मधुबनी : एग्रीकल्चरल रिसर्च कम्युनिकेशन सेंटर जर्नल के समीक्षक मनोनीत हुए डॉ• आनन्द - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 6 अक्तूबर 2021

मधुबनी : एग्रीकल्चरल रिसर्च कम्युनिकेशन सेंटर जर्नल के समीक्षक मनोनीत हुए डॉ• आनन्द

dr-anand-appontment-saharsa
भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा की अंगीभूत इकाई मनोहरलाल टेकरीवाल महाविद्यालय, सहरसा (पूर्व नाम सहरसा कॉलेज, सहरसा), के रसायन विज्ञान विभाग के अतिथि सहायक प्राध्यापक डॉ• आनन्द मोहन झा को एग्रीकल्चरल रिसर्च कम्युनिकेशन सेंटर जर्नल का समीक्षक मनोनीत किया गया है। एआरसीसी जर्नल के अंतर्गत बहुत सारे महत्वपूर्ण शोध पत्रिका प्रकाशित होते हैं, जिसमें इंडियन जर्नल ऑफ़ एग्रीकल्चर रिसर्च, इंडियन जर्नल ऑफ़ एनिमल रिसर्च, एग्रीकल्चर साइंस डाइजेस्ट, एशियन जर्नल आफ डेयरी एंड फूड रिसर्च, भारतीय कृषि अनुसंधान पत्रिका, एग्रीकल्चरल रिव्यू, आदि प्रमुख शोध पत्रिका हैं। समीक्षक मनोनयन के तुरंत बाद उन्होंने कुछ अंतरराष्ट्रीय देशों के शोधकर्ताओं द्वारा भेजे गए शोध पत्रों की समीक्षा भी की है। इससे पहले भी उन्हें यूजीसी केयर लिस्टेड जर्नल इंटरनेशनल जर्नल ऑफ़ लाइफसाइंस एंड फार्मा रिसर्च जैसी महत्वपूर्ण शोध पत्रिका का समीक्षक मनोनीत किया गया है। एआरसीसी अंतर्गत शोध पत्रिका का मुख्य उद्देश्य एशिया एवं अन्य देशों में रसायन विज्ञान, एग्रीकल्चर, एनिमल, लाइफ साइंस, फूड तथा डेयरी के सभी क्षेत्रों में उच्च गुणवत्ता वाले शोधपत्र प्रकाशित करना है। चयन समिति ने उनकी प्रोफाइल, शिक्षण कार्य, शोध कार्य के आधार पर डॉक्टर झा को समीक्षक मनोनीत किया तथा एडिटोरियल बोर्ड का सदस्य भी बनाया है। उनके अभी तक 18 से अधिक शोधपत्र अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय जर्नल में प्रकाशित हुए हैं। इनकी अभी तक रसायनशास्त्र की 2 बुक चैप्टर जो इंटरनेशनल बुक पब्लिशर के द्वारा 2 अलग-अलग पुस्तकों में पब्लिश्ड हो चुकी है। वह एक यूजीसी का माइनर रिसर्च प्रोजेक्ट भी सफलतापूर्वक पूरा कर चुके है। वह बहुत सारे संस्था के लाइफ टाइम मेंबर भी है। इन्हें अभी तक 09 अंतर्राष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय अवार्ड्स भी मिल चुके है, जिनमें यंग साइंटिस्ट अवॉर्ड, डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन बेस्ट फैकेल्टी अवॉर्ड, एकेडमिक एक्सीलेंस अवॉर्ड, यंग रिसर्चर अवॉर्ड, इंस्पायरिंग टीचर अवॉर्ड, बेस्ट पोस्ट ग्रैजुएट (गोल्ड मेडल) अवॉर्ड आदि प्रमुख है।

कोई टिप्पणी नहीं: