मानव संसाधन/तकनीशियन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये जल जीवन मिशन के अंतर्गत स्थानीय मानव संसाधन को प्रशिक्षित किये जाने का प्रावधान किया गया है।


राशन दुकानों के लिए ऑनलाइन आवेदन आंमत्रित


राज्य शासन के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा विभाग की वेव साईट http//www.food.gov.in पर दुकान आवंटन के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया समझाई गई है। दुकान विहीन ग्राम पंचायतों में दुकानों के लिए मध्यप्रदेश सहकारी सोसायटी अधिनियम, 1960 की धारा 10 की उपधारा (1) के अंतर्गत वर्गीकृत उपभोक्ता सोसायटी, विपणन सोसायटी, उत्पादक सोसायटी, संसाधन सोसायटी, बहुप्रयोजन सोसायटी महिला स्व सहायता समूह, संयुक्त वन प्रबंधन समिति से अनुविभाग सीहोर की दुकानविहीन ग्राम पंचायतों में उचित आवंटन के लिए 05 अक्टूबर 2021 तक पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।   दुकानविहीन ग्राम पंचायतों लोधीपुरा, सुआखेडी, अरनिया सुल्तानपुरा, पीलूखेडी, बमूलिया दोराहा, बरखेडादेवा, दौलतपुरा, जमोनियाखुर्द, छापरीदोराह, सरखेड़ा, कादमपुर, निवारिया, गुलखेड़ी, मगरखेड़ा, करजखेड़ा, देवली, पचपीपलिया, नोनीखेडीगोसाई, अल्हादाखेड़ी, टिटोरा, हीरापुर, खेडली, कुलासखुर्द, खारी, मुंगावली दोराहा, अजमतनगर, छत्तरपुरा, बर्री, बनखेड़ा, सोनकच्छ, पानविहार, कचनारिया, कपूरी, बड़नगर, सेमलीकला, लसूडिया धाकड, आमला, मुलानी, सेवनिया, बिजौरा, शेखपुरा, चितोडिया लाखा, गुडभेला, कराडिया भील, छापरीकला, रायपुर नयाखेडा, लसुडिया परिहार, पडली संग्रामपुर, बरखेड़ाखरेट के लिए आवेदन कर सकते है।

कोई टिप्पणी नहीं: