विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 23 अक्टूबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 23 अक्तूबर 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 23 अक्टूबर

जिला प्रषासन की उदासीनता से गौषालएं बंद गौमाता सड़क परः शषांक भार्गव

  • 31 अक्टूबर तक का दिया अल्टीमेटम

vidisha news
विदिषाः विधायक शषांक भार्गव ने जिला प्रषासन को 2 दिन पूर्व ग्राम जाफरखेड़ी में निर्मित हो चुकी गौषाला का लोकार्पण करने की चेतावनी दी थी। जिला प्रषासन द्वारा इस दिषा में कोई सकारात्मक कार्यवाही नहीं करने के कारण विधायक शषांक भार्गव पीतलमील स्थित कार्यालय से सैकडो़ं गौभक्तों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ नारेबाजी करते हुए दोपहिया वाहनों से खरी फाटक, माधवगंज, तिलक चौक, रामलीला चौराहे से होते हुए जाफरखेडी पहंुचे जहॉ महिला कांग्रेस प्रदेष महामंत्री आषा राजपूत, के नेतृत्व में ग्रामवासियों ने विधायक भार्गव और सभी गौभक्तों का फूल मालाओं से जोरदार स्वागत किया।  मुख्य सड़क से विधायक भार्गव की अगुवाई में सभी कांग्रेस कार्यकर्ता और मौजूद ग्रामवासी पैदल चलकर गौषाला तक पहंुचे। कुछ ग्रामवासी गौवंष लेकर भी पहंुच गए थे जिनका कांग्रेस नेताओं ने गौपूजन किया। जहां पहले से मौजूद पुलिस बल ने गेट तक पहुंचने से रोका जिसे लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस बल के बीच बडी देर तक धक्का मुक्की चलती रही। मौके पर मौजूद तहसीलदार सरोज अग्निवंषी से विधायक भार्गव ने गौषाला के निरीक्षण करने को कहा तब 5 लोगों के साथ जाने की बात तय हुई। कुछ देर बाद तहसीलदार अग्निवंषी ने कोरोना का हवाला देते हुए निरीक्षण की अनुमति देने से इंकार कर दिया ये सुनते ही कांग्रेस नेताओं ने प्रषासन पर भाजपा नेता के इषारे पर ड्यूटी करने का आरोप लगाते हुए तहसीलदार अग्निवंषी के खिलाफ नारेबाजी की ओर गेट खोलने के प्रयास किये इस दौरान एकबार फिर पुलिस बल और कार्यकर्ताओं के बीच काफी देर तक धक्का मुक्की होती रही कुछ कार्यकर्ता गौषाला की दीवार फांदकर गौषाला के अंदर भी पहंुच गए जिन्हें बडी मुष्किल से पुलिस बाहर निकाल पाई।  प्रषासन द्वारा अंदर जाने की अनुमति नहीं मिलने से नाराज विधायक भार्गव सभी कार्यकर्ताओं के साथ गौषाला के गेट पर ही टेंट लगाकर धरने पर बैठ गए।  इस दौरान विधायक शषांक भार्गव ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी की सरकार के समय जिले में कुल 18 गौषालाएं बनाने की राषि स्वीकृत की गई थी जिनमें से सिर्फ 6 गौषालाएं ही कार्यरत हैं बाकि 11 गौषालाएं प्रषासन की उदासीनता के कारण लोकार्पण की बाट जोह रही हैं और गौमाता दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। गौमाता गौषालाओं में सम्मानपूर्वक जीवन जी सकें इसलिए हमने खुद ही गौषाला का लोकार्पण करना उचित समझा। आज फिर से हम जिला प्रषासन को 31 अक्टूबर तक का समय दे रहें हैं अगर गौषालाओं का विधिवत लोकार्पण करेंगे।  ग्यारसपुर जनपद अध्यक्ष प्रतिनिधि राकेष कटारे ने कहा कि एक ओर तो लोकार्पण में देरी कर प्रषासन खुद लापरवाही दिखा रहा है ऊपर से चुने हुए जनप्रतिनिधि को निरीक्षण करने से भी रोका जा रहा है। प्रषासन की मनमानी के खिलाफ हम लोकसभा विधानसभा और न्यायालय में भी षिकायत दर्ज करायेंगे।  धरने पर बैठे विधायक भार्गव सहित 186 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर गांव की सीमा के बार ले जाकर रिहा किया।  इस दौरान मुख्य रूप से महेन्द्र यादव, सुरेष मोतियानी, नंदकिषोर शर्मा, बाबूलाल वर्मा, आषासिंह राजपूत, जिनेष जैन, अजय कटारे, नरेन्द्र रघुवंषी, गौरव दांगी, बसंत पीतलिया, रवि साहू, वैभव भारद्वाज, दीपक कपूर, प्रदीप वैद्य, सोनू यादव, जितेन्द्र तिवारी, गोविंद चौबे, प्रकाष दांगी, सुनील रघुवंषी, रामराज दांगी, देवेन्द्र दंागी, संतोष गुर्जर, मलखानसिंह मीणा, भूपेन्द्र रघुवंषी, जालमसिंह लोधी, बदनसिंह गुट्टी भैया, परमालसिंह राजपूत, नवीन कोठारी, राजकुमार डीडोत, मुआज कामिल, हरिओम किरार, बृजेन्द्र वर्मा, सोनू राजपूत, डॉ. राजेंन्द्र दांगी, धमेन्द्र यादव, धमेन्द्र ठाकुर, विजयकांत रैकवार, नारायणप्रसाद भार्गव, ओ.पी. शर्मा, शेरा मालवीय, मनोज कुषवाह, जावेद मंसूरी, नारायण पाल, राहुल गुर्जर, कमलेष लोधी, संजीव प्रजापति, शैलेन्द्र रघुवंषी, दषन सक्सैना, डी.के. रैकवार, राजेन्द्र भार्गव, चंदन खत्री, समंुदर यादव, हरिसिंह लोधी, संतोष गौड़, भोलाराम अहिरवार, दषरथ सेन, घनष्याम शर्मा, कमलेष प्रजापति, भानू दरबार, चन्द्रभान राजपूत, मनीष विष्वकर्मा, सुरेन्द्र रघुवंषी, राहुल रघुवंषी, सुरेन्द्र दांगी, गणेष दांगी, टीटू जाटव सहित सैकडों की संख्या में गौभक्त एवं कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहें। 


किसान खुशहाल देश खुशहाल- मुख्यमंत्री

  • मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजनांतर्गत प्रदेश के  77 लाख किसान परिवारों को 1540 करोड़ रूपये सिंगल क्लिक से जमा हुई ,  मुख्यमंत्री जी विदिशा जिले की महिला कृषक श्रीमती सावित्री बाई को भी  चेक प्रदान किया

vidisha news
मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजनांतर्गत प्रदेश के लगभग 77 लाख किसान परिवारों को 1540 करोड़ रूपये प्रदान करने के लिए वर्चुअल कार्यक्रम आयोजित किया गया और सिंगल क्लिक के माध्यम से बैंक खातों में भेजी गई है।  मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य स्तरीय कार्यक्रम स्थल पर विदिशा जिले की ग्राम खेरूआ हाट की महिला कृषक श्रीमती सावित्री बाई को भी राशि का चेक प्रदान किया है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान राज्य स्तरीय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि, देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी किसानों की कृषि कार्य में सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए लगातार प्रत्यनशील है । प्रदेश सरकार किसानों की भलाई के लिए कृत्य संकल्प है। उन्होंने कहा कि, किसान खुशहाल होगा तो देश खुशहाल होगा। किसानों को सशक्त बनाने के लिए उन्हें उन्नतशील खेती करने के लिए सभी आवश्यक सुविधाएं, बिजली, पानी, उन्नतशील बीज, खाद आदि सभी उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के किसानों की मेहनत से हमारी फसल में तीन गुना इजाफा हुआ है।  प्रदेश 7वीं बार कृषि कर्मण पुरस्कार से सम्मानित हुआ है। यह सब हमारे किसान भाईयों की  मेहनत का नतीजा है। उन्होने कहा कि प्रदेश में सिंचाई क्षमता बढाकर 42 लाख हेक्टर  नदियो को जोड़कर की गई है। इसे 65 लाख हेक्टर तक बढाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार  किसानों  को समय पर बिजली, सिंचाई के लिए पानी व उन्नतशील बीज, खाद एवं उर्वरक उपलब्ध कराएगी। आज प्रदेश सरकार के  प्रयासों से  हमारे प्रदेश में 22 हजार मेगावॉट बिजली का उत्पादन हो रहा है। उन्होंने कहा कि, आवश्यकता इस बात की है कि हम सौर ऊजा पैनल के माध्यम से सोलर प्लांट लगाकर बिजली पैदा करें, प्रदेश शासन इस दिशा में सत्त प्रयास कर रहा है यदि कोई किसान 2 मेगावॉट बिजली के लिए  सोलर पैनल लगाकर बिजली उत्पादन करते है तो उन्हें बैंक से ऋण भी उपलब्ध कराया जाएगा और उसकी बिजली शासन क्रय करेगी।  मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को उनके फसल बीमा योजना एवं  राहत राशि प्रदान करने का प्रयास भी किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्नतशील किसान एक जिला एक उत्पाद के माध्यम से अपनी खेती और अधिक विकसित कर सकते है तथा अपने आर्थिक स्तर का मजबूत कर सकते है। आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा किसान कल्याण योजना का चेक प्रतीक स्वरूप प्रदान किये गये हैं। भोपाल के मिंटो हाल से  प्रसारित वर्चुअल कार्यक्रम को स्थानीय एनआईसी कक्ष में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव डिप्टी कलेक्टर श्री विजय राय के अलावा  हितग्राही ने मौजूद रह कर देखा सुना है।


कलेक्टर ने हितग्राहियों को प्रतीक स्वरूप चेक वितरित किए


vidisha news
मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के अंतर्गत भोपाल के मिंटो हॉल में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम का वर्चुअल प्रसारण विदिशा के एनआईसी कक्ष में मौजूद हितग्राहियों ने लाइव प्रसारण देखा सुना है। कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने राज्य स्तरीय कार्यक्रम  समाप्ति के उपरांत एनआईसी के व्‍हीसी कक्ष में मौजूद कृषकों को  प्रतीक स्वरूप सहायता राशि के चेकों का वितरण किया है । कलेक्टर श्री भार्गव ने ग्राम पीपलखेड़ा कला के कृषक श्री दीपक सिंह किरार ,ग्राम बेरखेड़ी के श्री धीरज सिंह मीना, विदिशा के श्री विजय सिंह लोधी तथा गुलाबगंज के श्री रनवीर सिंह को सहायता राशि के चेक अपने हाथों से प्रदाय किए हैं। कलेक्टर श्री भार्गव ने किसानों से संवाद कर खाद बीज की उपलब्धता के संबंध में जानकारी प्राप्त की है ।उन्होंने बताया कि जिले में शीघ्र ही डीएपी खाद की समुचित पूर्ति सुनिश्चित कराई जाएगी ।इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर श्री विजय राय अधीक्षक भू-अभिलेख श्री राजेश राम भी मौजूद रहे।


सफलता की कहानी : शासन की मदद बड़ी साबित हो रहीं है


मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना अंतर्गत आज तृतीय किस्त का भुगतान प्राप्त होने पर विदिशा जिले में ग्राम पीपलखेडा के कृषक श्री दीपक किरार का कहना है कि शासन की मदद बुरे वक्त पर बड़ी मददगार साबित हो रहीं है इसका मैं स्वयं जीता जागता उदाहरण हूं। किसान कल्‍याण से प्राप्‍त दस हजार की राशि  से  मैंने उन्‍नत बीज ऐसे समय खरीदा है। इससे आगे की फसलों के लिए मुझे रास्ता सुगम हुआ है। 


जिले की प्रत्येक पंचायत में एक एक कृषक मित्र नियुक्त होंगे

  • कृषि क्षेत्रों मे हुए नवाचारों से अवगत तथा समस्याओं का निदान करेंगें, प्रतिमाह एक हजार रुपए मानदेय प्रदाय किया जाएगा

कृषि संबंधी आधुनिक जानकारी देने तथा कृषि समस्याओं का समाधान किसानों को ग्राम में ही प्राप्त हो सके  इसी मंशा की पूर्ति हेतु जिले के सभी ग्राम पंचायतों में एक-एक कृषक मित्र नियुक्त किए जाएंगे। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उपसंचालक श्री पी के चौकसे ने बताया कि कृषक मित्र के लिए जो योग्यताएं निर्धारित है उन में कम से कम 25 वर्ष की आयु और आठवीं उत्तीर्ण तथा चयनित के पास कृषि भूमि होना आवश्यक है । चयनित कृषक मित्र को प्रति माह एक हजार रुपए की राशि मानदेय के रूप में प्रदान की जाएगी। 


पुलिस व उनके परिजनो का स्वास्थ्य परीक्षण शिविरों का आयोजन हुआ


vidisha news
पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला की पहल पर जिले के चार अनुविभाग क्षेत्रों में एक साथ स्वास्थ्य उपचार केम्पो का आयोजन किया गया था। उक्त शिविरो में पुलिस व उनके परिजनों का ही स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें रोगोपचार की दवाईयां भी निःशुल्क प्रदाय कराई गई है। पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला ने बताया कि पुलिस अधिकारी, कर्मचारी के अलावा उनके  परिजन भी विभिन्न प्रकार की बीमारियों से पीड़ित रहते है ऐसे समय उनका उपचार कराया जाना अतिआवश्यक है। आज सम्पन्न हुए शिविरों में हड्डी रोग, नेत्र रोग, स्त्री रोग संबंधी बीमारियों का चिकित्सकों द्वारा परीक्षण किया गया है। विदिशा जिला मुख्यालय पर पुलिस लाइन स्थित नवीन बैरीक में सम्पन्न हुए शिविर का पुलिस अधीक्षक द्वारा भी मुआयना कर स्वंय का भी स्वास्थ्य परीक्षण कराया है। उन्होंने उपचार केम्प में आने वाले पुलिसकर्मियों के परिजनों से संवाद कर उनका हाल-चाल जाना है। इसी प्रकार अनुविभाग क्षेत्र बासौदा, सिरोंज, लटेरी के थाना परिसरों में भी स्वास्थ्य परीक्षण शिविरो का आयोजन किया गया था।  चिकित्सकों द्वारा शिविरों में हड्डी रोग, नेत्र चिकित्सा तथा महिलाओं के स्वास्थ्य का परीक्षण एमडी स्तर के चिकित्सकों द्वारा किया गया है। चिकित्सकों के परामर्श पर कर्मचारियों व उनके परिजनों की लिपिड प्रोफाइल तैयार की गई। जिसमें मुख्य रूप से हीमोग्लोबिन टेस्ट, बोन टेस्ट, किडनी टेस्ट भी निःशुल्क मुहैया कराया गया था। पुलिस व उनके परिजनों हेतु आयोजित विशेष उपरोक्त स्वास्थ्य शिविरों में 370 से अधिक का स्वास्थ्य परीक्षण चिकित्सकों द्वारा किया गया है। जिसमें सर्वाधिक विदिशा अनुविभाग क्षेत्र में 163 का बासौदा के शिविर में 103 का, सिरोंज में 58 तथा लटेरी अनुविभाग के शिविर में 46 का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है।


आशा व सुपरवाईजर के कार्यो की समीक्षा, समस्याओं का शीघ्र निदान होगा


vidisha news
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रताप सिंह ने आज स्वास्थ्य विभाग के ग्राम स्तरीय अमला खासकर आशा कार्यकर्ता और सुपरवाईजर के द्वारा संपादित किए जाने वाले कार्यो की समीक्षा की है। उन्होंने प्रेरणादायी उद्बोधन में कहा कि आशा व सुपरवाईजर स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख कडी है खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में आमजनों तक विभागीय योजनाओं, कार्यक्रमों की जानकारी देने तक ही नहीं बल्कि पीड़ितो को उपचार शीघ्र मिले इस ओर भी विशेष पहल करती है। समीक्षा बैठक में मुख्य रूप से गर्भवती, प्रसूता एवं धात्री माताओं को विभाग के माध्यम से दी जाने वाली सुविधाओं के परिपेक्ष्य में आशा व सुपरवाईजर के द्वारा संपादित कार्यो की गहन समीक्षा की गई है। इसके अलावा जिले में एचबीएनसी, एचबीवाय से जांच गैर संचारी रोग तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों के तहत प्रदाय सुविधाओ के क्रियान्वयन की अद्यतन समीक्षा की गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के कार्यालय में सम्पन्न हुई इस बैठक में आशा व सुपरवाईजरों के द्वारा अपनी अपनी शासकीय कार्यो के दौरान होेने वाली दिक्कतो से अवगत कराया गया। इन समस्याओं का शीघ्रतिशीघ्र समाधान किया जाएगा से आश्वस्त कराते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग अपने कार्यो व सुविधा प्रदाय से क्षेत्रों में जाना जाए। उन्होंने कहा कि समय पर उपचार मिले इस हेतु हम बीमार के उपचार की प्रथम कडी है और यह कडी जितनी मजबूत होगी उतना अधिक क्षेत्र में स्वास्थ्य प्रगतियां परलिक्षित होगी। समीक्षा बैठक में प्रचार -प्रसार के संसाधनो से विभाग के मीडिया आफीसर श्री बीएस दांगी ने गहन प्रकाश डाला वहीं विभिन्न प्रकार के फोल्डरों में अद्यतन जानकारियां ऑन लाइन अंकित करने की प्रायोगिक जानकारियां भी इस दौरान दी गई है।


नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त


कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव ने जिले में त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2021 के सफल संचालन और सुव्यवस्थित रूप से समयावधि में सम्पन्न कराने के उद्धेश्य से नोडल एवं सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त कर उनके मध्य कार्य विभाजन का आदेश जारी कर दिया है। जारी आदेश में उल्लेख है कि सौंपे गए दायित्वों का क्रियान्वयन समय सीमा में अंकित अधिकारियों, कर्मचारियों के द्वारा कराया जाना सुनिश्चित हो। कलेक्टर श्री भार्गव के द्वारा त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन प्रक्रिया के मद्देनजर जिन अधिकारियों को नोडल का दायित्व सौंपा गया हैं उनके द्वारा संपादित किए जाने वाले कार्यो का ब्यौरा इस प्रकार से है। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह को मैनपावर मैनेजमेंट, कानून व्यवस्था का दायित्व सौंपा गया है। अपर कलेक्टर (विकास) डॉ योगेश भरसट को एमसीसी (आचार संहिता), शिकायत निवारण प्रकोष्ठ, सेन्स गतिविधियों के लिए नोडल अधिकारी तथा मतगणना कार्य प्रबंधन संबंधी तैयारियों के विभिन्न कार्यो हेतु नोडल का दायित्व सौंपा गया है। डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अनुभा जैन को निर्वाचन की सूचना का प्रकाशन, आरक्षण की सूचना का प्रकाशन, मतदान केन्द्रो की सूची का प्रकाशन, सामग्री प्रबंधन, कम्यूनिकेशन प्लान एवं कंट्रोल रूम प्रबंधन, जोनल अधिकारी, सेक्टर मजिस्ट्रेट व्यवस्था प्रबंधन, वल्नरेबलिटि एवं क्रिटिकल मतदान केन्द्रो का चिन्हांकन हेतु किए जाने वाले प्रबंधन का नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। डिप्टी कलेक्टर श्री विजय राय को ईव्हीएम प्रबंधन, परिवहन प्रबंधन, मतपत्र, कागज डमी मतपत्र प्रबंधन एवं मतदान उपरांत ईव्हीएम प्रबंधन, रूटचार्ट और मानचित्र प्रबंधन के प्रकोष्ठों का नोडल अधिकारी का दायित्व सौंपा गया है। जिला शिक्षा अधिकारी श्री एके मुद्गल को प्रशिक्षण प्रबंधन, जिला आपूर्ति अधिकारी श्री रश्मि साहू को मीडिया पेड न्यूज प्रबंधन, जिला पंजीयक श्रीमती क्षिप्रा सेन को कम्प्यूटरीकरण ओर आईटी प्रबंधन, सीसीबी के श्री विनय प्रकाश सिंह को डाकमत पत्र हेतु नोडल अधिकारी, जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव को मानदेय वितरण एवं प्रबंधन, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री हेमंत राजपूत को आधारभूत संरचना विकास हेतु प्रबंधन, आदिम जाति कल्याण विभाग के जिला संयोजक श्री नरेन्द्र अवस्थी को वीडियोग्राफी एवं सीसीटीव्ही प्रबंधन, प्र्रेक्षक व्यवस्था प्रबंधन का नोडल अधिकारी जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेष जैन को तथा मतदान दल कल्याण अधिकारी का दायित्व सामाजिक न्याय विभाग के उप संचालक श्री पीके मिश्रा को सौंपा गया है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री उमाशंकर भार्गव के द्वारा नियुक्त किए गए नोडल अधिकारी तथा सहायक नोडल अधिकारी के कार्य संपादन में सहयोग हेतु अन्य सहयोगी अधिकारी, कर्मचारी को भी संलग्न किया गया है।


दिव्यांगजनों हेतु शिविरों का आयोजन


जिले में दिव्यांगो के लंबित प्रकरणों के निराकरण व दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनाए जाने हेतु विकासखण्ड स्तर पर दिव्यांग मेडिकल बोर्ड का आयोजन किया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अखण्ड प्रताप सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग अंतर्गत वर्ष 2019-20 में आयोजित किए गए शिविरों में शामिल हुए पात्र हितग्राहियों का दिव्यांग, विकलांगता प्रमाण पत्र बनाए जाने थे किन्तु उपलब्ध सूची में संबंधितों के नाम व पता सही नहीं पाए जाने के कारण उनसे संपर्क नहीं हो पाने के कारण ऐसे प्रकरणो का निराकरण लंबित होने के कारण दिव्यांग मेडिकल बोर्ड का आयोजन विकासखण्ड स्तर पर इस माह की 25, 26 एवं 27 तारीख को आयोजित किए गए है। दिव्यांग मेडिकल बोर्ड का विकासखण्ड स्तरों पर आयोजन हेतु जारी कार्यक्रम अनुसार 25 अक्टूबर सोमवार को जन चिकित्सालय सिरोंज में शिविर आयोजित किया जाएगा। उक्त शिविर में सिरोंज एवं लटेरी के ही हितग्राही शामिल हो सकेंगे। मंगलवार 26 अक्टूबर को जन चिकित्सालय बासौदा में शिविर का आयोजन किया गया है यहां बासौदा, ग्यारसपुर एवं कुरवाई विकासखण्ड के हितग्राही सम्मिलित होंगे। बुधवार 27 अक्टूबर को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नटेरन में दिव्यांग मेडिकल बोर्ड का आयोजन किया गया है। उक्त शिविर में नटेरन के हितग्राही सम्मिलित होंगे। संबंधित खण्ड चिकित्सा अधिकारी उपरोक्तानुसार आयोजित विकलांग मेडिकल बोर्ड की आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करेंगे। 


चिकित्सको को दायित्व सौंपे गए


जिले के विकासखण्ड मुख्यालयों पर सोमवार से बुधवार तक प्रातः दस बजे से आयोजित होने वाले दिव्यांग मेडिकल बोर्ड में चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने हेतु सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ संजय खरे के द्वारा नाम दर्ज ड्यूटी चिकित्सकों की लगाई गई हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह के द्वारा जारी आदेश के परिपालन में सिविल सर्जन द्वारा जिन चिकित्सकों को तिथिवार दायित्व सौंपा गया है उनमें 25 अक्टूबर जन चिकित्सालय सिरोंज में आयोजित होने वाले दिव्यांग मेडिकल बोर्ड में मानसिक रोग चिकित्सक डॉ अशोक राजपूत, नाक, कान, गला चिकित्सक डॉ विवेक गुप्ता, नेत्र रोग चिकित्सक डॉ राकेश साहू, अस्थि रोग चिकित्सक डॉ धर्मेन्द्र रघुवंशी मौजूद रहेंगे। जन चिकित्सालय बासौदा में 26 अक्टूबर को आयोजित मेडिकल बोर्ड में नाक, कान, गला विशेषज्ञ डॉ आरएल सिंह, मानसिक रोग चिकित्सक डॉ अशोक राजपूत, नेत्र रोग चिकित्सक डॉ रविन्द्र चिडार, अस्थि रोग चिकित्सक डॉ धर्मेन्द्र रघुवंशी, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नटेरन में 27 अक्टूबर को आयोजित होने वाले दिव्यांग मेडिकल बोर्ड में नाक, कान, गला विशेषज्ञ डॉ आरएल सिंह, प्रभारी मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ राजकुमार वर्मा, नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ राकेश साहू, अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ धर्मेन्द्र रघुवंशी मौजूद रहेंगे। तीनो स्थलों पर आवश्यक सामग्री सहित जिला चिकित्सालय के सहायक ग्रेड तीन श्री विकास पटेल भी उपस्थित रहेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: