करीबी अंतर से मैच गंवाना पंजाब किंग्स के लिये चलन बन गया है : कुंबले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 23 सितंबर 2021

करीबी अंतर से मैच गंवाना पंजाब किंग्स के लिये चलन बन गया है : कुंबले

punjabi-learn-to-lose-short-margin-kumble
दुबई, 22 सितंबर, पंजाब किंग्स के मुख्य कोच अनिल कुंबले ने स्वीकार किया कि उनकी टीम का करीबी अंतर से इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच गंवाना एक चलन बन गया है तथा राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ दो रन की हार को पचा पाना बेहद मुश्किल है। पंजाब की टीम को मंगलवार की रात को खेले गये मैच में अंतिम ओवर में केवल चार रन की दरकार थी लेकिन रॉयल्स के तेज गेंदबाज कार्तिक त्यागी ने निकोलस पूरण और दीपक हुड्डा को आउट किया और इस ओवर में केवल एक रन देकर अपनी टीम को रोमांचक जीत दिलायी। कुंबले ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हां, यह चलन बन गया है विशेषकर लगता है कि जब भी हम दुबई में खेलते हैं तब ऐसा होता है। हमने स्पष्ट संदेश दिया था कि मैच 19 ओवर में जीतना है और इस रवैये के साथ ही खेलना चाहिए था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘दुर्भाग्य से हम इसे आखिर तक खींचकर ले गये और अंतिम दो गेंदों पर जब नया बल्लेबाज सामने हो तो यह लॉटरी की तरह बन जाता है।’’ अपने जमाने के इस दिग्गज लेग स्पिनर ने हालांकि त्यागी की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन त्यागी ने जिस तरह से अंतिम ओवर किया, श्रेय उन्हें जाता है। यह स्वाभाविक था कि वह ऑफ स्टंप से बाहर गेंद करेंगे लेकिन हमारे बल्लेबाजों ने सही विकल्प नहीं अपनाया। ’’ कुंबले ने कहा, ‘‘हां यह चलन बन गया है और इस पर हमें चर्चा करके समाधान निकालना होगा। हमें अभी पांच मैच खेलने हैं लेकिन हमें इस हार से हतोत्साहित नहीं होना चाहिए। इसे पचा पाना हालांकि मुश्किल है। ’’

कोई टिप्पणी नहीं: