मधुबनी : भारत बंद के समर्थन में भाकपा-माले का विशाल प्रदर्शन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 27 सितंबर 2021

मधुबनी : भारत बंद के समर्थन में भाकपा-माले का विशाल प्रदर्शन

cpi-ml-protest-for-farmer-madhubani
बेनीपट्टी/मधुबनी। भारत बंद के समर्थन में भाकपा-माले के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने बेनीपट्टी के अंम्बेंडकर चौक से लोहिया चौक तक प्रतिवाद मार्च निकाला और बेहटा में आकर प्रतिवाद सभा किया। सोनधारी राम की अध्यक्षता में संचालित सभा को संबोधित करते हुए भाकपा-माले के बेनीपट्टी प्रखंड सचिव सह माले जिला कमिटी सदस्य श्याम पंडित ने कहा कि मोदी सरकार ने अपने सात बर्षों के शासन काल में ही सत्तर बर्षों से संचित राष्ट्रीय संपदा को निजी पूंजीपतियों के हाथों गिरवी रख दिया है। अब तो यह साफ हो गया है कि मोदी सरकार अडानी अंबानी जैसे कारपोरेट घरानों के हाथों ही देश बेचने के लिए सत्ता में आई है।  उन्होंने आगे कहा कि जब किसानों की जमीन और कृषि को भी अडानी अंबानी के हाथों गिरवी रखने के लिए तीन काले कृषि कानून लाये तो देश के किसानों को समझने में देर नहीं लगा और तबसे देश के लाखों करोड़ों किसान बिगत दस महीनों से लगातार आंदोलन चला रहें है। श्रमिक बिरोधी कानून के खिलाफ देश के लाखों मजदूर भी आंदोलन चला रहे हैं। आज के भारत बंद के जरिए हम तीनों काले कृषि कानूनों की वापसी, न्यूनतम समर्थन मूल्य की गारंटी बाली कानून बनाने, श्रमिक बिरोधी कानून वापस लेने, बिजली बील एवं पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस की कीमत आधा करने, मंहगाई एवं बेरोजगारी दूर करने की मांग पर आंदोलन कर रहे हैं। सभा को कामेश्वर राम, राम अशीष राम, राम बिनय पासवान, तेतर पासवान, बबलू यादव, शिव राम,मलभोगिया देवी,होरील सदाय, सुजीत कामत,शौकत अली,अशोक मंडल,पलटू मुखिया,अशेसर पासवान,जुड़ी चौपाल,आशा देवी,मकुंती देवी ने भी संबोधित किया।

कोई टिप्पणी नहीं: