स्पेसएक्स’ ने रचा इतिहास - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 17 सितंबर 2021

स्पेसएक्स’ ने रचा इतिहास

  • पृथ्वी का चक्कर लगाने के लिए चार लोगों को निजी उड़ान से किया रवाना

space-ex-make-history
केप केनवरल (अमेरिका), 16 सितंबर, पृथ्वी के तीन दिन तक चक्कर लगाने के लिए चार लोगों से साथ रवाना की गई ‘स्पेसएक्स’ की पहली निजी उड़ान ने कक्षा में प्रवेश कर लिया है। ऐसा पहली बार है जब पृथ्वी का चक्कर लगा रहे अंतरिक्ष यान में मौजूद कोई भी व्यक्ति पेशेवर अंतरिक्ष यात्री नहीं है। ‘स्पेसएक्स’ के ‘ड्रैगन कैप्सूल’ में मौजूद दो पुरुष और दो महिलाएं अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन से 100 मील (160 किलोमीटर) ऊंचाई वाली एक कक्षा से पृथ्वी की परिक्रमा करते हुए तीन दिन बिताएंगे। इस उड़ान का नेतृत्व 38 वर्षीय अरबपति जारेड इसाकमैन कर रहे हैं। वह ‘शिफ्ट4 पेमेंट्स इंक’ के कार्यकारी प्रबंधक हैं। उनके अलावा कैंसर से उबरी हेले आर्सीनॉक्स (29), स्वीपस्टेक विजेता क्रिस सेम्ब्रोस्की (42) और एरिज़ोना में एक सामुदायिक कॉलेज के शिक्षक सियान प्रॉक्टर (51) इन मिशन में शामिल हैं। आर्सीनॉक्स अंतरिक्ष में जाने वाली सबसे कम उम्र की अमेरिकी हैं। वह किसी कृत्रिम अंग के साथ अंतरिक्ष में जाने वाली पहली शख्स भी है। उनके बाएं पैर में टाइटेनियम रॉड पड़ी है। अमेरिका के फ्लोरिडा स्थित ‘कैनेडी स्पेस सेंटर’ से भारतीय समयानुसार बृहस्पतिवार सुबह चार लोगों को लेकर स्पेसएक्स का ‘क्रू ड्रैगन कैप्सूल’ अंतरिक्ष के लिए रवाना हो गया। यह ‘स्पेसएक्स’ के संस्थापक एलन मस्क द्वारा अंतरिक्ष में पर्यटकों के रूप में भेजा गया पहला समूह है। अंतरिक्ष को पर्यटन के लिए इस्तेमाल करने का पहले विरोध करने वाला नासा भी अब इसका समर्थन कर रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं: