"आजादी का अमृत महोत्सव’’ के अन्तर्गत आयोजित हो रही है साईकिल रैली - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 16 सितंबर 2021

"आजादी का अमृत महोत्सव’’ के अन्तर्गत आयोजित हो रही है साईकिल रैली

  • बिहार के राज्यपाल केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की साइकिल रैली को कल हरी झंडी दिखाकर करेंगे रवाना

celebrate-azadi-ka-amrit-mahotsav
पटना,16 सितंबर, देश की आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा ’’आजादी का अमृत महोत्सव’’ के अन्तर्गत आयोजित 'साईकिल रैली' को कल 17सितंबर 2021 को प्रातः 09 बजे राजभवन परिसर से बिहार के राज्यपाल फागु चैहान द्वारा हरी झंडी  दिखा कर दिल्ली के लिए रवाना किया जाएगा। यह साइकिल रैली बिहार में जगदीशपुर एवं मोहनियाॅ होते हुए 19 सितंबर 2021 को बनारस पहॅुचेगी।  राजभवन से रवाना होने के बाद साईकिल दल एवं बिहार सेक्टर के अधिकारियों द्वारा ’’सप्त शहीद’’ मूर्ति पर 09.30 बजे माल्यार्पण करने के बाद साईकिल दल आगे की यात्रा के लिए प्रस्थान करेंगे। साईकिल रैली का मुख्य उद्देश्य भारतीय नागरिकों के दिलों में देश भक्ति एवं सुरक्षा की भावना पैदा करना है। यह साईकिल रैली शारीरिक दुरूस्ती को प्रोत्सहित करने के साथ-साथ लोगों के बीच एकता की भावना का प्रसार भी करेगी।  देश की आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा ’’आजादी का अमृत महोत्सव’’ मनाया जा रहा है । इसके अन्तर्गत साईकिल रैली का आयोजन किया गया है। जो देश के चारो दिशाओं से अर्थात् कन्याकुमारी , साबरमती , जम्मू तथा जोरहाट से चलकर देश के विभिन्न भागों से होते हुए 02 अक्तूबर 2021 को राजघाट दिल्ली पहुॅचेगी तथा वहां केन्द्रीय गृह मंत्री अमित साह द्वारा समारोहपूर्वक इनका स्वागत किया जाएगा। इसी श्रृंखला में जोरहाट से चलने वाले साईकिल वाहकों का एक दल गुवाहाटी, सिलीगुड़ी होते हुए दिनांक 16सितंबर 2021 को पटना पहुॅची, जिसके बाद पार्टी कमाण्डर शैलेश  कुमार, सहायक कमाण्डेंट ने अपना अनुभव साझा किया। उन्होंने बताया कि फणीश्वरनाथ रेणु की घरती पर अररिया प्रशासन और जनता के साथ मिलकर फणीश्वर नाथ रेणु की प्रतिमा पर माल्यापर्णण किया। अररिया से आगे बधुआ गाॅंव के 103 वर्शीय स्वतंत्रता सेनानी भृगुनाथ शर्मा से मिलकर उन्हें सीआरपीएफ स्मृति चिन्ह देकर उन्हें सम्मानित किया गया । फारबिसगंज रेलवे स्टेशन पर  स्वतंत्रता सेनानी भृगुनाथ शर्मा के पौत्र के द्वारा स्वागत सभा का आयोजन किया गया जिसमें स्कूली बच्चों को पेंन-पेंसिल एवं चैकलेट दिया गया। फुलपरास के नरपतिनगर के स्वतंत्रता सेनानी स्व. नसीबलाल यादव एवं स्व. देवनारायण गुरमैता के परिवारिक सदस्यों को स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया। जिसके बाद दरभंगा पहुंचकर रात्रि विश्राम किया। ’’आजादी का अमृत महोत्सव’’ के अन्तर्गत बिहार सेक्टर, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल द्वारा निम्नलिखित विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया:- वृक्षारोपण कार्यक्रम-वृक्षारोपण अभियान 2020-21 के दौरान बिहार सेक्टर के अधीन बटालियनों द्वारा 1,35,048 पौधे लगाये जा चुके हैं। फिट इंडिया मूवमेंट कार्यक्रमः-फिट इंडिया मूवमेंट कार्यक्रम के तहत बिहार सेक्टर के अधीन कार्यालयों तथा बटालियनों में योगाभ्यास, खेल-कूद, दौड़, वाॅकाथन एवं साइक्लोथन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। बैंड प्रदर्शनी:-ग्रुप केन्द्र केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल मुजफ्फरपुर द्वारा दिनांक 11सितंबर 2021 को चरखा पार्क मोतिहारी, 08सितंबर 2021 को गांधी बाल उद्यान मोतिहारी एवं 12 सितंबर 2021 को गांधी संग्रहालय मोतिहारी में बैंड प्रदर्शित किया गया। बैंड प्रदर्शन का कार्यक्रम अगस्त 2022 तक निरंतर जारी रहेगा ।


केन्दीय रिजर्व पुलिस बल भारत के सबसे पुराने केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बलों में से एक है, जो देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए प्रमुख बल है। इसे मुख्य रूप से स्वतंत्रता से पूर्व सन् 1939 में क्राउन रिपे्रजेन्टेटिव पुलिस के रूप में स्थापित किया गया था।  वर्तमान में यह बल देश के आंतरिक सुरक्षा के लिए सबसे अग्रणी बल है। यह बल विभिन्न प्रकार के ड्यूटियों जैसे जम्मू एवं कश्मीर, पुर्वोत्तर राज्यों, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में काउंटर इंसरजेंसी ऑपरेशन, दंगा विरोधी एवं भीड़ नियंत्रण, महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों जैसे संसद एवं धार्मिक स्थलों तथा वैश्णो देवी मंदिर इत्यादि की सुरक्षा और जम्मू-कष्मीर में अमरनाथ यात्रा को सुचारू-रूप से संचालित करवाना, वी0आई0पी0 सुरक्षा तथा आपदा के समय राहत और बचाव कार्य का संचालन आदि करने में प्रमुख भूमिका निभाता है। यह बल राज्यों में सिविल प्राधिकार की सहायता और देश में शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव संपन्न कराना भी सुनिश्चित  करता है। बल में बलिदान और शौर्य की समृद्ध परंपरा है। चीनी हमले का पहला सामना के0रि0पु0बल ने ही किया था, जब 21 अक्टूबर, 1959 को हाॅट स्प्रिंग (लद्दाख) में के0रि0पु0बल की पार्टी पर चीनी सेना ने हमला किया जिससे वीरता पुर्वक लड़ते हुए हमारे 08 जवान शहीद हो गए। इस घटना की याद में देश के सभी पुलिस बलों द्वारा सार्वभौमिक रूप से इस तिथि को ’’पुलिस स्मृति दिवस’’ के रूप में मनाया जाता है। 09 अप्रैल 1965 को के0रि0पु0बल के द्वितीय बटालियन की 02 कम्पनियों ने रण आॅफ कच्छ में सरदार पोस्ट पर पाकिस्तानी सेना की एक पूरी इंफैन्टरी ब्रिगेड के हमले का पूरी बहादुरी से मुंहतोड़ जवाब दिया। इसलिए 09 अप्रैल को प्रति वर्श ’’ शौर्य दिवस’’ के रूप में मनाया जाता है। इसी तरह बल ने पंजाब और त्रिपुरा में उग्रवाद को सफाया करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। वर्ष 2001 में भारतीय संसद पर हुए हमले को के0रि0पु0बल ने वीरता से नाकाम किया और एक अत्यंत विस्फोटक स्थिति से देश को बचा लिया गया। के0रि0पु0बल ने हैती, कोसोवो, नामिबिया, सोमालिया, मालदीव और लाईबेरिया में संयुक्त राश्ट्र के षांति मिषन में अपनी भागीदारी निभाई है। यह बल श्रीलंका में भी भारतीय शांति सेना का हिस्सा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं: