डिजिटलीकरण से आई पारदर्शिता : खट्टर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 सितंबर 2021

डिजिटलीकरण से आई पारदर्शिता : खट्टर

digitalization-makes-purity-khattar
चंडीगढ़, एक सितंबर, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बुधवार को कहा कि डिजिटलीकरण से न सिर्फ काम को तेजी से पूरा करने में मदद मिली है बल्कि सेवाओं में और पारदर्शिता भी आई है। खट्टर ने यह भी कहा कि आज के समय में आईटी की सही परिभाषा 'तत्काल परिवर्तन' है। मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार की पहल "ऑटो अपील सॉफ्टवेयर" के उद्घाटन के अवसर पर यह बात कही। इस पहल का उद्देश्य एक बटन के क्लिक पर अधिसूचित सेवाओं को पात्र लोगों के घर तक पहुंचाने का है। एएएस हरियाणा सेवा का अधिकार आयोग और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग का एक संयुक्त उद्यम है। यहां एक आधिकारिक बयान के अनुसार, खट्टर ने कहा कि सरकारी सेवाओं और योजनाओं का लाभ पात्र लोगों तक पहुंचाने के लिए शुरू किया गया यह सॉफ्टवेयर सरकारी सेवाओं के समय पर वितरण में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा, “इस ऐप की शुरुआत ने लोगों को उम्मीद दी है और हमें इस उम्मीद को हकीकत में बदलना होगा। लोगों की यह उम्मीद तभी पूरी हो सकती है जब सभी सेवाओं को ऑनलाइन कर दिया जाए।’’ उन्होंने कहा कि वर्तमान में 31 विभागों की 546 अधिसूचित सेवाओं में से 277 अंत्योदय सरल पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन प्रदान की जा रही हैं, जबकि 269 सेवाएं ऑफलाइन प्रदान की जा रही हैं। उन्होंने विभिन्न विभागों के प्रशासनिक सचिवों को निर्देश दिया कि बाकी सेवाओं को भी जल्द से जल्द ऑनलाइन किया जाए।

कोई टिप्पणी नहीं: