उत्तर प्रदेश में कोरोना लगभग खात्मे पर : योगी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 24 अक्तूबर 2021

उत्तर प्रदेश में कोरोना लगभग खात्मे पर : योगी

covid-finish-in-up-yogi
गोरखपुर, 24 अक्टूबर, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को दावा किया कि राज्य में कोरोना संक्रमण अब लगभग खात्मे पर है। योगी ने गोरखपुर में 142 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाली 358 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद अपने संबोधन में कहा "सभी के समन्वित प्रयासों की वजह से प्रदेश में कोरोना लगभग समाप्ति पर है।" उन्होंने कहा "उत्तर प्रदेश में कोविड-19 टीकों की 12 करोड़ 60 लाख से ज्यादा खुराक लगाकर और आठ करोड़ 25 लाख से अधिक नमूनों की जांच कर एक रिकॉर्ड कायम किया है। प्रदेश के अस्पतालों में 180000 बेड तैयार हैं और हम देश के अग्रणी राज्यों के मुकाबले किसी भी तरह से कमजोर नहीं हैं। हमें विकास की इस सोच को आगे ले जाने की जरूरत है।" योगी ने दावा किया कि विकास परियोजनाएं कोविड-19 महामारी की चुनौतियों के बावजूद न सिर्फ जीवन बल्कि आजीविका को बचाने के सरकार के प्रयासों की गवाह है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर 38.32 करोड रुपए की लागत से बनी गोरखपुर की पहली मल्टीलेवल पार्किंग का उद्घाटन किया और एकीकृत यातायात प्रबंधन प्रणाली का शिलान्यास भी किया। प्रदेश की पूर्ववर्ती सरकारों पर हमला करते हुए योगी ने कहा "पिछली सरकारों ने राज्य में विकास की परियोजनाओं को लागू नहीं किया। पिछले साढे चार साल के दौरान हमने प्रदेश में सभी योजनाएं लागू की जिनसे लोगों के जीवन स्तर में सकारात्मक सुधार आया और वर्तमान में केंद्र की 44 योजनाओं के क्रियान्वयन के मामले में उत्तर प्रदेश शीर्ष स्थान पर है।" योगी ने दावा किया कि पूर्व में लोग गोरखपुर आने से डरते थे मगर अब यह विकास का उदाहरण बन चुका है और अगले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां उर्वरक संयंत्र और एम्स का उद्घाटन करेंगे। उन्होंने कहा कि गोरखपुर की मल्टी लेवल पार्किंग से लोगों को सहूलियत मिलेगी और एकीकृत यातायात प्रबंधन प्रणाली से यातायात को नियंत्रित करने में बहुत आसानी होगी। साथ ही इससे महिलाओं की सुरक्षा भी सुनिश्चित हो सकेगी।

कोई टिप्पणी नहीं: