बटलर, बेयरस्टो, वोक्स और मलान ने आईपीएल से नाम वापस लिया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 सितंबर 2021

बटलर, बेयरस्टो, वोक्स और मलान ने आईपीएल से नाम वापस लिया

batlar-beyresto-voks-malan-withdraw-from-ipl
लंदन, 11 सितम्बर, इंग्लैंड के कई खिलाड़ियों ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दूसरे चरण से अपने नाम वापस ले लिए हैं।जॉनी बेयरस्टो, क्रिस वोक्स और डेविड मलान अब उस फ़ेहरिस्त में शामिल हो गए हैं जिसमें जॉस बटलर, जोफ़्रा आर्चर और बेन स्टोक्स थे। डेविड मलान पंजाब किंग्स का हिस्सा थे और अब उनकी जगह साउथ अफ़्रीका के सलामी बल्लेबाज़ एडन मारक्रम को टीम में शामिल किया गया है। बेयरस्टो (सनराइज़र्स हैदराबाद), वोक्स (दिल्ली कैपिटल्स), मलान (पंजाब किंग्स) और बटलर (राजस्थान रॉयल्स) इंग्लैंड के टी20 विश्व कप दल का भी हिस्सा हैं। साथ ही साथ यह सभी खिलाड़ी एशेज़ दौरे पर टीम का अहम अंग हो सकते हैं। यानी अगर ये खिलाड़ी आईपीएल में खेलते तो उन्हें क़रीब चार महीनों के लिए घर से अलग रहना पड़ता। बटलर और वोक्स के छोटे बच्चे भी हैं और बटलर तो अभी हाल ही में दूसरी बार पिता बने हैं। हालांकि मोईन अली, सैम बिलिंग्स, सैम करन, टॉम करन, जॉर्ज गार्टन, ओएन मॉर्गन, क्रिस जॉर्डन, आदिल रशीद, लियम लिविंगस्टन और जेसन रॉय वे इंग्लिश खिलाड़ी हैं जिनके आईपीएल में खेलने की उम्मीद है। इनमें से कुछ आज (शनिवार) ही संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) पहुंचने वाले हैं और कुछ 18 सितंबर के बाद आएंगे जब उनके घरेलू टी20 टूर्नामेंट के फ़ाइनल मुक़ाबले ख़त्म हो जाएंगे। उस ग्रुप में से सैम करन और मोईन अली ऐसे खिलाड़ी हैं जो एशेज़ में टीम के साथ जा सकते हैं। इंग्लैंड के खिलाड़ियों के लिए इस समय एक चिंता का सबब ये भी है कि क्या ऑस्ट्रेलिया का दौरा संभव हो पाएगा या नहीं। हालांकि इसपर बातचीत चल रही है कि उन खिलाड़ियों के लिए कड़े क्वारंटीन नियम नहीं होंगे, उन्हें किसी रिज़ॉर्ट या गोल्ड कोस्ट में रखा जा सकता है। यहां से उन्हें गोल्फ़ कोर्स में जाने की भी इजाज़त मिल सकती है, लेकिन ये तय नहीं है। ये भी अभी साफ़ नहीं है कि क्या उन्हें अपने परिवार को भी साथ रखने की इजाजत मिलेगी। 

कोई टिप्पणी नहीं: