जोकोविच अमेरिकी ओपन के फाइनल में, कैलेंडर ग्रैंडस्लैम से एक जीत दूर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 सितंबर 2021

जोकोविच अमेरिकी ओपन के फाइनल में, कैलेंडर ग्रैंडस्लैम से एक जीत दूर

djokovic-enters-final-in-us-open
न्यूयार्क, 11 सितंबर, सर्बियाई स्टार नोवाक जोकोविच ने शुक्रवार की रात तोक्यो ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता एलेक्जेंडर ज्वेरेव पर पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए शानदार जीत से अमेरिकी ओपन पुरूष एकल के फाइनल में प्रवेश किया जिससे वह कैलेंडर ग्रैंडस्लैम से केवल एक जीत दूर हैं। शीर्ष रैंकिंग खिलाड़ी जोकोविच ने फ्लशिंग मिडोज पर ज्वेरेव को पांच सेट तक चले मुकाबले में 4-6, 6-2, 6-4, 4-6, 6-2 से हराया जिससे इस सत्र में मेजर चैम्पियनशिप में उनकी जीत का रिकार्ड 27-0 हो गया। अब वह 1969 के बाद कैलेंडर ग्रैंडस्लैम बनने वाला पहला खिलाड़ी बनने से बस एक कदम के फासले पर हैं। रॉड लीवर ने 52 साल पहले सत्र के सभी चारों ग्रैंडस्लैम जीते थे और स्टेफी ग्राफ 1988 में ऐसा करने वाली महिला खिलाड़ी थीं। लीवर 1962 में भी ऐसा कर चुके थे। अगर वह खिताब जीत लेते हैं तो यह उनका रिकॉर्ड 21वां ग्रैंडस्लैम होगा। वह अभी 20 ग्रैंडस्लैम खिताब के साथ रोजर फेडरर और राफेल नडाल की बराबरी पर हैं।

जोकोविच ने ‘ऑन-कोर्ट’ साक्षात्कार में अपनी बाहें फैलाते हुए कहा, ‘‘अब केवल एक मैच बचा है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस एक मैच में अपना सब कुछ लगा दूंगा। मैं इस अगले मैच को ऐसे समझूंगा कि यह मेरे करियर का अंतिम मैच है। ’’ एटीपी रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर सबसे ज्यादा हफ्ते तक रहने वाले जोकोविच अब रविवार को फाइनल में दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी दानिल मेदवेदेव से भिड़ेंगे। जोकोविच ने इस साल फरवरी में आस्ट्रेलियन ओपन, जून में फ्रेंच ओपन और जुलाई में विम्बलडन में मेजर खिताब जीते हैं। सर्बिया के इस 34 साल के खिलाड़ी ने शुक्रवार को ज्वेरेव को हराकर अपने 31वें करियर स्लैम फाइनल में प्रवेश किया और फेडरर के इस रिकॉर्ड की बराबरी की। वह अभी तक न्यूयार्क में रिकॉर्ड नौ फाइनल में पहुंच चुके हैं जिसमें से तीन बार उन्होंने चैम्पियनशिप जीती है। वहीं रूस के 25 साल के मेदवेदेव ने सेमीफाइनल में कनाडा के 12वें वरीय फेलिक्स ऑगर एलियासिमे को 6-4 7-5 6-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया। वह इस साल आस्ट्रेलियाई ओपन के फाइनल में जोकोविच से हारे थे और 2019 अमेरिकी ओपन फाइनल में उन्हें नडाल ने हराया था।


पिछले साल जोकोविच को चौथे दौर के बाद फ्लशिंग मिडोज से डिस्क्वालीफाई कर दिया गया था क्योंकि एक गेम गंवाने के बाद उन्होंने एक बॉल हिट की जो एक लाइन जज के गले में लग गयी थी। ज्वेरेव ने पहले सेट की शुरूआत तेजी से की और फिर लगातार दो ऐस लगाये। हालांकि इसके बाद ज्वेरेव डबल फॉल्ट भी कर बैठे। 4-4 की बराबरी के बाद ज्वेरेव ने अपनी सर्विस कायम रखकर पहला सेट अपने नाम किया। जोकोविच ने दूसरा सेट 36 मिनट में 6-2 से जीता जिसमें उन्होंने ज्वेरेव की दो बार सर्विस तोड़ी जो तीन डबल फाल्ट कर बैठे। ज्वेरेव ने तीसरे सेट की शुरुआत असहज गलती से की। जोकोविच संयमित बने हुए थे। दोनों खिलाड़ियों ने इसी दौरान 53 शॉट की एक रैली भी खेली जिसमें ज्वेरेव ने फोरहैंड क्रास कोर्ट विनर से प्वाइंट जुटाया। जर्मनी के खिलाड़ी ने दो सेट प्वाइंट बचाये लेकिन तीसरे में वह ऐसा नहीं कर सके और फोरहैंड क्रास के बाद जोकोविच ने स्मैश से सेट अपने नाम किया। चौथे सेट में ज्वेरेव ने ऐस से शुरुआत की और दोनों 1-1 से बराबरी पर थे। उन्होंने शानदार फोरहैंड विनर से इसे जीतकर फैसला निर्णायक सेट में पहुंचाया। पांचवें सेट में जोकोविच ने 5-0 की बढ़त बना ली। इसके बाद ज्वेरेव ने अगले दो प्वाइंट हासिल किये। लेकिन इसके बाद जोकोविच ने बैकहैंड विनर से सेट प्वाइंट जीतकर फाइनल में प्रवेश किया। इस तरह साढ़े तीन घंटे तक चले मुकाबले के बाद जोकोविच ने कहा, ‘‘आप मैच के दौरान प्रत्येक सेट में कई तरह की भावनाओं से गुजरते हो। आप कोर्ट पर इनसे निपटने के लिये अकेले होते हो। इनसे बच नहीं सकते, आपको खुद निपटना होता है। ’’

कोई टिप्पणी नहीं: