बेतिया : बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करें शिक्षक : जिलाधिकारी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 4 सितंबर 2021

बेतिया : बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करें शिक्षक : जिलाधिकारी

  • * शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर 36 शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र देकर किया गया सम्मानित
  • * "गुरू" की महत्ता को समझें और बच्चों को अंधकार से प्रकाश की ओर लें जायें शिक्षक
  • * विद्यालयों में शिक्षकों एवं बच्चों शत-प्रतिशत की उपस्थिति सहित आवश्यक संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने का निर्देश
  • * विद्यालयों में वेलकमिंग इन्वॉयरमेंट बनाने, उन्नयन मंच तैयार करने सहित सेंटर ऑफ एक्सलेंस निर्धारित करने का निर्देश

provide-quality-education-said-bettiyah-dm
बेतिया। शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर आज दिनांक-04.09. 2021 को समाहरणालय सभाकक्ष में शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वाले जिला शिक्षा पदाधिकारी, डीपीओ सहित 36 शिक्षक-शिक्षिकाओं को जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।  इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि गुरू की महत्ता को समझते हुए बच्चों को अंधकार से प्रकाश की ओर ले जायें। जिले के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को टेक्नोलॉजी एवं इनोवेशन के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करें ताकि बच्चों का भविष्य बेहतर एवं उज्जवल हो सके। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा जिले में अच्छा कार्य किया जा रहा है। इसे और बेहतर तरीके से करने की आवश्यकता है ताकि अंतिम बच्चे तक को गुणवतापूर्ण शिक्षा मुहैया हो सके।


उन्होंने कहा कि उन्न्यन फेसबुक लाइव क्लासेज का संचालन भी बेहतर तरीके से किया जा रहा है। इससे हजारों बच्चे लाभान्वित भी हो रहे हैं। यह अत्यंत ही सराहनीय है। उन्नयन फेसबुक लाइव क्लासेज का संचालन नियमित तौर पर करें।  उन्होंने जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि विद्यालयों में शिक्षकों एवं बच्चों की शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित कराने के लिए कारगर कदम उठायें। नियमित तौर पर स्कूलों का निरीक्षण एवं अनुश्रवण किया जाय। साथ ही स्कूलों में वेलकमिंग इन्वॉयरमेंट बनाया जाय, ताकि बच्चे विद्यालय के तरफ आकर्षित होकर पठन-पाठन में रूचि लें। साथ ही शिक्षकों की उपस्थिति का प्रतिदिन अनुश्रवण करने के लिए व्हाट्सएप तथा अन्य ऑनलाइन माध्यमों से उपस्थिति पंजी का निरीक्षण करें।  जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि विद्यालयों का रंग-रोगन, बाला पेंटिंग सहित समुचित साफ-सफाई, शौचालय, पेयजल आदि की व्यवस्था सुव्यवस्थित तरीके से सुनिश्चित करायें ताकि छात्र-छात्राओं को किसी भी तरह की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े।  उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र के बेहतर कार्य करने वाले स्कूल, शिक्षक को प्रोत्साहित करें तथा उन्हें पुरस्कृत भी करें ताकि वे और अधिक तन्मयता के साथ बच्चों को भविष्य बेहतर बना सके। उन्होंने कहा कि खेलकूद, संगीत, नृत्य सहित अन्य विधाओं में अच्छा करने वाले विद्यार्थियों को चिन्हित करते हुए उन्हें प्रॉपर तरीके से प्रशिक्षित किया जाय और राज्य, देश तथा विदेश स्तर के प्रतियोगिताओं में हिस्सा दिलाना सुनिश्चित करें।  इस अवसर पर जिला शिक्षा पदाधिकारी, श्री विनोद कुमार विमल, डीपीओ, श्री राजन कुमार सहित शिक्षक उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: