बिहार : कैथोलिक महिला संघ का दो दिवसीय वार्षिक सम्मेलन समाप्त - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 9 अक्तूबर 2021

बिहार : कैथोलिक महिला संघ का दो दिवसीय वार्षिक सम्मेलन समाप्त

catholic-women-socity-seminar
पटना. राजधानी पटना में है सेवा केंद्र.इस सेवा केंद्र में पटना महाधर्मप्रांतीय महिला संघ का कार्यालय है.पटना महाधर्मप्रांतीय कैथोलिक महिला संघ की कर्ताधर्ता सिस्टर जेन है.इनके नेतृत्व में नवज्योति निकेतन में बिहार कैथोलिक महिला संघ का दो दिवसीय वार्षिक सम्मेलन शनिवार को समाप्त हुआ.इस बात की जानकारी रजनी मरांडी ने दी हैं. पटना महाधर्मप्रांतीय महिला संघ की कर्ताधर्ता सिस्टर जेन के नेतृत्व में बिहार कैथोलिक महिला संघ का दो दिवसीय वार्षिक सम्मेलन मुख्य तौर पर संत पापा फ्रांसिस द्वारा लिखित पत्र पर आधारित था. (Encyclical Letter Loudato SI) से संबंधित तीन topic  :- प्रकृति एवं वातावरण, इस पृथ्वी पर रहने वाले सभी प्राणी भाई - बहन है.इसका resource person सिस्टर ज्योतिसा थी. परिवार में प्यार का resource person ब्रदर विजेंद्र थे.कुल 74 महिलाओं में  20 धर्मसमाज की बहनें थीं. इसके पूर्व दो दिवसीय वार्षिक सम्मेलन का आगाज पटना महाधर्मप्रांत के आर्चबिशप Sebastian Kallupura के द्वारा  किया गया.उन्होंने कहा कि इस समय देश में विभिन्न तरह की समस्या है.इससे डरना नहीं है बल्कि मुस्तैदी से सामना करना हैं.उन्होंने कहा कि कोरोना से हमलोग हिल गये हैं.खासकर जिनके घर से परिजन स्वर्ग चले गये.सभी दुखित हैं. आर्चबिशप ने कहा कि परिवार,समाज और देश के पुर्निमाण करने में जुट जाए. मालूम हो कि पटना महाधर्मप्रांत में छह धर्मप्रांत है. पटना,बक्सर, मुजफ्फरपुर, बेतिया, भागलपुर और पूर्णिया धर्मप्रांत है.पूर्णिया धर्मप्रांत को छोड़कर शेष पांच धर्मप्रांतों की महिला प्रतिनिधि और धर्म बहनें नवज्योति निकेतन में भाग लेने आई थीं.

कोई टिप्पणी नहीं: