सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 अक्टूबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 19 अक्तूबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 अक्टूबर

सोलह दिवसीय श्रीयंत्र प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान का भव्य शुभारंभ आज, श्रीशक्ति सेवा संस्थान के द्वारा वरिष्ठ ब्राहम्णों के सानिध्य में आयोजन  


sehore news
सीहोर। श्रीशक्ति सेवा संस्थान के द्वारा आयोजित सोलह दिवसीय श्रीयंत्र प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान का भव्य शुभारंभ ज्योतिषाचार्य अनिल सोनी के सानिध्य में वरिष्ठ ब्राहम्णों की विशेष उपस्थिति में बुधवार सुबह पीडब्ल्यूडी के सामने स्थित सौभाग्य पैलेश में मंत्रोपचार के साथ किया गया जाएगा। गौपूजन कर मंगलवार की शाम कार्यक्रम का प्रारंभिक श्रीगणेश किया गया। श्री यंत्र प्राण प्रतिष्ठा महालक्ष्मी अनुष्ठान में स्फटिक श्री यंत्र को 21 ब्राह्मणों के द्वारा सवा लाख महालक्ष्मी मंत्रो सवा लाख श्री सूक्त के पाठ सवालाख महालक्ष्मी बीज मंत्र कनक धारा पाठ पुरूष सूक्त पाठ विष्णु सहस्त्र नाम एवं महालक्ष्मी अष्टकम् पाठ से श्री यंत्र का प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान पूजन किया जाएगा। जिसमे 16 दिनों तक 16000 हजार वस्तुओं सहस्त्रार्चन किया जाएगा।  ज्योतिषाचार्य अनिल सोनी ने बताया की सिद्धपुर सीहेार  नगर की पावन भूमि पर पहली बार श्री यंत्र प्राण प्रतिष्ठा महालक्ष्मी अनुष्ठान किया जा रहा है। शरद पूर्णिमा 20 अक्टुबर से प्रारंभ होकर दिपावली के दिन 4 नवम्बर तक कार्यक्रम रहेगा। पहले दिन कमल गट्टे,हल्दी की गाठ, पताशे,अनार कमलपुष्प,बिल्व पत्र,मूँगा,इलाईची, पीली कोडी,गोमती चक, अष्टगन्ध,अनार का रस,पंचामृत सभी की संख्या एक हजार रहेगी से माता लक्ष्मी का अनुष्ठान किया जाएगा। कार्यक्रम में 16 दिनों तक कन्या पूजन गौ माता पूजन, ब्राह्मण पूजन भी होगा। अनुष्ठान आचार्य सौरभ शास्त्री ने कहा की  प्रति दिन हवन में 2100 आहुतिया एवं मंडल पूजन जैसे द्ववादश विनायक पोडश मातृका सप्तघृत मातृका वास्तु मंडल क्षेत्रपाल सर्वतोभद्र मंडल नवग्रह मंडल असंख्यात मंडल अष्टदल मंडल गोरी तिलक वरुण मंडल श्री यन्त्र मंडल पूजन के द्वारा श्री यंत्र प्राण प्रतिष्ठा महालक्ष्मी अनुष्ठान किया जायेगा। श्रीशक्ति सेवा संस्थान द्वारा कार्यक्रम में सम्मिलित होने की अपील श्रद्धालुगणों से की गई है। 


बालाघाट ने एक तरफा मुकाबले खरगौन को 6-0 से हराया


sehore news
सीहोर। शहर के चर्च मैदान पर खेली जा रही मध्यप्रदेश प्रीमियर लीग फुटबाल प्रतियोगिता के दूसरे चरण के पहले मैच में बालाघाट ने एक तरफा मुकाबले में खरगौन को 6-0 से हराया, वहीं एक अन्य मुकाबले में भोपाल ने कांटे की टक्कर में जबलपुर को 3-2 से हराया। वहीं मंगलवार को हुए अंतिम मुकाबले में नीमच ने बडवानी को 3-0 से शिकस्त दी। मध्यप्रदेश प्रीमियर लीग का दूसरा चरण रोमांचक दौर में पहुंच गया है। यहां पर खेली जा रही प्रतियोगिता में शामिल टीम के स्टार खिलाड़ी अपनी-अपनी टीम को टाप पर पहुंचाने के लिए शानदार खेल का प्रदर्शन कर रही है। बुधवार को कोई भी मैच नहीं खेला जाएगा। अब आगामी मैच गुरुवार को खेले जाऐंगे। पहला मैच खरगोन विरुद्ध बालाघाट के मध्य खेला गया जिसमें बालाघाट के   प्रीमल मुर्मू ने 23 मिनट में पहला गोल किया 43, 51, 63 मिनट में मार्शल किस्कु ने दूसरा, तीसरा और चौथा गोल किया। 76 मिनट मे सुजीत हंसदा  ने  गोल किया, 78 मिनट में मोहित कुमार गोदी ने गोल किया बालाघाट 6-0 से जीत हासिल की। दूसरा मैच जबलपुर विरुद्ध भोपाल के बीच खेला गया  जबलपुर के शेर्य राय ने 13 वें मिनट में पहला गोल किया दूसरा गोल 62  मिनट में साहिल रजक मैं गोल किया, भोपाल के नाओरेम मिचेल ने 30 मिनट में गोल किया, निखिल कुमार ने चित्र मिनट में दूसरा गोल किया, तुषार ने 90+3 में गोल किया 3-2 से विजय रही। इसके अलावा  तीसरा मैच नीमच विरुद्ध बड़वानी के बीच खेला गया जिसमें पहला गोल 20 मिनट और दूसरा गोल 64 मिनट में बलराम ने गोल किए तथा तीसरा गोल 83 मिनट में उज्जवल सिंह ने किया ,पहले मैच के मैन ऑफ द मैच  बाला घाट के मार्शल किस्कु को दिया गया, दूसरे मैच का मैन ऑफ द मैच भोपाल के तुषार को दिया गया, तीसरे मैच के मैन ऑफ द मैच   नीमच के बलराम को दिया गया। इस संबंध में जिला फुटबाल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष सुदीप व्यास ने बताया कि मंगलवार को मुख्य अतिथि मध्य प्रदेश फुटबॉल एसोसिएशन के वर्किंग प्रेसिडेंट जेके श्रीवास्तव मध्य प्रदेश फुटबॉल एसोसिएशन के सचिव अमित रंजन देव, क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव वीरू वर्मा समाजसेवी गोविंद मालवीय, एचएससी बीएचईएल स्पोर्ट्स के कई वरिष्ठ खिलाड़ी आज के मैच में उपस्थित। आज के मैच के निर्णायक पहले मैच के निर्णायक विजेंद्र परमार, सदानंद ठाकुर, मनोज अहिरवार, ज्योति गौर। दूसरे मैच के निर्णायक रईस अहमद, अक्षय कनौजिया, मुजम्मिल खान, मनोज अहिरवार, तीसरा मैच के निर्णायक रोशन पाठक, अतुल तिवारी, ज्योति गौर, सदानंद ठाकुर आदि शामिल थे। 


रघुवीर दांगी बने किसान कांग्रेस के जिलाध्यक्ष


sehore news
सीहोर। लंबे समय से कांग्रेस विचार धारा से जुड़े और किसान कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री रघुवीर दांगी को संगठन के प्रदेशाध्यक्ष दिनेश गुर्जर ने श्री दांगी को किसान कांग्रेस का जिलाध्यक्ष मनोनित किया गया है। इस मौके पर मंगलवार को शहर के कांग्रेस मुख्यालय पर नव नियुक्त जिलाध्यक्ष श्री दांगी का जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ. बलवीर तोमर के नेतृत्व में स्वागत किया गया। इस मौके पर श्री दांगी ने कहा कि मुझे जो जिम्मेदारी मिली है, उसका मैं सदैव पूरी कर्मठता और ईमानदारी से निवार्हन करुंगा। स्वागत करने वालों में प्रमुख रूप से पूर्व विधायक और सहकारिता नेता रमेश सक्सेना, राजेन्द्र सिंह ठाकुर, राजाराम बड़े भाई, राजेन्द्र वर्मा, युवक कांग्रेस प्रदेश सचिव राजीव गुजराती, राजेश यादव भूरा, सीताराम भारती, पवन राठौर, रामप्रकाश चौधरी, राकेश वर्मा,महेन्द्र सिंह ठाकुर टीपाखेड़ी निशांत वर्मा, भगत सिंह तोमर, मृदुल तोमर, रमेश राठौर, तुलसी राठौर, सुनील दुबे, लक्ष्मण सिंह रेकवार, अजमेरी भाई, बाबूलाल सूर्यवंशी, मांगीलाल टिमराई, पूृरण शाक्य, हरदीप राठौर, ज्ञान सिंह मेवाड़ा, राजेन्द्र नागर, नावेद खान, आसीफ खान, देवी सिंह दांगी, सुरेन्द्र पटेल दोराहा, भैरुलाल पाटीदार, शद्दरूद्दीन, रघुवर सिंह दांगी, रमेश चंद्र शर्मा, राजेन्द्र सिंह दांगी, महेन्द्र पाटीदार,  राजू मेवाड़ा, गोपाल ठाकुर, हफीज चौधरी, भंवर लाल पाटीदार, सलीम खान, गजराज सिंह, गिरधर दास, कपिल गोर, कपिल पाटीदार, मांगीलाल दांगी, देवेन्द्र वर्मा, जुगल पाटीदार, मोहन दांगी, गुफरान पठान, अभिलाश विश्वकर्मा, विक्रम सिंह दांगी आदि शामिल थे।


श्री दांगी ने किया आभार व्यक्त

इधर नव नियुक्त मध्यप्रदेश किसान कांग्रेस के जिलाध्यक्ष श्री दांगी ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव, पीसी शर्मा, सुरेन्द्र सिंह ठाकुर, राजकुमार पटेल, पूर्व रमेश सक्सेना, पूर्व पालिका अध्यक्ष राकेश राय आदि का आभार व्यक्त किया है। जिनका आशीर्वाद से मुझे कांग्रेस की जिम्मेदारी प्राप्त हुई है। 


आज किया जाएगा भगवान श्रीगणेश के जन्मोत्सव का वर्णन, निर्मल मन जन सो मोहि पावा-भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा


sehore news
सीहोर। जो मनुष्य निर्मल मन का होता है, वही मुझे पाता है। मुझे कपट और छल-छिद्र नहीं सुहाते। जब तक मन शुद्ध नहीं होगा, तब तक मुक्ति नहीं मिल सकती है। मन अगर शुद्ध हो गया तो चरित्र भी शुद्ध हो जाएगा और अगर चरित्र शुद्ध होगा तो भगवान श्रीराम और श्रीकृष्ण तक अवश्य पहुंच जाओगे। बाल सुलभ सरलता एवं निश्छलता ही ईश्वर प्राप्ति की सच्ची योग्यता हैं। भगवान शिव की भक्ति भोलेपन से होती है। उक्त विचार जिला मुख्यालय के समीपस्थ निर्माणाधीन मुरली मनोहर एवं कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में जारी श्री पूर्णिमा शिव महापुराण कथा के तीसरे दिन भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहे। इस मौके पर भगवान शिव और पार्वती का झांकी भी बनाई गई थी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि कीमत जब मनुष्य की बढ़ती है जब वह सत्संग में लगा हो, भगवान की भक्ति में लगा हुआ है। श्री पूर्णिमा शिव महापुराण के तीसरे दिन मंगलवार को उन्होंने कहा कि कांतिका नगर में धनेश्वर नाम का ब्राह्मण निवास करता था जो दान पर अपना जीवन निर्वाह करता था. ब्राह्मण और उसकी पत्नी के कोई संतान नही थी। एक दिन उसकी पत्नी नगर में भिक्षा मांगने गई। लेकिन सबने उसे भिक्षा देने से इनकार कर दिया। कई लोगों ने बांझ कहकर उसका अपमान किया। तब एक व्यक्ति ने उसे 16 दिन तक मां काली की पूजा करने को कहा। ब्राह्मण दंपत्ति ने ऐसा ही किया और 16 दिन बाद मां काली स्वयं प्रकट हुईं। मां काली ने ब्रह्मण की पत्नी को गर्भवती होने का वरदान दिया और कहा कि अपने सामर्थ्य के अनुसार प्रत्येक पूर्णिमा को तुम दीपक जलाओ। हर पूर्णिमा को तुम 1 दीपक बढ़ा देना। इस तरह पूर्णिमा के दिन दीपक जलाना आदि का महत्व बताया गया।


घर ही शिवालय है

भागवत भूषण पंडित श्री मिश्रा ने बताया कि भगवान की पूजा पूरे समर्पण भाव से होना चाहिए। हमारा निवास ही शिवालय की तरह होता है, घर को मंदिर मानकर ही सेवा करना चाहिए, तभी हमारा कल्याण हो सकता है। इस संबंध में विठलेश सेवा समिति के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि  कथा सुबह ग्यारह बजे से आरंभ होती है, इसका प्रसारएण आन लाइन किया जा रहा है। बुधवार को भगवान गणेश जन्मोत्सव का वर्णन किया जाएगा। 


सादगी से मनाया ईद मिलाद-उन-नबी, आस्था के साथ निकाला चल समारोह


sehore news
सीहोर। मंगलवार को इस्लाम धर्म के प्रवर्तक हजरत पैगंबर मोहम्मद साहब के जन्म दिवस पर ईद-मिलाद-उन-नबी का पर्व जिले में सादगी के साथ मना।  इस मौके पर आस्था के साथ शहर के छावनी स्थित सराय से मस्लिम त्योहार कमेटी के तत्वाधान में चल समारोह निकाला गया था, इस मौके पर कई राजनैतिक दलों ने समारोह में शामिल सभी का माला पहनाकर स्वागत किया। इस संबंध में जानकारी देते हुए मस्लिम त्योहर कमेटी के अध्यक्ष नईम नवाब ने बताया कि मंगलवार को मस्जिद पहुंच लोगों ने जुम्मे की नमाज अदा की गई। देश में अमर चैन की दुआ मांगी गई। जिला प्रशासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार ही मनाया गया। वहीं घरों को सजाया गया। उन्होंने बताया कि धर्म के लोग पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्मदिन को ईद-ए-मिलाद-उन-नबी या ईद-ए-मिलाद के रूप में मनाते हैं। इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक, ये त्योहार तीसरे महीने रबी-उल-अव्वल के 12वें दिन मनाया जाता है। इसको लेकर प्रशासन के जो निर्देश थे उसके मुताबिक चल समारोह शहर के छावनी में निकाला गया। इस मौके पर मध्यप्रदेश पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष राजेश भूरा यादव के नेतृत्व में शहर के लीसा टाकीज चौराहे पर चल समारोह में शामिल मस्लिम त्योहार कमेटी अध्यक्ष श्री नवाब, कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. बलवीर तोमर, पूर्व विधायक रमेश सक्सेना,   कांग्रेस नेता नावेद खान, नौशाद खान, हरीश आर्य, संतोष सिंह बैस, पवन राठौर, मांगीलाल टिमराई आदि का स्वागत किया गया।  


जिले में अब तक 1045.2 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 4.2 मिलीमीटर औसत वर्षा


जिले में 01 जून से 19 अक्टूबर 2021 तक  1045.2 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा 1433.2 मिलीमीटर थी। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 19 अक्टूबर 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 956.9 मिलीमीटर,  श्यामपुर में 1051.9,  आष्टा में 974.0,  जावर में 930.0,  इछावर में 1080.3, नसरूल्लागंज में 1049.0,  बुधनी में 1171.0, रेहटी में 1148.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में 4.2 मिलीमीटर औसत वर्षा

जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 08 बजे तक 4.2 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 0.0 मिलीमीटर, श्यामपुर में 0.0, आष्टा में 2.0,  जावर में 0.0,  इछावर में 0.0, नसरूल्लागंज में 21.0,  बुधनी में 4.0, रेहटी में 6.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


श्री मनवानी यूपीएससी एवं एमपीपीएससी की तैयारी करने वाले छात्र छात्राओं को करेंगे संबोधित


नगरपालिका के लाइब्रेरी हाल में संचालित यूपीएससी एवं एमपीपीएससी निःशुल्क कोचिंग क्लासेज के छात्र-छात्राओं को मुख्यमंत्री प्रेस प्रकोष्ठ भोपाल के उपसंचालक जनसंपर्क के श्री अशोक मनवानी 24 अक्टूबर को सुबह 8 बजे पहुंचकर संबोधित करेंगे। यूपीएससी एवं एमपीपीएससी निःशुल्क कोचिंग क्लासेज के डायरेक्टर श्री परीक्षित भारती ने बताया कि सभी छात्र छात्राएं मुख्य अतिथि श्री अशोक मनवानी जनसंपर्क विभाग की प्रशासन में भूमिका को समझायेंगे। सभी छात्र छात्राएं निर्धारित समय पर उपस्थित होना सुनिश्चित करे।


किसानों के लिए वरदान और जल संरक्षण के लिए कारगार साबित हो रहें स्टापडेम


sehore news
जिले में जल संरक्षण के छोटे-छोटे स्टापडेम एवं विकास के कार्य जल संरक्षण की दिशा में सार्थक सिद्ध हो रहे हैं। इससे न केवल भूमिगत जल के स्तर में सुधार होगा, बल्कि आसपास के लोग भी सीधे तौर पर लाभान्वित होते हैं। जल संरक्षण के लिए किये जाने वाले निर्माण एवं विकास के कार्यों से स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिला है। सीहोर जनपद की ग्राम पंचायत डोंडी में जलसंसाधन विभाग द्वारा 32 लाख रूपये की लागत से बनाये स्टापडेम से आसपास के भूमिगत जल स्तर में वृद्धि के साथ ही लगभग 70 एकड भूमि सिंचाई भी होगी। इस स्टापडेम से किसान को लाभ मिलेगा। इसके अलावा मवेशियों के लिए भी पानी की उपलब्धता रहेगी। 



वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक 22 अक्टूबर को


मप्र राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2021 की तैयारियों को लेकर 22 अक्टूबर को अपरान्ह 04:00 बजे से 05:30 बजे तक वीसी के माध्यम से समीक्षा बैठक आयोजित की जाएगी। बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी स्थानीय निर्वाचन, जनपद पंचायत तथा ग्राम पंचायत के रिटर्निंग ऑफिसर्स, जिला पंचायत के सहायक रिटर्निंग ऑफिसर्स, जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स 02, नोडल अधिकारी (प्रशिक्षण), निर्वाचन अधीक्षक (स्थानीय निर्वाचन) अधिकारियों को समीक्षा बैठक के लिए जिले के वीसी रूम में उपस्थिती सुनिश्चित करें।


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पॉजिटिव की संख्या शून्य


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10142  है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020  हैं। आज 689 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 189, श्यामपुर से 160, नसरूल्लागंज 52, आष्टा से 207,  बुधनी से 46 तथा इछावर से 35 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 281144 हैं। जिनमें से 269365 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 479 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1566 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


प्रदेश में 163 ऑक्सीजन प्लांट हुए क्रियाशील

  • प्रतिदिन 182 मी. टन ऑक्सीजन का उत्पादन, 9145 रोगियों को 10 लीटर प्रति मिनट की दर से मिल सकेगी ऑक्सीजन

मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन की स्थानीय उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न चिकित्सालय में 163 ऑक्सीजन प्लांट्स स्थापित किये जा चुके हैं। इन प्लांटस की प्रतिदिन 182 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता है। इससे आवश्यकता पड़ने पर 9145 रोगियों को 10 लीटर प्रति मिनट की दर से ऑक्सीजन प्रदाय की जाकर उपचारित किया जा सकेगा। प्रदेश में पीएम केयर फंड एवं राज्य शासन के अथक प्रयासों से 202 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट्स की स्थापना का कार्य कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी को महसूस कर प्रारंभ किया गया था। शेष 39 ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना इसी माह सुनिश्चित कर ली जाएगी।


ऑक्सीजन में म.प्र. बन रहा है आत्म-निर्भर

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिये गये सहयोग से मध्यप्रदेश ऑक्सीजन के क्षेत्र में आत्म-निर्भर बनाने की ओर अग्रसर है। कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना मरीजों की जान बचाने के लिए अन्य राज्यों से ऑक्सीजन आयात की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन की स्थानीय व्यवस्था के लिए प्लांटस स्थापना के शासकीय चिकित्सालयों में अतिरिक्त रूप से 30 हजार 291 ऑक्सीजन सिलिन्डर की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है। उन्होंने बताया कि मार्च 2020 की स्थिति में प्रदेश के किसी भी शासकीय चिकित्सालय में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट उपलब्ध नहीं थे। आज की स्थिति में 163 ऑक्सीजन प्लांटस प्रदेश के विभिन्न जिलों में प्रांरभ हो चुके है। शेष प्लांटस भी शीघ्र स्थापित कर लिए जाएंगे। इन सभी 202 प्लांटस से प्रतिदिन लगभग 230 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन जनरेट हो सकेगी। प्रदेश में पीएम केयर फंड से 88, मुख्यमंत्री राहत कोष से 13 एवं अन्य विभिन्न माध्यम जैसे स्वास्थ्य विभाग, CSR एवं स्थानीय प्रयासों से 101 ऑक्सीजन प्लांट्स स्थापित करने का काम गत मई माह से शुरू किया गया। आज मध्यप्रदेश 163 ऑक्सीजन प्लांटस स्थापित कर आत्म-निर्भरता की ओर अग्रसर हो रहा है।


ऑक्सीजन भंडारण सुविधा

प्रदेश के शासकीय चिकित्सा महाविद्यालयों में वर्तमान में 360 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन के भंडारण की सुविधा है। इसके अतिरिक्त प्रदेश के 34 जिला चिकित्सालयों में 6 किलो लीटर की क्षमता के लिक्विड ऑक्सीजन के टैंक (कुल 248 मीट्रिक टन) की स्थापना की जा रही है। शासकीय चिकित्सालय में 13 हजार 956, चिकित्सालय महाविद्यालय में 1350 ऑक्सीजन कॉन्सेन्ट्रेटर की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है। इसके अलावा भारत सरकार ने भी पूर्व में दिए ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर के अतिरिक्त 3860 कॉन्सनट्रेटर का आबंटन और किया गया है।


आईसीयू, एचडीयू, ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स

स्वास्थ्य विभाग के अधीन स्वास्थ्य संस्थाओं में जून 2021 तक 11 हजार 156 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स उपलब्ध थे। राज्य शासन द्वारा 3099 अतिरिक्त बेड्स को ऑक्सीजन सपॉर्टिड बेड्स में परिवर्तित करने की स्वीकृति दी, जिसमें लगभग 2000 बेड्स क्रियाशील किए जा चुके हैं, शेष बेड्स इस माह पूर्ण कर क्रियाशील हो जाएंगे। इस माह के अंत तक लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अधीन स्वास्थ्य संस्थाओं में 14 हजार 255 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड्स उपलब्ध हो जाएंगे।


विद्युत दरों में 20 हजार करोड़ रूपये से अधिक की सब्सिडी

  • मुख्यमंत्री राशन आपके द्वार योजना को मंजूरी, मुख्यमंत्री श्री चौहान की अध्यक्षता में मंत्रि-परिषद की बैठक

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता मे मंत्रि-परिषद की वर्चुअल बैठक हुई। मंत्रि-परिषद द्वारा वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिये घरेलू एवं कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत दरो में 20 हजार करोड़ रूपये से अधिक की सब्सिडी देने का निर्णय लिया गया है। घरेलू उपभोक्ताओं के लिये लागू योजना में 150 यूनिट तक की मासिक खपत पर प्रथम 100 यूनिट तक अधिकतम 100 रुपये का देयक दिए जाने और अनुसूचित जाति एवं जनजाति के बीपीएल घरेलू उपभोक्ता, जिनकी मासिक खपत 30 यूनिट है, से मात्र 25 रूपये प्रति माह के मान से 4 माह में 100 रूपये लिए जाने का प्रावधान इस वर्ष भी निरंतर रखा गया है। गृह ज्योति योजना में 4981 करोड़ 69 लाख रूपये की सब्सिडी स्वीकृत की गई है। मंत्रि-परिषद ने कृषि उपभोक्ता श्रेणी को भी विद्युत दरों में राहत प्रदान करने का निर्णय लिया है। 10 हॉर्सपावर तक की क्षमता के मीटर रहित स्थायी कृषि पम्प उपभोक्ता को 750 रूपये प्रति हॉर्सपावर प्रति वर्ष की फ्लैट दर देय होगी। शेष राशि राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी के रूप में देय होगी। इसके लिये राज्य सरकार द्वारा वितरण कम्पनियों को 9876 करोड़ रूपये की सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इस निर्णय से प्रदेश के लगभग 21 लाख 75 हजार कृषि पम्प उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। 10 हॉर्सपावर से अधिक की क्षमता के मीटर रहित स्थाई कृषि पंप उपभोक्ता से 1500 रूपये प्रति हॉर्सपावर प्रति वर्ष की फ़्लैट दर देय होगी। शेष राशि राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी के रूप में वितरण कंपनियों को देय होगी। इसके लिये 644 करोड़ रूपये की सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इससे प्रदेश के लगभग 50 हजार कृषि पंप उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। मीटर युक्त स्थाई और अस्थाई कृषि पंप संयोजनों पर ऊर्जा प्रभार, ईंधन प्रभार एवं नियत प्रभार में छूट दी जायेगी। छूट राशि का भुगतान राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी के रूप में कंपनियों को वितरण किया जाएगा। इसके लिये 350 करोड़ रूपये की राशि देय होगी एवं इससे लगभग 2 लाख अस्थायी एवं 20 हजार मीटरयुक्त स्थाई कृषि पंप उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। एक हेक्टेयर तक की भूमि वाले 5 हॉर्सपावर तक के अनुसूचित जाति और जनजाति के कृषि उपभोक्ताओं को निःशुल्क विद्युत प्रदाय की जायेगी। देयक की सम्पूर्ण राशि राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी के रूप में देय होगी एवं इससे लगभग 9 लाख 25 हजार कृषि पंप उपभोक्ता लाभान्वित होंगे। इसके लिये राज्य शासन द्वारा 4733 करोड़ रूपये की राशि सब्सिडी के रूप में वितरण कंपनियों को दी जायेगी। उच्च दाब उदवहन/समूह सिंचाई उपभोक्ताओं को ऊर्जा प्रभार तथा वार्षिक न्यूनतम प्रभार में छूट दी जायेगी। छूट राशि राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी के रूप में वहन की जाएगी। इसके लिये  90 करोड़ रूपये की राशि सब्सिडी के रूप में देय होगी। मंत्रि-परिषद द्वारा लिए गए निर्णय से प्रदेश के कृषि क्षेत्र के उपभोक्ताओ को विद्युत देयक में 15722 करोड़ 87 लाख रूपये की वार्षिक राहत प्राप्त होगी। त्रि-परिषद द्वारा गरीब जनजाति परिवारों की सुविधा के लिए प्रदेश के आदिवासी विकासखण्डों की उचित मूल्य दुकानों के आश्रित ग्रामों के पात्र परिवारों को उनके ही ग्राम से राशन सामग्री वितरण की योजना "मुख्यमंत्री राशन आपके द्वार" लागू करने का निर्णय लिया गया है। यह योजना उप चुनाव निर्वाचन आचार संहिता के जिलों को छोड़कर शेष जिलों के आदिवासी विकासखण्डों में माह नवम्बर, 2021 से लागू की जाएगी। योजना में 16 जिलों के 74 विकासखंण्ड में 7511 ग्राम के जनजातीय परिवार लाभान्वित होंगे। मुख्यालय गाँव को छोड़कर दुकान से संलग्न अन्य ग्रामों में वाहन के माध्यम से परिवहन कर राशन सामग्री का वितरण किया जायेगा। कलेक्टर द्वारा ग्राम में वितरण के लिये प्रत्येक माह के दिवस निर्धारित किए जाएंगे। एक वाहन द्वारा एक माह मे औसतन 22 से 25 दिवस (अवकाश छोड़कर) 220 से 440 क्विंटल खाद्य सामग्री का वितरण किया जायेगा। खाद्यन्न परिवहन में अनुमानित 472 वाहन उपयोग किए जाएंगे। एक मीट्रिक टन वाले वाहन पर 24 हजार रूपये प्रतिमाह और 2 मीट्रिक टन वाले वाहन पर 31 हजार रूपये प्रतिमाह की दर से सालाना व्यय 14 करोड़ 7 लाख रूपये अनुमानित है। वाहन में खाद्यान्न लोड करते समय उसकी गुणवत्ता का परीक्षण किया जायेगा। वाहन में सामग्री तौलने के लिए इलेक्ट्रानिक तौल काँटा, माईक, स्पीकर, पी.ओ.एस. मशीन रखने, बैठने एवं खाद्यान्न सुरक्षित रखने की सभी व्यवस्थाएँ होंगी। वाहनों की व्यवस्था के लिए परिवहनकर्ताओं के साथ जिला स्तर पर अनुबंध किया जायेगा। परिवहनकर्ता उसी क्षेत्र के ग्रामों के निवासी होंगे। उनकी उम्र 21 से 45 वर्ष के बीच होगी तथा वे अनुसूचित जनजाति वर्ग से होंगे। परिवहनकर्ताओं को प्रतिमाह निर्धारित व्यय का भुगतान किया जायेगा। परिवहनकर्ता को वाहन क्रय के लिए ऋण राशि पर मार्जिन मनी प्रदान की जायेगी। एक मीट्रिक टन क्षमता वाले वाहन के लिए 2 लाख रुपए और 2 मीट्रिक टन या अधिक क्षमता वाले वाहन के लिए 3 लाख रुपए की मार्जिन मनी का भुगतान किया जायेगा। मार्जिन मनी की एकमुश्त राशि 9 करोड़ 69 लाख रुपए का भुगतान जनजातीय कार्य विभाग द्वारा किया जायेगा। सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत ग्राम पंचायत स्तर पर उचित मूल्य दुकान संचालित करने का प्रावधान होने से दुकान के मुख्यालय ग्राम को छोड़कर शेष आश्रित ग्रामों के पात्र परिवारों को परिवहन के सुगम साधन न होने के कारण प्रतिमाह लगभग 5 कि.मी. दूरी तय कर 23 से 37 किग्रा वजन की सामग्री सिर पर रखकर ले जानी पड़ती है। दिव्यांग, वृद्ध और शारीरिक रूप से असक्षम व्यक्ति को दुकान से राशन सामग्री प्राप्त करने में कठिनाई उत्पन्न होती है एवं गरीब परिवारों को मजदूरी का नुकसान भी होता है। इन तथ्यों को दृष्टिगत रखते हुए मंत्रि-परिषद द्वारा यह निर्णय लिया गया है। योजना से हितग्राही की मजदूरी एवं श्रम की बचत, पात्र परिवारों को निवास के ग्राम में राशन सामग्री का प्रदाय और समय पर राशन सामग्री का वितरण हो सकेगा।


नागरिक मानवाधिकार उल्लंघन की ऑनलाइन शिकायत भी कर सकेंगे


राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग नई दिल्ली द्वारा प्राप्त जानकारी अनुसार मानव अधिकारों के उल्लंघन से संबंधित शिकायतों के निराकरण हेतु आयोग में वर्तमान में 06 तरीकों से शिकायतें अग्रेषित की जा सकती हैं। नागरिक ऑनलाइन फ्री पोर्टल www.hrcnet.nic.in  पत्राचार, मदद टोल फ्री नम्बर 144334, राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के मदद सेंटर में उपस्थित होकर लिखित शिकायत, मोबाइल नम्बर 9810298900 द्वारा एवं नागरिक सेवा केंद्र (सीएससी) में 30 रुपए का शुल्क जमा कर अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: