सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 22 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 22 सितंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 22 सितम्बर

जमीनी व मेहनती कार्यकर्ताओं को हमेशा सम्मान देती है कांग्रेस-पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह


sehore news
सीहोर। कांग्रेस पार्टी में जमीनी और मेहनती कार्यकर्ताओं को हमेशा से सम्मान दिया जाता है। जनता भी केंद्र व प्रदेश की भ्रष्ट व नाकारा सरकार से उब चुकी है और अब कांग्रेस की तरफ देख रही है। कांग्रेस की सरकार में आम जनता सुखी थी, लेकिन वर्तमान की केन्द्र की भाजपा सरकार और प्रदेश की शिवराज सरकार के कार्यकाल में हर व्यक्ति परेशान है। उक्त विचार इंदौर-भोपाल पुराने पुराने राज्यमार्ग स्थित ग्राम पंचामा में इछावर विधानसभा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहे। इस मौके पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तुलसीराम पटेल के नेतृत्व में ग्राम पंचामा में पूर्व सीएम श्री सिंह का भव्य स्वागत किया गया और राजा भोज की तस्वीर भेंट की। इस मौके पर पूर्व सीएम ने कहा कि महंगाई के कारण पूरे देश परेशान है। कार्यक्रम के दौरान जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष बलवीर तोमर, अभय मेहता, ब्लाक कांग्रेस इछावर अध्यक्ष अनार सिंह, भेरू सिंह परमार, महेन्द्र परमार, राजीव गुजराती, हरीश राठौर, राजाराम बड़े भाई, राजू राजपूत, हरगोविन्द दरबार, जफरलाला, बल बहादुर भगत, राजू मेवाड़ा, आशीष गेहलोत, कपिल गौर, भगवत सिंह तोमर, मृदुल राज तोमर, हर्षदीप राठौर, पूरण शाक्य, रघुवीर सिंह दांगी, राजेश कौशल, जगदीश निगोदिया, राधेश्याम, विजय परमार, महेन्द्र पटेल, बाबूल लाल पटेल, दशरथ परमार, मांगीलाल,  आजाद सिंह राजपूत, मुन्ना, कमल सेन, सतीश परमार, राहुल सिंह, हरिओम परमार, रामनारायण परमार, इत्खार अहमद, विजय परमार, विमल परमार, मनोहर, हरि मेवाड़ा और राजेश परमार आदि शामिल थे। 

कोरोना से बचाव के लिए बहुत ही जरूरी है टीके का डोज-संचालक राहुल सिंह


sehore news
सीहोर। कोरोना से बचाव के लिए टीका लगवाना बहुत ही ज्यादा जरूरी है। हमने देखा है कि जब कोरोना की दूसरी लहर आई थी, उस दौरान क्या स्थिति बनी थी। इसीलिए तीसरी लहर से पहले यह टीका बहुत ही ज्यादा जरूरी है। उक्त विचार शहर के सैकड़ाखेड़ी स्थित संकल्प नशा मुक्ति केन्द्र में स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा बुधवार को टीकाकरण अभियान में बड़ी संख्या में नशा पीडि़त हितग्राहियों को उत्साहित करते हुए केन्द्र के संचालक राहुल सिंह ने कहे। वहीं केन्द्र में टीकाकरण के दौरान स्वास्थ्य विभाग की ओर से मौजूद प्रभारी हरिओम मेवाड़ा ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए यह जरूरी है कि सभी लोग आगे आकर टीका जरूर लगवाएं। सरकार ने सभी लोगों के लिए मुफ्त में टीका उपलब्ध करा रखी है। टीका का दोनों डोज समय से लगवाना बहुत जरूरी है। उन्होंने इस मौके पर वैक्सीन से जुड़ी भ्रांतियों के बारे में बातचीत की।  कुछ लोगों के मन में सवाल थे कि टीका लेने के बाद बुखार क्यों आता है। इसमें कोई मिलावट तो नहीं है। लेने के बाद कोई दिक्कत तो नहीं होगी। सरल अंदाज में जवाब दिया। जिसमें कहा कि टीके के बाद किसी-किसी को बुखार आना सामान्य सी बात है। जैसे किसी भी बच्चे को टीका लेने के बाद बुखार आता है। एक-दो बुखार की दवा से यह ठीक हो जाता है। किसी तरह की संभावित दिक्कत के सवाल का जवाब दिया कि वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है। इसमें किसी भी तरह की कोई मिलावट नहीं है। लोग भ्रांतियों से बचकर अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर टीका जरूर लगवाएं। बुधवार को टीकाकरण के दौरान सेंटर प्रभारी नटवर कुशवाहा, मनीष सोनी, अमित जैन, आनंद व्यास, अंकित अवस्थी, श्रवण सिंह संधु, बाबू सिंह संधु आदि शामिल थे। 


छात्राओं ने फ्रीडम रन के माध्यम से दिया फिट रहने का संदेश



sehore news
सीहोर। नेहरू युवा केंद्र सीहोर द्वारा जिला युवा अधिकारी श्रीमति निक्की राठौर के मार्गदर्शन में आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत फिट इंडिया फ्रीडम रन 2.0 का आयोजन सीहोर विकासखंड के ग्राम पचामा के शासकीय हाईस्कूल में राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक पवन पंसारी और मेघा महेश्वरी के नेतृत्व में किया गया। प्राचार्य श्री सूरज सिंह परमार ने हरी झंडी दिखाकर दौड़ को रवाना किया, जिसमें उत्साहपूर्वक बड़ी संख्या में विशेष रूप से छात्राओं ने सहभागिता की और फिट रहने का संदेश दिया। विजेताओं में प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान पर क्रमशः ऋषिका मेवाड़ा, संध्या मेवाड़ा और परिना धुर्वे को प्रमाण-पत्र प्रदान किये गए। श्री राजेश राठौर, श्रीमति बरखा मिश्रा, राजकुमारी भगत, वन्दना व्यास, शकुन मालाकार आदि स्टाफ के सदस्यों ने छात्राओं की सफलता पर हर्ष व्यक्त किया है।



श्री सत्यनारायण मंदिर ट्रस्ट की नई कार्यकारिणी का गठन


sehore news
सीहोर। शहर के छावनी स्थित बड़ा बाजार श्री सत्यनारायण मंदिर ट्रस्ट की एक विशेष बैठक का आयोजन किया। इस मौके पर नई कार्यकारिणी का गठन किया गया है। जिसमें सर्व सम्मति से ट्रस्ट के अध्यक्ष के रूप में हरीशचंद्र अग्रवाल को मनोनित किया गया है। इस मौके पर श्री अग्रवाल ने कहा कि उन्हें जो भी जिम्मेदारी मिली है उसका पालन पूरी ईमानदारी और कर्मठता से किया जाएगा। हर साल मंदिर में अनेक धार्मिक कार्यक्रमों के साथ छप्पन भोग और अन्नकूट उत्सवों का आयोजन समय-समय पर किया जाता है। इस संबंध में जानकारी देते हुए श्री सत्यनारायण मंदिर ट्रस्ट के सचिव विष्णु दयाल भरतिया ने बताया कि गत दिनों ट्रस्ट की बैठक का आयोजन बड़ा बाजार अग्रवाल पंचायत भवन में किया गया था। जिसमें अन्य पदाधिकारियों की घोषणा की गई है। जिसमें उपाध्यक्ष श्याम सुंदर मोदी, सचिव विष्णु दयाल भरतिया, कोषाध्यक्ष गोविंद मित्तल, इसके अलावा ट्रस्टी राजकुमार ध्यावाले, गोपाल अग्रवाल, पवन गुप्ता आदि शामिल है। बधाई देने वालों द्वारका दास अग्रवाल, माधो प्रसाद अग्रवाल सुभाष चंद अग्रवाल, अजय बंसल, डॉ कैलाश अग्रवाल, राजकुमार गुप्ता, डीडी मित्तल, गोवर्धन दास मोर, ओम रोहिल्ला, आशीष अग्रवाल गुप्ता आदि शामिल है। 


तीन बार किया जनप्रतिनधियों ने भूमि पूजन इस के बाद भी नहीं बनी भोई मोहल्ले में सड़क
  • सड़क के लिए 15 सालों से संघर्ष कर रहे हैं वार्ड 11 के नागरिक
  • कलेक्ट्रेट में नागरिक बोले गुमराह करते है जनप्रतिनिधि और नपा के अधिकारी

sehore news
सीहोर। राधेश्याम मंदिर के पीछे रहने वाले वार्ड क्रमांक 11 भोई मोहल्ला क्षेत्र के नागरिक 15 वर्षों से सड़क निर्माण के लिए संघर्ष कर रहे हैं। जबकी सड़क निर्माण के लिए तीन बार तत्कालीन नगर पालिका अध्यक्ष पार्षद ने भूमि पूजन कर दिया है। बाबजूद इस के अबतक सीसी सड़क निर्माण नहीं किया गया है। नागरिकों ने जनप्रतिनिधियों की लापरवाही और नगर पालिका के अधिकारियों के द्वारा गुमराह किए जाने की शिकायत भी जनसुनवाई में की है। कलेक्ट्रेट पहुंचकर सड़क निर्माण नहीं होने से परेशान नागरिकों ने समाजसेवी लोकेंद्र वर्मा के नेतृत्व में डिप्टी कलेक्टर को ज्ञापन देकर क्षेत्र में सीसी सड़क निर्माण करा कर समस्या के निराकरण की मांग की है। नागरिकों के साथ पहुंचे श्री वर्मा ने बताया की हमारी समस्या का अभी तक कोई भी निवारण नहीं हुआ है नगर पालिका के अधिकारियों द्वारा कोई भी स्पष्टीकरण इस मामले में नहीं दिया जाता है सिर्फ गुमराह किया जाता है जबकी सड़क नहीं होने से नरेशानियों का सामना करना पड़ा है। सीएम हेल्पलाइन पर भी बार-बार शिकायत कर चुके है लेकिन कोई निराकरण नहीं किया जाता है। नागरिक नगर पालिका कार्यालय जाते है तो अधिकारियों द्वारा बताया जाता है कि सीएमओ द्वारा वर्क आर्डर नहीं दिया जा रहा है जिस कारण सड़क निर्माण नहीं किया जा रहा है। जन प्रतिनिधि भी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे है। सड़क निर्माण कराने की मांग क्षेत्र के अशोक, नवीन यादव, कम्मू भाइर्, महेश रैकवार, रमेश, जुगल किशोर यादव, ज्योति यादव, महेंद्र कुशवाहा, पूनम कुशवाहा, अरुण रैकवार, फूलवती शर्मा, पुष्पा, साधना, दीपिका, विनोद गुप्ता, बंटी, खुशब,ू नरेंद्र रैकवार, अजय,दिनेश रैकवार, गोविंद, गौतम, नितेश, सोहेल, महेश, शिव यादव ,पूरन सिंह, अर्चना रैकवार, राजेश रैकवार, अजय रैकवार, सुनील रैकवार, शीला बाई, दामोदर राठौर, कला बाई, राजा शर्मा, राम यादव, कमला बाई आदि नागरिकों ने की है। 


तत्काल मदद कर वरिष्ठ समाजसेवी राय ने बचाई गुडडु की जिंदगी, डॉक्टर की लापरवाही के कारण किडनी में फैल गया था इंफेक् शन
  • कुशवाह परिवार में खुशियां लौटाने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन

sehore news
सीहोर। वरिष्ठ समाजसेवी हृदय सम्राट द प्रिंस ऑफ  सीहोर अखिलेश राय ने लेबर कॉलोनी वार्ड 19 में निवासरत कुशवाह परिवार में खुशियां लौटाने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया। घटनाक्रम की जानकारी लगते ही वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय ने प्राइवेट हॉस्पिटल वालों से चर्चा की और एक लाख रूपये का बिल माफ करवा दिया। समाजसेवी श्री राय ने देवता की तरह एक परिवार को बिखरने से बचा लिया। लेबर कॉलोनी में निवासरत गुडडू कुशवाह का किडनी को लेकर ईलाज भोपाल के निजी अस्पताल में किया जा रहा  था यह पर डॉक्टर की लापरवाही के कारण किडनी में इंफेक् शन हो गया था दुर्भाग्यवश उनकी किडनी में संक्रमण की वजह से शरीर में जहर फैलने लगा था। हालत खराब होने पर गुडडु की पत्नि मीना कुशवाह ने मायके वालों के परामर्श और ससूराल पक्ष की सहमति से सागर जिले के प्राइवेट हॉस्पिटल में गंभीर अवस्था में गुडडु कुशवाह को भर्ती करा दिया था। पति के ईलाज के लिए पत्नि मीना मदद के लिए जहां तहां भटक रहीं थी इधर 4 बच्चियां का पिता गुडडु जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा था ऑपरेशन करना जरूरी था प्राइवेट हॉस्पिटल वालों ने दो लाख रूपये के इंतजाम करने के लिए मीना को कहा था। इतनी बड़ी रकम चुकाने में परिवार असमर्थ था। प्राइवेट हॉस्पिटल वालों ने ऑपरेशन की तैयारियां शुरू कर दी थी। इस विकट परिस्थिति से गुडडु की पत्नि मीना ने भाजपा नेत्री सुनीता राठौर  प्रिंस राठौर ,सन्नी सरदार  प्रेम राय को अवगत कराया था। घटनाक्रम की जानकारी लगते ही वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय ने सागर जिला स्थित प्राइवेट हॉस्पिटल वालों से चर्चा की और एक लाख रूपये का बिल माफ करवाया। समाजसेवी श्री राय ने देवता की तरह एक परिवार को बिखरने से बचा लिया।  स्थिति को ध्यान में रखते हुए तत्काल प्रिंस राठौर ,सन्नी सरदार, आशीष पचौरी, कमलेश कुशवाहा, दिनेश कुशवाहा हरीश राठौर, अर्चना राजपूत, सोनू ठाकुर, प्रिया शाक्य,मधु पुष्पद ,प्रदीप बिजोरिया द्वारा नगद 11 हजार रूपये की राशि भी पीडि़त परिवार को प्रदान की गई। इस पुनीत कार्य के लिए कुशवाह परिवार ने समाजसेवी अखिलेश राय एवं अन्य सहयोगकर्ताओं का हद्रय से आभार व्यक्त किया। 



छोटे छोटे लक्ष्यों को उत्साह से पूर्ण करें,  निश्चित मिलेगी बढी सफलता - पूर्व भारत निर्वाचन आयुक्त श्री ओपी रावत

 

sehore news
पूर्व भारत निर्वाचन आयुक्त श्री ओपी रावत ने छात्र छात्राओं को सिविल सेवक बनने की तैयारी पर चर्चा करते हुए कहा है, कि बढे सपनों को साकार करने के लिए उसे छोटे छोटे टुकड़ो में तोड़ ले, फिर प्रत्येक खंड को उत्साह से पूर्ण करें, निश्चित सफलता मिलेगी। वे आज सीहोर में जिला प्रशासन एवं यूपीएससी निःशुल्क आदर्श परिवार द्वारा आयोजित संवाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। पूर्व आयुक्त श्री रावत ने कहा कि शिक्षा के दो पहलू रखो एक अंदर और एक बाहर। अंदर का अर्थ है कि खुद घर पर मतलब टेबल पर कितनी तैयारी कर रहे और बाहर मतलब कोचिंग में कितना समय दे रहे हैं। जितना अधिक समय खुद पढने पर देंगे उतनी जल्दी सफलता मिलेगी। हमें सीढ़ियों को डायरेक्ट नहीं चढना चाहिए, बल्कि छोटे छोटे कदमों से चलना चाहिए। कोरोना महामारी में जो स्थिति अभी चल रही है उसमें एक स्टडी में देखा गया है, कि जो कंपटीशन बच्चे पहले किया करते थे। वह अब कम हो गया हैं, कोरोना महामारी के कारण विभिन्न प्रकार के कोर्स जो बाहर विदेशों में जाकर करने होते थे, नहीं कर पाए। यह सिविल सेवा की परीक्षा है, जिसे घर में रहकर भी किया जा सकता है और सिविल सेवा की तैयारी की तरफ रुझान बढा। इस बढ़ते कंपटीशन को जीतने के लिए समयबद्ध प्लानिंग के साथ आगे बढना होगा। साथ ही हमें स्ट्रेस को मेनेज भी करना होगा। उन्होंने कहा कि जब मैं भारत निर्वाचन आयोग में आयुक्त रहा तब मैंने देखा कि यह बॉडी चुनाव के समय पर बहुत अधिक शक्तिशाली हो जाती है और स्वतंत्र और निष्पक्ष रूप से काम करती है तथा शांति पूर्ण तरीके से चुनाव कराने के लिए सारे इंतजाम करती है। आयुक्त श्री रावत ने छात्र छात्राओं के सवालों के जवाब भी विस्तार से दिए। सीहोर के टाउन हॉल में कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर की पहल और यूपीएससी निःशुल्क कोचिंग आदर्श परिवार के डायरेक्टर श्री परीक्षित भारती के सहयोग से 15 सितंबर से सुबह 8 बजे से 10 बजे तक नियमित संचालित हो रही है। इस दौरान एसडीएम श्री रवि वर्मा, भूगोल के शिक्षक श्री रामलखन मीणा, राजनीति केशिक्षक श्री टीकासर बंसल, करंट अफेयर्स श्री सोनू प्रजापति,  इथिक्स के शिक्षक श्री विष्णु योगी और छात्र छात्राएं उपस्थित थे।
 

मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना में हितग्राही महिला को मिलती है 16 हजार रूपए की राशि

 

मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना के अंतर्गत हितग्राही महिला को प्रथम किश्त में 4 हजार तथा द्वित्तीय किश्त में 12 हजार इस प्रकार की कुल 16 हजार रूपए की सहायता राषि प्रदाय किए जाने का प्रावधान है। प्रथम गर्भावसथा की दषा में प्रथम किश्त की राशि में से केवल एक हजार रूपए प्रदान किए जाएंगे,  शेष राशि रूपए तीन हजार रूपये का भुगतान मातृ वंदना योजना के अंतर्गत महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा प्रदान किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्रमिक सेवा प्रसूति सहायता योजना की पात्रता के अंतर्गत 18 वर्ष से अधिक उम्र की गर्भवती महिला एवं प्रसूताएं, संबंधित महिला अथवा उसका पति असंगठित कर्मकार मंडल अथवा मप्र भवन संनिर्माण कर्मकार मण्डल अंतर्गत पंजीकृत होना चाहिए यह पंजीयन की जांच एनआईसी द्वारा प्रदान की गई वेब सर्विस के माध्यम से प्राप्त जानकारी के आधार पर सत्यापित की जाएगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि गर्भावथा के दौरान निर्धारित अवधि में अंतिम तिमाही तक चिकित्सक एएनएम द्वारा  प्रसव पूर्व जांच कराने पर 4 हजार रूपये की राशि हितग्राही महिला के खाते में प्राप्त होती है। उन्होंने बताया कि प्रथम गर्भावथा जांच गर्भावसथा के प्रथम 12 सप्ताह की अवधि तक, द्वित्तीय गर्भावसथा जांच गर्भावसथा के 13 से 25 सप्ताह के मध्य, तृतीय गर्भावसथा  जांच 26 से 33 सप्ताह चतुर्थ गर्भावसथा जांच 34 सप्ताह की अवधि तक की जांच जरूरी है। वहीं द्वित्तीय किश्त 12 हजार रूपए के लिए सभी शासकीय चिकित्सालय तथा जननी शिशु सुरक्षा योजना के अंतर्गत अनुबंधित मिशन एवं ट्रस्ट द्वारा संचालित चिकित्सालयों में प्रसव होने पर व नवजात शिशु का चिकित्सालय में जन्म होने के उपरांत पंजीयन कराने, शीघ्र मां का दूध पिलाने तथा शिशु को 0 डोज बीसीजी, ओपीवी व एचबीवी टीकाकरण कराने पर ही द्वित्तीय किश्त में 12 हजार रूपए की राशि प्राप्त होगी।


कोविड वैक्सीनेशन के प्रथम डोज लगाने का प्रमाणीकरण के निर्देश
  • प्रथम डोज शत-प्रतिशत लगाने की सोशल ऑडिट के द्वारा पुष्टि के निर्देश
  • कलेक्टर ने 27 सितंबर तक जानकारी भेजने के दिए निर्देश

 राज्य शासन ने 26 सितम्बर 2021 तक 18 वर्ष से अधिक आयु के समस्त पात्र नागरिकों को कोविड वैक्सीनेशन का प्रथम डोज लगाने के निर्णय लिया गया है। भारत शासन द्वारा 18 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों की संख्या अनुमानित की गई है। यह संख्या जनगणना के आंकड़ों पर आधारित है। समय-समय पर मतदाता सूची को अद्यतन किया जाता है। मतदाता सूची में 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिक सम्मिलित रहते हैं। मतदाता सूची के अनुसार 18 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों की जानकारी उपलब्ध है। नागरिक काम की तलाश में, शिक्षा तथा अन्य कारणों से प्रदेश से बाहर जाते रहते हैं और अस्थाई रूप से अन्य शहरों में निवास करने लगते हैं। सामाजिक कारणों से हुए इस तरह के प्रवास से भी जिले तथा ग्रामीण क्षेत्रों में पात्र हितग्राही की संख्या में अन्तर आता है। विकासखण्डों एवं ग्राम पंचायतों में क्राइसिस मैनेजमेंट समूह का गठन किया है तथा इन समूहों को कोविड वैक्सीनेशन के अभियान से जोड़ने के निर्देश समय-समय पर दिये गये हैं। राज्य शासन ने निर्णय लिया है, कि कोविड-19 की प्रथम डोज के लक्ष्य की उपलब्धता को सुनिश्चित करने तथा उसकी पुष्टि करने के लिए वैक्सीनेशन अभियान का सोशल ऑडिट स्थानीय निकाय तथा क्राइसिस मैनेजमेंट समूह के साथ किया जाये। किसी स्थानीय निकाय अथवा ब्लाक में कोविड-19 के प्रथम डोज शत-प्रतिशत लगने  की पुष्टि इस सोशल आडिट के माध्यम से करने के निर्देश दिए गए हैं। राज्य शासन के निर्देशानुसार कलेक्टर द्वारा टीकाकरण की पुष्टि के लिए सोशल ऑडिट के लिए अलग-अलग प्रारूप जारी किए गए हैं। प्रारूप अ में ग्राम तथा नगर पंचायत से प्रमाण पत्र लिया जाना होगा। प्रारूप ब में नगर पालिका के वार्ड वार प्रमाण पत्र तथा प्रारूप स में नगर पालिका क्षेत्र का प्रमाण-पत्र प्राप्त करने के निर्देश दिए गए हैं। पंचायत, वार्ड एवं नगर पालिका क्षेत्रों से प्राप्त प्रमाण-पत्र प्रारूप अ ब एवं स को कलेक्ट्रेट कार्यालय सीहोर में दिनांक 27 सितंबर 2021 तक भेजने के सभी एसडीएम को निर्देश दिए गए हैं।


प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत उद्योग - सेवा संबंधी कार्य के लिये जिले के शिक्षित बेरोजगारों से ऑनलाईन आवेदन पत्र आमंत्रित


जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र द्वारा जिले के शिक्षित बेरोजगारों को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत उद्योग/सेवा संबंधी कार्य के लिये ऋण उपलब्ध कराया जायेगा। जिले के इच्छुक व पात्र शिक्षित बेरोजगार विभागीय पोर्टल की वेबसाईट https://www.kviconline.gov.in/pmegpeportal/pmegphome/index.jsp  पर एमपी ऑनलॉईन के माध्यम से आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक ने बताया कि  प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अन्तर्गत शिक्षित बेरोजगारों को उद्योग के लिये अधिकतम 25 लाख रूपये और सेवा कार्य के लिये अधिकतम 10 लाख रूपये की ऋण राशि उपलब्ध कराई जायेगी जिसमें शासन द्वारा क्षेत्र एवं जाति वर्ग के आधार पर 15 प्रतिशत और 35 प्रतिशत तक अनुदान राशि देय होगी। इस योजना के अंतर्गत प्रतिबंधित गतिविधियों व्यवसाय, कृषि, पशुपालन, परिवहन, तम्बाकू, मांस, शराब आदि से संबंधित कार्यकलापों के लिये ऋण उपलब्ध नहीं कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस का लाभ प्राप्त करने के लिये हितग्राही की आयु 18 वर्ष से अधिक होना चाहये और उसकी शैक्षणिक योग्यता 8वीं कक्षा उत्तीर्ण होना चाहिये। आवेदक को अपने आवेदन के साथ आधार कार्ड, पेन कार्ड, कोटेशन, मूल निवासी, 2 लाख रूपये से अधिक के ऋण के लिये चार्टर्ड अकाउन्टेन्ट की प्रोजेक्ट रिपोर्ट, फोटो और अन्य आवश्यक दस्तावेज संलग्न करना होगा। अधिक जानकारी के जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र से संपर्क किया जा सकता है।


ग्राम पंचायत श्यामपुर में रोजगार मेला 24 को


ग्राम पंचायत श्यामपुर में रोजगार मेला 24 सितंबर और ग्राम पंचायत दोराहा में 27 सितंबर को दोपहर 12:00 बजे से 4:00 बजे तक आयोजित किया जाएगा। रोजगार मेले में विद्यार्थियों को रोजगार मेले में उम्मीदवारों को चयन करने के लिए भारतीय जीवन बीमा निगम के प्रतिनिधी उपस्थित होंगे।


निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण एवं समय-सीमा में पूरा करें - सीईओ श्री सिंह
  • जिला पंचायत सीईओ श्री सिंह ने बेहतर ढंग से शैक्षणिक गतिविधी संचालित करने के दिए निर्देश
  • शत-प्रतिशत टीकाकरण के लिए समन्वित रूप से काम करें - सीईओ श्री सिंह

sehore news
जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह ने नसरूल्लागंज जनपद के अनेक गांवों का भ्रमण कर विकास एवं निर्माण कार्यो का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने सभी कार्य गुणवत्तापूर्ण एवं समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। भ्रमण के दौरान जनपद पंचायत सीईओ श्री वृंदावन मीणा सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। श्री सिंह ने नीलकंठ में बाढ राहत के अन्तर्गत बन रहें आवासों का निरीक्षण किया। उन्होंने सभी आवास समयज्-सीमा के पूर्ण करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही नीलकंठ में ही शांती-धाम तथा एनवीडीए द्वारा घाट पर बनाई जा रही दीवार का निरीक्षण किया। इसके पश्चात स्कूल का निरीक्षण किया इस दौरान उन्होंने बच्चों को पढाया और पढाई के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने शिक्षकों को हिदायद दी कि वे स्कूल में शैक्ष‍िणक गतिविधि बेहतर ढंग से संचालित करें। सीईओ श्री सिंह ने बालागांव में टीकाकरण के संबंध में सचिव तथा आंगनवाडी कार्यकर्ताओ और ग्रामवासियों से चर्चा करते हुए कहा कि शतप्रतिशत टीकाकरण के लिए सभी सामूहिक रूप से प्रयास करें। और यह सुनिश्चित करें, कि गांव में कोई भी टीकाकरण से वंचित न रहें। उन्होंने यहां बैंक में जाकर मत्स्य पालन के प्रकरणों को स्वीकृत कर राशी वितरण के निर्देश दिए। उन्होंने जोगला गांव में तालाब का निरीक्षण किया। इस दौरान ग्रामवासियों की शिकायतों के निराकरण के निर्देश दिए।


जिले में आज कोई भी व्‍यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पॉजिटिव की संख्या शून्य
 

पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10142 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020 हैं। आज 869 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 264, श्यामपुर से 150,  नसरूल्‍लागंज 96, आष्टा से 226,  बुधनी से 107  तथा  इछावर से 26 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 263654 हैं। जिनमें से 251566 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 902 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1875 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।



छात्राओं ने फ्रीडम रन के माध्यम से दिया फिट रहने का संदेश


sehore news
आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत फिट इंडिया फ्रीडम रन 2.0 का आयोजन नेहरू युवा केंद्र की जिला युवा अधिकारी श्रीमति निक्की राठौर के निर्देश पर विकासखंड के ग्राम पचामा के शासकीय हाईस्कूल में किया गया। प्राचार्य श्री सूरज सिंह परमार ने प्रतिभागियों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। दौड में छात्राओं ने सहभागिता की और फिट रहने का संदेश दिया। विजेताओं में प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान पुरूषकृत किया। राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवक पवन पंसारी और मेघा महेश्वरी उपस्थित थे।



जिले में अब तक 924.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 4.8 मिलीमीटर औसत वर्षा


जिले में 01 जून से 21 सितंबर, 2021 तक  924.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा 1345.6 मिलीमीटर थी। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 21 सितंबर, 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 875.7 मिलीमीटर,  श्यामपुर में 942.9, आष्टा में 811.0 जावर में 786.0,  इछावर में 896.3, नसरूल्लागंज में 910.0,  बुधनी में 1090.0, रेहटी में 1086.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।

बीते 24 घंटे में 4.8 मिलीमीटर औसत वर्षा
जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 08 बजे तक 2.6 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 0.0 मिलीमीटर, श्यामपुर में 0.0, आष्टा में 2.0,  जावर में 13.0,  इछावर में 0.0, नसरूल्लागंज में 0.0, बुधनी में 0.0, रेहटी में 23.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


आपात छुट्टी के लाभ संबंधी 4 अगस्त को जारी आदेश स्थगित - डीजी जेल


महानिदेशक जेल एवं सुधारात्मक सेवाएँ श्री अरविंद कुमार ने सोमवार को कोरोना महामारी के मद्देनजर दण्डित बंदियों को आपात छुट्टी का लाभ देने संबंधी 4 अगस्त को जारी आदेश क्रमांक-1113/वारंट-6 को स्थगित कर दिया है। डीजी जेल श्री अरविंद कुमार ने बताया है कि कोरोना महामारी (कोविड-19) से उत्पन्न परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए पूर्व से स्वीकृत सामान्य छुट्टी का लाभ ले रहे समस्त बंदियों को सामान्य छुट्टी के लिये प्रस्तुत जमानतनामा एवं बंध-पत्र पर ही 120 दिवस की आपात छुट्टी संबंधी जेल मुख्यालय के 4 अगस्त, 2021 को जारी आदेश को स्थगित कर दिया गया है। उन्होंने बताया है कि कोरोना महामारी पर काफी हद तक नियंत्रण कर लिया गया है। लम्बी अवधि तक आपात छुट्टी पर रिहा होने वाले बंदियों द्वारा पैरोल के दुरुपयोग की संभावना को दृष्टिगत रखते हुए पूर्व में जारी आदेश स्थगित किया गया है। उन्होंने सभी जेल अधीक्षकों को इस संबंध में निर्देश दिये हैं।


होम्योपैथी चिकित्सक मध्यप्रदेश होम्योपैथी परिषद में पंजीयन का पुनरीक्षण कराएँ



मध्यप्रदेश होम्योपैथी परिषद में पंजीकृत चिकित्सक, जिनके द्वारा पाँच वर्ष की अवधि समाप्त होने के बाद पंजीयन का पुनरीक्षण नहीं कराया गया है, वे अपने पंजीयन के पुनरीक्षण के लिए एम.पी. ऑनलाइन के माध्यम से या स्वयं उपस्थित होकर निर्धारित प्रपत्र में ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। परिषद में पंजीकृत सभी चिकित्सकों को पंजीयन का पुनरीक्षण प्रत्येक पाँच वर्ष में कराना अनिवार्य है। मध्यप्रदेश राज्य होम्योपैथी परिषद के रजिस्ट्रार डॉ. आयशा अली ने बताया कि मध्यप्रदेश होम्योपैथी परिषद द्वारा पंजीकृत होम्योपैथी चिकित्सा व्यवसायियों, पंजीकृत चिकित्सकों के राज्य रजिस्टर के पुनरीक्षण की कार्यवाही प्रचलन में है। जिन चिकित्सकों ने पंजीयन के पाँच वर्ष की अवधि समाप्ति के बाद भी पुनरीक्षण नहीं कराया है। उन्हें तीन माह की अवधि में पुनरीक्षण के लिये परिषद को ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करना चाहिए। निर्धारित अवधि के पश्चात पंजीकरण का पुनरीक्षण नहीं कराने वाले होम्योपैथी चिकित्सकों का नाम राज्य रजिस्टर से हटा दिया जाएगा। ऐसी स्थिति में सम्पूर्ण जिम्मेदारी स्वयं संबंधित चिकित्सक की होगी।

 
मध्यप्रदेश की धरती पर हर गरीब परिवार के पास होगा अपना आवास: मुख्यमंत्री श्री चौहान
  • सुराज की परिकल्पना के अनुरूप प्रदेश की बालिकाओं एवं महिलाओं को दी अनेक सौगातें
  • लाड़ली लक्ष्मियों को 21 करोड़ रुपए छात्रवृत्ति का वितरण
  • मातृ वंदना योजना में 25 हजार गर्भवती एवं धात्री माताओं को 5 करोड़ रुपए की मातृत्व सहायता
  • 103 आँगनवाड़ी के नव-निर्मित भवन और 10 हजार पोषण वाटिकाओं का लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज मैं पंधाना की धरती से पूरे प्रदेश के लिए एक ऐतिहासिक फैसला लेने जा रहा हूँ। प्रदेश का कोई भी गरीब बिना आवास नहीं रहेगा। हर गरीब परिवार के पास आवास के लिए जमीन का टुकड़ा होना चाहिए। प्रदेश के हर गरीब परिवार को उपयुक्त स्थान पर रहने के लिए आवासीय भूमि राज्य शासन द्वारा दी जाएगी। यह बात मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खंडवा जिले के पंधाना में 103 आँगनवाड़ी के नव-निर्मित भवनों और पोषण वाटिकाओं के लोकार्पण कार्यक्रम में कही। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खंडवा जिले के पंधाना में जन-कल्याण और सुराज अभियान में प्रदेश की महिलाओं एवं बालिकाओं को अनेक सौगातें दीं। उन्होंने लाड़ली लक्ष्मी योजना में 75 हजार 961 बालिकाओं को 21 करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति और प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में 25 हजार गर्भवती एवं धात्री माताओं को 5 करोड़ रुपए की मातृत्व सहायता राशि का वितरण किया। इस राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 32 जिलों के 103 आँगनवाड़ी केंद्रों के नव-निर्मित भवनों और 52 जिलों की 10 हजार पोषण वाटिकाओं का लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 22 जिलों के कुपोषण से सामान्य पोषण श्रेणी में आये बच्चों की माताओं को पोषण अधिकार सूचना-पत्र भी वितरित किये। वन मंत्री डॉ. कुंवर विजय शाह, खंडवा जिले की प्रभारी एवं संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री सुश्री उषा ठाकुर सहित विधायक जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में हितग्राही मौजूद थे।

हर गाँव में पहुँचेगा खेती के लिए पानी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना महामारी की लहर के दौरान भी प्रदेश में विकास कार्य नहीं रुके। राज्य शासन द्वारा प्रदेश के अंतिम छोर में खड़े व्यक्ति तक विकास कार्यों एवं जन-कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुँचाने के लिए हर संभव प्रयास किया गया। गरीबों को नि:शुल्क राशन वितरित किया गया। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में किसानों के खातों में 8 हजार करोड़ रुपए अंतरित किए गए। किसान सम्मान निधि योजना में 10 हजार रुपए की राशि कोरोना काल में भी किसानों के खाते तक पहुँचाई गई। मध्यप्रदेश में किसानों के हित को सर्वोपरि रखा गया। जब पूरा देश लॉकडाउन से जूझ रहा था तब राज्य सरकार ने मध्यप्रदेश में गेहूँ के एक-एक दाने की खरीदी की। साथ ही धान एवं मूंग की भी खरीदी की। मध्यप्रदेश सरकार किसानों के लिए कार्य करने वाली सरकार है। खंडवा जिले के हर गाँव में खेती के लिए पानी पहुँचे, इसमें हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

स्वस्थ नारी से बनेगा स्वस्थ प्रदेश

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जब प्रदेश की नारी स्वस्थ होगी तभी स्वस्थ भविष्य का निर्माण किया जा सकेगा। इसलिए प्रदेश में पोषण वाटिकाओं का निर्माण किया जा रहा है, जिससे महिलाओं और बच्चों को पोषण आहार प्रदान किया जा सके। उन्होंने बताया कि प्रदेश में फिर से संबल योजना शुरू की जा रही है, जिसमें गर्भवती महिलाओं को गर्भधारण के दौरान 4 हजार रुपए और प्रसव के पश्चात 12 हजार रुपये उनके बैंक खातों में डालने का प्रावधान है। माताओं और उनके कोख में पल रहे भविष्य को स्वस्थ रखना राज्य शासन का दायित्व है।

आदिवासी वर्ग के गरीब बच्चों की फीस राज्य सरकार भरेगी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में बेटियों को बोझ न समझा जाए। इसके लिए लाड़ली लक्ष्मी योजना क्रियान्वित की जा रही है। आदिवासी और गरीब वर्ग के छात्र-छात्राओं को उच्च स्तरीय शिक्षा प्राप्त हो, इसकी जिम्मेदारी भी राज्य शासन ने उठाई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आदिवासी वर्ग के गरीब बच्चे चाहे वे देश के किसी भी मेडिकल, इंजीनियरिंग या विश्व स्तर के कॉलेज में पढ़ना चाहे उनकी फीस की जिम्मेदारी राज्य सरकार लेगी। प्रदेश के बच्चों की शिक्षा में हम किसी भी प्रकार की बाधा नहीं आने देंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खंडवा कलेक्टर को निर्देश दिए कि गरीबों को वितरित किए जा रहे नि:शुल्क राशन में यदि कोई गड़बड़ी करें तो उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि आयुष्मान कार्ड योजना के तहत शिविर लगाया जाए और हर पात्र हितग्राही का आयुष्मान कार्ड बनाया जाए। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना में शेष रह गए हितग्राहियों को भी आवास आवंटित किए जाएँ। प्रधानमंत्री किसान कल्याण योजना में तकनीकी कारणों से जो किसान, योजना का लाभ पाने से वंचित रह गए हैं, उनका नाम जोड़ने की प्रक्रिया भी जल्द से जल्द की जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि क्रमबद्ध रूप से हर हितग्राही को शासन की योजनाओं का लाभ दिलाया जाएगा। कोई भी व्यक्ति रोटी, कपड़ा और मकान जैसी मूलभूत सुविधाओं से वंचित नहीं रहेगा।

आदिवासी क्षेत्रों में पहुँचाया जाएगा पेसा एक्ट का लाभ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के आदिवासी क्षेत्रों में पेसा एक्ट चरणबद्ध तरीके से लागू किया जाएगा। साथ ही, पाँचवीं अनुसूची के प्रावधान भी लागू किए जाएँगे। पेसा एक्ट के माध्यम से आदिवासी बहुल क्षेत्रों में स्व-शासन को मजबूती मिलेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में एक लाख खाली सरकारी पदों पर भर्ती की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। रोजगार के हरसंभव अवसर लोगों तक पहुँचाए जाएंगे।

सामाजिक समरसता लाने के लिए बना सामान्य वर्ग आयोग

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य शासन का उद्देश्य है कि हर वर्ग का कल्याण हो। उन्होंने कहा कि सामाजिक न्याय सबको मिले और सामाजिक समरसता स्थापित हो इसके लिए सामान्य वर्ग के गरीबों के कल्याण के लिए प्रदेश में सामान्य वर्ग आयोग बनाया गया है।


उच्च गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए शुरू की गई सीएम राइज स्कूल योजना

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसान और गरीब वर्ग के छात्र-छात्राओं की गुणवत्तायुक्त पढ़ाई के लिए प्रदेश में विशेष स्कूल स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि सीएम राइज योजना में 18 से 24 करोड़ रुपए की लागत से स्कूल भवन का निर्माण किया जाएगा, जिसमें आसपास के गाँव के सभी छात्र-छात्राएँ पढ़ सकेंगे। बच्चों को घरों से स्कूल तक आने-जाने के लिए बस की सुविधा भी प्रदान की जाएगी। इन स्कूलों में निजी स्कूलों से बेहतर और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान की जाएगी, ताकि हर वर्ग का छात्र सफलता की नई ऊँचाइयाँ छू सके।


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खंडवा जिले को दी कई सौगातें

  • ·      बलखड़ में नवीन उप स्वास्थ्य केंद्र खोला जाएगा। 
  • ·      छैगांव माखन में सीएम राइज स्कूल खोला जाएगा। 
  • ·      शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पंधाना को सीएम राइज स्कूल बनाया जाएगा।
  • ·      छैगांव माखन में 3 करोड़ 33 लाख 31 हजार रूपये की लागत से ट्राइबल सीनियर बालक छात्रावास का निर्माण किया जाएगा। 
  • ·      नगर परिषद पंधाना के विकास के लिए 5 करोड़ की राशि प्रदान की जाएगी।
  • ·      छैगांव माखन को नई तहसील बनाया जाएगा। 
  • ·      सिंगोट में नवीन उप तहसील कार्यालय भवन बनाया जाएगा।
  • ·      सड़क निर्माण और सिंचाई परियोजनाओं को प्राथमिकता से पूर्ण किया जायेगा।


सभी 6 नेशनल पार्क एक अक्टूबर से पुन: शुरू होंगे, ऑनलाइन बुकिंग हुई शुरू


वर्षाकाल में तीन महीने तक बंद रहे प्रदेश के सभी 6 टाइगर रिजर्व के कोर क्षेत्रों में एक अक्टूबर, 2021 से पुन: पर्यटन के लिये शुरू किये जायेंगे। इसके लिये 21 सितम्बर मंगलवार को प्रात: 11 बजे से ऑनलाइन अनुज्ञा-पत्रों की बुकिंग शुरू हो गई है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य-प्राणी) श्री आलोक कुमार ने बताया कि शाम 5 बजे तक अगले माह दशहरा उत्सव के कारण उन दिनों के शत-प्रतिशत अनुज्ञा-पत्र बुक हो चुके हैं। श्री आलोक कुमार ने बताया कि कान्हा नेशनल पार्क के लिये 1239, बाँधवगढ़ 1115, पेंच 737, सतपुड़ा 93, पन्ना 46 और संजय टाइगर रिजर्व के लिये 5 पर्यटकों द्वारा ऑनलाइन बुकिंग कराई जा चुकी है। इन सभी नेशनल पार्क में अभी तक 3235 लोगों ने अपनी बुकिंग करा ली है।


राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार की संख्या और राशि में होगी बढ़ोत्तरी -उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.यादव


उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव की अध्यक्षता में गत दिवस मंत्रालय में मध्यप्रदेश राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार के लिये गठित चयन समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में तीन वर्ष 2017-18, 2018-19 और 2019-20 के राज्य स्तरीय पुरस्कार के लिये प्राप्त प्रस्तावों पर चर्चा की गई ओर पुरस्कार के लिये श्रेष्ठ प्रतिभागियों का चयन किया गया। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना का उद्देश्य सामाजिक सेवा के जरिये छात्रों का व्यक्तित्व विकास करना है। उन्होंने कहा कि पुरस्कार हमेशा प्रोत्साहित करते हैं। सामुदायिक सेवा एक जिम्मेदारी है, इससे विद्यार्थियों में राष्ट्र निर्माण में भागीदारी की भावना विकसित होती है। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोरोना-काल के कठिन समय में भी एनएसएस के छात्रों ने लगातार समाज-सेवा में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि अगले वित्तीय वर्ष से राज्य स्तरीय पुरस्कारों की संख्या को 18 से बढ़ाकर 20 किया जायेगा। उन्होंने स्वयं-सेवक स्तर पर विद्यार्थियों को दी जाने वाली 11 हजार रुपये की पुरस्कार राशि को बढ़ाकर 21 हजार रुपये करने की अनुशंसा की। मध्यप्रदेश राज्य स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना पुरस्कार के तहत विश्वविद्यालय स्तरीय कार्यक्रम समन्वयक के लिये प्रतिवर्ष एक, जिला संगठक स्तर पर दो, संख्या स्तर पर कार्यक्रम अधिकारी को 12 प्रशस्ति-पत्र प्रदान किये जाने का प्रावधान है। इसके अतिरिक्त स्वयं-सेवक स्तर पर 18 पुरस्कार प्रदाय किये जाते हैं। इसमें महाविद्यालय स्तर के 13 विद्यार्थी, जिनमें 3 छात्राओं का होना आवश्यक है तथा 5 स्वयं-सेवक विद्यालय स्तर के होंगे, जिनमें एक छात्रा अनिवार्य होगी। साथ ही राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी स्तर पर कुल 12 पुरस्कार प्रदान किये जाते हैं।


आयुष्मान भारत पखवाडा का आयोजन जारी


आयुष्मान भारत निरामय योजना के तीन वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में राज्य स्तर से प्राप्त निर्देशो के अनुरूप जिले में आयुष्मान भारत पखवाडे का आयोजन 15 सितम्बर से जारी है जो 30 सितम्बर तक क्रियान्वित किया जाएगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि योजना के अंतर्गत पात्र परिवारो को एक वित्तीय वर्ष में पांच लाख रूपए तक का उपचार निःशुल्क कराने की पात्रता सभी शासकीय एवं शासन द्वारा आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पंजीकृत निजी अस्पतालो में है। योजना की गुणवत्ता के बारे में एवं लाभ लेने में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी तो नही आ रही है इस हेतु लाभार्थियों से भी संवाद किया जा रहा है।


‘‘वोटर हेल्पलाइन ऐप’’ से मतदाता ले सकते हैं जानकारी



 भारत निर्वाचन आयोग के वोटर हेल्पलाइन ऐप को डाउनलोड करके मतदाता अब निर्वाचन से संबंधित आवश्यक जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। वोटर हेल्पलाइन ऐप मतदाताओं के लिए मतदाता सूची में अपना नाम खोजने, मतदाता पंजीकरण और संशोधन के लिए फॉर्म जमा करने, उनकी डिजिटल फोटो मतदाता पर्ची डाउनलोड करने, शिकायत करने, चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के बारे में विवरण खोजने और सबसे महत्वपूर्ण चुनाव के समय परिणाम देखने के लिए व्यापक ऐप है। वोटर हेल्पलाइन ऐप भारत के चुनाव आयोग का सबसे महत्वपूर्ण मोबाइल ऐप है। जिसके द्वारा क्यूआर कोड के जरिए मतदान केंद्रों की तलाशी काफी आसान और तेज हो गई है। फोटो मतदाता पर्ची में क्यूआर कोड होता है जिसे मतदान अधिकारियों द्वारा मतदान केंद्र में स्कैन किया जाता है। अब मतदाता अपनी डिजिटल फोटो मतदाता पर्ची वोटर हेल्पलाइन मोबाइल एप से भी डाउनलोड कर सकते हैं। डिजिटल फोटो मतदाता पर्ची को भौतिक फोटो मतदाता पर्ची के बजाय मतदान केंद्र पर दिखाया जा सकता है।

श्रेष्ठ प्रविष्टि का चयन
प्रबंध संचालक, मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा श्रेष्ठ प्रविष्टि के लिये मापदण्ड निर्धारित किए गये हैं, जिनमें भारतीय तथा पश्चिमी परिधानों का सम्मिश्रण, सिलाई में सुविधाजनक, कपड़े का अनुकूलतम उपयोग, देश-प्रदेश की रंगाई, छपाई, संस्कृति को दर्शाने वाली डिजाइन का प्रयोग, विजेताओं द्वारा तैयार किए गए डिजाइन का स्केच तथा अन्य आवश्यक जानकारी शामिल है।

कोई टिप्पणी नहीं: