मधुबनी : प्रभारी मंत्री बाढ़/अतिवृष्टि एवं अन्य आपदाओं की समीक्षा बैठक की - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 15 सितंबर 2021

मधुबनी : प्रभारी मंत्री बाढ़/अतिवृष्टि एवं अन्य आपदाओं की समीक्षा बैठक की

minister-meeting-for-disaster-madhubani
मधुबनी, 15 सितम्बर, आज दिनांक-15.09.2021 को श्रीमती लेशी सिंह, माननीय मंत्री, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग, बिहार -सह- ्रप्रभारी मंत्री, मधुबनी जिला के अध्यक्षता में बाढ़/अतिवृष्टि एवं अन्य आपदाओं से प्रभावित स्थिति की समीक्षात्मक बैठक डी.आर.डी.ए. सभागार, मधुबनी में सम्पन्न हुई। इस दौरान माननीय सांसद, श्री अशोक यादव, माननीय विधायक, श्री सुधांशु शेखर, हरिभूषण ठाकुर ‘‘बचौल’’, श्री अरूण शंकर प्रसाद, माननीय विधान पार्षद सदस्य, श्री सर्वेश कुमार, श्री घनश्याम ठाकुर, जिला पदाधिकारी, श्री अमित कुमार, पुलिस अधीक्षक, डॉ० सत्यप्रकाश, उप विकास आयुक्त, श्री विशाल राज एवं सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी, सभी अनुमण्डल पदाधिकारी, सभी अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, सभी विभागों के कार्यपालक अभियंता इत्यादि उपस्थित थे। बैठक के दौरान जिला पदाधिकारी, मधुबनी द्वारा पी.पी.टी. के माध्यम से प्रस्तुत करते हुए जिले में बाढ़/अतिवृष्टि एवं अन्य आपदाओं से प्रभावित क्षेत्रों को माननीय प्रभारी मंत्री, मधुबनी जिला को अवतग कराया जैसे की जिले में प्रमुख नदियों का जलस्तर एवं  स्थान कमला बलान, जयनगर, कमला बलान, झंझारपुर, भूतही बलान, धौंस नदी, जिले में वर्षापात की स्थिति (सामान्य निर्धारित वर्षा एवं वास्तविक वर्षा), जिलांतर्गत अगले पांच दिनों में वर्षा का पूर्वानुमान, जिले में बाढ़ पर नियंत्रण हेतु आवश्यक संसाधनों (देशी नाव-155, इन्फ्लैटेबल मोटरवेट-08, पॉलिथीन कुल शीट-46111, कुल वितरित-109, महाजाल-02, लाईफ जैकेट-180, इन्फ्लैटेबल लाईटिंग सिस्टम-01, सेटेलाईट फोन-04, नाविक/गोताखोर-180, एस.डी.आर.एफ. टीम-01 (35 सदस्यीय), चिन्हित शरण स्थल-218, कोविड राहत केन्द्र-28, मेगाकैम्प-22, सामुदायिक रसोई-220), तटबंध एवं स्लुईस गेटों की मरम्मति, संवेदनशील/अतिसंवेदनशील तटबंध, योजनाओं की स्थिति-2021-22, मरम्मति योग्य/पूर्ण/अपूर्ण सड़क, अब तक प्रभावित प्रखण्डों की कुल संख्या (खजौली, बासोपट्टी, बेनीपट्टी, बिस्फी, मधवापुर), कोविड-19 से मृत व्यक्ति के संबंध में अभिलेख स्वीकृति एवं भुगतान संबंधी विवरणी, कोविड-19 से मृत व्यक्ति के आश्रितां को मुख्यमंत्री राहत कोष एवं आपदा प्रबंधन विभाग, बिहार, पटना से प्राप्त आवंटन से किए गए भुगतान से संबंधित विवरणी इत्यादि । उक्त समस्याओं एवं तैयारियों उपरांत प्रभारी मंत्री जी के द्वारा कहा गया एवं निदेश दिया गया कि बाढ़/जल-जमाव के कारण जिन किसानों को क्षति पहुँचा, का सर्वे कराकर उन लाभुक किसानों को राहत कोष से उन्हें चिन्हित कर सहयोग के रूप में मुआवजा प्रदान किया जाय, क्षतिग्रस्त सड़क/पुल/पुलिया के संबंध में संबंधित अधिकारी को निदेश दिया गया कि अपने-अपने क्षेत्राधिकार में निरीक्षण कर सभी मरम्मत योग्य एवं जिर्णोधार योग्य सड़क/पुल/पुलिया से संबंधित समस्याओं का ससमय निदान करना सुनिश्चित करें साथ हीं आपदाओं के बारें में भी विस्तृत रूप से जानकारी दी एवं स्थानीय जनप्रतिनिधिगण के माध्यम उनके क्षेत्र के समस्याओं का निस्तारण हेतु जानकारी प्राप्त की।


इस परिपेक्ष्य में सांसद, श्री अशोक यादव जी के द्वारा कहा गया कि यह मिथिला क्षेत्र बाढ़ का घर है, यहाँ प्रत्येक वर्ष बाढ़ आती है कभी अधिक मात्रा में कभी न्यूनतम मात्रा में इस कारण से यहाँ के किसानों को प्रत्येक वर्ष बाढ़ से होनेवाली समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसलिए सर्वे कराकर उन बाढ़ ग्रस्ति क्षेत्रों को चिन्हित कर बाढ़ राहत क्षेत्र घोषित करने की मांगी किया गया एवं उनके कहा गया कि मेरे द्वारा क्षेत्रों में स्थल निरीक्षण के दौरान पाया कि कुछ गावों/टोला/मुहल्ला के घरों में बाढ़ का पानी घुस गया जिससे आमजनों को अत्यधिक कठिनाई का सामना करना पड़ता है, उन सभी क्षेत्रों का भी सर्वे कराकर बाढ़ राहत क्षेत्र घोषत कर पानी निकासी का स्थाई निष्पादन करने हेतु प्रभारी मंत्री से अपील किया गया तथा उनके द्वारा जिला पदाधिकारी, मधुबनी को कहा गया कि बाढ़ क्षेत्र का एक रोडमैप तैयार किया जाय जिससे यह पता लगाया जा सके की कौन-कौन क्षेत्र बाढ़ से ग्रसित है व वहाँ आपातकाल स्थिति में जाने का निकटतम मार्ग क्या है। इस संबंध में मधुबनी जिलान्तर्गत सभी विधायकगणों के द्वारा भी अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों के सभी समस्याओं से प्रभारी मंत्री एवं जिला पदाधिकारी महोदय को अवगत कराते हुए कहा की सभी समस्याओं का स्थाई निराकरण किया जाय ताकि आमलोगों को भविष्य में जाल-माल की खतरा एवं सुविधा हो।  बैठक के अंतिम क्षण में जिला पदाधिकारी, मधुबनी को सभी समस्याओं का त्वरित निष्पादन करने का आश्वसन दिया गया एवं संबंधित अधिकारी को भी उनके संबंधित कार्यों का निष्पादन करने हेतु निदेश दिया गया। साथ हीं प्रभारी मंत्री जी के द्वारा भी आश्वासन दिया गया कि आपलोगों का समस्याओं का जल्द से जल्द निराकरण किया जायेगा एवं कोविड-19 से मृत परिवारों के निकटतम लाभुकों प्रभारी मंत्री, जनप्रतिनिधगण के उपस्थिति में चिन्हित लाभुकों को चेक प्रदान किया गया। बैठक सौहार्दपूर्ण सम्पन्न करते हुए जिला एवं अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारी द्वारा मिथिलांचल पारंपरिक तरिकों से पाग, शाल एवं मधुबनी पेंटिंग देकर प्रभारी मंत्री एवं अन्य जनप्रतिनिधियों को सम्मानित किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: